Biometric Device क्या है? इसके के कार्य और उपयोग की पूरी जानकारी

जैसे जैसे टेक्नोलॉजी में सुधार आते जा रहे हैं वैसे वैसे टेक्नोलॉजी और बढ़िया और बेहतर होती जा रही है Biometric Device क्या है? इसी तरह सुरक्षा से संबंधित टेक्नोलॉजी भी पहले के मुकाबले बहुत ज्यादा मजबूत हो गई है. पहले अगर किसी कंप्यूटिंग डिवाइस को लॉक करना पड़ता था तो सिर्फ हम उस पर कुछ अंकों का पासवर्ड लगा कर ही उसे लोक कर सकते थे. लेकिन अब हम किसी भी कंप्यूटिंग डिवाइस को सिर्फ कुछ अंकों के पासवर्ड से ही नहीं अपने शरीर के अंगों से भी Lock कर सकते हैं. जिससे कि वह कंप्यूटिंग डिवाइस सिर्फ हमारे शरीर के अंगो से ही खुलेगी.

इसका छोटा सा उदाहरण हम फिंगरप्रिंट सेंसर वाले स्मार्टफोन को देख सकते हैं. जिस भी स्मार्टफोन में फिंगरप्रिंट सेंसर होगा तो वह उसी व्यक्ति के फिंगरप्रिंट से खुलेगा जिसका फिंगरप्रिंट पहले उस स्मार्ट फोन में सेव किया गया है. तो सुरक्षा की यह टेक्नोलॉजी बहुत ज्यादा मजबूत और बढ़िया है. अंकों का पासवर्ड तो कोई भी हैक कर सकता है या पता लगा सकता है. यहां तक कि हम अंदाजा लगा कर भी कुछ अंकों का पासवर्ड तोड़ सकते हैं. लेकिन किसी के फिंगरप्रिंट के निशान हम नहीं ला सकते. तो इसीलिए हमारे फोन की सुरक्षा के लिए यह बहुत बढ़िया ऑप्शन है.

 

Biometric Device क्या है? इसके के कार्य और उपयोग की पूरी जानकारी
TEJWIKI.IN

 

Biometric Device क्या है?

 

Biometric System एक ऐसा सिस्टम है जिसके द्वारा व्यक्ति की पहचान की जा सकती है। बायोमेट्रिक मशीन की मदद से व्यक्ति को चेहरे, आँखों, आवाज़, ऊँगली या अँगूठे के निशान से पहचाना जा सकता है। किसी के बायोमेट्रिक डाटा की चोरी नहीं की जा सकती है। कंप्यूटर में भी Biometric Device Software डाउनलोड करके प्रयोग कर सकते है।

 

Biometric Device क्या है?(What Is Biometric Device)

 

Biometric Device एक प्रकार का System है। जिसकी मदद से किसी भी आदमी को उसके Biological Features की मदद से पहचाना जाता है जैसे कि व्यक्ति को उसके चेहरे, आँखों, आवाज़, ऊँगली या अँगूठे के निशान से उसे पहचाना जाता है

यह सब बायोमेट्रिक डिवाइस की मदद से होता है जो Scanning Features और Abilities के आधार पर यह अलग-अलग प्रकार के हो सकते हैं

 

Fingerprint Scanner Kya Hai in Hindi:

 

फिंगरप्रिंट प्रकृति के उन विचित्र मोड़ में से एक हैं। इंसानों में अंतर्निहित, आसानी से सुलभ आइडेंटिटी कार्ड होते हैं। आपके पास एक यूनिक डिज़ाइन है, जो आपको अकेले ही दर्शाता है, शाब्दिक रूप से आपकी उंगलियों पर। ये कैसे हुआ?

लोगों की उंगलियों पर त्वचा की छोटी लकीरें होती हैं क्योंकि यह विशेष रूप से अनुकूल मानव प्रजातियों के पूर्वजों के लिए बेहद फायदेमंद था। उंगलियों पर बनी लकीरों और घाटियों का पैटर्न हाथों में चीजों को पकड़ना आसान बनाता है, जिस तरह एक रबर पैटर्न से बने के टायर को सड़क पर पकड़ बनाने में मदद मिलती है।

नतीजन, फिंगरप्रिंट्स एक व्यक्ति के लिए एक यूनिक मार्कर हैं, यहां तक ​​कि एक समान जुड़वा के फिंगरप्रिंट्स भी अलग होते हैं। और जबकि दो प्रिंट एक नज़र में मूल रूप से एक जैसे दिख सकते हैं, एक प्रशिक्षित अन्वेषक या एडवांस सॉफ्टवेयर इसके अंतर को स्पष्ट, परिभाषित कर सकता है।

यह अपराध विश्लेषण और सुरक्षा दोनों में, फिंगरप्रिंट विश्लेषण का मूल विचार है। एक फिंगरप्रिंट स्कैनर का काम एक प्रिंट सैंपल एकत्र करके और रिकॉर्ड पर अन्य नमूनों की तुलना करके एक ह्यूमन एनालिस्ट की जगह लेना है। अगले कुछ खंडों में, हमें पता चलेगा कि स्कैनर कैसे काम करते हैं।

 

 

Biomatric Scanner क्या है?

 

Biometric Scanner एक प्रकार की मशीन होती है जिसके जरिए फिंगरप्रिंट, रेटिना इत्यादि को स्कैन करके आपका Biometric Data लेती है। आमतौर पर इस मशीन को कंप्यूटर के साथ जोड़कर यूज़ किया जाता है। यदि आप कभी आधार कार्ड बनवाने गए होंगे या आधार कार्ड में सुधार करने के लिए आधार सेंटर गए होंगे तो वहां पर आपका फिंगरप्रिंट और रेटिना स्कैन लिया जाता है और इसी के जरिए आपका आधार कार्ड ओपन हो जाता है।

यदि आपको अपने आधार कार्ड का नंबर नहीं मालूम है फिर भी Biometric Scan के जरिए आपका आधार डाटा खुल जाता है।हालांकि आप Biometric Scanner का प्रयोग स्मार्टफोन के साथ जोड़कर भी कर सकते हैं। आपने अक्सर देखा होगा कि मार्केट में किसी टेलीकॉम कंपनी का डिस्ट्रीब्यूटर अपना स्टॉल लगाकर सिम कार्ड बेचता है।

वह अपने स्मार्टफोन से Biometric Scanner को कनेक्ट करता है और आपका Fingerprint Verification करता है। इसके बाद आपका सिम कार्ड आपके नाम पर रजिस्टर्ड हो जाता है। इतना ही नहीं अब बहुत जगहों पर उपस्थिति दर्ज करने के लिए Biometric Scanner का प्रयोग हो रहा है। इससे सबसे बड़ा फायदा यह है कि कोई भी व्यक्ति अनुपस्थित होने के बावजूद भी रजिस्टर में उपस्थिति दर्ज नहीं करा सकेगा।

 

Biometric Scanner का आविष्कार किसने किया 

 

सन 1858 में Sir William Herschel ने सबसे पहले Biometric scanner की शुरुवात की लेकिन biometric scanner का इस्तेमाल 500 BC में भी लेनदेन के लिए किया जाता था लेकिन उस समय यह एक मिट्टी के पात्र पर किया जाता था जो की आटोमेटिक नहीं था. स्मार्टफोन की बात करे तो मोटोरोला कम्पनी ने सबसे पहले फिंगरप्रिंट यानी बायोमेट्रिक स्कैनर का इस्तेमाल शुरू किया था.

 

Biometric Device कैसे काम करता है?

 

Biometric Machine 3 स्टेप्स में काम करती है। सबसे पहले किसी व्यक्ति का Biometric Device Registration प्रक्रिया की जाती है । जिसमें व्यक्ति के हाथ की उँगलियों की इमेज ली जाती है तथा नाम और आवश्यक जानकारी को रजिस्टर किया जाता है। अब जो फिंगरप्रिंट स्कैनर है वह इस इमेज को यूनिक कोड में बदलता है और फिर इसे कंप्यूटर में स्टोर कर दिया जाता है।

इसके बाद कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर द्वारा उँगलियों और लकीर से एक पैटर्न तैयार किया जाता है। इस पैटर्न के अंतर्गत प्रत्येक व्यक्ति का अपना अलग-अलग न्यूमेरिक कोड बन जाता है। तो अब जब कोई व्यक्ति स्कैनर पर अपनी ऊँगली लगाएगा तो Biometric Machine उस ऊँगली को स्कैन करती है। तो यह फिंगरप्रिंट के न्यूमेरिक कोड को कंप्यूटर में स्टोर न्यूमेरिक कोड से मिलाती है। जब यह मिलान हो जाता है तो आपकी उपस्थिति रजिस्टर हो जाती है।

 

 

 

Biometric Device के उपयोग 

 

बायोमेंट्रिक मशीन उपस्थिति दर्ज करने के साथ ही और भी कई तरह के कार्य करने के लिए प्रयोग की जाती है।

  • Biometric Door Lock एक हाई टेक्नोलॉजी है किसी खास जगह पर प्रवेश करने की जैसे- कुछ स्थानों पर बायोमेट्रिक उपस्थिति मशीन को ऐसे लोगों के आने पर रोक लगाने के लिए प्रयोग किया जाता है जो अनधिकृत होते है, जहाँ पर Biometric Verification के बाद Door Open होता है।
  • बायोमेट्रिक क्लासेज में भी प्रयोग की जाने लगी है। समय पर उपस्थित होने के लिए Biometric Attendance System की तरह काम करता है जैसे- कोचिंग क्लासेज तथा स्कूल, कॉलेज और ऑफ़िस में बायोमेट्रिक का इस्तेमाल किया जा रहा है।
  • यदि कोई व्यक्ति गुम हो जाता है तो Biometric Authentication के द्वारा उस व्यक्ति का पता भी लगाया जा सकता है। भारत में आधार कार्ड बनाने के लिए भी इस तकनीक का प्रयोग किया जा रहा है और भारत के प्रत्येक व्यक्ति का आधार कार्ड होना ज़रुरी है। आधार कार्ड में कई तरह की जानकारी दर्ज होती है तो इसके माध्यम से गुम हुए व्यक्ति का पता लगा सकते है।
  • अब ATM मशीन पर भी Biometric System का प्रयोग किया जा रहा है। Biometric Machine के द्वारा Biometric Verification करने के बाद ही ATM मशीन से पैसे निकाले जा सकेंगे।

 

Biometric Device के प्रकार (Types Of Biometric Device In Hindi)

 

1.Face Scanner

इस डिवाइस को किसी भी व्यक्ति के Face को स्कैन करके उसे पहचानने के लिए बनाया गया है यह किसी भी व्यक्ति के Face के Measurement को लेता है जैसे कि आंखों के बीच का गैप नाक और मुंह आदि। इसी की मदद से किसी भी व्यक्ति की Identity को Confirm किया जाता है।

 

2.Hand Scanner

किसी भी व्यक्ति के हाथ को उसके Identity के लिए भी उपयोग किया जा सकता है। जैसे कि हर एक व्यक्ति के हाथ की नसों का पैटर्न अलग अलग होता है मतलब की यूनिक होता है जैसे कि फिंगरप्रिंट। यह डिवाइस इस फीचर्स का लाभ लेता है।

जैसे कि किसी व्यक्ति के उसके हाथ के नसों के द्वारा उसको पहचाना जा सकता है यह Infrared Light का उपयोग करता है हाथ के नसों के पैटर्न को स्कैन करने के लिए और खून के बहाव को भी। हथेली Fingerprint की अपेक्षा बहुत ही यूनिक है।

 

3.Fingerprint Scanner

यह कहना व्यक्ति के फिंगरप्रिंट को स्कैन करता है उसके Identify के लिए। इस डिवाइस को इसलिए बनाया गया है क्योंकि इस दुनिया में किसी भी दो व्यक्ति के Same Fingerprint नहीं हो सकते हैं। यह कंपनीज में Fingerprint Attendance System की तरह उपयोग होता है

ताकि Employees के Attendance को बहुत ही आसानी से Mark किया जा सके। यह Scanner उंगलियों पर घाटियों और लकीरों के पैटर्न को कैप्चर करता है कभी भी कोई व्यक्ति अपना फिंगर Fingerprint Scanner पर रखता है तो वह उस व्यक्ती की Identity को दिखाता है

 

4.Retina Or Iris Scanner

यह Scanner किसी भी व्यक्ति के Identity के लिए उसके आंखों की Retina को या Iris को स्कैन करता है यह डिवाइस दूसरों के अपेक्षा बहुत ही Secure है। क्योंकि किसी की Retina को या Iris को कॉपी करना असंभव है।

यह आंख के खून के Vessel पैटर्न को Mapping करके कार्य करता है। रेटिना की खून Vesssls लाइट को बहुत ही आसानी से Absorb करती हैं और साथ ही साथ उपयुक्त लाइट के साथ Identify भी किया जा सकता है

इस स्केनर में, Low-Energy Infrared Light की किरणे स्केनर के माध्यम से रेटिना पर पड़ती है और तब Software रेटिना में Blood Vessels के नेटवर्क को कैप्चर करता है और इसका उपयोग करके व्यक्ति के Identity को वेरीफाई करता है।

 

5.Voice Scanner

इसका उपयोग किसी प व्यक्ति के वाइस को रिकॉर्ड करके उसके वॉइस को वेरीफाई किया जाता है उसके Identity के लिए। और उस व्यक्ति को उसी वॉइस में या फिर सेम वॉइस में बोलने की जरूरत होती है। जिससे एक Voice Template को Create किया जाता है। ज्यादा विश्वसनीय नहीं है क्योंकि इसका मिस यूज़ किया जा सकता है Tape रिकॉर्डिंग के माध्यम से।

 

Biometric Device Cost (लागत)

Biometric Devices Price अलग-अलग तरह की होती है। बायोमेट्रिक कीमत मशीन के ब्रांड, कार्य करने की क्षमता तथा कंपनी पर निर्भर करती है। Biometric Device क्या है अगर आप ऑनलाइन बायोमेट्रिक मशीन खरीदते है तो बेस्ट ऑफर में सस्ते दामों के साथ ख़रीद सकते है।

 

Biometric Scanner के लाभ 

 

जैसा की आपको फिंगरप्रिंट सेंसर के बारे में बताया गया है कि सभी व्यक्तियों के फिंगरप्रिंट अलग होते हैं इसी कारण कोई भी व्यक्ति किसी दूसरे व्यक्ति के फिंगरप्रिंट का इस्तेमाल करके किसी भी डिवाइस को खोल नहीं सकता इसी तरह दूसरे बायोमेट्रिक सेंसर के भी बहुत सारे फायदे होते हैं जैसे कि.

  • इसका सबसे बड़ा फायदा ही यही है की इसके द्वारा Lock की गई डिवाइस को सिर्फ वही व्यक्ति खोल सकता है जिसने उसे Lock किया हो.
  • बायोमेट्रिक सेसर के डाटा को कोई भी कॉपी नहीं कर सकता.
  • बायोमेट्रिक सेंसर द्वारा ली गई जानकारी को कोई भी दोबारा नहीं बना सकता.
  • बायोमेट्रिक सेंसर द्वारा लोक की गई डिवाइस को हैक करके भी नहीं खोला जा सकता.
  • बायोमेट्रिक सेंसर द्वारा Protected Device एक सामान्य पासवर्ड द्वारा Protected Device से ज्यादा सुरक्षित होती है.

 

Fingerprint scanner  क्या secure है?

 

हम कुछ भी नयी टेक्नोलॉजी के बारे में सोचते हैं तो सबसे पहले सवाल हमारे मन में उस चीज से जुडी सुरक्षा का ही होता है, लेकिन मैं आपको बता दूँ कि Fingerprint scanner, Face lock के मुकाबले ज्यादा सुरक्षित माना जाता है,
इस विषय में कुछ शोधकर्ताओ का सुझाव भी है की आपके फ़ोन में जितनीं भी संवेदनशील ऐप्प हैं उन पर आप जरुर ही अपना Fingerprint लगा लें आजकल तो गूगल पे, फ़ोन पे आदि भी Fingerprint lock को सिक्यूरिटी के लिए ज्यादा ही महत्वा देते हैं क्योंकि यह आपके फ़ोन को और भी ज्यादा सुरक्षा प्रदान करता है.

 

 

 

 

Conclusion

 

 

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख Biometric Device क्या है? इसके के कार्य और उपयोग की पूरी जानकारी जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

Biometric Device क्या है? इसके के कार्य और उपयोग की पूरी जानकारी

 

 

 

Join our Facebook Group

   Join Whatsapp Group

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!