API क्या है,और API के फायदे (In Hindi)

 

यदि आप कंप्यूटर में रूचि रखते है या प्रोग्रामिंग सीखना शुरू कर रहे है तो आपको API क्या है ये पता होना चाहिए। और अगर आप नहीं जानते What is API in Hindi तो आज हम आपको इसकी पूरी जानकारी देंगे। API एक तरह का सॉफ्टवेयर होता है जो 2 प्रोग्राम को आपस में जोड़ने का कार्य करता है। यह कोड का एक सेट है जिसके द्वारा इंटरनेट एक्सेस करना आसान हो गया है। यदि हमें किसी वेबसाइट पर जाना है, तो उसके लिए अलग से अपनी Information देने की जरूरत नहीं होती है। आपने Google पर जो भी डाटा Use किया है एपीआई वह डाटा वेबसाइट को उपलब्ध करवा देता है।

API एप्लीकेशन को एक्सेस करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण सिस्टम होता है। तो आइये अब API Meaning और API Kya Hota Hai इसके बारे में विस्तार से जानते है जिससे आप इसकी उपयोगिता को समझ पाएँगे। इसके साथ ही हम आपको API Full Form in Hindi क्या होता है ये भी बताएँगे तो जानने के लिए हमारी इस पोस्ट को शुरू से अंत तक जरुर पढ़ें।

 

 

API क्या है,और API के फायदे (In Hindi)
TEJWIKI.IN

एपीआई क्या है (API in Hindi)

 

API का Full Form है Application Programming Interface. API की बात करे तो API एक बिच का सिस्टम है, यानि की हम अगर हमारे Phone में या Computer में कोई Application चलाते है तो जब Application Internet से जुड़ता है या उसके Connection में आता है तो वह एक Server पर Data भेजता है. Server उस Data को प्राप्त करता है, इस पर क्रिया करता है, जो काम आप चाहते हो वो करता है और फिर उस डाटा को आपके फ़ोन पर या आपके कंप्यूटर पर वापस भेजता है. यह सभी काम एक API के माध्यम से होता है. यानि API के बिना किसी भी Application का कार्य मुश्किल है.

चलिए इसे एक साधारण से उदाहरण के माध्यम से समजते है. मान लीजिये आप किसी Resturant में गए है खाना खाने के लिए, तो आपके पास एक Menu होगा जिसमे से आप चुन सकते हो की आपको क्या खाना है. ऐसे में मान लीजिये की आपने एक पिज़्ज़ा आर्डर किया तो एक वेटर आएगा, वो रसोई घर में जायेगा और जो रसोई घर में काम कर रहे व्यक्ति है वो पिज़्ज़ा बनाएंगे तो वो वेटर आपके पास दोबोरा आएगा और आपका पिज़्ज़ा आपको देगा.

इस उदाहरण में जो waiter है वो API है, जो की हमारे और रसोई घर वालो के बिच में काम कर रहा है. यानि की जो पिज़्ज़ा है वो एक एप्लीकेशन है जिसे हम चालू करते है और फिर जो वेटर है वो API है जो की हमारा डेटा एक सर्वर पर लेके जाता है और फिर जब जो डेटा हमें चाहिए वो तैयार हो जाता है तो वो उसे हमारे लिए ले आता है वापस हमारे फ़ोन पर या कंप्यूटर पर.

कंप्यूटर भाषा में, API एक ऐसा तरीका है जिसके द्वारा वह अपने App को Development करते समय उसको एक ऐसा माध्यम प्रदान कर सकते है जिसके द्वारा वह आसानी से चलाया जा सके और User को अच्छा Experience दे सके. सरल भाषा में कहे तो, यह किसी सॉफ्टवेयर के बहुत सरे सिस्टम्स जो की उसको चलते है, उनके बिच एक संचार का माध्यम है. एक अच्छा API Application के संचार के माध्यम की उसकी तेजी के साथ सुगम बनाता है. यानि अधिक तेज़ी से काम करता है, इसके उदाहरण के लिए आप देख सकते है की कुछ Application की Speed अच्छी होती है और कुछ की नहीं.

 

 

इन्हें भी पढ़ें:-

 

 

 

 

एपीआई क्या होता है?

 एप्लीकेशन प्रोग्रामिंग इंटरफेस एक कंप्यूटर इंटरफेस है जो कई सॉफ्टवेयर के बीच बातचीत को परिभाषित करता है। यह उन कॉल या अनुरोध के प्रकार को प्रभावित करता है जो उन्हें बताया जा सकता है उन्हें कैसे बनाया जा सकता है। जिन डाटा प्रारूप का उपयोग किया जानाप्रारूपश, का  पालन करने के लिए अभिसरण आदि। यह विस्तार तंत्र भी प्रदान कर सकता है। ताकि उपयोगकर्ता विभिन्न तरीकों से मौजूद कार्य क्षमता का विस्तार करें और अलग-अलग डिग्री तक। API पूरी तरह से कस्टम हो सकता है यह घटक के नियम व शर्तें या उद्योग मानक के आधार पर बनाया जा सकता है ताकि अंतर सुनिश्चित किया जा सके।यह एक  सॉफ्टवेयर होता है जो दो प्रोग्राम को आपस में जोड़ने का कार्य करता है।

Api क्या है(Api in hindi) जानते है विस्तार में:

 Application programming interface यह एक बीच का syestem है जिसे कुछ इस प्रकार समझते है यानी जब phone या कंप्यूटर में कोई application चलाते है तब वह कनेक्ट किया जाता है internet से।जिस समय server पर data भेजा जाता है।उसके बाद server उसे प्राप्त करता है।फिर वह अपने अनुसार काम करता है उसके बाद वह data  Also Read – Amazon Pay Balance Bank Account me kaise Bheje? : अमेजन पे बैलेंस को ऐसे करें बैंक अकाउंट में ट्रांसफर दोबारा से आपके फोन या computer में भेजा जाता है।और यह काम API का होता है।क्यूंकि इसके बिना कार्य करना मुश्किल है।
इसको उदहारण से समझते है जैसे आपको restuarant जाकर कुछ खाना खाने जाना हो और आप वहा आप menu item को देखने जाएंगे कि आपको क्या खाना है।इस समय आप pizza ऑर्डर दिया जिससे वेटर आता है और आपकी जानकारी अंदर देता है फिर वह pizza ऑर्डर लेकर बनाया जाता है। फिर वो आपको आकर serve करता है।जिसमे waiter API है और वह हमारे बीच और रसोई के बीच काम करता है।और पिज़्ज़ा application है।
जिसे हम चालू करते है और waiter  Also Read – How to download Youtube Videos in Hindi | YouTube Video kaise Download kare? पहले हमारे सामने आता है और फिर रसोई जाता है।जिससे वह हमारा डाटा जो हमे चाहिए वो हमारे पास लेकर आता है।Computer भाषा में बोले थो यह वह प्रक्रिया है जिससे app को development करते समय उसे माध्यम दिया जा सके जिससे सारे कार्य आसानी से हो सके।यूजर को भी सही जानकारी मिलती है।इससे अधिक तेज प्रक्रिया होती है और यही नहीं ये जल्द ही सारे कार्य को आसान भी बना देता है।जिससे कोई दिक्कत ना हो सके।और हम आसानी से कार्य कर सकते है।

एपीआई सुरक्षा का महत्व – Importance of API security in Hindi

 

Friends आइये जानते है की आखिर इन APIs की security हमारे लिए इतनी ज्यादा important क्यों है. जैसा की आज कल हम सभी जानते है की जैसे जैसे technology का विकास हो रहा है और security upgrade हो रही है. API क्या है ठीक उसी तरह से दिन बा दिन हर रोज security threat भी पूरी दुनिया भर में बड़ी तेजी के साथ फ़ैल रहे है. खास तौर पर यह cyberattacks compromised identities और APIs के माध्यम से बढ़ रहे है. APIs पर किये जाने वाले कुछ attacks में से man-in-the-middle attacks, parameter attacks और identity attacks है.

जिसकी वजह से कई बड़े web service providers को अपनी security measures को increase करने के लिए कई partners की जरुरत पड़ती है. जिसमे की MFA का use किया जाता है क्योकि, एक security system जिसमे login के लिए users की identity को verify करना पड़ता है.

इसके लिए वो credentials के independent categories से authentication के लिए एक से अधिक method की जरुरत होती है. इस तरह की service providers में Amazon और Microsoft शामिल है. इन्होने August 2019 में service accounts सहित प्रत्येक users के लिए MFA को लागू किया. इसके लिए इन्होने अपने cloud solution provider program partners, control panel vendors, और advisor partners की शुरुआत की.

इन API security को Implement करना बहुत ही important होता है, क्योकि ये cross-site scripting जिसे XSS और SQL injections जैसे attacks को रोक सकने में सक्षम होते है. इसके अलावा यह किसी भी तरह के breaches से अपने sensitive data किसी shield की तरह protect करता है. तो इसलिए friend एक APIs की security उनके द्वारा supported programs के लिए उस APIs के successful और secure performance के लिए बहुत ज्यादा important होता है.

 

Web APIs

 

Web APIs उन APIs को कहा जाता है जिनको HTTP Protocol के द्वारा Access किया जाता है इन APIs में एक निर्धारित Endpoint और एक Valid Request और Response के Format का इस्तेमाल किया जाता है। Web APIs के कई Types होते हैं जिनमे से कुछ इस प्रकार हैं :-

Open APIs

Open APIs को External या Public APIs भी कहा है ये वे APIs होती है जिनको Developers डायरेक्ट या Sign Up करके इस्तेमाल कर सकता है ये APIs ज़्यदातर फ्री होती हैं जिन्हे Developers आराम से Access करके अपने Apps में इस्तेमाल कर सकते हैं। इसका सबसे अच्छा उदहारण है JSONPlaceholder API जो में खुद भी इस्तेमाल करता हूँ।

Internal APIs

Internal APIs उन APIs को कहा जाता है जो External User से छुपे होते हैं इन्हे किसी कंपनी के अंदर या किसी Special Application के लिए ही बनाया जाता है इन्हे प्राइवेट APIs भी कहा जाता है।

 

Partner APIs

Partner APIs उन APIs को कहा जाता है जिन्हे External User इस्तेमाल कर सकता है लेकिन इनमे Restrictions होते हैं जैसे इसके लिए आपको इसके लिए पहले पैसे देने होंगे आजकल यह काफी Common हो रहा है।

Composite APIs

Composite APIs उन APIs को कहा जाता है जो एक ही Request में Multiple Data Sources, Servers या Services को Access कर सकते हैं इनको ज़्यदातर Microservice Architecture में इस्तेमाल किया जाता है।

क्या API सुरक्षित है

 

जैसा की हम सभी जान चुके है की API हमारी Application को Server से कनेक्ट करके उसमे डेटा भेजता है, और उसे आवश्यक क्रियाएँ करके वापस फ़ोन में ले आता है, तो ऐसे में दिमाग में बात आती है की ‘अगर हमारे फ़ोन का डेटा किसी सर्वर पर जा रहा है, तो क्या API पूरी तरह से सेफ है’? तो मैं आपको इसके बारे में भी बता देता हु.

दरअसल जो API होता है, जब हम इसे संकेत देते है यानि की हम जो काम अपने Application से करवाना चाह रहे है, तो वह वो ही जानकारियां भेजेगा, जैसे की अगर हम फेसबुक पर कोई फ़ोटो अपलोड कर रहे है तो वह अपलोड संबंधी जानकारिया ही भेजगा जिससे की फेसबुक फिर आपकी फ़ोटो को अपलोड कर पायेगा, यानि की API में एप्लीकेशन से जुड़े सभी प्रकार के डेटा अलग अलग होते है, वह आपके सर्वर को जाके वही डेटा दिखायेगा, जिससे संबंधी आप अभी क्रिया करना चाहते हो, वह कोई और डेटा सर्वर को बिलकुल नहीं दिखायेगा.

API आज बहुत अधिक value रखते है क्योंकि यह कई बड़ी बड़ी कम्पनियो का हिस्सा है जैसे की Google, Ebay, Amazon, Wikipedia आदि. कई कंपनिया इस एपीआई से पैसे भी कमेटी है जिसे हम एपीआई अर्थव्यवस्था भी कह सकते है.

 

API के प्रकार

 

API एक तरह का नहीं होता,इसके कई प्रकार होते है, सभी प्रकार अपने हिसाब से अलग अलग कार्य करते है. इन सबको बनाने का टाइम, इनकी कार्यक्षमता सभी चीज़े अलग अलग होती है. अलग अलग कंपनिया अपनी आवश्यकता के अनुसार अपने API पर काम करती है. आज मैं आपको अलग अलग तरीके के API के बारे में बताऊंगा.

दोस्तों, API के Types यानि की प्रकार एक चीज़ पर निर्भर नहीं करते यह अलग अलग विधि के आधार पर अलग अलग होते है, हम यह लार आपको कार्यविधि के आधार पर API के Types बता रहे है.

1. Procedural : यह App के किस स्पेशल काम को पूरा करने के लिए सॉफ्टवेयर के Handler यानि की जो उसे हैंडल कर रहा है उस सर्वर के पास जाते है. ये मुख्यतः अपनी कार्य प्रणाली से फंक्शन को कोई फाइल खोलने के लिए एक सामान्य इंटरफ़ेस प्रदान किया जाता है, फिर हम उस खुली फ़ैल के द्वारा एनी काम कर पाते है. Procedural API पूरी तरह से RPC Implementaions के द्वारा हैंडल किये जाते है.

2. Object Oriented : यह API System ऑब्जेक्ट्स में जो मुश्किल काम है उन्हें करने का और उन्हें सर्वर तक पहुचाने का एक तरीका है, यह अधिकतम लोड उठा सकता है. यह API सिस्टम अन्य बहुत सारे API सिस्टम से अधिक तेज़ और शक्तिशाली होता है. यह सार्वजानिक तौर पर भी कार्य करता है जैसे कई सारी ऐसी साइट्स और सॉफ्टवेयर हिट है जिन्हें हर कोई उसे करता है, जैसे की निम्न श्रेणी के Search Engines.

3. Service Oriented : यह API जहा बहुत सारे प्रोटोकॉल्स में रूप में सेवाओ और कार्यो जो की हम अपनी एप्लीकेशन के माध्यम से करते है, उन्हें सर्वर तक पहुचाने के लिए जिम्मेदार होता है, यानि की उन गतिविधियों को जो की हम करते है उन्हें यह परिणाम देता है. यह आमतौर पर जो व्यापारी विभाग यानि की Shopping, Discounts की Apps और Sites में होते है. जैसे की अमेज़न.

4. Resource Oriented : इस API के नाम से ही पता चल जाता है की इसका नाम क्या है. जैसा की हम जानते है की Resource का मतलब होता है ‘संसाधन’. यह भी इसी प्रकार काम करता है. जब हम किसी सॉफ्टवेयर या एप्लीकेशन को रन करते है तो जब वह API हमारे डेटा को कलेक्ट करता है तो वह सीधे सर्वर में ले जाता है. यह API बड़ी बड़ी कंपनीज़ Use करती है जो पूरी तरह से सिक्योर रहना चाहती है. महंगी वेब हॉस्टिंग्स भी इसी API का प्रयोग करती है.

 

Popular Examples ऑफ़ API

 

वैसे तो बहुत से API Internet पर मेह्जुद है लेकिन आज में आप लोगों को कुछ बहुत ही popular API के बारे में बताने वाला हूँ जिनके बारे में शायद आप लोगों में बहुत से लोग नहीं जानते होंगे. और अगर आपको इसके बारे में पहले से पता है तो ये बहुत ही अच्छी बात है.

1. Google Maps API : GM API Mobile और Desktop Browsers के लिए बनायी जाती है जिसको use करके programmers Google Maps को webpages में embed करते है.

2. YouTube APIs: Google की Youtube API की help से YouTube videos एवं उनकी दुसरे functionality को websites एवं Application में integrate किया जाता है| जिससे user अपने device में आसानी से Youtube का इस्तमाल कर सकते हैं.

3. E-commerce API : जैसे की हम जानते हैं की अभी के दोर में कई E-commerce website मेह्जुद है और ऐसे में अलग अलग eCommerce application के लिए API आती है जैसे की Product Advertising API, Product Information API आदि. इन्ही API के मदद से हम इन Websites के Data को उनके Application के मदद से देख और इस्तमाल कर सकते हैं.

4. Payment Gateway API : इन Payment Gateway APIs को इस्तमाल करके merchant Payment को सही तरीके से प्रोसेस कर सकते है. जिससे हमारे जैसे End User को Transaction पूर्ण करने में आसानी होती है.

5. Mob API : एक programmer जो की एंड्राइड mobile के लिए app develop करता है वह Hardware से interact करने के लिए एंड्राइड API को use कर सकता है जैसे की Android-based device का front camera.

6. Windows OS API : Windows में Multimedia से सम्बंधित टास्क जैसे की गेमिंग, ग्राफ़िक डिजाइनिंग आदि को मैनेज करने के लिए Microsoft DirectX की collection ऑफ़ API को use करते है. इससे काम करने में बड़ी आसानी होती है.

 

 

Uses of API :-

 

1. Time Saving करता है – API के मदद से हम Tasks को काफी हद तक Automated कर सकते हैं इसलिए इसको use करने से Users के साथ साथ business का भी बहुत Time save होता है .

2. Efficiency – API के मदद से सभी तरह की Complexity को hide करते हुए easy interface प्रदान करती है इसलिए API को use करने से product की efficiency बहुत बढ़ती है.

3. Reach का बढ़ जाना – जैसा के मैंने पहले ऊपर बताया है की API अलग अलग requirements के लिए बनायीं जा सकती है इसलिए ही API की reach बहुत ज्यादा होती है एवं API को कोई भी easily अपने प्रोडक्ट में merge कर सकता है और use किया जा सकता है. इसलिए इनका इस्तमाल दुसरे available technology के मुकाबले आसानी से किया जा सकता है.

4. Automation – जैसे की हम जानते हैं की API में मशीन से मशीन का Interaction होता है इसलिए लोगो को Information के लिए एक दूसरे से interact करने की जरूरत नहीं होती . जो की task को आसान और automated बनता है .

5. Partnership और Business – API की मदद से बिज़नेस आसान होता है एवं companies के बिच पार्टनरशिप बढ़ती है . जैसे जैसे कंपनी ग्रो करती है API की हेल्प से बिज़नेस इनफार्मेशन शेयर की जा सकती है एवं इसलिए Business की जरुरत के हिसाब से चेंज या Customize किया जा सकता है एवं Business Related Information शेयर की जा सकती है.

 

API कहाँ इस्तेमाल किया जाता है?

 

API को प्रोग्रामिंग में लगभग हर जगह इस्तेमाल किया जाता है अब यह बिलकुल भी जरूरी नहीं है की API केवल किसी सर्वर से ही data डाउनलोड करता हो, हो सकता है किसी App को किसी स्पेशल लाइब्रेरी का Data इस्तेमाल करना है तो भी उसे API की जरूरत पड़ेगी। इसका उदहारण है OpenGL और Microsoft की DirectX लाइब्रेरी जिनका इस्तेमाल करके हम Operating system से ही कुछ data लेते हैं।
इसके अलावा अगर हमें अपनी app में लॉग इन और sign up के लिए आप्शन लगाने हैं और हमें इसके लिए अपना खुद का सर्वर नहीं बनाना है तो आप Google या दूसरी APIs को काम में ले सकते हैं।
API का Digital वर्ल्ड में बहुत ही बड़ा योगदान है इसको एक छोटी सी पोस्ट में नहीं बताया का सकता इसके लिए आपको थोडा और नॉलेज लेना होगा जिससे आप API को और बेहतर तरीके से समझ पाएं।

API के उपयोग

 

एपीआई Time Save करता है, API में डाटा सेव होता है जिससे API की मदद से ज्यादातर Task हम Automated कर सकते हैं। इसका फायदा ना केवल किसी एक यूजर को बल्कि बिज़नेस को भी होता है।

API Easy Interface Provide करती है जिससे प्रोडक्ट्स Efficiency बढती है।

अन्य Technology के मुकाबले API का उपयोग ज्यादा आसान है क्योंकि यूजर इसे अपनी आवश्यकता के अनुसार इस्तेमाल कर सकता है, इसलिए API का Reach बहुत ज्यादा है।

API Business के साथ Business Partnership के लिए बहुत उपयोगी होता है, ये बिज़नेस की जानकारी के लिए, उसमें Changes के लिए और उसे Customize करने के लिए काफी उपयोगी है।

 

 

 

API के फायदे

 

  • API इस्तेमाल करने के बेहद फायदे होते हैं क्या आप उन फायदों के बारे में जानते हैं? अगर नहीं तो आइए आज हम आपको बताते हैं यह API इस्तेमाल करने के फायदे।
  • स्वयं  काम हो जाते हैं:  एपीआई के साथ कंप्यूटर लोगों के बजाय काम का प्रबंध कर सकते हैं एपीआई के माध्यम से जिनसे उन्हें तेज और अधिक उत्पादक बनाने के लिए कार्य प्रवाह को अपडेट कर सकती है।
  • एप्लीकेशन:  आप कोई भी आप कंपोनेंट को इसलिए ऐसेस कर सकती है इसेलिए सर्विस और इंफॉर्मेशन को प्रदान करना और ज्यादा आसान हो  जाता है।
  • अधिक स्कोप:  एपीआई के साथ एप्लीकेशन लेयर बनाई जा सकती है जिसको उपयोग सूचना और सेवाओं के  मैं दर्शकों को वितरित करने के लिए किया जा सकता है जो कस्टम उपयोगकर्ता अनुभव बनाने के नियम व्यक्तिगत हो सकते हैं।
  • एफिशिएंसी:  जब एक एपीआई तक पहुंच प्रदान की जाती है तो उत्पन्न सामग्री को स्वचालित रूप से प्रकाशित किया जा सकता है और हर चैनल के लिए उपलब्ध है यह इसे साझा करने के लिए अधिक आसानी से वितरित करने की अनुमति देता है।
  • अनुकूलन:  समय के साथ परिवर्तन की आवश्यकता होती है और आईटीआई परिवर्तनों को प्रत्याशित करने में मदद करता है। इस तकनीक के साथ काम करते समय डाटा माइग्रेशन बेहतर रूप से संबंधित होता है और जानकारी के अध्यक्ष पारे की की समीक्षा की जाती है। संपर्क में एपीआई सेवा  प्रावधान को अधिक  फ्लैक्सिबल बनाते हैं।

API का भविष्य

 

जैसे की हम जानते हैं ये दुनिया में Technology धीरे धीरे बदल रही है ऐसे में API जैसी technology भी बदल रही है इसलिए अगर API को बहुत समय तक इस दुनिया में रहना है तब इसे बनाने वालों को जरुरत के अनुसार इसमें बदलाव लाने होंगे. जिससे ये और भी बेहतर बन जायेगा और लोग इसका और ज्यादा इस्तमाल करने लगेंगे. चूँकि API से Business काफी हद तक अपना समय और पैसे बचा पा रहे हैं इसलिए मुझे लगता है की API का भविष्य बहुत ही उज्जवल है, लेकिन इसके बनाने वालों को समय और जरुरत के अनुसार इसमें निरंतर बदलाव लाने होंगे अन्यथा वो दिन दूर नहीं जब कोई नयी Technology इसका स्थान हड़प लेगी.

 

 

 

 

 

Conclusion

 

 

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख  API क्या है,और API के फायदे (In Hindi) जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


Leave a Comment

error: Content is protected !!