Airplane Mod क्या है? इसका उपयोग करना क्यों जरूरी होता है?

अगर आप काफी समय से Smartphone का Use कर रहे है तो आपने Flight Mode का Option तो देखा ही होगा, Airplane Mod क्या है क्या आप जानते है कि फ्लाइट मोड़ को किस लिए Use किया जाता है और इसे क्यों On किया जाता है, अगर नही तो यह Post आपके बहुत काम आने वाली है इस Post में हम जानेंगे कि Flight Mode क्या है? फ्लाइट मोड़ On कैसे करें तथा इसका Use क्या है?

काफी नए Smartphone Users Mobile के बहुत सारे Feature के बारे में नही जानते है, फ्लाइट मोड़ ऐसा ही एक फीचर है, जो किसी के लिए बहुत ज्यादा उपयोगी होता है तो किसी के लिए बहुत कम।

Flight Mode को Airplane Mode भी कहते है, लेकिन इस बारे में जानकारी न होने की वजह से हम इसका सही से वा सही जगह उपयोग नहीं कर पाते है, Airplane Mode को लेकर बहुत सारे Myth भी है जिनके बारे में हम बात करेगे।

 

Airplane Mod क्या है? इसका उपयोग करना क्यों जरूरी होता है?
TEJWIKI.IN

 

Contents

फ्लाइट मोड या Airplane Mod क्या है?

 

एयरप्लेन मोड एक ऐसा मोड होता है जो स्मार्टफोन या टेबलेट का वायरलेस सुबिधा बंद कर देता है. वैसे एयरप्लेन मोड मुख्य रूप से उल्लेख करता है स्मार्टफोन्स को.

जब आप Flight mode की setting को turn on करते हैं, usually plane icon को tap कर, airplane mode turns off कर देती हैं cellular voice और data connection को आपके phone में. अक्सर ये Wi-Fi और Bluetooth को भी disable कर देती है.

 

Flight Mode क्या है

 

Flight या Airplane Mode एक ऐसा Feature होता है, जो आपके Mobile की सभी वायरलेस सेवाओं को बंद कर देता है। इसे On करने के बाद आपके Mobile का Network, Data, WIFI, Bluetooth आदि वायरल फीचर्स बंद हो जाते है।

 

Flight mode को एयरप्लेन मोड क्यों कहा जाता है?

 

Flight Mode को “airplane mode” कहा जाता है क्यूंकि इन्हें design किया गया है आपके device को safe रखने के लिए जब आप flight में सफ़र कर रहे होते हैं. हमारी Phone के भीतर स्तिथ radios emit करती हैं electromagnetic interference. ये interference से Plane की equipments और उसके operation पर इससे असर पड़ती हैं. वहीँ Federal Aviation Administration (FAA) के हिसाब से, इससे जमीन पर स्तिथ cellular towers की service पर भी बाधा पहुँच सकती है.

 

 

Airplane Mode क्या काम आता है?

 

ये सवाल शायद बहुतों के मन में होगा की आखिर ये Airplane Mode या Flight Mode असल में करती क्या है? आप चाहें जिस किसी भी device का इस्तमाल कर रहे हों — एक Android phone, iPhone, iPad, Windows tablet, या किसी दुसरे की — airplane mode या Flight Mode को activate करने पर ये disable कर देती है कुछ hardware functions को. इनमें शामिल हैं :

1. Cellular: आपकी device cell towers से communicate करना बंद कर देता है. जिससे परिणाम स्वरुप आप न तो किसी को Voice Call और SMS कर सकते हो और न ही आप Mobile Data का इस्तमाल कर सकते हैं. साथ में आप किसी भी प्रकार का Voice Call और SMS दूसरों से receive भी नहीं कर सकते हैं.

2. Wi-Fi: आपका phone बंद कर देता है scanning करना निकटवर्ती Wi-Fi networks को और उनके साथ Join होने के लिए attempt करना भी बंद कर देता है. वहीँ अगर आप पहले से ही किसी एक Wi-Fi network के साथ connected हों, तब ऐसे में आप तुरंत ही उससे disconnected हो जाते हैं.

3. Bluetooth: Airplane mode disable कर देती है Bluetooth को, जो की एक wireless communication technology होती है जिसका इस्तमाल ज्यादातर लोग अपने Wireless Headsets को associate करने के लिए करते हैं.

4. GPS: Airplane mode या Flight Mode disable कर देती है GPS-receiving functions, लेकिन ये केवल कुछ ही devices में. ये समझने में थोडा confusing और inconsistent लग सकता है. Theory में, GPS थोडा अलग होता है बाकि दुसरे technologies के हिसाब से, ऐसा इसलिए क्यूंकि एक device जिसमें की GPS On हो वो केवल सुन सकता है उन GPS Signals को जो की वो receive करता है, वहीँ ये कोई भी signals को transmit नहीं करता है. इसके वाबजूद भी, कुछ aircraft regulations allow नहीं करते हैं GPS-receiving functions का इस्तमाल करने के लिए.

जब airplane mode को enable किया जाता है, तब आपको एक airplane icon जरुर से दिखाई पड़ेगा आपके device के notification bar पर, जो की appear होता है top bar पर आपके Android devices, iPhones, और iPads में. आप अपने devices का इस्तमाल कर सकते हैं वो भी aircraft पर — जब वो takeoff और landing कर रहा हो तब भी — जब तक की आपके device में airplane mode enabled हो. इससे आपको उन्हें पूरी तरह से Power Off करने की कोई भी जरुरत नहीं है.

 

Airplane Mode का उपयोग करना क्यों जरूरी होता है?

 

बहुत सारे देशों में Phones का इस्तमाल करना वो भी Planes में बिलकुल ही मना है. चलिए इसके पीछे का कारण समझते हैं. एक typical phone या cellular-enabled tablet हमेशा communicate करती रहती है काफ़ी सारे cell towers के साथ और वहीँ वो उनके साथ एक connection बनाये रखना चाहती है वो भी हमेशा. अगर towers ज्यादा दूर हो जाये तब, ऐसे में phone या tablet को अपनी signal को boost करना पड़ता है

जिससे की वो towers के साथ सही तरीके से communicate कर पाए.इस प्रकार की communication interfere करती है एक airplane के sensors के साथ और इससे potentially काफ़ी सारी दिक्कतें पैदा हो सकती हैं sensitive navigation equipment के साथ.

इसलिए सरकार नहीं चाहती हैं की ऐसी कोई भी दुर्घटना घटित हो. वहीँ सच्चाई तो ये है की modern equipment काफ़ी ज्यादा robust होती हैं. वैसे Phones से transmissions में काफ़ी दिक्कतें तो होती हैं लेकिन इससे plane आसमान से गिर नहीं जायंगी अगर कुछ लोग airplane mode enable करना भूल जाएँ तब.

 

एयरप्लेन मोड के उपयोग  से आप Battery Power Save कर सकते हैं

 

Airplane mode काफ़ी ज्यादा काम की चीज़ होती है अगर आप नीचे स्थल भाग में ही होते हैं तब भी, जो की काफ़ी ज्यादा मदद करती है आपके device की battery power को save करने के लिए. Devices में स्तिथ radios काफ़ी ज्यादा मात्रा से power की खपत करती हैं, जिसका इस्तमाल कर वो cell towers के साथ communicate करते हैं, scanning और connecting होने के लिए आस पास के Wi-Fi networks के साथ, वहीँ incoming Bluetooth connections के साथ connect होने के लिए, और कभी कबार आपके location को check करने के लिए via GPS.

Airplane mode को activate करने पर इससे सभी प्रकार की radios disable हो जाती है. वहीँ ध्यान रहे की इससे आपकी incoming phone calls और SMS messages भी block हो जाएँगी, लेकिन यह एक बहुत ही बढ़िया battery-saving tip भी है अगर आप सच में अपना battery save करना चाहते हो तब.

 

Airplane Mode में आप Enable कर सकते हैं Wi-Fi और Bluetooth को

 

Wi-Fi को कुछ airplanes में allow किया जाता है बल्कि अब तो बहुत से aeroplanes में in-flight Wi-Fi भी प्रदान की जाती है. वैसे तो airplane mode को enable करने पर ये हमेशा disable कर देती है Wi-Fi को. वहीँ ज्यादातर devices में, आप re-enable कर सकते हैं Wi-Fi को जब आप airplane mode को turn on करते हैं तब. वहीँ दुसरे radio signals अब भी blocked होते हैं, लेकिन आप चाहें तो connect हो सकते हैं Wi-Fi networks के साथ.

 

जब आप Aeroplane में सफ़र कर रहे होते हैं? क्या होगा अगर आप अपने Phone को फ्लाइट मोड में नहीं रखते हैं 

 

वैसे अगर आप अपने phone को airplane mode या flight mode में नहीं रखते हैं एक flight के दौरान, तब इससे आप शायद कुछ pilots और air traffic controllers को दिक्कत प्रदान कर सकते हैं. लेकिन इससे flight को उतना ज्यादा नुकशान नहीं होगा, लेकिन दिक्कत जरुर आएगी.

ये आपने जरुर महशुस किया होगा की जब भी कोई Phone मेह्जुद हो किसी एक audio system के पास तब उसमें से ख़राब आवाजें आती है. Airplane Mod क्या है एक phone की radio emissions काफी ज्यादा strong हो सकती है, up to 8W; जिससे की noise पैदा होता है parasitic demodulation के कारण.

 

 

 

Wi-Fi signal काफी ज्यादा weak (100mW) होते हैं GSM की तुलना में उनके peak पर, और इनसे ज्यादा दिक्कत नहीं होती है.

ये एक प्रकार की common courtesy होती है. जिसमें अगर आप अपने Phone को Flight Mode में switch कर देते हैं, तब ऐसा कर आप सच में अपना कर्तव्य करते हैं Flight Crew के तरफ और उन्हें उनके कार्य करने में मदद करते हैं. इसलिए Flight Mode activate करना एक सच्चे नागरिक की पहचान है.

 

Flight Mode On करने से लाभ 

 

  • अगर आप Busy है और कुछ समय के लिए डिस्टर्ब नहीं होना चाहते तो Flight Mode On कर सकते हैं।
  • Flight Mode On करने से Wifi बंद हो जाता है लेकिन आप इसे फिर से क्लिक करके Connect कर सकते हैं जबकि Flight Mode On ही रहेगी।
  • Flight Mode होने पर आप Bluetooth का Use कर सकते हैं और अपने Headset को Connect कर सकते है। 
  • Flight Mode On करने से Background में चलने वाले लगभग सभी Wireless Services बंद हो जाती है जिससे Battery की खपत कम होती है और अधिक समय तक बैटरी चलती है।
  • अगर आप हवाई यात्रा कर रहे है तो आपको Flight Mode On करके रखनी चाहिए, जिससे एरोप्लेन के नेविगेशन में प्रोब्लम आने का चांस बहुत ही कम रह जाता है। 

 

Flight Mode On करने से हानि 

 

  • Flight Mode On करने से आपके Mobile में Calling Service बंद हो जाती है।
  • Flight Mode On करने के बाद आप इंटरनेट का Use नही कर सकते है। 
  • Flight Mode में किसी किसी Mobile की WIFI और Bluetooth भी बंद हो जात है हालाकि आप इसे बाद में On सकते है। 

 

एयरप्लेन मोड से बैटरी पर क्या प्रभाव पड़ता है?

 

Airplane mode का इस्तेमाल करके आप अपनी फोन की बैटरी बचा सकते हैं क्योकि बैटरी का चार्ज ज्यादातर रेडियो ही ले लेता है सिग्नल को भेजने और प्राप्त करने में। लेकिन जब फ्लाइट मोड चालू रहता है तो बैटरी का चार्ज ना के बराबर खत्म होता है Airplane Mod क्या है क्यकि यही सभी डेटा ट्रांसफर सिस्टम को बंद कर देता है।

जब आप अपने फोन का फ्लाइट मोड ऑन करते है तो आपके फोन का बैटरी तो बचता है लेकिन आने जाने वाली सारी कॉल बंद हो जाती है।

 

अपने मोबाइल फोन में कहां-कहां से आप airplane mode को ऑन कर सकते हैं ?

 

फ्लाइट मोड को ऑन ऑफ करने के लिए 3 बेस्ट तरीके अपना सकते है।

 

नोटिफिकेशन पैनल के द्वारा

 

जी हां दोस्तों ज्यादातर लोग इसी तरह एयरप्लेन मोड का इस्तेमाल करते हैं यह यह सबसे ज्यादा आसान तरीका है कि आप नोटिफिकेशन पैनल को नीचे की तरफ स्लाइड करें तो आपके सामने राइट साइड में एयरप्लेन का आइकन दिखाई देगा आप इसी आइकन पर क्लिक करके ऑन कर सकते हैं और फिर जब आपको ऑफ करना होता है तो इसी आइकन पर क्लिक करके ऑफ कर सकते हैं।

 

अपने मोबाइल की सेटिंग के द्वारा

 

आप अपने मोबाइल की सेटिंग के द्वारा भी इसे ऑन ऑफ कर सकते हैं इसके लिए अपने मोबाइल की सेटिंग में जाना होगा वहां पर आपको एयरप्लेन मोड का ऑप्शन दिखाई देगा उस पर क्लिक करें तो आपको इसके ऑन ऑफ करने का ऑप्शन दिखाई देगा आप वहीं से ऐसे ऑन ऑफ कर सकते हैं।

 

अपने मोबाइल के पावर ऑन ऑफ बटन के द्वारा

 

जब हम अपने मोबाइल का ऑन ऑफ स्विच को दबाते हैं तो हमारे सामने कई विकल्प आते हैं जिसमें पावर ऑफ, रीस्टार्ट, स्टैंडबाई और एयरप्लेन मोड का ऑप्शन भी दिखाई देता है इसके द्वारा भी हम एरोप्लेन मोड को ऑन या ऑफ कर सकते हैं।

 

हवाई जहाज़ में क्या वाईफाई इंटरनेट की सुविधा होती हैं

 

10000 फीट से ऊपर जो उड़ाने जाती हैं उनमें सेल्यूलर सिग्नल दे दिया जाए ऐसा कहना है अमेरिका की एफसीसी का। जिसके लिए कुछ नियमों को बदलने की कोशिश निरंतर की जा रही है। हालांकि अभी इस पर काफी सोच-विचार के बाद यह ऑप्शन रखा गया है कि केवल सेल्यूलर डाटा की हेल्प से मैसेज सेंड तो कर सकते हैं लेकिन कॉल नहीं कर सकते। सेल्यूलर डाटा को चलाने के लिए उड़ानों में कुछ पिको सेल लगाए जाएंगे क्योंकि एक तरह से यह टावर का काम करेंगे। सेटेलाइट से इसका कनेक्शन किया जाएगा ताकि उड़ान के सिग्नल को कोई हानि ना पहुंच पाए।

पीकू सेल लग जाने के बाद भी आपको अपना मोबाइल एयरप्लेन मोड पर लगाना आवश्यक होगा क्योंकि यह केवल 10000 फीट से ज्यादा ऊंची उड़ानों पर ही संभव होगा। इसके अलावा लैंडिंग और टेकऑफ़ में तो आपको अपना फोन एयरोप्लेन मोड में ही रखना पड़ेगा।इसलिए कुछ भी हो जाए आपके उपकरणों में एयरप्लेन मोड काफी जरूरी है और रहेगा।

 

Flight Mode के बारे में पूछे जाने वाले कुछ सवाल 

 

1. क्या Flight Mode में मेसेज किए जा सकते है?

जब आप Flight Mode On करते है तो आप आपका फोन किसी भी तरह की वायरलेस Communication नही करता है। Flight Mode के दौरान न तो आप मेसेज कर सकते है और न ही Call।

2. क्या होगा अगर मैं Flight Mode का उपयोग न करू?

अगर आप एरोप्लेन में Fly करते समय Flight Mode को On नही करते है तो, Pilots को Communicate करने में Problem आ सकती है।

3. क्या Flight Mode में Miscall का अलर्ट आता है?

जी नहीं, अगर आपने Flight Mode On करके रखी है, तो आपको मिसकॉल के बारे में पता नही चलता है, लेकिन Flight Mode Off करने के बाद आपको Miscall का नोटिफिकेशन आ जाता है।

4. क्या मैं Flight Mode On करने के बाद ब्लूटूथ का Use कर सकता हूं?

जी हां, आप Flight Mode On करने के बाद भी ब्लूटूथ का Use कर सकते हैं।

 

 

 

Conclusion

 

 

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख Airplane Mod क्या है? इसका उपयोग करना क्यों जरूरी होता है?  जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

Airplane Mod क्या है? इसका उपयोग करना क्यों जरूरी होता है?

 

 

 

Join our Facebook Group

   Join Whatsapp Group

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!