केमिस्ट्री कैसे पढ़ें? Chemistry Kaise Padhe पूरी जानकारी

आज का हमारा यह विषय उन विद्यार्थियों पर आधारित है केमिस्ट्री कैसे पढ़ें जो केमिस्ट्री की पढ़ाई तो करते हैं लेकिन सही तरीके से नहीं पढ़ पाते हैं. आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से केमिस्ट्री कैसे पढ़ें? तथा इसे पढ़ने के अनेक टिप्स को विस्तार पूर्वक बताने जा रहे हैं.

केमिस्ट्री फिजिक्स के जैसा एक जटिल विषय है इन विषयों में बिना मेहनत के मार्क्स लाना बहुत ही मुश्किल है, क्योंकि यह अन्य विषयों की अपेक्षा कुछ ज्यादा कठीन होती है जिससे विद्यार्थियों को इनकी टॉपिक्स को समझने के लिए बहुत ही मेहनत करना पड़ता है. आज हम केमिस्ट्री को सही तरीके से समझने के लिए कुछ टिप्स बताने जा रहे हैं.

 

केमिस्ट्री कैसे पढ़ें? Chemistry Kaise Padhe पूरी जानकारी
TEJWIKI.IN

 

 

Contents

केमिस्ट्री पढ़ने का तरीका

केमिस्ट्री एक कठिन विषय है इसमें अपना पकड़ बनाने के लिए विद्यार्थियों को इसकी बेसिक जानकारी का ज्ञान होना बहुत ही आवश्यक है. किसी भी विषय की बेसिक जानकारी जानकर आप उस विषय में अच्छे अंक प्राप्त कर सकते हैं क्योंकि इस ज्ञान के होने से आप उस विषय से संबंधित किसी भी टॉपिक को आसानी पूर्वक समझने में सक्षम हो पाएंगे. हम अपने स्टडी लाइफ में जितने भी विषयों की पढ़ाई करते हैं उन सभी विषयों की पढ़ाई के शुरुआत में हमें शिक्षक द्वारा बेसिक जानकारी दी जाती है तत्पश्चात विषय की पढ़ाई शुरुआत की जाती है.

इससे विद्यार्थियों को टॉपिक्स को समझने में परेशानी नहीं होती और वह विषय की छोटी-छोटी जानकारी से बड़ी टॉपिक्स को आसानी से कवर कर सकते हैं.विषयों की छोटी-छोटी जानकारी का ज्ञान होना बहुत जरूरी है इसलिए शिक्षक विद्यार्थियों को सबसे पहले बेसिक ज्ञान प्रदान करते हैं.

जैसा कि आप जानते हैं सभी विषयों की अपेक्षा केमिस्ट्री थोड़ी हार्ड विषय है इसलिए इस विषय को अच्छी पूर्वक समझने के लिए आपको इसकी बेसिक जानकारी लेनी होगी.क्योंकि यदि आप केमिस्ट्री की छोटी-छोटी महत्वपूर्ण ज्ञान जैसे बेस एसिड, रिडक्शन ऑक्सीडेशन, प्रायोडिक टेबल इन सभी की जानकारी रखते हो तो आपको केमेस्ट्री पढ़ने में आसानी होगी, और आप इस विषय के बड़े टॉपिक्स को भी बेसिक जानकारी से आसानी पूर्वक समझ सकते हो.

 

इन्हें भी पढ़ें:-

 

 

क्लास लेक्चर अटेंड करने से पहले पढ़े:-

एक अच्छा विद्यार्थी वही होता है जो क्लास के लेक्चर अटेंड करने से पहले उस विषय के टॉपिक को पढ़ लेता है इससे उन्हें उस क्लास में पढ़ाये गए केमिस्ट्री टॉपिक अच्छी पूर्वक समझ में आती है.

टॉपर विद्यार्थी इस मेथड को अपनाते हैं और अपनी पढ़ाई की प्रक्रिया पूरी करते हैं तभी जाकर उनका हर एक विषय में पकड़ अच्छा बना रहता है. और इस प्रकार वे अपने एग्जाम पेपर को आसानी पूर्वक देने में सक्षम होते हैं .

 

स्मार्ट तरीके से केमिस्ट्री की स्टडी करें:-

यदि आप इस विषय को स्मार्ट तरीके से पढ़ते हैं तो आपका सिलेबस कम समय में अच्छी तरीके से पूरी होगी. केमिस्ट्री के रिएक्शन को बनाने के लिए अनेक प्रकार के ट्रिक्स अपनाए जाते हैं और इंट्रिक्स को अपनाने से केमिस्ट्री का रिएक्शन बनाना बहुत ही आसान होता है.

इसलिए हर केमिस्ट्री के क्लास में शिक्षक के द्वारा विभिन्न प्रकार के ट्रिक्स बताए जाते हैं जिन्हें विद्यार्थियों को ध्यान में रखना चाहिए.

इन सभी के साथ साथ जब भी आप ऑर्गेनिक केमिस्ट्री पढ़ते हैं तो उसमें आए गए आवर्त सारणी में उपस्थित सभी एलिमेंट्स और उनके क्रमांक को याद रखने के लिए विद्यार्थी के द्वारा कई प्रकार के टिप्स अपनाएं जाते हैं तब इन सभी तत्वों को याद कर पाते हैं.

 

खुद पर कॉन्फिडेंस रखें:-

यदि आपको किसी विषय में अच्छी पकड़ बनानी है तो इसके लिए आपको उस विषय के प्रति कॉन्फिडेंस रखना बहुत जरूरी है क्योंकि जब आपके अंदर आत्मविश्वास जगी रहेगी तभी आप किसी टॉपिक को अच्छे तरीके से समझ पाएंगे.

आपको केमिस्ट्री के किसी टॉपिक में कंफ्यूजन है तो आप यह ना सोचे की ये टॉपिक हम से नहीं होगा बल्कि इसके बजाय आप अपने दोस्तों और शिक्षकों से मदद लें और कन्फ्यूजन टॉपिक को पूर्णरूपेण समझे.

अपने आप पर कॉन्फिडेंस रखना बहुत जरूरी है इससे आप कठिन से कठिन टॉपिक को आसानी पूर्वक समझ सकते हैं.

 

किसी और को सिखाएं:-

आप केमिस्ट्री विषय से संबंधित टॉपिक को अपने किसी दोस्त को बताएं जिससे आप की जानकारी उस विषय के प्रति और ज्यादा बढ़ेगी क्योंकि जब किसी को बताते हैं तो इसके लिए आपको उसके बारे में पहले से पढ़ना होता है तभी जाकर आप उसे अच्छी पूर्वक बता सकते हो.

आप जब किसी को कोई टॉपिक समझाते हो तो उस दौरान उस छात्र के द्वारा आपसे कई प्रकार के प्रश्न भी पूछे जाते हैं जिसका जवाब आपको अपने अनुसार देना होता है इससे आप उत्तर को अपने शब्दों में बताएंगे जिससे आपका भी कॉन्फिडेंस लेवल बढ़ेगा.

 

रटने के बजाय सीखने पर ध्यान दें:-

केमिस्ट्री विषय रटने की विषय नहीं है बल्कि इस विषय के कंसेप्ट को जितना अच्छी तरीके से समझेंगे उतना ही आप इस विषय को समझ पाने में सक्षम होंगे. केमिस्ट्री विषय की हर एक टॉपिक कंसेप्ट पर आधारित है यदि आप कंसेप्ट को अच्छे पूर्वक समझकर नहीं पड़ते हैं तो आपको इस विषय में काफी परेशानी होगी.

इस विषय में कई ऐसे रसायनिक सूत्र होते हैं जिनकी रसायनिक प्रक्रिया को करने के लिए तत्वों के नाम और उनके क्रमांक याद रखने की आवश्यकता होती है. यदि आपको एलिमेंट्स के नाम याद नहीं रहते तो आप रसायनिक सूत्र को कंसेप्ट के आधार पर नहीं बना सकते हैं इसके लिए आपको रट्टा मारनी होगी.

रसायनिक सूत्र के साथ-साथ आपको इस विषय में आईयूपीएसी नेम को भी समझ कर इसके कार्बनिक योगिक का नाम लिखना पड़ता है इसलिए इससे संबंधित कंसेप्ट को अच्छे पूर्वक ध्यान से पढ़ना होता है तभी आप आईयूपीएसी नेम बिना रटे लिख पाएंगे.

 

केमिस्ट्री में रुचि लें:-

किसी विषय को आसानी से समझने के लिए इसमें अपना इंटरेस्ट बढ़ाना जरूरी है क्योंकि आप जिस विषय में रुचि लेते हैं उस विषय की हर एक टॉपिक आपको पढ़ने में अच्छी लगेगी और इससे आपका उसमें कमांड भी अच्छा बनेगा. केमिस्ट्री भी एक इंटरेस्टिंग विषय है जिसमें विद्यार्थियों को विभिन्न प्रकार के रिएक्शन को पढ़ने होते हैं. यह विषय कुछ महत्वपूर्ण बातों से भी इंटरेस्टिंग विषय माना जाता है जैसे इस विषय की खास बात यह है कि इसमें हमें थ्योरी से ज्यादा प्रैक्टिकल करनी होती है और प्रैक्टिकल करने से थ्योरी को समझने में बहुत ही सरल होती है.

इसके साथ साथ इसमें कई महत्वपूर्ण वैज्ञानिकों के द्वारा कई प्रकार के सिद्धांत भी दिए गए हैं जिसे याद रखने में विद्यार्थियों को बहुत ही परेशानी होती है.इसलिए जब आप इस महत्वपूर्ण विषय के साथ-साथ इससे संबंधित वैज्ञानिको के बारे में जानने में इंटरेस्ट रखेंगे तभी आपको इन वैज्ञानिकों के द्वारा दिए गए सिद्धांत को पढ़ने में भी इंटरेस्ट आएगी.

इस विषय में बहुत प्रकार के केमिकल रिएक्शंस को करवाया जाता है और इन केमिकल रिएक्शंस के मदद से बहुत से ऐसे प्रोडक्ट बनाया जाता है जो हमारे दैनिक जीवन में उपयोगी है जैसे कोलगेट, साबुन, सर्फ, क्रीम, और भी ऐसे कई प्रोडक्ट है.

इस विषय में रुचि लेने का कारण हमारे जीवन में उपयोगी चीजों का निर्माण है जो केमिकल रिएक्शन के द्वारा किया जाता है. इसलिए हर विद्यार्थियों को केमिस्ट्री विषय में इंटरेस्ट लेना चाहिए.

 

पढ़ाई को रोचक व मनोरंजक बनाईये

मनोरंजन किसे पसंद नहीं होता तथा मनोरंजक चीजें किसे याद नहीं होते जाहिर है सभी को याद हो जाती है
चलिए जानें कैसी चीजें हमें याद रहती है (a) जिनसे भावत्मक जुडाव हो (b) जिन पर हमें हँसी आती हो (c) वो चीजें जो संसार में इकलौती हो यानि Unique (d) वो जो अजीब है (e) वो चीजें जिनमें कुछ भिन्नता है
आप जिन चीजों में भावात्मक जुडाव महसूस करते है वे आप को सदैव याद रहती है जिन पर हम को हँसी आ जाये वह भी जैसे किसी वैज्ञानिक का नाम उदाहरण के तौर पर एक वैज्ञानिक का नाम लेते है मारकोनी बचपन में मैंनें इसे पढा तो मुझे मार कोहनी लगा तथा सभी बच्चे भी क्लास में इसे मार कोहनी कहके एक दूसरे को कोहनी मारते मुझे यह सदैव के लिए याद हो गया

अनोखी चीजें हमें हमेशा याद रहती है जैसे यदि आप कोई बहुत बडे कुत्ते को देख ले तो आपको सदैव याद रहेगा आपने कहाँ देखा था तो निष्कर्ष के तौर पर आप अपनी भावनाओं को यदि पढाई से जोडे तो प्रतिफल अच्छा ही आयेगा , आप ये कर सकते है
(1) जब कोई अजीब तथ्य आये तो उसे दोस्तों के साथ शेयर करके थोडा हँस लीजिये
(2) जब कोई किसी बडे महापुरुष के बारे में पूछे तो अवश्य चिंतन करें कि क्या कठिनाईयां उन्हें झेलनी पडी होंगी
(3) किसी की तारीफ करने में गुरेज न करें “बहुत महान व्यक्ति था” आप कुछ भी अपनी तरफ से बोलेंगें तो आपको सदैव याद रहेगा
(4) हमें अजीब चीजें सदैव याद रहती है तो प्रयास करें कि आप अपनी पढाई के विषयों में कुछ अजीब ढूढ सकें, न मिले तो खुद उसे अजीब बना लें आपको सदैव याद रहेगा

सिलेबस के अकॉर्डिंग पढ़ाई करें:-

विद्यार्थियों को उनकी विषयों की सिलेबस की जानकारी होना बहुत ही जरूरी है क्योंकि सिलेबस के माध्यम से स्टूडेंट्स को पता चलता है की किस विषय में उनको कितने टॉपिक्स पढ़नी है और कौन सा विषय उनके लिए आसान होगा और किस विषय में उन्हें परेशानी होगी.

इसके साथ साथ उनको यह भी पता चलेगा कि कौन से एक्सरसाइज में कितने मार्क्स के क्वेश्चन पूछे जाते हैं.ऑब्जेक्टिव टाइप क्वेश्चन किस लेसन से कितना आता है केमिस्ट्री कैसे पढ़ें इन सभी जानकारी को पाने के लिए विद्यार्थियों को सिलेबस देखनी चाहिए.

सिलेबस को जानने के बाद विद्यार्थियों के लिए हर विषय का हर लेसन आसान हो जाता है क्योंकि उनको पता रहती है कि किस लेसन से कितने मार्क्स के क्वेश्चन आएंगे और वे इन सभी जानकारियों के साथ अपनी पढ़ाई बहुत ही सादगी पूर्वक कर सकते हैं. इससे हर स्टूडेंट्स का सिलेबस जल्दी पूरा होता है.

 

इन्हें भी पढ़ें:-

 

 

डेली रूटिंग के अनुसार पढ़ें:-

केमिस्ट्री सब्जेक्ट में जितना मेहनत किया जाए इसका रिजल्ट उतना ही अच्छा होता है क्योंकि इस सब्जेक्ट में विभिन्न प्रकार के रिएक्शन एवं फार्मूले का इस्तेमाल किया जाता है.

इन सभी फार्मूला और रिएक्शन को याद रखना तभी संभव हो पाएगा जब विद्यार्थी के द्वारा इस विषय को रूटिंग के अनुसार पढ़ा जाए. केमिस्ट्री कैसे पढ़ें हर विषयों के लिए बच्चों के द्वारा रूटिंग बनाना आवश्यक है और सभी विषय के साथ साथ यदि इस हार्ड विषय को भी रूटिंग के अनुसार पढ़ा जाए तभी विद्यार्थि का पकड़ इस कठिन विषय में अच्छा रहेगा.

डेली रूटीन के अनुसार पढ़ने से स्टूडेंट को प्रत्येक विषय में पढ़ाए गए टॉपिक की जानकारी रहती है और इस तरह प्रत्येक दिन पढ़ाई करने से इनकी परीक्षा की तैयारी भी बहुत ही आसानी पूर्वक हो जाती है.

 

प्रॉब्लम को सॉल्व करें:-

केमिस्ट्री विषय में अच्छे मार्क्स लाने के लिए विद्यार्थियों को बुक तथा इंस्टिट्यूट में पढ़ाई गए टॉपिक को ध्यान पूर्वक पढ़ने के साथ-साथ बुक में दिए गए प्रश्नों को हल करने की प्रैक्टिस भी करनी चाहिए इससे आप अपने नोट्स के साथ-साथ किताब में दिए गए प्रश्न को हल करके इस विषय के प्रति अच्छा तैयारी कर सकते हैं.

 

नोट्स बना कर पढ़ें:-

स्कूल या ट्यूशन में पढ़ाई गए केमिस्ट्री के हर एक टॉपिक का शॉर्ट नोट्स बनाना विद्यार्थियों के लिए बहुत ही जरूरी है. क्योंकि शॉर्ट नोट्स बनाने से रिवीजन करते वक्त स्टूडेंट्स को बहुत ही आसानी होती है.

जब आप केमिस्ट्री का शार्ट नोट्स बनाते हैं तो आपको उस टॉपिक को कवर करने में टाइम कम लगता है और आपका रिवीजन जल्दी हो जाता है. केमिस्ट्री कैसे पढ़ें शॉर्ट नोट्स बनाने के साथ-साथ आपको यह भी ध्यान में रखना चाहिए कि जब केमिस्ट्री का कोई भी टॉपिक आपके क्लास में पढ़ाया जा रहा हो तो उस वक्त आपको आपका ध्यान उस टॉपिक के ऊपर बताए गए बातों में होना चाहिए.

इससे उस टॉपिक का आधा जानकारी क्लास में ही आपको मिल जाएगी और जब आप घर आए तब उस टॉपिक को दोबारा पढ़ ले इस प्रकार आपको वह टॉपिक पूरी तरीके से समझ में आएगी.

जब आप किसी टॉपिक को पढ़ते हो तो जहां तक संभव हो आप उस टॉपिक को 24 घंटा के अंदर दोबारा पढ़ें इससे आपको याद रहेगी क्योंकि यह एक साइंटिफिक रीजन है. इसलिए हर विद्यार्थी को इस सेंटिफिक रीजन का उपयोग अपने स्टडी लाइफ में करनी चाहिए.

 

बड़े टॉपिक को टुकड़ों में बांट कर पढ़ें:-

इस विषय में बड़े टॉपिको को छोटे-छोटे टॉपिक में बांट कर आप इसका अध्ययन कर सकते हैं जिससे आपको समझने में आसानी होगी.

जब आप किसी बड़े टॉपिक को एक लगातार समझोगे तो उसमें आपको परेशानी होगी इसलिए अपने अनुसार बड़े टॉपिक को छोटे छोटे हिस्से में डिवाइड कर समझने का प्रयास करें.

 

प्रत्येक दिन केमिस्ट्री विषय को पढ़ें:-

पढ़ाई के लिए आप टाइम टेबल तो बनाए होंगे जिससे प्रत्येक दिन आपका हर सब्जेक्ट की पढ़ाई हो सके.सभी विषयों की पढ़ाई के साथ-साथ केमिस्ट्री की पढ़ाई भी प्रत्येक दिन करनी चाहिए क्योंकि यह विषय थोड़ी जटिल होती है

इसलिए जब आप इस विषय के हर टॉपिक को प्रत्येक दिन पढ़ते हैं तो इससे आपका कमांड केमिस्ट्री विषय में अच्छा बनेगा. हर दिन इस विषय की पढ़ाई को छोटे-छोटे भागों में बांट कर निश्चित समय में रिवीजन करते रहें इससे यह कठिन विषय आपके लिए आसान हो जाएगा.

जब आप प्रत्येक दिन पढ़ोगे तो आपके परीक्षा की तैयारी बहुत ही आसानी से पूरी होगी और आप परीक्षा में इस सब्जेक्ट से पूछे गए सभी प्रश्न का जवाब देने में सक्षम होंगे.

 

ग्रुप स्टडी करें:-

ग्रुप स्टडी करने से स्टूडेंट को बहुत लाभ मिलता है क्योंकि जब भी ग्रुप स्टडी चलती है तो उसमें बहुत सारे विद्यार्थियों का एक संग बना होता है, केमिस्ट्री कैसे पढ़ें तथा कई प्रकार के डाउट भी ग्रुप स्टडी में क्लियर होते हैं क्योंकि विभिन्न बच्चों के द्वारा अलग-अलग सवाल किए जाते हैं.

इन सवालों का जवाब उनके द्वारा दिया जाता है जिससे सबकी डाउट क्लियर होती है. ग्रुप स्टडी में जब कोई बच्चा आंसर देता है तो उस वक्त उनका कॉन्फिडेंस के साथ-साथ कम्युनिकेशन स्किल भी बेहतर होती है तथा इससे आत्मविश्वास भी बढ़ता है.

ग्रुप स्टडी करने से विद्यार्थियों की पर्सनैलिटी भी चेंज होती है. इस ग्रुप स्टडी को करने से बच्चों को क्वेश्चंस के उत्तर बहुत जल्दी याद हो जाते हैं इसलिए पढ़ाई करने का यह एक बहुत ही अच्छा तरीका है जिसे हर स्टूडेंट को फॉलो करना चाहिए.

 

प्रैक्टिस और अधिक प्रैक्टिस करें:-

जैसा कि आपको पता है केमिस्ट्री सब्जेक्ट कठिन सब्जेक्ट के अंतर्गत आता है इसलिए इस को आसान बनाने के लिए विद्यार्थियों को इससे संबंधित हर टॉपिक को प्रत्येक दिन रिवीजन करनी चाहिए. प्रत्येक दिन रिवीजन करने से केमिस्ट्री का हर जानकारी बच्चों को याद रहेगी और उनका कॉन्फिडेंस लेवल इस सब्जेक्ट के अंदर बढ़ेगा.

इस विषय के अंतर्गत विभिन्न प्रकार के रिएक्शन आते हैं जिन्हें कुछ ट्रिक्स की सहायता से समझा जा सकता है लेकिन जब तक आप इन रिएक्शन को प्रैक्टिस नहीं करेंगे तब तक आप अच्छी तरीके से रिएक्शन सीख नहीं पाएंगे. इसलिए प्रत्येक दिन केमिस्ट्री के रिएक्शन का अभ्यास करें.

रिवीजन करने के लिए इस सब्जेक्ट में पढ़ाई गए टॉपिक को शार्ट नोट्स बना कर रिवीजन कर सकते हैं.रिवीजन करते वक्त यदि आपको किसी रिएक्शन में परेशानी होती है तो आप इससे संबंधित प्रश्न अपने दोस्त या शिक्षक से पूछ सकते हैं इससे आपका डाउट क्लियर हो जाएगा.

 

पीरियोडिक टेबल को याद रखें:-

केमिस्ट्री के अंतर्गत मुख्यता तीन विषय होते हैं ऑर्गेनिक, इन ऑर्गेनिक तथा फिजिकल. इस विषय में पीरियोडिक टेबल को याद रखना बहुत ही आवश्यक होता है. इसकी मदद से रसायनिक समीकरण बनाने में आसानी होती है, केमिस्ट्री कैसे पढ़ें रिएक्शन आपसे तभी बनेंगे जब आप तत्वों के नाम और संकेत को ट्रिक के सहायता से याद रखेंगे.

इस टेबल की मदद से आप धातु, अधातु, लथेनोईडस, एक्टिवाइट्स को याद रख पाएंगे रसायनिक सूत्र बनाते समय आपको मदद करेगी. ऑक्सीडेशन रिडक्शन रिएक्शन को जानने के बाद आप रिएक्शन को बैलेंस कर सकते हैं.

 

डायग्राम आधारित प्रश्नों को ध्यान से हल करें

 

टर्म-वन एग्जाम में बायोलाजी के पेपर में कुल 60 प्रश्न पूछे जाएंगे। इनमें से 50 प्रश्नों के उत्तर छात्रों को देने होंगे। इन 50 प्रश्नों में सेक्शन ए-बी से 20-20 प्रश्न और सेक्शन-सी से 10 प्रश्नों का उत्तर देना है। हर प्रश्न का उत्तर 0.7 अंक का है। हर तरह के डायग्राम का अध्ययन केवल एनसीईआरटी किताब से ही करें। चैप्टर-छह से कैलकुलेटिव प्रश्न हो सकते हैं जिसे छात्र-छात्राओं को ठीक से अभ्यास करना चाहिए। निगेटिव मार्किंग नहीं है इसलिए सभी प्रश्नों को हल जरूरत करें। यदि किसी छात्र ने 50 से ज्यादा प्रश्नों को के उत्तर दे दिए हैं तो पहले 50 उत्तर को मूल्यांकन में शामिल किया जाएगा।

 

ग्राफिकल प्रश्नों का रिवीजन करते रहें

 

मानसिक तौर पर परीक्षा के लिए स्वयं को तैयार कर सिलेबस को पूरा करें। इस बार की परीक्षा में 55 प्रश्न होंगे, केमिस्ट्री कैसे पढ़ें जिनमें से छात्रों को 45 प्रश्नों का सही उत्तर ओएमआर शीट पर भरना होगा। कांसेप्ट आधारित प्रश्नों को ध्यान से पढ़कर उनमें निहित उत्तर को समझने का प्रयास करें। टर्म-वन के सभी सूत्रों यानी फार्मूले को याद कर लें जो न्यूमेरिकल हल करने में मददगार होंगे।

ग्राफिकल प्रश्नों को ध्यान से पढ़ें। सही उत्तर देने के लिए उनके रिवीजन करते रहें। एसर्सन-रीजन के प्रश्नों का उत्तर देने के लिए सही उत्तर अंकित करना बेहद जरूरी है। एमसीक्यू आधारित प्रश्नपत्र को जल्दी से पढ़ने और प्रश्न और उनके उत्तर को समझने के लिए खूब अभ्यास कर लें। इससे एग्जाम में एक बार पेपर पढ़कर जरूरी व अनिवार्य प्रश्नों के उत्तर पहले हल करें।

 

इन्हें भी पढ़ें:-

 

 

 

 

Conclusion

 

 

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख  केमिस्ट्री कैसे पढ़ें? Chemistry Kaise Padhe पूरी जानकारी  जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

केमिस्ट्री कैसे पढ़ें? Chemistry Kaise Padhe पूरी जानकारी

 

 

 

 

Join our Facebook Group

   Join Whatsapp Group

 

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!