FasTag क्या है (What is FasTag in Hindi) Fastag कैसे कार्य करता है?

FasTag क्या है? क्या आपको Roads में travel करना पसदं है? यदि हाँ तब शायद आपको ये जानना बहुत ही जरुरी है की FasTag क्या होते हैं? ऐसा इसलिए क्यूंकि यदि आपने इसके बारे में जानते हैं तब तो ठीक है लेकिन यदि नहीं तब आपको Toll Plaza में दुगना fees भी भरना पड़ सकता है. जी हाँ आपने बिकुल सही पढ़ा. ऐसा इसलिए क्यूंकि सरकार द्वारा Toll Fees में दुगना कीमत वसूल किया जा रहा है अगर किसी गाड़ी के owner ने अपने गाड़ी पर Fastags का इस्तमाल नहीं किया है.

ऐसे में हम लोगों ने समझा की आप सभी को फास्टैग बैंक्स लिस्ट के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करूँ जिससे की आपको कभी दुगना toll fees देने के नोबत ही नहीं आएगी. वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दूँ की सरकार ने इस FASTag का इस्तमाल toll gates में यातायात को सुविधाजनक बनाने के लिए किया है. अब आपको अपने पास Cash रखने की कोई जरुरत नहीं होगी क्यूंकि यदि आप FASTag का इस्तमाल करेंगे तब आसानी से आपके account से पैसे अपने आप ही कट जायेंगे.

FASTag का इस्तमाल आप प्राय सभी toll plazas में कर सकते हैं जो की National Electronic Toll Collection (NETC) programme के तहत आती है.वहीँ यहाँ इस article में आपको FasTags क्या है, इसे आप कैसे खरीदें और कहाँ से खरीदें से जुडी सभी जानकारी यहाँ पर आपको पढने को मिलेंगी. तो फिर बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं फास्टैग क्या होता है.

 

FasTag क्या है (What is FasTag in Hindi) Fastag कैसे कार्य करता है?
TEJWIKI.IN

 

Contents

FasTag क्या है (What is FasTag in Hindi)

 

फ़ास्टैग इलेक्ट्रॉनिक टोल कनेक्शन की एक तकनीक है. दरअसल राष्ट्रीय राजमार्ग से अपने वाहन को गुजारने के लिए सरकार द्वारा टोल टैक्स लिया जाता है, यह टोल टैक्स वसूलने के लिए हाईवे पर जगह जगह टोल प्लाजा बनाये जानते हैं. लोगों द्वारा यहाँ पर भुगतान फले काश के माध्यम से किया जाता था. किन्तु फिर सरकार ने इसे ऑनलाइन कर दिया है. इसे ही फ़ास्टैग सुविधा कहते हैं. प्रत्येक 4 पाहिया वाहन चालकों को अपने वाहन में फ़ास्टैग लगाना होता है. ये फ़ास्टैग लगवाने के लिए उनको पहले रजिस्ट्रेशन करना होता है जिसके बाद यह उनके वाहन के लिए जारी किया जाता है. इससे टोल प्लाजा पर उन्हें कैश में भुगतान नहीं करना पड़ता यह ऑनलाइन ही ऑटोमेटिक हो जाता है.

 

Fastag का उद्देश्य

 

दोस्तों आपको बता दें! कि पूरे देश में सड़क पर टोल का इलेक्ट्रॉनिक तोर पर संग्रह तेज करने के लिए जल्द ही पेट्रोल पंप पर फास्टैग उपलब्ध कराये जाएंगे! जिसका उपयोग बाद में पेट्रोल खरीदने और पार्किंग शुल्क भरने में किया जाएगा! इस फास्टैग सिस्टम के जरिये टोल प्लाजा में टोल टैक्स देने के कारण गाड़ियों की लम्बी लाइन लगने और खुल्ले पैसे होने की परेशानियों को दूर किया जा सकेगा! इस Fastag की सहायता से सभी लोगों के समय की बचत होगी!

 

FASTag की जानकारी हिंदी में

 

FASTag एक ऐसा device होता है जिसमें की Radio Frequency Identification (RFID) technology का इस्तमाल किया गया होता है toll payments को directly करने के लिए वो भी उससे Linked prepaid या savings account से और इसे गाडी की windscreen पर लगाया गया होता है scanning के लिए जब वो किसी Toll Plaza से होकर गुजरता है. इससे Drivers या गाड़ी के owner को Cash Transaction के लिए रुकना नहीं पड़ता है.

FASTag की validity करीब 5 वर्षों के लिए होती है, वहीँ आपको इसे जरुरत के हिसाब से recharge/top up भी कराना होता है.

NHAI के अनुसार जो सबसे बड़े advantages आपको इसे इस्तमाल करने से प्राप्त होते हैं वो ये की आपको Toll Transactions के लिए Cash ले जाने की कोई भी जरुरत नहीं होती है, वहीँ इससे time-saving भी होती ही, वहीँ आपकी समय की बर्बादी भी नहीं होती है.

जैसे की अगर कोई user एक toll plaza को cross करता है, तब toll amount अपने आप ही deduct हो जाता है automatically. बस user को एक SMS alert मिलता है registered mobile number पर. वहीँ इसके साथ toll transactions, low balance और किसी भी प्रकार का updates भी प्राप्त होता है उन्हें.

 

FasTag के प्रकार  (Type Of FasTag)

 

बाजार में केवल एक ही प्रकार का FASTag उपलब्ध है, कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप इसे कहाँ से खरीदते हैं। ये सभी एक ही सेवा दे रहे हैं। हालाँकि, ऐसे विभिन्न विक्रेता हैं जिनसे आप FASTag खरीद सकते हैं।

वाहन कलर NPCI क्लास
प्राइवेट वाहन/जीप/कार बैंगनी क्लास 4
छोटे कमर्शियल वाहन/ मिनी बस नारंगी क्लास 5
2 Axle हरा क्लास 7
3 Axle पीला क्लास 6
4,5,6 Axle/ tractor गुलाबी क्लास 12
7 Axle से ज्यादा नीला क्लास 15
मशीन/ JCB काला क्लास 16

 

Fastag  कैसे काम करता है (How Fastag Works)

 

वाहन के विंडस्क्रीन में फास्टैग लगाया जाता है और इसमें रेडियो फ्रिक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (आरएफआईडी) लगा होता है. जैसे ही आपकी गाड़ी टोल प्लाजा के पास आ जाती है, तो टोल प्लाजा पर लगा सेंसर आपके वाहन के विंडस्क्रीन में लगे फास्टैग के संपर्क में आते ही, आपके फास्टैक अकाउंट से उस टोल प्लाजा पर लगने वाला शुल्क काट देता है और आप बिना वहां रूके अपना प्लाजा टैक्स का भुगतान कर देते हैं. वाहन में लगा ये टैग, आपके प्रीपेड खाते के सक्रिय होते ही अपना कार्य शुरू कर देगा. वहीं जब आपके फास्टैग अकांउट की राशि खत्म हो जाएगी, तो आपको उसे फिर से रिचार्ज करवाना पड़ेगा. फास्टैग की वैधता 5 वर्ष तक की होगी यानि पांच वर्ष के बाद आपको नया फास्टैग अपनी गाड़ी पर लगवाना होगा.

 

 

फास्टैग से लाभ  (Benefits of FasTag or ETC)

 

लंबी लाइन एवं समय में कमी 

सड़क एवं परिवहन मंत्रालय ने टोल प्लाजा में टोल टैक्स देने के कारण लगने वाली गाड़ियों की लम्बी लाइन और खुले पैसे होने की समस्या को हल करने के लिए फास्टैग सिस्टम को देश के कई टोल प्लाजाओं पर शुरू किया है.

पेट्रोल एवं डीज़ल में कमी 

फास्टैग की मदद से आपका समय बचने के साथ-साथ आपके पेट्रोल या डीजल की भी बचत होगी.

कैशबैक सुविधा 

इतना ही नहीं साल 2016-17 के बीच इसका इस्तेमाल करने वाले लोगों को सभी टोल भुगतानों पर 10% का कैशबैक भी मिला. वहीं 2017-2018 के बीच आपको 7.5 %, कैश बैक 2018-2019 के बीच 5 % कैश बैक और 2019-2020 तक 2.5 % कैश बैक मिला. ये कैश बैक एक सप्ताह के भीतर आपके फास्टैग खाते में आ जाता है.

एसएमएस की होगी सुविधा (SMS)

जब भी आप फास्टैग लगे वाहन से किसी टोल प्लाजा को पार करेंगे, तो फास्टैग अकाउंट से आपका शुल्क कटते ही आपके पास एक एसएमएस आ जाएगा. एसएमएस के जरिए आपके फास्टैग अकाउंट से कितनी राशि काटी गई है उसके बारे में आपको जानकारी दी जाएगी.

गाँव के लोगों को खास सुविधा (Monthly Pass)

यदि कोई गाँव नेशनल हाईवे पर मौजूद किसी टोल प्लाज़ा के 20 किलोमीटर के दायरे में अंदर आते हैं. उस गांव के जितने भी वाहन चालक हैं उन्हें 275 रूपये का भुगतान एक बार में करना होता है, जोकि पूरे महीने के लिए होता है. अपना आधार कार्ड दिखाकर वे इसका लाभ आसानी से उठा सकते हैं.

अभी तक फास्टैग केवल भारत के चुनिंदा शहरों के टोल प्लाजा पर ही लागू था. मगर इसके सफल होने के बाद सड़क एवं परिवहन मंत्रालय द्वारा इसे जल्द ही देश के हर टोल प्लाजा पर शुरू करने की कोशिश की जा रही है.

 

फ़ास्टैग रिचार्ज करने वाले बैंक की सूचि (FASTag Banks List)

 

फास्टैग कई बैंको से साथ जुड़ा हुआ है, जिनसे आप फास्टैग को रीचार्ज कर सकते है। हालाकिं कुछ लोगो का एक सवाल रहता है, की फास्टैग रीचार्ज क्या है? आपको बता दें, की फास्टैग में टोल टैक्सी के लिए जमा की गए राशि को फास्टैग रीचार्ज कहते है। आप अपने क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, और नेट बैंकिंग के माध्यम से फास्टैग में रीचार्ज कर सकते है। फास्टैग में कम से कम रीचार्ज 100 रूपये का होता है, इसके अलावा आप अपने प्वाइंट ऑफ सेल (पीओएस) के अंदर आनेवाले टोल प्लाजा या एजेंसी में जाकर फास्टैग अकाउंट बनवा सकते है, या फिर स्टीकर ले सकते है। जब आप अपना फास्टैग अकाउंट खुलवाते है, तो आपको कुछ निम्न दस्तावेजों की आवश्यक पड़ती है – वाहन के पंजीकरण प्रमाण पत्र (आरसी), एक पासपोर्ट साइज फोटो, आधार कार्ड या फिर कोई भी ऐसी आईडी जिसपर आपके घर का पता हों।

फास्टैग से जुड़े कुछ Live Bank Member की List इस प्रकार है –

  • Allahabad Bank
  • AU Small Finance Bank
  • Axis Bank Ltd
  • Bank of Baroda
  • Bank of Maharashtra
  • Canara Bank
  • Central Bank of India
  • City Union Bank Ltd
  • Equitas Small Finance Bank
  • Federal Bank
  • FINO Payments Bank
  • HDFC Bank
  • ICICI Bank
  • IDBI Bank
  • IDFC First Bank
  • IndusInd Bank
  • Jammu and Kashmir Bank
  • Karur Vysya Bank
  • Kotak Mahindra Bank
  • Nagpur Nagarik Sahakari Bank
  • PAYTM Bank

 

 When Start FasTag in India (भारत में कब शुरू हुआ फास्टैग)

 

भारत में ये सिस्टम सबसे पहले अहमदाबाद और मुंबई हाईवे के बीच 2014 में शुरू किया गया था. जुलाई 2015 में इसे चेन्नई-बेंगलुरु टोल प्लाजा पर शुरू किया गया था. अभी तक देश के 332 टोल प्लाजाओं पर इस सुविधा को शुरू कर दिया गया है. यानी इन टोल प्लाजाओं में आप फास्टैग के जरिए टोल टैक्स का भुगतान कर सकते हैं.

 

एक दिसंबर से वाहन पर फास्टैग होगा जरूरी [Fastags mandatory from 1st जनवरी]

साल 2019 में एक दिसंबर के बाद से बिकने वाले सभी प्रकार के चार-पहियां वाहनों पर फास्टैग लगाना अति आवश्यक होगा. सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने सभी गाड़ी निर्माताओं कंपनी और वाहन डीलरों को ये सुनिश्चित करने को कहा है, कि एक दिसंबर से उनसे खरीदे जाने वाले वाहनों पर उसके मालिक द्वारा फास्टैग जरूर लगवाया जाए.

 

FASTag  टोल टैक्स के अलावा इन कामों के लिए भी जरुरी 

 

बीते वर्ष भारत सरकार ने सभी चार पहिया वाहनों में फास्टैग की सुविधा का शुभारंभ किया था जिसे अब 1 जनवरी से पूर्ण रूप से अनिवार्य कर दिया गया है. जी हां अब सभी टोल नाकों पर टैक्स का भुगतान कैश में नहीं होगा, यह केवल फास्टैग के माध्यम से हो होगा. और आपको हम यह महत्वपूर्ण जानकारी भी दे रहे हैं कि फ़ास्टैग का उपयोग आप टोल टैक्स का भुगतान करने में तो करेंगे ही साथ में आपको इन कामों में भी इसकी आवश्यक पड़ेगी –

  • यदि आपकी गाड़ी में फ़ास्टैग लगा होगा तभी आप अपनी गाडी के लिए ट्रांसपोर्ट फिटनेस सर्टिफिकेट को रिन्यू कराने में सक्षम हो सकेंगे.
  • आपको यह जानकारी दे दें कि जब फ़ास्टैग की शुरुआत की गई थी, तभी से नेशनल परमिट व्हीकल्स के लिए भी फ़ास्टैग आवश्यक हो गया था.
  • वर्ष 2021 के अप्रैल माह से थर्ड पार्टी इन्सुरांस कराने के लिए भी फ़ास्टैग अतिआवश्यक होगा. और जिन गाड़ियों में फ़ास्टैग नहीं लगा होगा उनका थर्ड पार्टी इन्सुरांस भी नहीं हो सकेगा.

 

पेट्रोल भुगतान FASTag के जरिये

हालही में इंडियन ऑइल कारपोरेशन ने कैशलेस भुगतान के लिए सहयोग करने का फैसला किया है. यानि अब जोकि fastag उपयोगकर्ता हैं और आईसीआईसीआई बैंक में आपका खाता है तो आप इंडियन ऑइल कारपोरेशन के जितने भी रिटेल आउटलेट हैं वहां पर आप इसका लाभ उठा सकते हैं. इससे लोगों को पेट्रोल पंप में लगने वाली लंबी लाइन से छुटकारा मिलेगा. आपको बता दें कि पूरे भारत में मौजूद लगभग 3000 इंडियन ऑइल कारपोरेशन के रिटेल आउटलेट को पहले चरण में कवर किया जायेगा.

 

भुगतान कैसे करें

इसका उपयोग करना भी बेहद आसान है. आपको बस इतना करना है कि जब आप पेट्रोल भरवाने जाएँ तो आप वहां मौजूद कर्मचारी या वर्कर से आपकी गाड़ी में लगे फ़ास्टैग को स्कैन करने के लिए कहिये इसके बाद आपके फ़ोन में एक ओटीपी आयेगा. यह ओटीपी आपको वहां बताना होगा जब यह पीओसी मशीन पर दर्ज हो जायेगा. तो फिर भुगतान की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी. यह ठीक उसी तरह आसान है जिस तरह से आप ऑनलाइन पेमेंट करते हैं.

 

 

 

FasTag कहा से मिलेगा?

 

अब चूँकि FasTag का इस्तमाल अनिवार्य हो गया है. ऐसे में एक customer चाहे तो कोई भी Point of Sale (POS) locations से वो भी toll plazas/ issuer agency पर जाकर अपने लिए एक FASTag account create कर सकता है. वहीँ toll plazas के अलावा भी, FASTags available होते हैं banks में जहाँ की authorities से NHAI के साथ signed up कर लिया हो. FasTag क्या है वहीँ एक traveller के लिए वो आसानी से नीचे बताई गयी किसी भी एक Specific Bank से संपर्क कर सकता है.

अभी के समय में, बहुत से private और public sector banks ने NHAI के साथ partnership की है. जिनमें शामिल हैं HDFC Bank, ICICI Bank, Syndicate Bank, Axis Bank, IDFC Bank और State Bank of India प्रमुख हैं. वहीँ payments banks में, Paytm offer करती है FASTag अपने ग्राहकों को.

वहीँ एक user अपने automobile companies को पूछ सकती है इसे अपने vehicle में install करने के लिए. चलिए अब details में जानते हैं की आप किन तरीकों से FASTags प्राप्त कर सकते हैं.

1. Online sale से FASTags की – FASTag को Online ख़रीदा जा सकता है Issuer Banks websites / NHAI website / IHMCL website से और ये आपके घर तक courier से पहुँच जाता है.

2. Mobile app – MyFASTag एक consumer App होता है जिसे की download किया जाता है Android के लिए. एक consumer चाहे तो FasTags इस app के जरिये खरीद और recharge भी करवा सकता है. can purchase or recharge FASTags on this App.

3. Point of Sale (POS) locations:- आप चाहें तो आपके निकटवर्ती Point of Sale (POS) locations पर जाकर भी ये FasTag खरीद सकते हैं. ये Toll Plazas और banks के sales office में उपलब्ध होता है.

FASTag को आप करीब 28,500 Point-of-Sale locations से खरीद सकते हैं जो की बहुत से Banks और IHMCL/NHAI के द्वारा setup की गयी है, जिनमें शामिल हैं NH fee plazas, RTOs, Common Service Centers, transport hubs, bank branches, selected petrol pumps, इत्यादि.

वहीँ retail segment (car/jeep/van) FASTag को आप online Amazon से खरीद सकते हैं और साथ में Banks की websites पर जाकर भी खरीद सकते हैं जैसे की SBI, ICICI bank, Axis bank, Paytm Payment Banks, HDFC bank, IDFC First bank के sites पर जाकर.

इसके अलावा आप Issuing Bank Customer Care numbers से ये identify करवा सकती है की आपके समीप का POS location कौन सा है, जिससे आपको ये tag प्राप्त करने में आसानी होगी.

 

FASTag क्यों जरुरी है?

 

अगर आपके घर में एक या एक से अधिक four-wheelers को तो आपको जल्द से जल्द fastag खरीद लेना चाहिए. क्योंकि सड़क परिवहन और हाईवे मंत्रालय द्वारा 16 फरवरी 2021 से टोल प्लाजाओं से गुजरने वाले सभी वाहनों के लिए fastag अनिवार्य कर दिया गया है. हो सकता है इस deadline को आगे बढ़ा दिया जाए, FasTag क्या है लेकिन आने वाले समय में अगर आप बिना फास्टैग के टोल से गुजरते हैं तो आपको vehicle की category के हिसाब से दोगुना टोल भुगतान करना होगा. इसके साथ ही सरकार ने vehicle के third party insurance को प्राप्त करने के लिए भी fastag को अनिवार्य कर दिया है.

 

Fastag के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें (Fastag Apply Online)

 

अगर आपके पास एक कोई भी Vehicle या कार, ट्रक है, तो आपको Fastag Online Apply करने के बारे में जरूर जानना चाहिए। क्योकिं अब प्रत्येक वाहन में फास्टैग का होना बहुत जरुरी है। तो आइये जानते है, की Fastag के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करते है –

  1. सबसे पहले आपको फास्टैग की आधिकारिक वेबसाइट Official Website of Fastag पर जाकर एक एप्लीकेशन फार्म प्राप्त करना होगा। एप्लीकेशन फार्म प्राप्त करने के लिए क्लिक करें
  2. आपको बता दें की फास्टैग एप्लीकेशन फार्म को निकलने से पहले आप अपने बैंक का चुनाव करे जिससे आप फास्टैग लेना चाहते है। जब आप बैंक का चयन करने है, तो आपके सामने एक नया TAB खुलता है।
  3. इस नए TAB में सभी मांगी गयी सही जानकारी को भरकर फास्टैग के लिए Online Apply कर सकते है।
  4. जब आप इस पेज पर आते है, तो आपके सामने एक FASTag का लिंक दिखाई देगा, जिस पर आपको क्लिक करना है।
  5. यहाँ आपको एक छोटा सा डिस्कलमैर दिखाई देगा, जिसे आप Agree कर के बटन पर Click करें।
  6. जब आप इस पर क्लिक करते है, तो आपके सामने के नया फार्म फिर से खुलकर आएगा। यहाँ पर आपको अपने वाहन से जुड़ी सभी जानकारियां भरनी है, इसके अलावा कुछ डॉक्यूमेंट भी अटैच्ड करने है।
  7. सभी जानकारी और दस्तावेजों को भरने के बाद अंत में आपको सबमिट करना है, इसके बाद आपके सामने सभी जानकारी आ जाएगी की किस तरह से आपको फास्टैग मिलेगा।
  8. साथ ही जिस बैंक का आपने चयन किया था, वह बैंक आपके नाम की एक स्लिप तैयार करके आपको देगा। जिसके माध्यम से आप अपने फास्टैग कार्ड को अपने बैंक कहते से लिंक कर सकते है।
  9. मुझे उम्मीद है, की आप समझ गए होंगे की Fastag Apply Online कैसे किया जाता है।

 

Toll tax के अतिरिक्त इन कामों में भी फास्टैग हैं उपयोगी।

 

बीते वर्ष में केंद्र सरकार ने सभी चार पहिया वाहनों पर फास्टैग लगाने की अनिवार्यता को जारी कर दिया है। और अब 1 जनवरी से इस से पूर्ण तरीके से लागू कर दिया गया हैं। जी हां दोस्तों अब किसी भी टोल प्लाजा पर टोल टैक्स कैश में नहीं बल्कि ऑनलाइन भुगतान किया जाएगा। और इसे फास्टैग की सहायता से ही किया जाएगा। यहां पर हम आपको एक महत्वपूर्ण जानकारी दे रहे हैं, FasTag क्या है यदि आप फास्टैग का उपयोग कर रहे हैं तो आपको यह जान लेना चाहिए कि फास्टैग का उपयोग केवल टोल टैक्स के भुगतान के लिए ही नहीं बल्कि इन कामों में भी किया जाता है।

  • यदि आप अपनी गाड़ी की ट्रांसपोर्ट फिटनेस सर्टिफिकेट को रिन्यू करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अपनी गाड़ी पर फास्टैग लगवाना अति अनिवार्य हैं।
  • यदि आपके पास चार पहिया वाहन है तो आपके लिए यह भी जानना महत्वपूर्ण है, कि जब से भारत में फास्टैग के शुरुआत हुई है तब ही से और नेशनल परमिट व्हीकल्स के लिए भी फास्टैग का होना अनिवार्य कर दिया गया हैं।
  • यदि आप अपने वाहन की थर्ड पार्टी इंश्योरेंस कराना चाहते हैं, तो 2021 के अप्रैल माह से इसके लिए भी फास्टैग का होना अनिवार्य किया गया है। अगर आपके वाहन पर फास्टैग नहीं है, तो आप अपने वाहन का थर्ड पार्टी इंश्योरेंस नहीं करा सकते हैं।

 

FASTags Apply करने के लिए किन किन Documents की जरूरत होती है?

 

एक customer को FASTag की application के साथ साथ नीचे बताई गयी सभी documents के एक एक copy भी जमा करनी होती है Point of Sale (POS) locations पर जाकर. चलिए उन documents के बारे में जानते हैं.

1. गाड़ी की Registration Certificate (RC)

2. Passport size photograph, गाड़ी के owner की

3. KYC documents, यहाँ बताई गयी किसी भी चीज़ की — जैसे की Driving license, PAN Card, Passport, Voter ID Card या Aadhar Card.

Customer को इन सभी documents की original copies को भी साथ लेना होता है इसकी xerox copies के साथ.

 

 Zero Balance FasTag जीरो बैलेंस का फ़ास्टैग क्या है

 

आपको बता दें कि जनता को राष्ट्रीय राजमार्ग से अपने वाहन को ले जाने के लिए जगह जगह मौजूद टोल प्लाजा पर टैक्स देना पड़ता है. इस भुगतान के लिए उन्हें अपनी गाड़ी पर लगाये हुए फ़ास्टैग को रिचार्ज कराना पड़ता है. लेकिन कुछ लोगों के लिए यह जीरो बैलेंस में भी उपयोग होता है. यानि कुछ लोगों को यहाँ से गुजरने के लिए कोई भी टैक्स का भुगतान नहीं करना पड़ता है. ऐसे फ़ास्टैग को एक्जमटेड फ़ास्टैग नाम दिया गया है. आइये जानते हैं कौन हैं वे लोग जिसे जीरो बैलेंस के फ़ास्टैग के साथ टोल नाके से गुजरने की अनुमति है.

 

जीरो बैलेंस फ़ास्टैग उपयोग करने वाले लाभार्थी (Eligibility)

 

चूकी यह एक राष्ट्रीय राजमार्ग हैं इसलिए इसका इस्तेमाल करने वाले लोग वीआईपी एवं वीवीआईपी हैं. नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया की ओर से यह निश्चय किया गया है. कि वीआईपी लोगों के लिए एक्जमटेड फ़ास्टैग बनाये जायेंगे जोकि जीरो बैलेंस के होंगे. ये जीरो बैलेंस फ़ास्टैग का लाभ उठाने वाले वीआईपी लोग देश के सांसद एवं विधायक होते हैं. देश में जितने भी सांसद एवं विधायक है उन्हें उनकी 2 गाड़ियों के लिए फ़ास्टैग मिलते हैं. FasTag क्या है एक संसदीय क्षेत्र के लिए और दूसरा राजधानी दिल्ली के लिए, यहाँ उन्हें संसद सत्र के दौरान भाग लेने के लिए आना होता है. इसके अलावा यह सुविधा निम्न लोगों को दी जाती है –

  • भारत के राष्ट्रपति
  • उपराष्ट्रपति
  • प्रधानमंत्री
  • सभी राज्यों के राज्यपाल
  • भारत के मुख्य न्यायधीश
  • लोकसभा के अध्यक्ष
  • सभी कैबिनेट मंत्री
  • सभी राज्यों के मुख्यमंत्री
  • उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायधीश
  • भारत सरकार के सचिव
  • थल सेना प्रमुख यानि सेना कमांडर
  • अन्य सेना प्रमुख एवं
  • राज्य सरकार प्रमुख

जीरो बैलेंस फ़ास्टैग का उपयोग  कहां कहां हो सकता है 

देश में मौजूद सभी राष्ट्रीय राजमार्ग पर बने टोल प्लाज़ा पर इस फ़ासटैग का इस्तेमाल किया जाता है.

 

जीरो बैलेंस फ़ास्टैग कैसे बनता है (NHAI, Apply)

इस फ़ास्टैग को बनवाने के लिए पात्र लोगों को एनएचएआई की अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपना आवेदन करना होता है. आवेदन देने के बाद एनएचएआई द्वारा इसका सत्यापन किया जाता है. और इसके बाद वही इसे जारी करती है. यहाँ से आपको सभी जानकारी भी मिल जाएगी.

 

FasTag हेल्पलाइन नंबर (FasTag Customer Care Number)

 

फ़ास्टैग बनवाने, रिचार्ज करने, भुगतान करने या फिर अन्य जो भी परेशानी आपको फ़ास्टैग से संबंधित आती है. तो आप इस अधिकारिक वेबसाइट पर क्लिक करिये. यहाँ आपको फ़ास्टैग रिचार्ज करने वाले बैंक की सूची और बैंक के आधार पर हेल्पलाइन नंबर की सूची दी हुई है. इसके अलावा भी आपको जो भी जानकारी चाहिए आप यहाँ से प्राप्त कर सकते हैं.

 

FASTag से संबंधित बार-बार पूछे जाने वाले सवाल एवं उनके जवाब – FAQs

Fastag को रिचार्ज कैसे करें?

आप अपने FASTag account को cheque या Debit Card, Credit Card या NET banking के जरिए online recharge कर सकते हैं. FASTag को account को 100 रुपए से लेकर अधिकतम 1 लाख रुपए तक रिचार्ज किया जा सकता है. FASTag रिचार्ज कैसे करें के बारे में जानने के लिए यहाँ क्लिक करें.

Fastag को शीशे पर कहाँ लगाएं?

FASTag को गाड़ी के front शीशे पर अंदर की तरफ लगाया जाता है. इसे फिट करने की सही जगह शीशे के centre में top पर होती है. इसके पीछे glue लगा होता है जिससे यह आसानी से शीशे के साथ चिपक जाता है.

क्या 24 घंटे के भीतर वापसी पर Toll Charge कम लगेगा?

हाँ, जब आप पहली बार Toll cross करते हैं तब आपको one way toll charge अदा करना होता है. लेकिन अगर आप 24 घंटे के भीतर वापस आते हैं तब electronic toll collection system आपके समय और return journy charges को calculate करता है और उसी हिसाब से toll fee adjust कर लेता है.

अगर गलती से अधिक Toll Fees deduct हो जाती है तो क्या करना होगा?

वैसे तो इस तरह की गलती होने के chances बहुत कम होते है, लेकिन फिर भी अगर ऐसा होता है तो तुरंत Bank customer care से संपर्क करें और विस्तार से इसकी जानकारी दें.

मेरे पास नया Vehicle है जिसपर पहले से ही RFID Tag लगा है. इसे Activate कैसे करें?

इसके लिए संबंधित issuer agency के PoS (Point of Sale) से संपर्क करें.

 

अगर मेरा Fastag गुम हो जाता है तो क्या करना होगा? और account balance का क्या होगा?

अगर आपका fastag गुम हो जाता है तो संबंधित issuer bank के customer care से संपर्क करें और फास्टैग को block करवा दें. नया account खुलने के बाद issuer agency आपके balance को नए खाते में transfer कर देगी.

 

क्या एक Vehicle के लिए ख़रीदे गए FASTag को किसी दूसरे Vehicle के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है?

नहीं, प्रत्येक vehicle के लिए फास्टैग को KYC documents के आधार पर issue किया जाता है. अगर आप इस फास्टैग को किसी दूसरे vehicle के पर इस्तेमाल करते हैं तो इसे blacklist कर दिया जाएगा और vehicle को टोल प्लाजा के fastag lane से नहीं गुजरने दिया जाएगा.

अगर टोल प्लाजा से गुजरते समय किसी Technical Problem की वजह से FASTag काम ना करे तो क्या होगा?

अगर आपके फास्टैग में sufficient account balance है और तकनीकी वजह से यह काम नहीं कर रहा है तो आपको कोई charge नहीं देना होगा. आप फ्री में टोल से गुजर सकते हैं.

 

 

 

 

Conclusion

 

 

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख FasTag क्या है (What is FasTag in Hindi) Fastag कैसे कार्य करता है?  जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

FasTag क्या है (What is FasTag in Hindi) Fastag कैसे कार्य करता है?

 

 

 

Join our Facebook Group

   Join Whatsapp Group

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!