Net Banking क्या है और इसके फायदे ? In Hindi

 

दोस्तों अगर आपने bank में नया account खोला है तो आप जरुर जानना चाहेंगे के Net Banking क्या है? Internet का आविष्कार हुआ है तबसे ही ये लोगों के मुश्किल कमों को सरलता से सुलझाने में काफी मददगार साबित हुआ है. Internet हम सबकी जिंदगी का हिस्सा बन गया है. इसके बिना हमारा कोई भी कार्य पूरा नहीं होता. फिर चाहे हमें Internet के जरिये जानकारी हासील करना हो या शौपिंग करना हो या अपने दोस्तों और रिश्तेदारों से जुड़े रहना हो, सभी काम में हम Internet की मदद जरुर लेते हैं.

ठीक उसी तरह हम अब banking की सुबिधा भी अपने मोबाइल या दुसरे gadgets पर Internet की मदद से पा सकते हैं. और Internet के जरिये banking करना को हम नेट बैंकिंग केहते हैं. ये इन्टरनेट बैंकिंग क्या है और इससे जुडी कुछ जानकारी के बारे में आज हम इस लेख में जानेगे.

 

Net Banking क्या है और इसके फायदे ? In Hindi
TEJWIKI.IN

 

नेट बैंकिंग क्या है – What is Net Banking in Hindi

 

नेट बैंकिंग एक ऑनलाइन बैंकिंग सेवा है जो व्यक्तियों और व्यवसायों को कई प्रकार के वित्तीय लेनदेन करने की अनुमति देती है, जिसमें नकद जमा करना और निकालना, बिलों का भुगतान करना और फंड ट्रांसफर करना शामिल है. Net Banking क्या है यह खाता शेष, विवरण और हाल के लेनदेन की सूची तक पहुंच भी प्रदान करता है.net banking kya hai

नेट बैंकिंग उन सभी के लिए बहुत ही मददगार साबित होती है जो अपने काम में busy रहने की वजह से bank नहीं जा पाते, या जो bank में लगी लम्बी लाइन की वजह से परेशान रहते हैं और bank जाना पसंद नहीं करते और जिन्हें bank में बहुत जरुरी काम हो और bank उनके area से ज्यादा दूर हो तो वो भी अपने मोबाइल या computer की मदद से अपने जरुरी काम को बहुत तेजी से पूरी कर सकते हैं, इन सभी स्थिति में net banking बहुत ही सहायता करता है.

Net banking को online bankingweb bankingvirtual banking जैसे कई नमों से जाना जाता है. नाम भले ही अलग हो पर इन सबका काम सिर्फ एक ही होता है की internet के जरिये लोगों तक banking की सुविधा को पहुँचाना.

 

इंटरनेट बैंकिंग क्या होती है (What is Internet Banking)

 

दोस्तों नेट बैंकिंग क्या है यह अब हम आपको बताएंगे सुविधा आप किसी भी बैंक से ले सकते हैं |यानी कि जिस बैंक में आपका खाता है |बैंक में आप अपनी नेट बैंकिंग एक्टिवेट करवा कर नेट बैंकिंग की पूरी सुविधा ले सकते हैं |नेट बैंकिंग एक ऐसा जरिया है जिसके लिए आपको बैंक जाने की जरूरत नहीं है |Net Banking क्या है आप कोई भी काम बैंक का करना चाहते हैं जैसे कि किसी को कितने हैं पैसे भेजने हैं या फिर किसी के पैसे आपके पास आने हैं |आपका कितना बैलेंस है कोई भी रिचार्ज करना है |घर बैठे आसानी नेट बैंकिंग की सहायता से आप कर सकते हैं या आप कोई भी शॉपिंग करना चाहते हैं यह सब कुछ नेट बैंकिंग की सहायता से घर बैठे आसानी से हो जाएगा| परंतु अब आप सोच रहे होंगे हम नेट बैंकिंग का इस्तेमाल किस प्रकार से करेंगे ?तो दोस्तों घबराने की जरूरत नहीं है |हम आपको अपने आर्टिकल में नेट बैंकिंग किस प्रकार से इ इस्तेमाल करेंगे इसकी भी पूरी जानकारी देंगे|

 

Internet Banking की जानकारी हिंदी में (Information about Internet Banking in Hindi)

 

इंटरनेट बैंकिंग सेवा शुरू होने पर बैंक द्वारा हमें एक Unique User ID और पासवर्ड दिया जाता है। Net Banking की मदद से आप Cashless Payment Method अपनाकर Digital India का हिस्सा बन सकते है। इंटरनेट बैंकिंग बिलकुल फ्री होती है, इसलिए आप न्यूनतम बैलेंस में भी इसका प्रयोग कर सकते है इसमें कोई शुल्क नहीं अदा करना पड़ता।

 

 

E-Banking के प्रकार (Types of E-Banking)

 

  • इंटरनेट बैंकिंग- ग्राहक इंटरनेट का उपयोग कर ट्रांन्जेक्शन करने के लिए कंप्यूटर या मोबाइल जैसे इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का उपयोग करता है।
  • ATM मशीन- ग्राहक ATM का उपयोग करके नकदी निकाल सकते हैं, नकदी जमा कर सकते हैं, फंड ट्रांसफर कर सकते हैं।
  • ई-चेक- ग्राहक पे-पल या अन्य ई-सेवा सर्विस का उपयोग करके फंड ट्रांसफर कर सकता है।

 

इन्हें भी पढ़ें:-

 

नेट बैंकिंग/net banking के लाभ

 

दोस्तों अब हम आपको बताएंगे नेट बैंकिंग के क्या क्या लाभ हैं ?

  • दोस्तों हम आपको बताना चाहेंगे नेट बैंकिंग एक बहुत ही अच्छी टेक्नोलॉजी है जिसके लिए हमें बार-बार बैंकों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे |
  • हमें बैंकों की लाइन में नहीं खड़ा होना पड़ेगा |
  • हम अपने बैंक की जो भी जानकारी चाहते हैं हमें सब नेट बैंकिंग की सहायता से मिल जाएगी|
  • हम अपने बैंक कितना लेनदेन कर रहे हैं जो भी पासबुक में ब्योरा होता है वह सारा आपका नेट बैंकिंग पर आ जाएगा |
  • आसानी पूर्वक घर बैठे देख सकते हैं |
  • आपको कहीं पर भी शॉपिंग करनी है आपको पेमेंट करनी है तो आप नेट बैंकिंग की सहायता से कर सकते हैं|
  •  Net banking की मदद से हम बहुत प्रकार का खाता खोल सकते हैं जैसे FD( fixed deposit), RD (recurring deposit) etc. सबसे अच्छी बात ये है की इस तरह के खातों में पैसे deposit करने के लिए भी हमें bank जाने की जरुरत नहीं पड़ती क्यूंकि net banking हमें auto cut payment की सुविधा देती है जिसके जरिये हमारे account से balance अपने आप ही cut हो कर इन खातों में deposit हो जाती है|

 

नेट बैंकिंग कैसे चालू करें?

 

ये तो हमने जान लिया की net banking हमें क्या क्या सुविधाएं देती हैं और ऐसी सुविधाएं देख कर आपको भी ये जानने का मन कर रहा होगा की इसका इस्तेमाल कैसे करें, तो चलिए हम ये भी जान लेते हैं.

1) सबसे पहले तो हमे उस bank के branch में जाना होगा जिस bank में हमारा account है. अगर आपका किसी भी bank में account नहीं है और net banking का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो पहले bank में जा कर अपना account जरुर बनवा लें. वहां जाकर उनसे net banking को अपने मोबाइल या computer में activate करवाने के लिए एक form submit करना पड़ेगा.

2) Form submit कर लेने के बाद bank से हमें user id और password मिलेगा. उस user id और password का इस्तेमाल हमें अपने bank की website पर जाकर login करते वक़्त करना होगा.

3) Login कर लेने के बाद step by step आपको वो सभी details भरने पड़ेंगे जो आपको उस site में पूछा जायेगा. details भरते वक़्त ध्यान दे कर सही सही details भरें, गलत details भरने पर बहुत से परेशानियों को झेलना पड़ सकता है.

4) सभी details भर लेने के बाद आपके मोबाइल या computer में net banking activate हो जाएगी और आप आराम से उसके सुविधाओं का पूरा लाभ उठा सकेंगे.

 

Net Banking करते वक़्त कौन सी चीजों का ध्यान रखें?

 

  1. Net banking का इस्तेमाल कभी भी public places जैसे cyber cafe में न करें इससे आपके details leak होने के chances रहते हैं.
  2. अपने password को change करते रहे ताकि आपके account के hack होने का डर न रहे. और अपना password कभी अपने date of birth, name, city name के ऊपर ना रखें बल्कि एक unique password रखें जिससे आपका account पूरी तरह से सुरक्षित रहे.
  3. हमेसा अकेले में ही net banking का इस्तेमाल करिए और अपने password किसी भी दुसरे व्यक्ति के साथ share ना करें.
  4. एक बात का ध्यान जरुर रखें की जिस device से आप net banking कर रहे हैं उस device में एक अच्छा anti-virus जरुर install कर लें ताकि virus और malware की वजह से आपका account का details hack ना हो.
  5. Net banking करते वक़्त आपको कोई भी परेशानी हो या आपको किसी भी तरह का शक हो तो तुरंत अपने bank के branch में संपर्क करें.

 

Net Banking की सुविधा कौन कौन से बैंक प्रदान करती है?

 

1) State Bank Of India
2) ICICI Bank
3) Punjab National Bank
4) Axis Bank
5) Union Bank
6) HDFC Bank
7) Central Bank of India
8) Bank of Baroda

ऐसे ही और भी बहुत से bank हैं जो net banking की सुविधा देते हैं वो भी बिलकुल मुफ्त में. अगर आपके पास इनमे से किसी भी bank में account है और आपने internet banking का इस्तेमाल अब तक नहीं किया है तो देर मत करिए और इसका इस्तेमाल कर ढेर सार्री सुविधाओं का लाभ उठाइए.

नेट बैंकिंग से क्या क्या कर सकते है?

 

नेट बैंकिंग से ग्राहक अपने खाते की शेष राशि की जांच कर सकते हैं, Net Banking क्या है लेनदेन और भुगतान ऑनलाइन कर सकते हैं. नेट बैंकिंग आपके बैंक शुल्क, क्रेडिट कार्ड बिल और अन्य वित्तीय जानकारी को एक ही स्थान पर ट्रैक करने का एक आसान तरीका भी प्रदान करता है.

 

नेट बैंकिंग और मोबाइल बैंकिंग में क्या अंतर है?

 

नेट बैंकिंग इंटरनेट कनेक्शन के माध्यम से बैंकों द्वारा प्रदान की जाने वाली एक ऑनलाइन सेवा है. ग्राहक शाखा में आए बिना बैंक खाते तक पहुंच सकता है। इसे पहली बार 1999 में ICICI बैंक द्वारा ग्राहकों के लिए पेश किया गया था.

मोबाइल बैंकिंग एक ऐसी सेवा है जो ग्राहकों को मोबाइल उपकरणों के माध्यम से अपने बैंक खाते तक पहुंचने की अनुमति देती है. इसे आमतौर पर मोबाइल ऐप या एसएमएस कमांड के माध्यम से एक्सेस किया जाता है और यह अक्सर आपके फोन पर लेन-देन की तत्काल सूचना के साथ-साथ बिल भुगतान, धन हस्तांतरण और खाता जानकारी जैसी सुविधाएँ प्रदान करता है.

मुझे उम्मीद है के आपको नेट बैंकिंग क्या है और नेट बैंकिंग कैसे चालू करें के बारे में सब समझ आ गया होगा. अगर अभी भी आपको कुछ doubts है तो आप निचे comments में पूछ सकते है.

इन्हें भी पढ़ें:-

 

इंटरनेट बैंकिंग की विशेषताएं

 

इस सुविधा का उपयोग करने वाला ग्राहक ट्रांन्जेक्शन और गैर-ट्रांन्जेक्शन संबंधी कार्य कर सकता है, जिसमें शामिल हैं:

  • ग्राहक अकाउंट स्टेटमेंट देख सकता है
  • ग्राहक संबंधित बैंक द्वारा किसी निश्चित अवधि में हुए ट्रांन्जेक्शन की जानकारी जान सकता है
  • बैंक, स्टेटमेंट, विभिन्न प्रकार के फॉर्म, एप्लिकेशन डाउनलोड किए जा सकते हैं
  • ग्राहक फंड ट्रांसफर कर सकता है, किसी भी तरह के बिल का भुगतान कर सकता है, मोबाइल,DTH कनेक्शन इत्यादि का रिचार्ज कर सकता है
  • ग्राहक ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर खरीद और बेच सकता है
  • ग्राहक व्यापार का निवेश और संचालन कर सकता है
  • ग्राहक परिवहन, यात्रा पैकेज और मेडिकल पैकेज बुक कर सकता है

ग्राहक को इंटरनेट बैंकिंग का उपयोग करने पर मिलने वाले लाभों की लिस्ट बहुत लंबी है।

 

इंटरनेट बैंकिंग करते वक़्त कौन सी बातों का ध्यान रखें?

 

  1. Net banking का इस्तेमाल कभी भी public places जैसे cyber cafe में न करें इससे आपके details leak होने के chances रहते हैं|
  2. अपने password को change करते रहे ताकि आपके account के hack होने का डर न रहे|
  3.  एक unique password रखें जिससे आपका account पूरी तरह से सुरक्षित रहे|
  4. हमेसा अकेले में ही net banking का इस्तेमाल करिए |
  5. अपने password किसी भी दुसरे व्यक्ति के साथ share ना करें|
  6. एक बात का ध्यान जरुर रखें की जिस device से आप net banking कर रहे हैं |
  7. उस device में एक अच्छा anti-virus जरुर install कर लें |
  8. Net banking करते वक़्त आपको कोई भी परेशानी हो या आपको किसी भी तरह का शक हो तो तुरंत अपने bank के branch में संपर्क करें|

 

नेट बैंकिंग से पैसे कैसे ट्रांसफर करे?

 

इंटरनेट बैंकिंग से पैसे ट्रांसफर करने के लिए सबसे पहले आप संबंधित बैंक की इंटरनेट बैंकिंग की साइट पर जाएं और अपना यूजर नेम और पासवर्ड डालकर लॉगइन कर लें.
लॉग इन करने के बाद आपके सामने आपकी अकाउंट की पूरी जानकारी खुलकर ओपन हो जाएंगी जिसमें आपको बहुत सारे ऑप्शन मिलेंगे.

आपको ट्रांसफर वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है जैसे ही आप ट्रांसफर पर क्लिक करेंगे तो आपके सामने नया पेज ओपन होगा, जिसमे सबसे पहले जिस अकाउंट में भी आप पैसा भेजना चाहते हैं उस व्यक्ति का अकाउंट नंबर डालना पड़ेगा, पूरा नाम इंटर करना पड़ेगा, साथ ही सामने वाले व्यक्ति का अकाउंट किस बैंक में है उस बैंक का आईएफसी कोड भी इंटर करना पड़ेगा. इतना करने के बाद सबसे नीचे आपको एक राशि का ऑप्शन दिखाई देगा, जितना भी पैसा संबंधित व्यक्ति को भेजना चाहते हैं वह राशि आपको यहां पर इंटर करना पड़ेगा.

जैसे ही आप राशि इंटर कर देंगे सबसे नीचे सेंड या सबमिट का ऑप्शन आएगा उस पर क्लिक करें, क्लिक करते ही आपके नेट बैंकिंग के साथ में आपने जो मोबाइल नंबर दिया होगा उस नंबर पर एक ओटीपी आएगा वो ओटीपी आपको एक पॉपअप विंडो ओपन होगा उसमें इंटर करना पड़ेगा, जैसे ही आप ओटीपी इंटर करोगे और नीचे ओके पर क्लिक करोगे कुछ ही सेकंड में पैसा संबंधित व्यक्ति के अकाउंट में सक्सेसफुल ट्रांसफर हो जाएगा.

इस प्रकार से आप बड़ी ही आसानी से इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल करके अपने अकाउंट से दूसरे व्यक्ति के अकाउंट में पैसा ट्रांसफर कर सकते हो.
नोट – प्रत्येक बैंक का अपना एक अलग सिस्टम होता है किसी किसी बैंक में आपको लेनदेन के समय प्रोफाइल पासवर्ड भी इंटर करना पड़ता है जैसे कि एसबीआई बैंक की बात करें तो एसबीआई बैंक में खाता नंबर, आईएफसी कोड, सामने वाले व्यक्ति का नाम, राशि दर्ज करने के बाद जैसे ही आप ओके पर क्लिक करोगे तो आपसे एक प्रोफाइल पासवर्ड मांगा जाएगा वह प्रोफाइल पासवर्ड आपको इंटर करना पड़ेगा जो कि हम को बैंक द्वारा दिया जाता है.

 

नेट बैंकिंग का इस्तेमाल कैसे करें?

 

दोस्तों आपने बैंक में जाकर अपना नेट बैंकिंग इंस्टॉल करवा लिया है और आपके पास यदि यूजर नेम और पासवर्ड आ चुका है तो आप नेट बैंकिंग का इस्तेमाल कर सकते हैं दोस्तों हम आपको बता दें नेट बैंकिंग हरेक बैंक की हो सकती है Net Banking क्या है {उदाहरण के लिए अभी हम आपको बताएंगे यदि आपने SBI की नेट बैंकिंग ले रखी है और आपके पास अपनी नेट बैंकिंग का यूजर नेम और पासवर्ड है तो आप किस प्रकार से अपनी नेट बैंकिंग को इस्तेमाल करेंगे की जानकारी हम आपको देंगे|}

  • दोस्तों यदि आप नेट बैंकिंग को अपने मोबाइल फोन पर इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपके पास नेट बैंकिंग की एप्लीकेशन इंस्टॉल होगी |
  • उस एप्लीकेशन को ओपन करें|
  • एप्लीकेशन को ओपन करने के बाद आपसे वह यूजर नेम और पासवर्ड पूछा जाएगा और फिर लॉगइन का ऑप्शन आएगा आप यूजर नेम और पासवर्ड को भर दे |
  • और लॉगइन बटन पर क्लिक करें |
  • जैसे ही आप ऐसा करेंगे |
  • आपकी नेट बैंकिंग ओपन हो जाएगी| |
  • अब आप के पास बहुत सारे ऑप्शन आएंगे जैसे कि  my account,fund transfer, e-deposits, top up recharge,bill payments,upi,quick transfer !!!!!!!!!!
  • my account एप्लीकेशन पर क्लिक करके आप अपना पूरा बैलेंस चेक कर सकते हैं कि आपके पास पासबुक में अमाउंट है और कितना अमाउंट आपने किसी को भेजा है जैसा की आप की पासबुक में डिटेल आती है वैसे ही डिटेल आपकी माय अकाउंट ऐप में आ जाएगी|
  • quick transfer -एप्लीकेशन से आप कहीं पर भी जिसको भी आप अमाउंट भेजना चाहते हैं उसका अकाउंट नंबर डालकर उसको आप पैसे भेज सकते हैं|
  • bill payments-इंटरनेट बैंकिंग की सहायता से आप कहीं पर भी बिल पेमेंट कर सकते हो|

 

इंटरनेट बैंकिंग की सुरक्षा

 

किसी भी बैंक ग्राहक की वित्तीय जानकारी महत्वपूर्ण होती है। Net Banking क्या है यही कारण है कि ग्राहक वित्तीय संस्थानों पर भरोसा करता है। वित्तीय संस्थान इसे उच्च प्राथमिकता पर रखते हैं कि ग्राहकों के अकाउंट की सुरक्षा खतरे में न आए। फाईनेंस संस्थान इंटरनेट बैंकिंग को सुरक्षित बनाने के लिए दो प्रकार की सुरक्षा विधियों का उपयोग कर रहे हैं:

  • पिन / TANs का उपयोग-इस प्रणाली के लिए, एक पिन का उपयोग लॉग-इन करने के लिए किया जाता है और TAN का उपयोग ट्रांन्जेक्शन करने के लिए किया जाता है। TAN एक वन-टाइम पासवर्ड हैं। TAN ग्राहक को रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर SMS के माध्यम से भेजा जाता है जो लॉग-इन यूज़र आईडी से मेल खाता है। यह थोड़े समय के लिए ही वैलिड होता है।

SSL सक्षम वेबसाइटों के साथ वेब ब्राउज़र का उपयोग करके इंटरनेट बैंकिंग का संचालन किया जाता है, इसलिए एन्क्रिप्शन एक महत्वपूर्ण मुद्दा नहीं है। यह आधार के रूप में हस्ताक्षर वेरिफिकेशन का भी उपयोग करता है। इस पद्धति के तहत, ग्राहक द्वारा किए गए ट्रांन्जेक्शन पर डिजिटल रूप से हस्ताक्षर किए जाते हैं और एन्क्रिप्ट किए जाते हैं। स्मार्ट कार्ड या किसी अन्य मेमोरी स्टर्लिंग माध्यम का उपयोग हस्ताक्षर और एन्क्रिप्शन स्टोर करने के लिए किया जा सकता है।

 

Conclusion

 

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख Net Banking क्या है और इसके फायदे ? In Hindi जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


 

Leave a Comment

error: Content is protected !!