अच्छी सेहत के लिए क्या जरूरी है? संपूर्ण जानकारी हिंदी में

दोस्तों अच्छी सेहत के लिए क्या जरूरी है? हमारा दिमाग एक सक्रिय मशीन की तरह काम करता है। हालांकि शरीर का मात्र दो या तीन प्रतिशत वजन ही इसके हिस्से में आता है, लेकिन यह हमारे शरीर की 20 प्रतिशत ऊर्जा का इस्तेमाल करता है। इतनी ऊर्जा उत्पन्न करने के लिए हमें पर्याप्त पोषक भोजन चाहिए, लेकिन पिछले 30 सालों में हमारे खाने-पीने की आदतों में आए नाटकीय बदलाव ने पोषण को आहार से दूर कर दिया है। ‘सहूलियत वाले भोजन ने फ्रोजन, माइक्रोवेव्ड और जंक फूड को हमारी जिंदगी में शामिल कर दिया है।

व्यायाम की कमी ने लाइफ स्टाइल डिजीज़ यानी आधुनिक जीवनशैली के कारण पैदा हुए रोगों को जीवन का हिस्सा बना दिया है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के अनुसार लगातार वजन बढ़ने की गंभीर समस्या जिसका औपचारिक नाम मोटापा है, ने स्वास्थ्य बजट का अकेले 6 प्रतिशत हिस्सा अपने कब्जे में कर रखा है। लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि अस्वस्थ्य आहार इससे भी ज्यादा खतरनाक हो सकता है। इस कारण से तन और मन दोनों के स्वस्थ रहने के लिए संतुलित व् पोषक खुराक व् पेय पदार्थ जरूरी है । 

 

अच्छी सेहत के लिए क्या जरूरी है? संपूर्ण जानकारी हिंदी में
TEJWIKI.IN

 

Contents

सेहत क्या होता है? (What is health)

 

सरल शब्दों में सेहत की व्याख्या की जाए, तो सेहत एक ऐसी चीज है, जो किसी भी आदमी को चुस्त-दुरुस्त बना कर रखती है| दुसरे शब्दों में सेहत से तात्पर्य उस अवस्था से है जब व्यक्ति को किसी भी प्रकार की कोई भी शारीरिक और मानसिक समस्या ना हो| अच्छी सेहत पाना हर किसी का हक होता है, परंतु इसके लिए उसे कई सावधानियां भी रखनी पड़ती है| हमारा शरीर ही एक ऐसी वस्तु है, जो मरते दम तक हमारे साथ रहती है| इसीलिए अगर आपकी सेहत अच्छी है तो आपको वृद्धा अवस्था में भी किसी भी व्यक्ति के ऊपर ज्यादा आश्रित रहने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी| इसीलिए व्यक्ति को अपनी सेहत पर विशेष तौर पर ध्यान देना चाहिए, क्योंकि जब तक उसके हाथ पाव काम करते रहेंगे, तब तक उसे किसी के सामने हाथ नहीं फैलाना पड़ेगा|

 

 

 

अच्छी सेहत का मतलब है व्यक्ति एकदम चुस्त-दुरुस्त हो और वह किसी भी प्रकार की शारीरिक या मानसिक बीमारी से ग्रस्त न हो| अच्छी सेहत वाले व्यक्ति के कुछ मुख्य गुण होते हैं जोकि इस प्रकार हैं –

 

एनर्जी से भरपूर रहता है? (full of energy)

 

अगर कोई व्यक्ति अच्छी सेहत वाला होता है, तो उसकी Body में पर्याप्त मात्रा में काम करने के लिए हमेशा Energy मौजूद रहती है और वह किसी भी काम को करने में जल्दी थकता नहीं है|

 

ज्यादा दिन तक जिंदा रहता है (live longer)

 

अच्छी health का सबसे बड़ा फायदा यह है कि, उसे जल्दी कोई बीमारी नहीं होती है, जिसके कारण व्यक्ति अपनी उम्र लंबे समय तक जीता है|

 

व्यक्ति का वजन कंट्रोल में रहता है (The person’s weight remains under control)

 

कभी-कभी विभिन्न प्रकार की बीमारियों में व्यक्ति का वजन बिना कारण के ही बढ़ जाता है| इसीलिए जो व्यक्ति हेल्दी होता है, उसका weight control में रहता है| ऐसी सिचुएशन में व्यक्ति के बीमारियों से ग्रसित होने की संभावना कम होती है, जिसके कारण उसकी सेहत अच्छी रहती है|

 

मूड अच्छा रहता है (Good mood)

 

अच्छी सेहत का इफेक्ट व्यक्ति की शारीरिक हेल्थ के साथ-साथ उसकी mental health पर भी पड़ता है| अच्छी सेहत वाले व्यक्ति का मूड अच्छा रहता है और वह हमेशा हैप्पी रहता है|

 

खतरनाक बीमारियां कम होती है (Less dangerous diseases)

 

जहां खराब हेल्थ वाले व्यक्तियों को बीमारियों का खतरा ज्यादा होता है, वही अच्छी हेल्थ वाले व्यक्ति को बीमारी होने का खतरा कम होता है, क्योंकि उसकी बॉडी की रोग प्रतिरोधक क्षमता (immunity power)अच्छी होती है|

 

खराब सेहत क्या है (what is bad health)

 

खराब सेहत का मतलब होता है जब व्यक्ति शारीरिक या मानसिक रूप से स्वस्थ ना हो और उसे शारीरिक या मानसिक में से कोई भी एक या दोनों समस्याओं से जूझ रहा हो!

 

खराब सेहत का कारण क्या है (what is the cause of ill health)

 

जिस व्यक्ति की सेहत खराब होती है, उसे इससे काफी नुकसान होता है, क्योंकि सेहत खराब होने पर उसकी बॉडी को तो नुकसान होता ही है, साथ ही खराब सेहत का असर उसके घर वालों पर भी पड़ता है| ऐसे में व्यक्ति को बैड हेल्थ के कारणों के बारे में पता होना चाहिए, ताकि वह अपना बचाव कर सकें| ख़राब सेहत के खुछ कारण इस प्रकार हैं –

 

कसरत ना करना (Not exercising)

 

अगर कोई व्यक्ति खाना खाता है, परंतु थोड़ा भी शारीरिक व्यायाम या फिर कसरत नहीं करता है, तो इसके कारण भी उसकी हेल्थ पर काफी बुरा प्रभाव पड़ता है, क्योंकि जब वह कोई भी शारीरिक काम नहीं करता है, तो उसकी बॉडी में सुस्ती आने लगती है, जिसके कारण कोई भी काम करने में उसे काफी आलस आता है|

 

नशीली वस्तुएं ज्यादा खाना (Overeating drugs)

 

सेहत खराब होने का सबसे मुख्य कारण होता है कि व्यक्ति नशीली वस्तुओं का आवश्यकता से अधिक सेवन करता है| जैसे कि जो व्यक्ति तंबाकू, शराब, गुटका या बीड़ी का सेवन करता है, उनकी सेहत धीरे-धीरे खराब हो जाती है|

 

जंक फूड खाना (Eating junk food)

 

सेहत खराब होने का दूसरा कारण है Junk Food खाना| कई लोग बाजार में जाकर जंक फूड खाते हैं, जिसका पाचन सही प्रकार से नहीं होता है, जिसके कारण व्यक्ति को पेट से संबंधित कई समस्याएं परेशान करने लगती है, क्योंकि जंक फूड बनाने में ज्यादा तेल मसाले का इस्तेमाल किया जाता है, जो स्वास्थ्य के लिए बेनिफिट नहीं माना जाता है|

 

ज्यादा टेंशन लेना (Take too much tension)

 

खराब हेल्थ सिर्फ शारीरिक ही नहीं होती है बल्कि मानसिक भी होती है| जो व्यक्ति ज्यादा टेंशन लेता है, उसकी सेहत भी खराब हो जाती है|

 

अच्छी सेहत पाने के उपाय (Ways to get good health)

 

नीचे हम आपको ऐसे 7 सिंपल स्टेप्स बताने वाले हैं, जो आपकी हेल्थ को इंप्रूव कर देगी| नीचे बताए गए स्टेप्स को अगर आप अपने रोजाना के रूटीन में करते हैं,तो आपको हेल्दी बनने से कोई नहीं रोक सकता|

 

नींद के साथ समझौता ना करें (Don’t compromise on sleep)

 

साइंटिफिक तौर पर यह माना गया है कि, रोजाना 8 घंटे की नींद लेना हमारी बॉडी के लिए बहुत ही जरूरी होता है| इसीलिए अगर आप अच्छी सेहत पाना चाहते हैं, तो आपको रोजाना 8 घंटे की नींद अवश्य लेनी चाहिए|

 

चिंता और टेंशन को मैनेज करें (Manage anxiety and tension)

 

ज्यादा चिंता और टेंशन लेना हमारे स्वास्थ्य के लिए खराब होता है, परंतु व्यस्त लाइफ स्टाइल के कारण हमें रोजाना की जिंदगी में कई टेंशन हो जाती है, जो हमारे स्वास्थ्य पर खराब असर डालती है| इसलिए आपको कम से कम चिंता और टेंशन लेना चाहिए|

 

संतुलित खाना खाए (Eat a balanced diet)

 

आपको हेल्दी रहने के लिए खाना खाना नहीं छोड़ना है, हां आपको जो चीज छोड़नी है वह है जंक फूड, क्योंकि जंग फूड आपकी बॉडी के लिए नुकसानदायक होता है| आपको अपने खाने में विटामिन, मिनरल, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और आवश्यक पोषक तत्वों से भरी हुई चीज खानी चाहिए| यह आपकी बॉडी को ऊर्जा देती है, साथ ही आपकी बॉडी को हमेशा एक्टिव रखती है|

 

कसरत को अपनी आदत बनाएं (Make exercise a habit)

 

अच्छी हेल्थ के लिए बॉडी को कसरत करवाना बहुत ही जरूरी होता है, क्योंकि कसरत करने से हमारी एक्स्ट्रा कैलरी बर्न हो जाती है, साथ ही कसरत करने से हमारी बॉडी को शेप भी मिलता है| साथ ही कसरत करने से हमारी बॉडी के मसल्स एक्टिव हो जाते हैं, जो बीमारियों को दूर रखने का काम करते हैं|यहां पर कसरत का मतलब आप यह भी समझ सकते हैं कि आप जिम जाकर कसरत करें या फिर टहलने जाएं, योगा करें या फिर तैराकी करें|

 

लंबे समय तक ना बैठे (Don’t sit for long)

 

ज्यादा देर तक एक ही जगह पर लंबे समय तक बैठने से हमें हेल्थ से संबंधित कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है| जैसे कि जो व्यक्ति किसी भी एक जगह पर लंबे समय तक बैठता है उसे हाई ब्लड प्रेशर, रीड की हड्डी की समस्या या फिर मोटापा जैसे समस्या का सामना करना पड़ता है|

इसीलिए अगर आप कोई ऐसा काम करते हैं, जिसमें आपको लंबे समय तक बैठना पड़ता है, तो आपको बीच-बीच में कुछ देर के लिए उठ कर थोड़ी दूर तक टहल लेना चाहिए|

 

बुरी आदतें छोड़ दे (Give up bad habits)

 

एक हेल्थी जिंदगी जीने की शुरुआत बुरी आदतों को छोड़कर होती है| इसीलिए अगर आप दारु, गुटखा, शराब, सिगरेट बीड़ी, बीयर का सेवन करते हैं, तो आपको इन आदतों को छोड़ देना चाहिए, वरना आपको हृदय से संबंधित रोग या फिर लीवर से संबंधित रोग हो सकते हैं|

 

अपने आपको प्रदूषण से बचाएं (Protect yourself from pollution)

 

पानी से लेकर हवा, हवा से लेकर मिट्टी लगभग सभी में प्रदूषण होता है| ऐसे में हमें अपने आपको प्रदूषण से बचाना चाहिए, फिर चाहे आप घर के अंदर हो या फिर घर के बाहर|

 

अच्छी सेहत के लिए आयुर्वेदिक उपाय (Ayurvedic remedies for good health)

 

आयुर्वेद का इस्तेमाल हजारों सालों से अच्छी सेहत के लिए विभिन्न प्रकार से किया जा रहा है| आयुर्वेद में ऐसे कई उपाय हैं, जिसका इस्तेमाल करके आप अपनी हेल्थ को बेहतर बना सकते हैं| अच्छी सेहत के लिए आयुर्वेदिक उपाय इस प्रकार है|

 

नीम का सेवन करें (Eat neem)

 

आपको बता दें कि, नीम के अंदर अच्छी मात्रा में एंटीबायोटिक मौजूद होते हैं और अगर आप रोजाना नीम की पत्तियों का सेवन करते हैं, तो यह आपकी बॉडी से विषैले तत्वों को बाहर निकालता है, साथ ही आपकी बॉडी में मौजूद खून को भी Purify करता है, जिसके कारण आपको खून से संबंधित कोई बीमारी होने के चांस कम हो जाते हैं|

 

त्रिफला चूरन खाए (Eat triphala churan)

 

हमारी बॉडी में अधिकतर समस्याओं की जड़ हमारा पेट होता है, क्योंकि जब हम खाना खाते हैं तो उसका पाचन हमारे पेट में ही होता है और जब हमारे खाने का पाचन सही ढंग से नहीं होता है तो हमें कब्ज, अपच और अरुचि जैसी समस्याएं होने लगती है| इसीलिए इन समस्या से बचने के लिए आपको आयुर्वेदिक त्रिफला चूर्ण का सेवन करना चाहिए| अच्छी सेहत के लिए क्या जरूरी है? यह आपके पाचन को बढ़िया बनाने में हेल्प करता है|

 

सेहत के लिए शारीरिक श्रम न करने के नुकसान

 

1. वजन बढ़ता है
2. शरीर में आलस्य बढ़ता है
3. बीमारियाँ होती है
4. कुछ अन्य शारीरिक काम करने से जल्दी थकावट होती है

 

 

सेहत से सम्बंधित महत्वपूर्ण बातें (Important things related to health)

 

Health Tips 1. डेली रूटीन में किसी भी तरह की एक्सरसाइज को समय(30min से 45 min) दे . आप इसमें योग, प्रयानाम, वाक, जिम में कसरत आदि कुछ भी कर सकते हैं .

Health Tips 2. पानी की एक उचित मात्रा होना भी बहुत जरुरी हैं. दिन भर में 12 से 15 गिलास पानी लेना ही चाहिए, इससे हानिकारक टाक्सिन शरीर से बाहर होते है और कई तरह की बिमारियों से शरीर को दूर रखते हैं. घर में जब भी पानी ले बड़े से बड़े गिलास का उपयोग करे .

Health Tips 3. सुबह में जब भी आप सोकर उठे तब 1 गिलास नार्मल पानी ले . और फ्रेश होने के बाद 1 गिलास गुनगुना पानी गुनगुना पानी ले . जिसमे 6 से 7 बूँद नीम्बू के रस की डाले और अगर हो सके तो 1 चम्मच शहद भी मिला सकते हैं .

Health Tips 4. लंच और डिनर के 10 min पहले 1 गिलास पानी लेना चाहिए. इससे पाचन ठीक होता है, और अगर यह गुनगुना पानी हो तो और भी अच्छा होगा .

Health Tips 5. लंच और डिनर के 30min बाद पानी पियें. खाना लेने के तुरंत बाद केवल थोड़ा सा ही पानी ले . अगर यह water luke warm गुनगुना हो तो बहुत लाभकारी होगा .

Health Tips 6. पानी की नियमित मात्रा लेने से आपके चेहरे पर भी ग्लो चमक आती हैं . अगर आप कुछ दिन तक गिलास गिन करके 12 to 15 गिलास पानी ले तो कुछ दिन के बाद यह आपके रूटीन में सेट हो जायेगा .

Health Tips 7. लंच एवम डिनर के बाद अगर आप 10 min स्लो वाक करें, तो काफी अच्छा साबित होगा और इसके आलावा अगर आप 5 min वज्रासन लगा सके, तो यह भी लाभकारी होगा .

Health Tips 8. अगर आप दिन भर में कम से कम 2 बार काली चाय नीम्बू व् शहद के साथ या ग्रीन टी लेते हैं, तो आपके शरीर में मेटापोलिस्म बढ जायेगा, जो कि बहुत जरुरी हैं. मेटापोलिस्म एक वजह है, जिस कारण वजन बढ़ता हैं. इसकी मात्रा शरीर में अच्छी होना जरुरी हैं और 20 साल की उम्र के बाद मेटापोलिस्म कम होने लगता हैं. इसे बनाये रखने के लिए एक्सरसाइज और एक ठीक रूटीनका होना बहुत जरुरी हैं .

Health Tips 9. मेटापोलिस्म कम होने से खाना ठीक से पचता नहीं है और शरीर फूलने लगता है फैट बढ़ने लगता हैं . कई बार हम सोचते है, हमारी डाइट बहुत कम है, फिर भी वजन बढ़ता हैं और सामने वाला बहुत खाता हैं फिर भी दुबला पतला हैं . यह मेटापोलिस्म के कारण होता हैं .

Health Tips 10. कम भोजन करने से वजन कम करना गलत हैं, डाइटिंग से लाभ नहीं हानि होती है . सभी को अपनी भूख के हिसाब से ही खाना लेना चाहिए, बस उसे एक साथ ना लेकर कुछ टुकडो में तोड़ देना सही होता है . भोजन में सलाद और दही बहुत जरुरी हैं, इसे अपनी डाइट में शामिल करें .

Health Tips 11. ब्रेकफास्ट यानि सुबह का नाश्ता करना बहुत जरुरी है और यह हैवी हो तो, आपको दिन भर एनर्गी महसूस होती हैं . और डिनर जितना हल्का हो उतना अच्छा और जितना जल्दी हो सके उतना जल्दी करे . देर रात कुछ भी खाना गलत होता है .

Health Tips 12. काम की व्यस्तता के कारण कई लोग देर रात ही डिनर करते हैं. अच्छी सेहत के लिए क्या जरूरी है? अगर आप इस आदत को बदल सके तो बहुत अच्छा हैं लेकिन नहीं तो कोशिश करे कि डिनर करने के बाद 10 min वाक या वज्रासन करे और भोजन के 30 min बाद luke warm water (गुनगुना पानी) ले.

Health Tips 13. वज्रासन

उपर लिखे सारे Health Tips In Hindi बहुत जरुरी हैं लेकिन इन्हें देखकर घबराएँ नहीं. अच्छी आदतों का होना स्वस्थ शरीर के लिए जरुरी है, पर आप एक दिन में सभी आदते नहीं सुधार सकते. धीरे-धीरे एक एक आदत को अपनी ज़िन्दगी का हिस्सा बनाये. एक वक्त के बाद यह आदते आपकी लाइफ का हिस्सा बन जाएगी और बिना किसी मेहनत व् तनाव के आप यह सब कर पाएंगे.

आपकी हेल्थ केवल आपके हाथों में हैं, इसका ध्यान कोई और नहीं रख सकता अगर आज अपनी आदते नहीं बदलेंगे तो, भविष्य में पछताने के अलावा कोई बात नहीं बचेगी. आज के वक्त में औसत आयु 80 वर्ष की हो चुकी हैं, पर 10 % लोग ही इस आयु में स्वस्थ होते है.

 

 

FAQ-अधिकतर पूछे जाने वाले सवाल जवाब  – 

 

अच्छी सेहत रखने के लिए क्या करना चाहिए?

– खाना नीचे बैठकर और हाथों से खाएं
– खाना खाते हुए फोन, टीवी, लैपटॉप आदि सभी गैजेट से दूर रहें
– रोजाना डाइट में मुट्ठीभर नट्स जरूर खाएं
– मौसमी फल व हरी सब्जियों का सेवन करें
– रागी, ज्वार जैसे मोटे अनाज को डाइट में शामिल करें
– घर पर जमा दही खाएं

 

सुबह खाना कितने बजे खाना चाहिए?

वास्तव में सुबह 10 से 11 बजे के बीच भोजन कर लेना चाहिए। जिससे कि दिनभर कार्य करने के लिए ऊर्जा मिल सके। कुछ लोग सुबह चाय-नाश्ता करके रात्रि में भोजन करते हैं, जो स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं होता। दिन का भोजन शारीरिक श्रम के अनुसार एवं रात का भोजन हल्का व सुपाच्य होना चाहिए।

 

क्या खाने से सेहत बनेगी?

लो फैट, मध्यम मात्रा में कार्ब्स, प्रोटीन, लो फाइबर, फ्लूइड जैसी चीजों का सेवन करना चाहिए। एक्सरसाइज से पहले क्वालिटी कार्ब्स, लीन प्रोटीन, हेल्दी फैट्स का सेवन करना चाहिए। मसल्स को जल्दी एनर्जी दिलाने के लिए ब्रेड, अनाज, पास्ता, चावल, फल, सब्जी आदि से कार्ब्स प्राप्त किया जा सकता है।

 

सुबह उठकर सबसे पहले क्या खाना चाहिए?

सुबह उठकर दलिया, अंडा, बादाम, ओट्स, पोहा इत्यादि का सेवन करना चाहिये।

 

भोजन कब और कितना खाना चाहिए?

कुछ लोग का मानना है कि दिनभर में 4-5 बार थोड़े-थोड़े समय पर कुछ ना कुछ खाएं, जबकि कुछ लोगों का मानना है कि दिन में 3 बार खाने से सेहत अच्छी रहती है क्योंकि इस तरह खाने से खाना सही तरीके से पचता है। वहीं कुछ हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है कि दिन में 5 से 6 बार थोड़े-थोड़े समय पर खाने से शरीर हेल्दी रहता है।

 

दोपहर में खाना कितने बजे खाना चाहिए?

दोपहर का भोजन 1 बजे से तीन बजे के बीच कर लेना चाहिए। लंच हमेशा 3 बजे से पहले करने की कोशिश करें। ऐसा करने से खाना का भरपूर फायदा आपके शरीर को मिलेगा। कहा जाता है नाश्ता सुबह उठने के 2 घंटे के अंदर यानि करीब 9 बजे कर लेना चाहिए।

 

 

 

 

Conclusion

 

 

 

 

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख अच्छी सेहत के लिए क्या जरूरी है? संपूर्ण जानकारी हिंदी में  जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे. 
यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

 

 

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!