Lawyer (वकील) कैसे बने? वकील क्या होता है? जानकारी

दोस्तों Lawyer (वकील) कैसे बने? खेर आपका मन में ये सवाल जरूर चलता होगा की आखिर वकील कैसे बने lawyer meaning क्या होता है advocate meaning in hindi ये सारे चीजों के बारे में आप जरूर जानना चाहते होंगे ओर आप ये भी सोचते होंगे की लॉयर कैसे बने (how to become a lawyer in hindi) हाउ तो बिकम लॉयर इन हिंदी तो अगर आप सारा सवालों जा जवाब चाहते है तो आप ये article को पूरा धेयान से पढ़ना.

क्या आप computer engineer kya hai kaise bane जानना चाहते हो तो मैंने पहले बता रखा है और LLB kaise kare इसके बारे में भी बताया है तो अगर जानना चाहते हो तो आप click करके पढ़ सकते हो। guys जब आप 12th पास कर लेते हो इसके बाद आपके मन में अपनी करियर के प्रति फ़िक्र होने लगता है की यार अपना करियर किस्मे बनाये जिससे हमारा जिंदगी सफल हो सके तो बहुत से स्टूडेंट वकील बनना चाहते है ताकि लोगों को इन्साफ दिया सके किसी किसी का सपना होता है पढ़ लिख कर एशा करियर बनाने का जिससे हर कोई को हेल्प मिल सके तो उसी में से एक lawyer का career है जो काफी जायदा अच्छा ओर रेस्पेक्टेबले करियर है।

 

एक लॉयर का ताकत बहुत जायदा होता है क्यूंकि जब कोई भी लोगों को परेशानी होती है तो लोग court में जाते है ओर case लड़ते है लेकिन उस केस को लड़ने के लिए आपको एक लॉयर की जरुरत पड़ेगी तो वही lawyer आपका केस को लड़ता है ओर फिर आपका हक़ मिलता है लेकिन क्या आपको मालूम है एक लॉयर बनने के लिए पढाई बहुत करना पड़ता है इसके बाद आप एक वकील बनते है।

 

Lawyer (वकील) कैसे बने? वकील क्या होता है? जानकारी
TEJWIKI.IN

 

Contents

Lawyer (वकील) क्या होता है? (What is Lawyer)

 

अगर आप सोचते हैं के लॉयर वो होता है जो कोर्ट में इन्साफ के लिए मुक़दमे लड़ता है| हालांकि आप सही हैं पर यह पूरी तरह से सही नहीं है यह बात थोड़ी अधूरी है, लॉयर होना इससे कहीं अधिक है|

आजकल के आधुनिक दुनिया में लॉयर सिर्फ वो नहीं है जो डिस्ट्रिक्ट कोर्ट, High Court, अथवा Supreme Court में मुक़दमे लड़ता है| यह बात कुछ दशकों पहले तक सही होती| एक लॉयर के लिए बहोत से करियर विकल्प मौजूद हैं, वो बहुत से संस्थानों में काम करता है|

एक लॉयर बहोत से कानूनी मामलों में expert हो सकता है जैसे की वयापार, समाज, पर्यावरण, इंटरनेट, इत्यादि|

सामान्य तोर पर लॉयर उस व्यक्ति को कहते जिसके पास Law की डिग्री होती है|

लॉ की डिग्री पूरी करने के बाद आप एक वकील बन सकते हैं, सरकार के कानूनी सलाहकार बन सकते हैं और भी बहोत कुछ जोकि आपको Lawyer कैसे बने के इस आर्टिकल में आगे पढ़ने व जानने को मिलेगा|

 

 

 

हिंदी में Lawyer, Advocate, Solicitor, Attorney सबको वकील/ Vakil ही बोला जाता है| हालाँकि इन सभी में फर्क होता है और इन सभी कानूनी विशेषज्ञों के काम करने का तरीका अलग होता है|
लॉ में इन सभी का मतलब अलग होता है| इन सभी पर्यावाची शब्दों में एक बहोत ही पतली लकीर खींची हुई है, जोकि इन सभी शब्दों को अलग बनाती है|

कम शब्दों में यही कहूंगा के: आज के समय का लॉयर सिर्फ कोर्ट रूम में काम नहीं करता उसके पास ढेरों विकल्प हैं| यह उसके ऊपर निर्भर करता है के वह किस फील्ड में जाना चाहता है| आपको सभी फील्ड की जानकारी लॉयर कैसे बने के इस लेख में दी गयी है|

“सभी वकील लॉयर होते हैं पर सभी लॉयर्स वकील नहीं होते”

 

लॉयर बनने के लिए Skill सेट्स (Skill Sets to become a Lawyer)

 

लॉयर हाई प्रोफाइल करियर विकल्पों में से एक है आपको एक काबिल लॉयर बनने के लिए कुछ महत्वपूर्ण कौशल अपने अंदर विकसित करने होंगे| ये निम्नलिखित गुण एक लॉयर के अंदर होने चाहिए…

  • Memorization power (याददाश्त शक्ति)
  • General awareness (अपने आसपास की सोसाइटी में क्या हो रहा है इसके बारे में जानकारी रखना)
  • Active Listening (सक्रिय होकर सुनना)
  • Time management (समय प्रबंधन)
  • Judgment and Decision Making (सही फैसला लेने की क्षमता)
  • Logical and Analytical (तार्किक और विश्लेषणात्मक)
  • Critical thinking (गहन सोच)
  • Instant thinking (तत्काल सोच)
  • English
  • Writing (लेखन)
  • Communication and interpersonal skill (कैसे दूसरों के साथ बात-चित करनी चाहिए और अपना पक्ष रखना आना चाहिए)

अगर आप के पास ऊपर बताई हुई अधिकतर स्किल्स नहीं है तो कोई बात नहीं आप समय के साथ इन सभी स्किल्स को डेवलप कर सकते हैं|

 

लॉयर बनने के लिए आवश्यक योग्यता  (Qualification required to become Lawyer)

 

भारत में वकील बनने के दो रास्ते (Path) हैं| भारतीय शिक्षा प्रणाली के तहत आपके पास दो अलग-अलग तरीके हैं लॉयर बनने के लिए| आप निचे बताये हुए किसी भी एक रास्ते का चयन करके एक लॉयर बन सकते हैं|

[Path 1] 5 years of LLB program

[Path 2] 3 years of LLB program

तो चलिए देखते है आप के लिए कोनसा पथ अच्छा है लॉयर बनने के लिए

 

Lawyer (वकील) कैसे बने? Path [1] (How to become a Lawyer Path [1])

 

Education 1 [Mandatory]: High School

लॉ में करियर बनाने के लिए आपको किसी भी stream (Arts / Commerce / Science) से senior secondary high school (10+2) पास करना होगा और साथ में आपको अपना परसेंटेज भी लॉ की पढ़ाई करने के लिए निर्धारित परसेंटेज से ज्यादा या बराबर बनाये रखना होगा|

चिंता ना करें आपको केवल 45% ही अपने 12 वीं कक्षा में लाने की आवश्यकता है | यह प्रतिशत बहोत से लॉ विशविद्यालय और कॉलेजों द्वारा निर्धारित किया गया है| मतलब के आपको अगर लॉयर बनना है तो 12 वीं कक्षा में आपके 45 प्रतिशत अंक आने ही चाहिए|

हालाँकि कमसे कम percentage/division हर college और university अपने हिसाब से निर्धारित करती है एडमिशन के लिए| वकील कैसे बने के इस लेख में आपको भारत के सबसे अच्छे Law Colleges के नाम बताये गएँ हैं जिनको आप निचे जान सकते हैं|

Education 2 [Mandatory]: 5 years LLB (Under Graduation)

लॉ में करियर शुरू करने के लिए आप निम्न में से किसी भी एक प्रोग्राम को चुन सकते हैं| सभी पाठ्यक्रमों की अवधि 5 साल है|

Bachelor of Arts and Bachelor of Laws (BA. LLB)
Bachelor of Business Administration and Bachelor of Laws (BBA. LLB)
Bachelor of Commerce and Bachelor of Laws (B.Com LLB)
Bachelor of Social Work and Bachelor of Laws (BSW LLB)
Bachelor of Science and Bachelor of Laws (B.Sc. LLB)
Bachelor of Science in Law (BSL)
जब आप 5 साल के Law Programs के लिए प्रवेश लेते हैं| तो यहाँ आपको न केवल LLB की Degree मिलेगी बल्कि उसके साथ में आपको बिसनेस, सामाजिक विज्ञान, पर्यावरण, इत्यादि विषयों के बारे में भी अतिरिक्त जानकारी मिलेगी| इन 5 वर्षों में आप एक विशिष्ट लॉ के छेत्र में महारत हासिल कर लेंगे, जिस किसी भी विषय में आपका इंटरेस्ट हो.

5 सालों में पुरे होने वाले LLB अकादमिक प्रोग्राम को आम तोर पर Integrated LLB कहा जाता है.

Education 3 [Optional]: LLM (Master of Laws)

लॉ में पोस्ट ग्रेजुएशन करना ऐच्छिक है यह आपकी मर्जी के ऊपर है| अगर आपको लॉ में आगे पढ़ना है तो आप मास्टर्स कर सकतें है| आम तोर पर Masters उन छात्रों के लिए एक बेहतर विकल्प है जोकि आगे चल कर किसी College या University में प्रोफेसर बनना चाहते हैं और कानून के विषय में रिसर्च करना चाहते हैं|

अगर आपका मकसद लॉयर बनकर कोर्ट या अन्य संस्थानों में काम करना है, नाकि रिसर्च करना और law colleges में पढ़ना है तो आपके लिए bachelor’s degree (LLB) पर्याप्त है

हालांकि, यदि आप मास्टर्स ऑफ़ लॉ करना चाहते हैं और कानून के क्षेत्र में अधिक व्यापक ज्ञान प्राप्त करना चाहते हैं, Lawyer (वकील) कैसे बने? तो निश्चित रूप से यह आपके करियर के विकास के लिए लाभदायी होगा| क्योंकि कुछ एक्स्ट्रा ज्ञान प्राप्त करना हमेशा से ही एक अच्छा विकल्प रहा है, better opportunities प्राप्त करने केलिए और दूसरों के सामने अपनी अच्छी प्रतिष्ठा (image) बनाने केलिए.

यदि आप अपना ज्ञान बढ़ाना चाहते हैं तो आपको LLM के लिए एडमिशन लेना चाहिए. लेकिन अगर आप सिर्फ एक लॉयर बनकर नौकरी करना चाहते हैं तो LLB के दौरान जो ज्ञान आपने प्राप्त किया है वह सक्षम होगा वकील बनने के लिए और वकालत करने के लिए|

 

Lawyer (वकील) कैसे बने Path [2] (How to become a Lawyer Path [2])

 

Education 1 [Mandatory]: High School

Senior Secondary High School (12th standard) किसी भी stream (Art/Commerce/Science) से

Education 2 [Mandatory]: Under Graduation Degree

आपके पास ग्रेजुएशन (बैचलर डिग्री) की डिग्री होनी चाहिए, इससे कोई फरक नहीं पड़ता की आपके पास ग्रेजुएशन में कोनसे सब्जेक्ट्स थे और अपने किन विषयों का अध्ययन किया है.

किसी भी लॉ कॉलेज में जो 3 साल का LLB प्रोग्राम करवाता है उसमें एडमिशन प्राप्त करने केलिए आपका किसी भी विषय में Graduate होना अनिवार्य है|

अगर आपने बी.टेक (इंजीनियरिंग) की हुई है और अब आपका मन एक लॉयर बनने का है या आप लॉ में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को जरुरु पढ़ें: After Engineering Law, Cyber and Internet Lawyer – हिंदी में

Education 3 [Mandatory]: 3 years LLB

3 साल की LLB ज्यादार वो स्टूडेंट्स करतें हैं जो पहले अपना करियर decide करने में असफल रहतें और उन्हें लाइफ में क्या करना है पता नहीं होता| ये LLB प्रोग्राम उन सभी स्टूडेंट्स के लिए एक और वरदान है अपने मनपसद करियर को चुनने का यानि के लॉयर बनने का|

अगर आप भी उन्हीं स्टूडेंट्स में शामिल हैं तो टेंशन मत लीजिए आप केवल अकेले ऐसे व्यक्ति नहीं है जो अपना सही एवं मनपसंद करियर को चुनने में असफल रहें है| दुनिआ में बहुत से लॉयर्स ऐसे हैं जिन्होंने पहले किसी दूसरे सब्जेक्ट में ग्रेजुएशन किआ उसके बाद लॉयर बनने की पढाई की|

इसका मतलब ये कतई नहीं के अपकी bachelor’s डिग्री जो आपने 12 वीं कक्षा के बाद करी थी वो बिलकुल बर्बाद चली जाएगी और वह वेस्ट ऑफ़ टाइम था| बेशक आपको अपने ग्रेजुएशन की पढ़ाई का फायदा आगे मिलेगा|

5 साल वाले LLB integrated program के विपरीत 3 साल वाले LLB programs में आपको सिर्फ लॉ के बारे में पढ़ना होगा, 3 साल तक|

Education 4 [Optional]: Post graduation- LLM (Master of Laws) and PhD

आपका LLM या PhD करना अनिवार्य नहीं है यह पूरी तरह से आपकी इच्छा पर निर्भर करता है|

तो अब दिमाग में एक प्रश्न आता है की आखिर कौनसा पथ चुने लॉयर बनने के लिए?

इसका जवाब एकदम सिंपल है, अगर आप अभी 12 वीं क्लास के स्टूडेंट हैं और आप का गोल है लॉयर बनना| मतलब की अगर आपको पता है के मुझे सिर्फ और सिर्फ लॉयर बनने की पढाई करनी है तब तो आपको Path-1 फॉलो करना चाहिए लॉयर बनने के लिए.

अगर किसी कारण वश आप लॉयर कैसे बने के पहले रास्ते (Path-1) का चुनाव नहीं कर पाएं तो दूसरा विकल्प तो है ही लॉयर बनने के लिए| वहीँ एक ग्रेजुएशन (graduation other than law) किये हुए स्टूडेंट को 3 साल वाला LLB प्रोग्राम चुनना होगा, अगर उसे लॉयर बनना है तो|

क्या आप जानते हैं?

L.L.B एक latin (Latin: विदेशी भाषा जोकि इटली और अन्य European countries में बोली जाती है) शब्द है जिसका मतलब है Legum Baccalaureus. जिसको हम English में Bachelor of laws (B.L) और Bachelor of Legislative Law (LL.B) कहते हैं|

 

क्या लॉयर को English आनी जरुरी है? (Does the lawyer need to know English)

 

एक शब्द में इसका जवाब है ‘Yes’. एक लॉयर को इंग्लिश आनी ही चाहिए| क्योंकि हमारी जितनी भी कोर्ट की कार्यप्रणाली है वो सारी इंग्लिश में होती है|

और जैसा के आप जानते हैं इंडिया में कितना प्रभाव है इंग्लिश का| अगर आप इंग्लिश नहीं जानते इसका मतलब समझा जाता है की आपको नॉलेज नहीं है, जबकि यह सच नहीं है| तो अगर आप लॉ में करियर बनाना चाहते हैं तो आपको इंग्लिश का ज्ञान होना ही चाहिए|

इसका मतलब ये नहीं कि आपको एक दम हाई-फाई इंग्लिश आनी चाहिए तभी आप लॉ में करियर बना सकते हैं| टाइम के साथ आप अपनी इंग्लिश में सुधार कर सकते हैं|

 

कितना समय लगता है Lawyer बनने में? (How long does it take to become a Lawyer)

 

बहुत से छात्रों के मन में एक डाउट होता है के आखिर लॉयर बनने में exact time लगता कितना है| तो फ्रेंड्स इसका सही आंसर आपके decision के ऊपर निर्भर करता है|

मतलब के, आपके लॉयर बनने में लगने वाला टाइम निर्भर करेगा आप कोनसे Career Path ([1] और [2] में से कोई एक) का चुनाव करते हैं लॉयर बनने के लिए|

[1] अगर आप 5 साल वाले LLB Integrated Program में admission लेते हैं तब आपको exact 5 साल लगेंगे लॉयर बनने में| ये 5 साल का टाइम जो लॉयर बनने तक लगेगा वो आपके senior secondary high school से काउंट होगा| Total 5 years of time.

[2] और अगर आप उन स्टूडेंट्स में हैं जो पहले अपना सही कैरियर का चुनाव करने में असफल रहें हैं और किसी दूसरे विषयों में आपने अपनी ग्रेजुएशन करली है| और अब आपको लगता है के मेरे लिए लॉ बहुत अच्छा करियर ऑप्शन है|

इस कैरियर पथ में आपको 3 साल और लगेंगे लॉयर बनने में, Graduation के बाद| इसका मतलब है के आपको 6 से 7 लग जायेंगे लॉयर बनने में, senior secondary high school (10+2) पास करने के बाद| Total 7 ± 1 years of time.

 

आपको LLB (Bachelor of Laws) में क्या-क्या सीखने या पढ़ने को मिलेगा (What will you get to learn or study in LLB (Bachelor of Laws)

 

जैसा के आप अनुमान लगा रहे होंगे कि हमें लॉ के बारे में पढ़ना होगा| जी हाँ आप बिलकुल सही है कॉलेज के पाठ्यक्रम में आपको लॉ के बारे में ही पढ़ना होगा|

पर आपको ये नहीं पता होगा कि आप किस-किस तरह के Laws के बारे में पढ़ेंगे आप अपने एकेडेमिक्स में| Lawyer (वकील) कैसे बने? LLB के सिलेबस में आपको बहुत तरह के Laws (कानून) के बारे में पढ़ना होगा|

जैसे की criminal (आपराधिक) Law, Human Rights (मानवाधिकार) Law, Constitutional (संवैधानिक) Law, family (पारिवारिक) Law, Banking Law, Company Law, Environmental (पर्यावरण) Law, International Trade ( अंतर्राष्ट्रीय व्यापार) और Business Law, Intellectual Property (बौद्धिक सम्पदा) Law, Information Technology Law, Law of Taxation, Insurance (बीमा) Law, Administrative (प्रशासनिक) Law, Humanitarian and Refugee (मानवतावादी और शरणार्थी) Law, Labour and Industrial Laws, Law relating to women and children.

ऊपर बताये हुए कानूनों के अलावा आप को अपने 5 साल के L.L.B प्रोग्राम में ये सब भी सीखने और पढ़ने को मिलेगा…

  • मानव समाज के विकास, संस्कृति, संरचना और कार्यप्रणाली| आपको सिखने को मिलेगा की समाज में सामाजिक सम्बन्ध और सामाजिक बातचीत कैसे काम करते हैं किसी केस को सुलझाने में|
  • क़ानून की किताबों के साथ, आपको कुछ हद तक भारत के इतिहास के बारे में भी पढ़ना होगा| और आपको मालूम चलेगा कानूनी और संवैधानिक कानूनों का इतिहास|
  • Tort क्या है? और Tort के लिए क्षेत्र-अधिकार कानून प्रणाली|
  • भारतीय कानूनी प्रणाली, कानूनी तरीके और कानूनी अनुसंधान|
  • एविडेंस के बारे में जैसे की कैसे बनता है और एविडेंस के लॉ क्या होते हैं| न्यायपालिका में एविडेंस एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, इसलिए आपको इसके बारे में जानकारी होना बहुत जरुरी है.
  • माल और सेवाओं का उत्पादन, वितरण और खपत (इकोनॉमिक्स-अर्थशास्त्र)
    अपराध और अपराध में इस्तेमाल होने वाले विभिन्न तरीकों का अध्ययन |(Criminology)
    किसी भी क़ानून का उल्लंघन किये बिना दस्तावेजों को कैसे लिखना और तैयार करने की कला (Legal Writing)

 

 

Law College’s में Admission कैसे लें Law College’s में (How to get admission in Law College’s in Law College’s)

 

पुरे भारत में बहुत सारे Entrance Exams आयोजित किये जाते हैं डिफरेंट-डिफरेंट लॉ यूनिवर्सिटीज द्वारा| करियर जानो आपको कुछ पॉपुलर एंट्रेंस एक्साम्स को लिस्ट आउट करेगा, जोकि इंडिया के सबसे अच्छे और बेहतरीन लॉ कॉलेजेस में आपको एडमिशन दिलाएगा|

मतलब अगर आपको इंडिया के बेहतरीन टॉपमोस्ट लॉ कॉलेजेस में एडमिशन चाहिए ताकि आप एक अच्छे लॉयर बन सकें तो आपको इन निम्नलिखित एंट्रेंस एक्साम्स को देना ही पड़ेगा| आप इनसे दूर नहीं भाग सकते||

12वीं कक्षा के स्टूडेंट्स और ग्रेजुएशन किये हुए स्टूडेंट्स केलिए विश्वविद्यालयों द्वारा अलग-अलग एंट्रेंस एक्साम्स कंडक्ट किये जातें हैं|

Topmost Law Entrance Exams for the 12th-grade students [5 years LLB]

  • CLAT
  • AILET
  • SET
  • LSAT India
  • AMU
  • AP LAWCET
  • JMI

Law Entrance Exam for the graduate candidates [3 years LLB]

 

  • LSAT India
  • DU LLB
  • AP LAWCET
  • BHU-UET

 

भारत के Topmost and Finest Law Colleges/Universities (Topmost and Finest Law Colleges/Universities in India)

 

ये निमन्लिखित लॉ कॉलेजेस भारत के सबसे अच्छे लॉ कॉलेजेस में गिनती किये जाते हैं| अगर आपको एक अच्छा लॉयर बनना है तो ये लॉ कॉलेजेस आपको अपना गोल प्राप्त करने में बहुत मदद करने वाले हैं

  • National Law School of India University, Bangalore
  • National Law University, Delhi
  • NALSAR University of Law, Hyderabad
  • National Law Institute University, Bhopal
  • National Law University, Jodhpur
  • WB National University of Juridical Sciences, Kolkata
  • Gujarat National Law University, Gandhinagar
  • Faculty of Law, University of Delhi, Delhi
  • Rajiv Gandhi National University of Law, Patiala
  • Jindal Global Law School, Sonipat
  • National University of Advanced Legal Studies, Kochi
  • Symbiosis Law School, Pune
  • Banaras Hindu University, Varanasi
  • Aligarh Muslim University, Aligarh
  • National University of Advanced Legal Studies, Kochi

 

Lawyer किन-किन जगहों पर काम करते हैं? (Where do Lawyers work)

 

ज्यादातर लॉ स्टूडेंट्स के मन में ये प्रश्न जरुर होता है की वो आखिरकार अपनी लॉ की डिग्री पूरी करने के बाद कहाँ-कहाँ पर काम कर सकते हैं या किन-किन जगहों पर जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं| या सिर्फ कोर्ट ही एक मात्र ऑप्शन है लॉ में करियर बनाने के लिए|

आप का यह प्रश्न बड़ा ही स्वाभाविक है, और हर उस छात्र को जानना जरुरी है जो लॉयर बनने के सपने देखते है| ये कुछ स्थान हैं जहाँ पर लॉयर्स आम तोर पर काम करना पसंद करतें हैं LLB कम्पलीट होने के बाद…

  • Law firms
  • Judiciary
  • Government Legislative Department
  • Ministry of Law and Justice
  • Department of legal affairs
  • Military (Army/Navy/Air Force)
  • Banks (Private + Public)
  • Financial Institution
  • Corporates and industries
  • NGO (Non-Governmental Organization)
  • University lecturer

इन संस्थानों में काम न करने के अलावा आप अपना खुद का बिसनेस भी स्टार्ट कर सकते हैं| ज्यादातर लॉयर्स अपना खुद का लॉ फर्म स्टार्ट करते हैं Lawyer (वकील) कैसे बने? और लॉ से जुडी समस्याओं के सम्बन्ध में अपने क्लाइंट्स को एडवाइस और सलूशन देते हैं.

एक लॉ फर्म को खोलने के लिए आपको कमसे कम 5 से 10 साल का काम करने का अनुभव होना चाहिए, क्योंकि इतने समय तक काम करने पर आपकी जान पहचान काफी जगहों पर होजाती है और आपके पास बहुत सारे क्लाइंट्स होते हैं जो आपके साथ जुड़ने के लिए राजी हो जायेंगे|

 

 

 

 

LLB करने के बाद job options? (Job options after doing LLB)

 

लॉ की डिग्री पूरी करने के बाद आप निचे बताये हुए किसी भी कैरियर पथ को चुन सकते हैं और किसी एक फील्ड में महारत हासिल कर सकते हैं|

  • Court में Vakaalat (Advocate)
  • Corporate lawyer
  • Cyber lawyer
  • Law Clerk/ Judicial Clerk
  • सरकारी वकील (Public Prosecutor)
  • Chief Legal Officers
  • Tax Attorneys
  • Immigration Lawyer
  • Intellectual Property/Real estate Lawyer
  • Patent and copyright lawyer
  • Environmental lawyer
  • Legal law advisor
  • Family and Divorce lawyer
  • Military lawyer
  • International lawyer (Legal Process Outsourcing)

जैसे की आप देख सकतें हैं एक लॉ ग्रेजुएट के पास कितने सारे जॉब ऑप्शन मौजूद हैं| तो अब आपका यह कहना गलत होगा की, लॉयर वही होता है जो कोर्टरूम में मुकदमे लड़ता है| आपके पास ढेरों ऑप्शन हैं कोर्ट में लॉयर बनने के अलावा|

इतने सारे जॉब के ऑप्शंस होने की वजह से कभी-कभी छात्रों के लिए confusing हो जाता के आखिर कौनसा कैरियर पथ चुनें लॉ डिग्री कम्पलीट होने के बाद| इनमें से आप किसी भी जॉब ऑप्शंस का चुनाव कर सकते हैं, अपनी रुचि और प्राथमिकता के हिसाब से|

बहोत से लॉयर्स 2 से 3 फील्ड में एक-ही टाइम पर जॉब करते हैं, आप भी कर सकते जब आप को एक्सपीरियंस हो जायेगा तब|

 

Lawyer बनने के बाद के करियर ओप्तिओंस (Career Options After Becoming a Lawyer)

 

या तो आप ऊपर में बताये हुए करियर ऑप्शन में जॉब करके अपना करियर सेट कर सकते है, और अगर उनमें नहीं करना तो टेंशन नॉट आपके पास और भी करियर विकल्प हैं जो आप लॉ की पढ़ाई पूरी करने के बाद कर सकते हैं|

Civil Services: आप भारत की अत्यधिक सम्मानजनक और प्रशंसनीय सेवा परीक्षा (IAS- Indian Administrative Service) के लिए तैयारी कर सकते हैं| लॉ किये हुए लोग आईएस जैसे हाइली रेस्पेक्टेड नौकरी के लिए एक दम परफेक्ट कॉम्बिनेशन है|

क्योंकि आपने कानून में पहले ही महारत हासिल की हुई है, और अगर आप उसके बाद आईएस जैसे सर्विसेज में अपना योगदान देंगे तो हमारे भारत जैसे देश की बहुत सारी प्रॉब्लम्स सॉल्व होजाएंगी और आपका देश के विकास में बहुत बड़ा योगदान होगा|

Judiciary (न्यायपालिका): LLB करने के बाद बहुत सारे स्टूडेंट्स Judiciary के लिए तयारी करतें हैं| आप भी उन स्टूडेंट्स में से एक हो सकते हैं| किसी कोर्ट का जज बनना अपने आप में एक उपलब्धि से कम नहीं है| इस उपलब्धि को प्राप्त करने के लिए बहुत सारे लॉ स्टूडेंट्स जुडिशरी की तयारी करना पसंद करते हैं| Judiciary democracy के 4 महत्वपूर्ण स्तंभों में से 1 स्तम्भ है|

 

आप लीगल लॉ प्रणाली में एक मास्टर हो सकते हैं| इसलिए यदि आप कानून के बारे में और अधिक पढ़ना चाहते हैं तो आप master degree program में एडमिशन ले सकते हैं| आम तोर पर LLM 1 या 2 साल का होता, निर्भर करता है आप किस कॉलेज में एडमिशन ले रहे हैं| आप लॉ में मास्टर्स करने केलिए विदेश भी जा सकते सकते हैं.

LLM ज्यादातर वो स्टूडेंट्स करतें हैं जिनको टीचिंग में दिलचस्पी होती है| अगर आपको भी लॉ कॉलेज में प्रोफेसर बनना है और स्टूडेंट्स को लॉ पढ़ाने में मजा आता है तो आपको LLB के बाद LLM के लिए जरूर एडमिशन लेना चाहिए|

 

Lawyer’s क्या कार्य करते हैं (What do Lawyer’s do)

 

जैसा की आपने देखा है कि लॉयर (वकील) विभिन्न कार्यस्थलों (वर्कप्लेसेस), सार्वजनिक (Public) और निजी (Private) सेक्टर का हिस्सा हो सकता है| एक लॉयर के पास चुनने के लिए बहुत से करियर विकल्प हैं|

इसलिए आपकी जॉब duties पूरी तरह से उस स्थान पर निर्भर करेगी, जहां पर आप आपने कानून के ज्ञान का उपयोग (Law Practice) करना चाहते हैं| अन्यथा जिस स्थान पर आपकी नौकरी लगेगी|
चाहे आप लॉ में किसी भी करियर ऑप्शन को चुनते हो, एक चीज कभी नहीं बदलेगी वो है आपका क्लाइंट के साथ बातचीत करना| आप हमेशा clients के touch में रहोगे|

 

Law का Future में क्या Scope है? (What is the scope of Law in the future)

 

लॉयर बनना आज के टाइम में सबसे रोमांचक और दिलचस्प करियर विकल्पों में से एक है और फ्यूचर में भी रहेगा| और यह कहना गलत नहीं होगा कि Law (कानून) एक एवरग्रीन करियर ऑप्शन है और इस करियर को फॉलो करने वाले लोगों की आवश्यकता भविष्य में भी हमेशा रहेगी.

समाज को हमेशा किसी ऐसे व्यक्ति की आवश्यकता हमेशा होती है जिसके पास न्यायपालिका का ज्ञान हो और कानून के सभी दाव-पेच मालूम हो, जोकि किसी आम आदमी को पता नहीं होता|

Lawyer की आवश्यकता किसको नहीं है? हम सब अपने जीवनकाल में कम से कम एक न एक बार तो किसी ऐसी काढ़िन परिस्तिथि में पड़ जाते है के उसे किसी न किसी की लीगल (कानूनी) एडवाइस लेनी पड़ जाती है उस कठोर प्रस्तिथि को सुलझाने के लिए| और फिर हमारे पास कानूनी सलाह लेने के लिए कोइ और बेहतर विकल्प नहीं है, जो विश्वसनीय हो| और अंत में आप किसी लॉयर का दरवाजा ही खटखटाएंगे.

भारत की अर्थव्यवस्था दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में से एक है, क्योंकि भारत में बहुत से व्यवसाय चल रहे हैं और व्यवसाय को उचित और कुशलता से चलाने के लिए; प्रत्येक व्यवसायिक व्यक्ति को अपने व्यवसाय को वैध (legal) तरीके से आगे बढ़ाने के लिए कानूनी सलाह की आवश्यकता होती है|

जैसे कि आपको पता है आजकल digitalization का जमाना है, इस प्रकार जितने भी बिज़नेस हैं सब का transaction online ही होता है Lawyer (वकील) कैसे बने? (अधिकतर केसेस में) इंटरनेट के द्वारा| और इंटरनेट की वजह से विदेशी कंपनियों के साथ लेन देन की संख्या भी बढ़ रही है मतलब अपराध होने की संख्या भी बढ़ रही है| इंटरनेट साइबर लॉ के अंतर्गत आता है|

अगर एक बिसनेस्स पर्सन आपने व्यवसाय को आगे बढ़ाना चाहता है और बिज़नेस में सफलता हासिल करना चाहता है, तो उसे क़ानून प्रक्रिया का पालन करना ही होगा| और जब क़ानून शब्द पिक्चर में आता है तो क़ानून विशेषज्ञ (लॉयर) भी तस्वीर में आते हैं| बिज़नेस लॉ के फील्ड में एक्सपर्ट लॉयर को कॉर्पोरेट लॉयर कहा जाता है जोकि एक बहुत ही अच्छा करियर ऑप्शन है लॉ करने के बाद|

 

तो यदि आप अपनी लाइफ में लॉयर बनना चाहते हैं और लॉ मैं अपना करियर बनाना चाहते है तो डेफिनेटली ये करियर ऑप्शन एक बेहतरीन करियर विकल्प होगा आपके लिए, इसकी डिमांड कभी खत्म नहीं होने वाली| आप निश्चिंत होकर इस करियर को चुन सकते हैं|

 

Lawyer की Salary? (Lawyer’s Salary)

 

यह बहुत से चीज़ों पर निर्भर करता है जैसे की आप किस जगह पर काम कर रहें हैं, आपकी कानूनी समझ कितनी है| फिर भी औसतन, Law की degree complete करने के बाद आपकी starting salary एक फ्रेशर के तोर पर 13,000 ₹ से 25,000 ₹ के बिच में होगी|

 

 

 

 

 

 

 

 

Conclusion

 

 

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख Lawyer (वकील) कैसे बने? वकील क्या होता है? जानकारी जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

Lawyer (वकील) कैसे बने? वकील क्या होता है? जानकारी

 

 

 

 

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!