मल्टीमीडिया क्या है? इसके प्रकार और उपयोग की पूरी जानकारी (2022)

क्या आप जानते हैं कि मल्टीमीडिया क्या है? (What is Multimedia in Hindi), मल्टीमीडिया के उपयोग, मल्टीमीडिया के प्रकार, मल्टीमीडिया का महत्व, मल्टीमीडिया का क्या अर्थ है? आज इस पोस्ट में हम आपको “Multimedia” से सम्बन्धी सभी जानकारी देने वाला हूँ यदि आपको “Multimedia in Hindi” के बारे में जानना है तो इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़े.

आज के इस आधुनिक युग में, हम अपने दैनिक जीवन में कई तरह के Teknik का उपयोग करते हैं। आज हम इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस का इस्तेमाल करके व्हाट्सएप, फेसबुक मैसेंजर आदि जैसे मैसेजिंग ऐप के साथ कई काम करते हैं जैसे – Chatting, Audio-Video शेयरिंग, Pictures शेयरिंग, Video Calling, Audio Calling आदि। लेकिन क्या आप जानते हैं कि हम internet की मदद से मल्टीमीडिया का इस्तेमाल करके लाखों फाइलों को एक जगह से दूसरी जगह भेजते हैं।

आमतौर पर मल्टीमीडिया का उपयोग सभी करते है लेकिन ये नहीं जानते है कि Multimedia Kya Hai. अगर आप भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज मोबाइल फोन, स्मार्ट टीवी, कंप्यूटर यूज करते है और आप नहीं जानते की आखिर मल्टीमीडिया क्या होता है और इसके उपयोग, प्रकार, महत्व, विशेषता, फायदे और नुकसान क्या है तो आज हम इस लेख के माध्यम से मल्टीमीडिया के बारे में पूरी जानकारी पर चर्चा करने जा रहे हैं। तो चलिए शुरू करते हैं..

 

मल्टीमीडिया क्या है? इसके प्रकार और उपयोग की पूरी जानकारी (2022)
TEJWIKI.IN

 

Contents

मल्टीमीडिया क्या है? (What is Multimedia in Hindi)

 

जैसा कि नाम से पता चलता है, Multimedia मीडिया के कई रूपों का एक प्रकार का एकीकरण है। इसमें टेक्स्ट, ग्राफिक्स, ऑडियो, वीडियो आदि कई चीजें शामिल हैं। उदाहरण के लिए, एक presentation जिसमें की audio और video clips शामिल हैं, इसे एक “multimedia presentation” माना जाता है. वहीँ Educational software जिसमें की animations, sound, और text होता है, इसे “multimedia software” कहा जाता है. और CDs और DVDs को “multimedia formats” माना जाता है क्यूंकि वो बहुत से data को store कर सकते हैं और ज्यादातर forms के multimedia को बहुत ज्यादा disk space की जरुरत होती है.

Technology के बहुत ज्यादा advancements हो जाने के कारण multimedia एक बहुत ही common term हो गया है, जहाँ ये पहले बहुत ही exciting हुआ करता था. आजकल तो जहाँ देखो वहां पर multimedia का इस्तमाल होता है, क्यूंकि इन्हें इस्तमाल करना बहुत सरल और सहज हो गया है. वहीँ पहले के समय में ऐसा नहीं था.

आसान भाषा में अगर समझा जाये तब Multimedia का अर्थ होता है computer information (digital information) जिसे की represent किया जाता है audio, video, और animation में वहीँ इसके साथ इसमें traditional media (जैसे की text, graphics drawings, images) का भी जरुरत के अनुसार इस्तमाल किया जाता है.

 

मल्टीमीडिया की परिभाषा (Definition of multimedia)

 

मल्टीमीडिया एक ऐसी field है जो की concern होती है computer-controlled integration से, इसमें text, graphics, drawings, still और moving images (Video), animation, audio, और दुसरे media भी शामिल हैं. इसमें प्रत्येक प्रकार के information को represent, store, transmit और process किया जाता है digitally.

 

मल्टीमीडिया की शुरूआत कैसे हुई? (How did multimedia get started)

 

History Of Multimedia In Hindi :- गुटेनबर्ग और कैक्सटन 15वीं शताब्दी में प्रिंट मीडिया की शुरुआत करने वाले पहले व्यक्ति थे। फिर 19वीं शताब्दी में यह शुरूआत जारी रहा, जिस समय दुनिया में संचार के विकास के लिए तरह तरह के खोज हुए। मैथ्यू ब्रैडी ने 1862 में अपनी फोटोग्राफिक कास्ट करके जनता को चौंका दिया था।

इसके अलावा सैमुअल मोर्स के द्वारा टेलीग्राफ के आविष्कार किया गया। अलेक्जेंडर ग्राहम बेल द्वारा टेलीफोन का आविष्कार किया गया। गुग्लिमो मार्कोनी द्वारा रेडियो का आविष्कार किया गया। इसके बाद अगला जॉन लोगी बेयर्ड और लुमियर भाइयों द्वारा टेलीविजन के आविष्कार किया गया था। 1940 के दशक के अंत में टेलीविजन क्रांति ने मल्टीमीडिया को और अधिक गंभीर विकास में ला दिया। इसके साथ ही 1960 के दशक से जब कंप्यूटर और इंटरनेट का युग शुरू हुआ तो मल्टीमिडिया का और विकास हुआ। मल्टीमीडिया तब 1980 के दशक के अंत में जाना जाने लगा।

वर्तमान में, कंप्यूटर का उपयोग एक ऐसा माध्यम भी प्रदान करता है जो सूचनाओं का प्रसार करता है और यूजर के लिए मनोरंजन प्रदान करता है। आज कंप्यूटर कोई विलासिता की वस्तु नहीं है, बल्कि सभी की आवश्यकता है। यह मल्टीमीडिया कंप्यूटर प्रौद्योगिकी के निर्माण के विकास को दर्शाता है।

 

 

 

मल्टीमीडिया के गुण क्या है? (What are the properties of multimedia)

 

एक Multimedia system की मुख्य रूप से चार basic characteristics होती हैं:

1. Multimedia systems जरुर से ही computer controlled होने चाहिए.

2. Multimedia systems सभी integrated होने चाहिए.

3. वो information जो ये handle करते हैं वो सभी digitally represent होने चाहिए.

4. Media की Final Presentation की interface usually ही interactive होनी चाहिए.

 

मल्टीमीडिया का कंप्यूटर में क्या महत्त्व है? (What is the importance of multimedia in computer)

 

Multimedia का शब्द दो चीज़ों से बना हुआ है एक है multi और दूसरा है media. Media (medium) का original शब्द में दो meaning छुपे हुए हैं, एक ये की जो information को store करता है entities में, जैसे की disk, CD, tape, semiconductor memory और बहुत कुछ.

दूसरा होता है information carriers का transmission, जैसे की numbers, text, sound, graphics और बहुत कुछ. Multimedia असल में वो होता है जिसे की हम या तो सुन सकते हैं या फिर देख सकते हैं. ये graphics, audio, sound, text और बहुत कुछ होता है. इसे असल में record और play, display और access किया जाता है information content processing devices के जरिये जैसे की computerized और electronic devices.

Multimedia को हम एक organic whole मान सकते हैं जिसमें की सभी चीज़ जैसे की image, sound, graphics, images, text, text, animation और दुसरे media शामिल होते हैं वो भी एक certain function को achieve करने के लिए, जिसे की multimedia कहा जाता है. Modern Technologies में media के मुख्य रूप से दो aspects होते हैं. जो की होते हैं hardware और software या एक mix machines और ideas का.

Multimedia को आसानी से store, transmit, present और perceive किया जा सकता है. दूसरी भाषा में कहा जाये तो यह एक बहुत ही बेहतरीन form होता है communication का. Multimedia आज के समय के society में एक महत्वपूर्ण role निभाता है, इस multimedia के मदद से society एक दुसरे के साथ ताल बैठा सकती है.

Communication का ये एक बहुत ही बढ़िया जरिया है क्यूंकि इसमें communicate करने के बहुत से साधन उपलब्ध है जैसे की animation, music, video और बहुत कुछ. जिससे की ज्यादा लोगों को अपनी और attract किया जा सकता है.

अब तो multimedia का इस्तमाल programming, radio, internet और universality में किया जा रहा है. अब हमारे पास multimedia visual, auditory experience, साथ में animation, music और movement, जिससे लोग ज्यादा bore नहीं हो रहे हैं. वहीँ multimedia के इस्तमाल से आप अपने creativity को लोगों तक पहुंचा सकते हैं और बहुत कुछ नया सिख और try भी कर सकते हैं.

 

मल्टीमीडिया के घटक (components of multimedia)

 

यहाँ मल्टीमीडिया के मूल घटक निम्नलिखित हैं:-

टेक्स्ट (Text): – टेक्स्ट अक्षर मल्टीमीडिया का प्राथमिक घटक है जो सभी मल्टीमीडिया प्रोडक्शन में कुछ मात्रा में टेक्स्ट होता है। Text में अधिकांश जानकारी आम तौर पर अलग-अलग फोंट, आकार, आकार, आदि होते हैं। Text वह चरित्र है जिसे विभिन्न फोंट, फोंट रंग (Font Colour) आदि का उपयोग करके पाठ पर जोर दिया जा सकता है।

ऑडियो (Audio):- Audio यानि की ध्वनि वह फाइल है जिसमें कुछ शोर होता है ऑडियो मल्टीमीडिया के महत्वपूर्ण घटकों में से एक है। इसमें ध्वनि मानव कान की सीमा के भीतर ध्वनि तरंगें जिन्हें हम सुनने में सक्षम होते है। दूसरे शब्दों में, Audio माध्यम को आम तौर पर कोई भी digital जानकारी जो महत्वपूर्ण component को एक फ़ाइल में ध्वनि, शोर को संग्रहीत करती है जो एक सामान्य मानव द्वारा सुनने में सक्षम है।

वीडियो (Video): – Video माध्यम सूचना प्रस्तुत करने का प्रभावी माध्यम है जो मल्टीमीडिया कंप्यूटर वीडियो माध्यम वास्तविक घटनाओं की चलती छवियों को कंप्यूटर मॉनिटर पर प्रस्तुत करता है। मल्टीमीडिया कंप्यूटर पर वीडियो चलती दृश्य छवियों की recording, copying और transmission के लिए एक electronic माध्यम है।

इमेज और ग्राफिक्स (Images & Graphics): – एक Images या ग्राफिक के माध्यम से किसी चीज़ का गैर-पाठ जानकारी का एक डिजिटल प्रतिनिधित्व है जिसे इलेक्ट्रॉनिक रूप में संग्रहीत किया जा सकता है। जैसे- ड्राइंग, चार्ट या तस्वीरें, jpg, jpeg, png, आदि.

एनिमेशन (Animation):– एनिमेशन कंप्यूटर तकनीक की वह माध्यम है जिसके मदद से इमेज को कलाकृति की स्थिर की तरह प्रस्तुत करने की कला है कि उपयोगकर्ता को ऐसा लगता है कि यह एक फिल्म की तरह चल रहा है।

 

मल्टीमीडिया के विभिन्न प्रकार (Different types of multimedia)

 

मल्टीमीडिया के लिए कौन से हार्डवेयर की आवश्यकता होती है? तो चलिए अब जानते हैं की ऐसे क्या Components (Hardware और Software) जो की जरुरत होती हैं एक multimedia system के द्वारा :

Capture Devices

— Video Camera, Video Recorder, Audio Microphone, Keyboards, mice, graphics tablets, 3D input devices, tactile sensors, VR devices. Digitizing/Sampling Hardware

Storage Devices

— Hard Disks, CD-ROMs, Jaz/Zip drives, DVD, etc

Communication Networks

— Ethernet, Token Ring, FDDI, ATM, Intranet, Internet.

Computer Systems

— Multimedia Desktop machines, Workstations, MPEG/VIDEO/DSP Hardware

Display Devices

— CD-quality speakers, HDTV, SVGA, Hi-Res monitors, Colour printers etc.

 

Multimedia Application क्या होता है? (What is Multimedia Application)

 

एक Multimedia Application ऐसा application होता है जो की इस्तमाल करता है multiple media sources जैसे की text, graphics, images, sound/audio, animation और video.

Multimedia conference cover करता है उन selected tools को जो की apply किया जाते हैं multimedia systems में और key multimedia applications में.

ये मुख्य रूप से comprise होता है Audio, video processing, Virtual reality और 3-D imaging, Multimedia और Artificial Intelligence.

Multimedia Applications एक प्रकार का creation होता है exciting और innovative multimedia systems का जो की communicate करते हैं information जो की customized होता है user के साथ वो भी एक non-linear interactive format में.

Multimedia conference discuss करती है basic और novel characteristics को multimedia document handling, programming, security, human-computer interfaces, और multimedia application services की, जिसमें नीचे दिए गए चीज़ें शामिल हैं.

  • Audio, video processing
  • Education and training
  • Multimedia analysis and Internet
  • Artificial Intelligence
  • Virtual reality and 3-D imaging
  • Wireless, Mobile Computing
  • Animation and Graphics
  • Visual Communication

 

 

 

मल्टीमीडिया का उपयोग (use of multimedia)

 

चलिए Multimedia के Uses और Applications के विषय में जानते हैं. आखिर मल्टीमीडिया के क्या उपयोग है.

मनोरंजन

Entertainment industry ने सबसे ज्यादा इस्तमाल किया है इस technology का बहुत से real life चीज़ें create करने के लिए जैसे की games. बहुत से developers ने graphics, sound, animation or multimedia का इस्तमाल किया है games की अलग अलग variety बनाने के लिए.

इसमें special technologies जैसे की virtual reality के होने से इन games को और भी ज्यादा real-life experience के साथ जोड़ा जा पाया है.बहुत से multimedia games अब computer पर उपलब्ध हैं जिन्हें की कोई भी user खेल सकता है और उन experiences का लुफ्त उठा सकता है.

शिक्षा

Edutainment का मतलब होता है educational entertainment. बहुत से ऐसे computer games होते हैं जो की focus करते हैं education के ऊपर और वो Internet पर अब available भी हैं.
वहीँ इन game का इस्तमाल कर बच्चे बहुत कुछ सीख सकते हैं पढाई के साथ, जैसे की pictures को paint करना, rhymes को play करना इत्यादि.वहीँ ऐसे बहुत से edutainment packages जो की अलग अलग age groups के बच्चों के लिए बहुत ही बेहतर चीज़ें प्रदान करती हैं.

व्यापार संचार

Multimedia एक बहुत ही powerful tool होती है quality of business communications को enhance करने के लिए.

ऐसे business communications जैसे की employee related communications, product promotions, customer information और reports investors के लिए, ये सभी को present किया जा सकता है multimedia form में. इन सभी business communications को सही structure की जरुरत होती है, वहीँ multimedia में ऐसी एक formal level की content structure पहले से मेह्जुद होती है.

ज्ञान स्थानांतरण

ऐसे application जो की available resources का इस्तमाल कर सभी बेहतर ढंग से knowledge transfer कर सके उनकी सबसे ज्यादा demand है. इस प्रकार के application का इस्तमाल academia और business दोनों में सबसे ज्यादा होता है.

जहाँ academies में, knowledge transfer को किया जाता है building block की मदद से, वहीँ business में ये information का effective transfer ही होता है जो की किसी भी business के survival के लिए बहुत जरुरी होता है.

Multimedia-based teaching धीरे धीरे सभी की पहली पसदं हो रही है और बहुत ही जल्द यह एक powerful teaching aid बनकर future में उभरने वाला है. वहीँ Multimedia एक बेहतरीन way जाओ short term training प्रदान करने के लिए workers को एक business house में. ये बहुत ही ज्यादा flexibility प्रदान करती है training देने में.

 

सार्वजनिक अभिगम

 

Public Access एक ऐसा area है जहाँ की बहुत ही ज्यादा multimedia applications जल्द ही उपलब्ध होने वाला है.

एक ऐसा application है हो सकता है tourist information system, जहाँ की एक person जो की sightseeing trip करना चाहता है उसे इसमें एक अच्छी सी glimpse मिल जाएगी उन जगहों की.

Multimedia के इस्तमाल से बहुत से ऐसे applications को develop किया जा सकता है जो की एक repository of information प्रदान करती हों. उदाहरण के लिए, Railway Time table inquiry, एक multimedia based system जो की न केवल trains की timing को display करता है बल्कि उसके साथ source और destination का route भी दिखाता हो जहाँ किसी यात्री को जाना हो.

 

मल्टीमीडिया का विकास (development of multimedia)

 

Multimedia का मुख्य उद्देश्य ही है की वो ज्यादा से ज्यादा information लोगों तक आसानी से electronically पहुंचा सके और सभी की ज्यादा resources प्रदान कर सके. अभी तक Multimedia continuously develop ही कर रहा है, वहीँ इसका true platform अभी तक सामने नहीं आया है, लेकिन बहुत ही जल्द वो आ जायेगा.

जहाँ आजकल हमारे पास मल्टीमीडिया मोबाइल, TV, Internet मेह्जुद हैं वहीँ बहुत ही जल्द इससे भी बेहतर और सरल communication medium इस्तमाल कर रहे होंगे. वैसे तो ये हम कह नहीं सकते हैं की कब तब ये इस्तमाल में आ जायेगा लेकन development को देखते हुए लगता है की ये बहुत

 

Multimedia के ऍप्लिकेशन्स (Multimedia Applications)

 

यहाँ ऐसे कुछ उदाहरण दिए गए हैं जो की Multimedia के बढ़िया Applications हो सकते है :

  • World Wide Web
  • Hypermedia courseware
  • Video conferencing
  • Video-on-demand
  • Interactive TV
  • Groupware
  • Home shopping
  • Games
  • Virtual reality
  • Digital video editing और production systems
  • Multimedia Database systems

 

मल्टीमीडिया से फायदा (benefit from multimedia)

 

Multimedia के बहुत सारे Advantages होते हैं. चलिए आज इनमें से कुछ के विषय में जानते हैं.

1. ये बहुत ही ज्यादा user-friendly होते हैं. ये ज्यादा complex नहीं होते हैं इस्तमाल करने के लिए. आप आसानी से इन्हें पढ़, सुन और देख सकते हैं.

2. ये multi-sensory होता है. इसका मतलब की इसमें users अपने प्राय सभी senses का इस्तमाल करते हैं content को देखने के लिए. जैसे की देखना, सुनना, बोलना इत्यादि.

3. ये बहुत ही comprehensive और interactive होता है. वैसे अलग अलग media digital integration के process में हैं, वहीँ इसमें interaction की possibility और feedback काफी बढ़ जाती है.

4. ये बहुत ही flexible होता है. Digitalization, इसमें media को आसानी से बदला जा सकता है जिससे की ये adapt कर सके different situations और audiences को.

5. इसे एक बड़ी variety के audiences पर इस्तमाल किया जा सकता है, इसके range में one person से whole group शामिल है.

6. Creative Industries: इसमें creative industries, जिसमें advertising, media और news शामिल हैं, वो multimedia का इस्तमाल करते हैं fun और interactive way जिससे की वो अपने thoughts को express कर सकें.

7. Technology और multimedia environment ये मुमकिन किया है entrepreneurs के लिए जिससे की वो attractive company website या presentation बना सकें, जिसमें वो अपने products के information डाल सकें और services जिससे की text, audio और video की interpretation कर सकें.

8. Marketing: इसका इस्तमाल कर site की construction की जा सकती है, इसमें text, images, video को आप include कर सकते हैं. वहीँ.Customers आपके content को आसानी से visualize कर सकते हैं और साथ में आपके website के साथ link भी कर सकते हैं, एक बहुत ही बेहतरीन तरीका है message को understand करने का.

9. इसमें Training Cost पूरी तरह से कम हो जाती है.

10. ये बहुत ही appealing होता है traditional, lecture-based learning methods के तुलना में.

11. ये system portability प्रदान करता है.

 

मल्टीमीडिया से नुकसान (disadvantages of multimedia)

 

अब चलिए Multimedia के Disadvantages के विषय में जानते हैं.

1. Information overload: चूँकि ये इस्तमाल में बहुत ही आसान होता है इसलिए इसमें एक बार में ही बहुत सारे information होती है, जिससे की Information overload हो सकता है.

2. ये Complie होने में time लेती हैं: माना की ये flexible होता है, फिर भी इसे time की जरुरत होती है इसके original draft करने में.

3. ये बहुत ही expensive हो सकता है: चूँकि Mulimedia में एक wide range की resources का इस्तमाल होता है, इसलिए इसमें आप बहुत ही ज्यादा पैसे भी खर्च कर सकते हैं.

4. Too unrealistic होता है: Large files जैसे की video और audio के होने से ये effect करता है इसकी loading time पर आपके presentation के. वहीँ यदि content ही बड़ी हो तब आपको उसे store करने के लिए बड़ी computer storage files की जरुरत होती है. वहीँ इसे internet में upload करने में भी दिक्कत आ सकती है जो की थोडा unrealistic लगता है.

5. Compatibility: इसमें compatibility के बहुत ही ज्यादा cases सामने आते हैं. क्यूंकि जब इन multimedia को आप अलग अलग devices में play करते हैं तब उसमें synchronization के न होने से ये ठीक से play नहीं होते हैं.

6. इन्हें Run होने के लिए कई बार Special Hardwares की जरुरत होती है.

7. इन्हें आसानी से configure भी नहीं किया जा सकता है.

8. इनका Misuse और Overuse होना भी एक बड़ा ही आम बात हो जाता है.

 

FAQ -मल्टीमीडिया पर अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

 

मल्टीमीडिया टूल्‍स क्या हैं?

मल्टीमीडिया टूल्‍स ऐप्लिकेशन्स हैं। एक मल्टीमीडिया एप्लिकेशन एक ऐसा एप्लिकेशन है जो एक से अधिक मीडिया सोर्स का उपयोग करता है। टेक्‍स्‍ट, ग्राफिक्स, इमेजेज, साउंड / ऑडियो, एनीमेशन और / या वीडियो। मल्टीमीडिया कांफ्रेंस में मल्टीमीडिया सिस्टम और महत्वपूर्ण मल्टीमीडिया ऐप्लिकेशन्स और कुछ सॉफ़्टवेयर में लागू सिलेक्‍टेड टूल शामिल हैं।

दैनिक जीवन में मल्टीमीडिया की भूमिका क्या है?

मल्टीमीडिया आज के समाज में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है क्योंकि यह समाज है अब सभी चीजें समय के साथ रहता हैं। मल्टीमीडिया संचार के लिए एक अच्छा तरीका है क्योंकि यह संवाद करना आसान हो सकता है और समझ में आता है कि वे क्या कहते हैं।

मल्टीमीडिया कहां इस्तेमाल किया जाता है?

इसका उपयोग मास मीडिया के क्षेत्र में किया जाता है। पत्रकारिता, विभिन्न पत्रिकाओं और समाचार पत्रों में जो समय-समय पर प्रकाशित होते हैं। मल्टीमीडिया का उपयोग एक पब्लिशिंग हाउस में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है क्योंकि समाचार पत्र डिजाइनिंग और अन्य सामानों के कई कार्य भी हैं।

मल्टीमीडिया की विशेषताएं क्या हैं?

एक मल्टीमीडिया सिस्टम में चार बुनियादी विशेषताएं हैं: मल्टीमीडिया सिस्टम कंप्यूटर नियंत्रित होना चाहिए। मल्टीमीडिया सिस्टम इंटिग्रेटेड हैं। उनके द्वारा संभालने वाली जानकारी को डिजिटल रूप से दर्शाया जाना चाहिए। मीडिया की अंतिम प्रस्तुति के लिए इंटरफ़ेस आमतौर पर इंटरैक्टिव होता है।

शिक्षा में मल्टीमीडिया कितना उपयोगी है?

मल्टीमीडिया ऐप्लिकेशन्स का उपयोग शिक्षकों और व्याख्याताओं द्वारा व्याख्यान स्लाइड, मूल्यांकन सामग्री और अन्य सीखने के संसाधनों जैसे जानकारी व्यक्त करने के लिए किया जाता है। यह व्याख्याता मार्गदर्शन के बिना नए कौशल और ज्ञान सीखने के लिए छात्रों द्वारा भी उपयोग कर सकते हैं।

क्या मल्टीमीडिया असली दुनिया में हमारी मदद करता है?

मल्टीमीडिया आज के समाज में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है क्योंकि यह समाज है अब सभी चीजें समय के साथ रहता हैं। मल्टीमीडिया कम्युनिकेशन के लिए एक अच्छा तरीका है क्योंकि यह कम्युनिकेशन करना आसान बनाता है और समझ में आता है कि वे क्या कहते हैं। उसके बाद, मल्टीमीडिया में एनीमेशन, संगीत, वीडियो और इससे कई अधिक है।

आज मल्टीमीडिया का उपयोग कैसे किया जाता है?

मल्टीमीडिया वेबसाइटें स्वास्थ्य देखभाल पेशेवरों के साथ-साथ जनता के लोगों के लिए जानकारी प्रदान करती हैं और यह रोगियों और डॉक्टरों के लिए संचार की एक विधि भी प्रदान करती है। मल्टीमीडिया का उपयोग ग्राहक सेवा, प्रशिक्षण, दूरसंचार, और दूर के क्षेत्रों से काम करने और बिक्री और विज्ञापन के लिए भी उपयोग किया जाता है।

 

 

 

Conclusion

 

 

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख मल्टीमीडिया क्या है? इसके प्रकार और उपयोग की पूरी जानकारी (2022) जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

मल्टीमीडिया क्या है? इसके प्रकार और उपयोग की पूरी जानकारी (2022)

 

 

 

Join our Facebook Group

   Join Whatsapp Group

Leave a Comment

error: Content is protected !!