BSc का फुल फॉर्म क्या होता है? बीएससी करने से क्या बनते हैं?

दोस्तों BSc का फुल फॉर्म क्या होता है? :- आपने भी कभी न कभी किसी ग्रेजुएशन करने वाले छात्र से पूछा होगा की क्या कर रहे हो ? और आपको जवाब मिला होगा की BSC कर रहा हूँ परन्तु क्या आप जानते है BSC क्या होती है, बीएससी की फुल फॉर्म क्या होती है (BSC full form in hindi), BSC का हिंदी में क्या मतलब होता है (BSC meaning in Hindi) और BSC में एडमिशन कैसे लिया जाता है।

तो चलिए इस लेख के माध्यम से हम आपको बताएँगे की BSC ka full form kya hai (BSC full form in hindi), BSC क्या है, BSC meaning in Hindi, BSC में एडमिशन कैसे ले और BSC करने के क्या लाभ है। साथ ही BSC meaning in Hindi जानने के अतिरिक्त आप इसमें करियर के क्या-क्या विकल्प है ये भी जानेंगे तो चलिए जानते है BSC के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारियां

 

BSc का फुल फॉर्म क्या होता है? बीएससी करने से क्या बनते हैं?
TEJWIKI.IN

 

Contents

BSc का Full Form होता है? (What is the full form of BSc)

 

BSc का Full Form होता है Bachelor of Science है। यह Science और Technology के क्षेत्र में तीन वर्षीय पाठ्यक्रम पूरा करने के लिए प्रदान की जाने वाली एक undergraduate academic degree है।

यह 12 वीं कक्षा की परीक्षा पास करने के बाद Science के छात्रों के बीच एक लोकप्रिय शैक्षणिक डिग्री पाठ्यक्रम है। इस पाठ्यक्रम की अवधि एक देश से दूसरे देश में भिन्न हो सकती है। यह भारत में तीन साल का कोर्स और अर्जेंटीना में पांच साल का कोर्स है।

 

क्या सही में BSc का भी Full Form होता है?

 

जी बाकि abbreviation के तरह भी Bachelor of Science का Short Form या Abbreviation होता है BSc। इसे अक्सर विज्ञान के छात्रों के द्वारा ज्यादा प्रयोग में लाया जाता है।

 

 

 

क्या कहते हैं B.Sc को हिंदी में ?

 

B.Sc (Bachelor of Science) को हिंदी में “विज्ञान में स्नातक” भी कहा जाता है।

 

 

क्या होता है B.Sc? (What is B.Sc)

 

जैसा की मैं पहले ही बता चूका हूँ B.Sc। विज्ञान से संबंधित विषयों में Graduation Level का पाठ्यक्रम है। छात्र केवल B.Sc। या B.Sc। (Hons.) पाठ्यक्रम के बीच चयन कर सकते हैं। Computer और Information Technology के क्षेत्र में रुचि रखने वाले लोग B.Sc। (Computer Science / IT) का विकल्प चुन सकते हैं।

 

पारंपरिक बीएससी पाठ्यक्रम में PCM, भौतिकी (Physics), गणित (Mathematics), रसायन विज्ञान(Chemistry), जीव विज्ञान(Biology), प्राणी विज्ञान (Zoology), सांख्यिकी(Statistics) और गृह विज्ञान(Home science) जैसे विषय शामिल हैं।

वहीँ Professional BSc। Course के अंतर्गत आते हैं, agriculture, animation, aquaculture, biochemistry, bioinformatics, genetics, computer science, fashion technology, electronics, multimedia, physiotherapy, psychology और कई अन्य subjects को कवर करते हैं।

 

B.Sc का फुल फॉर्म हिंदी में (full form of bsc in hindi)

 

अब चलिए जानते हैं की बीएससी का फुल फॉर्म हिंदी में क्या होता है।

 

BSc का Full Form होता है? (What is the full form of BSc)

 

Bachelor of Science। इसकी उत्पत्ति हुई है Latin शब्द Baccalaureus Scientiae से।

B: Bachelor of

Sc: Science

 

BSc का दूसरा Full Form होता है? (What is the second full form of BSc)

 

वहीँ BSC का एक दूसरा Full-Form भी है।

BSCBase Station Controller

यह एक combination होता है hardware और software का जो की इस्तमाल किया है प्रदान करने के लिए control functions और physical links वो भी mobile services switching center (MSC) और Base Transceiver Stations (BTS) के बीच में।

B: Base

S: Station

C: Controller

 

BSC Course करने की फीस कितनी होती है ? (What is the fee for doing BSC course)

 

BSC Course करने में 1 लाख से लेकर 1 लाख पचास हजार तक का खर्चा लग सकता हैं हमने यहां पर एक एवरेज फीस बताई है क्योंकि फीस कम ज्यादा भी हो सकती है इसलिए यह इस बात पर निर्भर करता हैं आप कैसे कॉलेज में एडमिशन ले रहे हैं, कोचिंग में कितना खर्चा कर रहे हैं, आपका कॉलेज आपके घर से कितना दूर हैं इत्यादि।

परन्तु अगर आप एक सरकारी कॉलेज से BSC Course करते है तो आपकों बहुत लाभ मिलता हैं क्योंकि सरकार द्वारा गवर्नमेंट कॉलेज में आर्थिक स्थिति औऱ अच्छे नंबरों के आधार पर स्कॉलरशिप व फ्री एडमिशन की सुविधा हैं और स्टूडेंस को कॉलेज फीस के नाम पर सिर्फ अपना एग्जाम फीस ही देनीपड़ती हैं BSc का फुल फॉर्म जो कि हर सेमिस्टर में लगभग 2 से 3 हजार तक ही होती है लेकिन ये सुविधा सिर्फ सरकारी कॉलेजों में ही उपलब्ध हैं।

 

BSc में कितने विषय होते हैं? (How many subjects are there in BSc)

 

यदि आप बैचलर ऑफ साइंस प्रोग्राम में दाखिला लेना चाहते हैं, तो आपके पास एक मान्यता प्राप्त बोर्ड से हाई स्कूल डिप्लोमा होना चाहिए और इसमें भौतिकी, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान और गणित जैसे विज्ञान विषय हों।

केवल वही जो पहले ही अपना हाई स्कूल डिप्लोमा अर्जित कर चुके हैं, BSc का फुल फॉर्मवे इसमें प्रवेश के लिए आवेदन कर सकते हैं। आप अपने पूर्व अनुभव और विशेषज्ञता के क्षेत्रों के आधार पर यहां कोई भी रास्ता अपनाने के लिए स्वतंत्र हैं। बीएससी में, आपको विभिन्न प्रकार के ऐच्छिक दिए जाते हैं जिनमें से चयन करना है; अपनी प्राथमिकताओं के आधार पर, आप निम्न में से किसी एक में नामांकन करना चुन सकते हैं:

  • BSc (Math)
  • BSc (Nursing)
  • BSc (Genetics)
  • BSc (Animation)
  • Bsc (Multimedia)
  • BSc (Chemistry)
  • Bsc (Agriculture)
  • BSc (Electronics)
  • BSc (Microbiology)
  • BSc (Food Technology)
  • BSc (Information Technology)

बीएससी पाठ्यक्रम में विभिन्न प्रकार के विषयों को शामिल किया गया है। आपके पास निम्नलिखित विषयों की सूची में से किन्हीं तीन विषयों को चुनने का विकल्प है।

 

  • Botany
  • Biology
  • Physics
  • Zoology
  • Chemistry
  • Electronics
  • Mathematics
  • Biochemistry
  • Computer Science
  • Environmental Science

 

 

B.Sc की पढ़ाई करने से क्या लाभ होता है ? (What is the benefit of studying B.Sc)

 

चलिए अब जानते हैं की BSC की पढाई करने पर आपको कौन कौन से फायेदे प्राप्त होते हैं।

 

आकर्षक स्कालरशिप (Attractive Scholarship)

 

पाठ्यक्रमों के लिए B.Sc। का चयन करने वाले छात्रों को सरकारी छात्रवृत्ति प्रदान की जा रही है। इन छात्रवृत्ति के भत्तों में आकर्षक offer जैसे संपूर्ण अध्ययन खर्च शामिल हैं जो छात्र को Study करते समय सामना करते हैं। इनमें से कुछ Scholarship, M.SC। से संबंधित खर्चों को भी कवर करती है यदि छात्र उच्च शिक्षा के लिए इसे चुनने का फैसला करता है।

 

रिसर्च और डेवलपमेंट क्षेत्रों में रोजगार के अवसर (Employment opportunities in research and development sectors)

 

बीएससी में डिग्री हासिल करने का सबसे अच्छा हिस्सा अनुसंधान और विकास के क्षेत्र में रोजगार के बेहतरीन अवसर हैं। भारत में research and development क्षेत्र को मजबूत करना, बीएससी को ऐसी आकर्षक छात्रवृत्ति की पेशकश करने के पीछे सरकार का एक प्रमुख कारण है।

एक science के छात्र के वैज्ञानिक बनने से बेहतर करियर क्या हो सकता है? और सरकार research and development क्षेत्र के छात्रों को विकसित करने में गहरी दिलचस्पी ले रही है और यह आश्वासन दे सकती है कि उनके पास इस क्षेत्र में एक आशाजनक और पुरस्कृत करियर होगा।

 

विज्ञान के अलावा अन्य field का पता लगाने के लिए आजादी (Freedom to explore fields other than science)

 

किसी भी अन्य Academic course के तरह, बीएससी graduates के पास भी रोजगार के बेहतरीन अवसर हैं। बीएससी के छात्र केवल विज्ञान से संबंधित नौकरियों के क्षेत्र तक ही सीमित नहीं हैं और उनके पास अन्य क्षेत्रों जैसे managememt, engineering, law आदि का पता लगाने के लिए उच्च शिक्षा और रोजगार के अवसरों दोनों के लिए free है।

 

B.sc (Bachelor of Science) में अलग-अलग स्ट्रीम क्या क्या हैं? (What are the different streams in B.sc (Bachelor of Science))

 

BSC (Bachelor of Science) में अलग- अलग स्ट्रीम होती है। BSC (Bachelor of Science) में आपके पास कई विकल्प होते है। इनमे कुछ प्रमुख निम्न है। एक ही विषय में BSC मतलब HONOURS है।

 

BSC Physics BSC Horticulture
BSC Chemistry BSC Hotel Management
BSC Mathematics BSC Software Engineering
BSC Zoology BSC Medical
BSC Botany BSC Applied Physics
BSC Computer Science BSC Economics
BSC Biology BSC Applied Chemistry
BSC Anatomy BSC Statistics
BSC Nursing BSC Food Technology
BSC Agriculture BSC Environment Science
BSC IT BSC Food Technology
BSC Geology BSC Electronics

 

BSc के बाद रोजगार के क्षेत्र (Sectors of employment after BSc)

 

  • Aquariums
  • Hospitals
  • Oil Industry
  • Research Firms
  • Chemical Industry
  • Food Institutes
  • Forest Services
  • Biotechnology Firms
  • Waste-water Plants
  • Testing Laboratories
  • Agriculture Industry
  • Health Care Providers
  • Educational Institutes
  • Forensic Crime Research
  • Industrial Laboratories
  • Space Research Institutes
  • Seed And Nursery Companies
  • Geological Survey Departments
  • Wildlife and Fishery Departments
  • Environmental Management and Conservation
  • Pharmaceuticals and Biotechnology Industry

 

BSc पूरा करने के बाद कौन सी जॉब मिलेगी? (Which job will be available after completing BSc)

 

बीएससी अंडर ग्रेजुएशन का कोर्स है यानी कि इसे करने के बाद उम्मीदवार स्नातक हो जाते हैं और फिर वह देश के लगभग हर सरकारी विभाग में सरकारी नौकरी के लिए आवेदन करने के योग्य हो जाते हैं।

B.sc के बाद उम्मीदवार निम्नलिखित मुख्य क्षेत्रों में सरकारी नौकरी प्राप्त कर सकते हैं :-

  • Indian railways
  • SSC
  • Government banks/ PSUs
  • Indian army Navy Air force
  • State department
  • Civil services
  • कुछ अन्य क्षेत्र

 

Indian railways में बीएससी के बाद सरकारी नौकरी (Government jobs after BSC in Indian railways)

 

भारतीय रेलवे में नौकरी करना मतलब एक बहुत ही बड़ी उपलब्धि मानी जाती है। वैसे भी देश के सबसे बड़े नियोक्ता के रूप में जाना जाता है। यानी कि रेलवे सबसे ज्यादा लोगों को रोजगार या कहें कि सरकारी नौकरी देता है।

 

Bsc के बाद SSC के अंतर्गत सरकारी नौकरी

 

जैसे कि अभी रेलवे हर साल या बहुत नियमित रूप से भर्ती नहीं निकाल रही है, ऐसे में स्टाफ सिलेक्शन कमीशन ऑफ इंडिया यानी कर्मचारी चयन आयोग हर साल मल्टी टास्किंग स्टाफ और स्टेनोग्राफर आदि जैसे पदों के लिए आवेदन मांगता है, और उम्मीदवारों की नियुक्ति भी करता है।

 

Bsc के बाद Government banks/ PSUs में सरकारी नौकरी

 

बहुत से विद्यार्थी वैसे भी बैंकिंग सेक्टर के तरफ ज्यादा रुचि रखते हैं, वे किसी अच्छे सरकारी बैंक में सरकारी नौकरी लेकर सेटल होना चाहते हैं। BSc पूरी करने के बाद उम्मीदवार सरकारी बैंकों में क्लर्क, डाटा एंट्री ऑपरेटर, असिस्टेंट और PO पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं।

 

Bsc के बाद Indian army/Navy/Air force में सरकारी नौकरी

 

बीसीए पास उम्मीदवारों के लिए सरकारी नौकरी में defence क्षेत्र में जाने का अवसर भी रहता है। यदि आप भी देश के लिए कुछ करना चाहते हैं तब ndian army/Navy/Air force में सरकारी नौकरी करना बहुत ही उच्च कोटि का काम माना जाता है।

 

Bsc के बाद State department में सरकारी नौकरी

 

स्टेट डिपार्टमेंट (राज्य सरकार) में मुख्य तौर पर पुलिस विभाग आ जाता है। हर राज्य में समय-समय पर स्टेट डिपार्टमेंट में भर्ती के लिए योग्य उम्मीदवारों से आवेदन मांगे जाते हैं और बीएससी पास उम्मीदवार भी उसके लिए एलिजिबल होते हैं। BSc का फुल फॉर्म वहीं राज्य सरकार में बहुत से अलग अलग डिपार्टमेंट भी शामिल हैं जहां की आप आसानी से भर्ती हो सकते हैं।

 

B.Sc के पास Civil Services की सरकारी नौकरी

 

Civil Services असल में देश के सबसे बड़े ऑफिसर के पदों को कहते हैं। आईएएस या आईपीएस अधिकारी जो होते हैं, वही Civil Services के मुख्य होते हैं हालांकि इनके अलावा भी कई सेवाएं सिविल सर्विसेज के अंतर्गत आती हैं।

 

B.Sc के बाद कुछ अन्य क्षेत्रों में सरकारी नौकरी 

 

ऊपर दिए गए क्षेत्रों के अलावा भी बीएससी पास उम्मीदवारों के पास सरकारी नौकरी के गई क्षेत्र मौजूद है। उन दूसरे क्षेत्रों के नामों में आयकर विभाग, वन विभाग, एयरपोर्ट में नौकरी, फिर डिफेंस में अर्धसैनिक बल आदि का नाम आता है।

 

 

 

BSc-III के लिए लोकप्रिय जॉब प्रोफाइल

 

Bsc course करने वाले छात्रों में कुछ popular जॉब प्रोफाइल इस प्रकार हैं –

 

Scientist Scientific Assistant
Research Analyst Teachers
Technical Writer / Editor Lecturers
Chemist Researcher
Clinical Research Manager Consultant

 

हालांकि बीएससी के लाभ कई हैं, ज्यादातर छात्रों को उनके बारे में पता नहीं है। माता-पिता और शिक्षकों के लिए यह महत्वपूर्ण है कि वे छात्रों को उन सभी पाठ्यक्रमों की संभावनाओं के बारे में शिक्षित करें जो वे अपनी पसंद के विषय में कर सकते हैं। Scientific research के क्षेत्रों में करियर को देखने वाले छात्रों के लिए, बीएससी पाठ्यक्रम सबसे अच्छा option हैं।

BSC Course को Distance से कैसे करें? (How to do BSC Course from Distance)

 

अगर आप जॉब या फिर कोचिंग करते है और साथ ही BSC करना चाहते हैं तो आप डिस्टेंस एजुकेशन से भी इस कोर्स को कर सकते हैं। यह ऑप्शन उन लोगो के लिए भी है जिनके पास इस कोर्स की फीस अदा करने का साधन नहीं हैं।

दरअसल डिस्टेंस में हमें कोई क्लास अटेंड नहीं करनी पड़ती हैं सिर्फ एग्जाम देकर और असाइनमेंट सबमिट करके ही हमें डिग्री मिल जाती हैं और साथ ही इसकी फीस भी रेगुलर की तुलना में बहुत कम होती हैं अगर आप डिस्टेंस से बीएससी करना चाहे तो हम आपको इग्नू (Ignou) जैसे इंस्टिट्यूड का इस्तेमाल कर सकते है।

 

BSc के बाद भविष्य (future after bsc)

 

अपनी बैचलर ऑफ साइंस की डिग्री पूरी करने के बाद, आपके पास एक आशाजनक भविष्य हो सकता है। लेकिन जिस तरह से आप इस कक्षा को संभालते हैं और आप उस पर कितना ध्यान देते हैं, ये आपके ग्रेड को निर्धारित करने में दो सबसे महत्वपूर्ण कारक हैं।

बैचलर ऑफ साइंस की डिग्री हासिल करने के बाद, आप स्नातक विज्ञान स्नातकोत्तर डिग्री (एमएससी), एमबीए (मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन), या किसी अन्य स्नातकोत्तर डिग्री के लिए आवेदन जमा करने के पात्र हैं।

 

 

यदि आपके पास बैचलर ऑफ साइंस की डिग्री और ठोस अंक हैं, तो निजी और सार्वजनिक दोनों क्षेत्रों में बहुत सारे खुले पद हैं जिनके लिए आप आवेदन कर सकते हैं। यदि आप काम करने में रुचि रखते हैं, तो पढ़ें।

 

B.Sc Full Form से संबंधित महत्वपूर्ण सवालों जवाब :-

 

BSC क्या है ?

BSC एक तीन वर्षीय स्नातक कोर्स है जिसमे आपको विज्ञान से संबंधित सभी महत्वपूर्ण बिंदुओं को पढ़ाया जाता है।

 

BSC की फुल फॉर्म क्या है ?

BSC की फुल फॉर्म होती है (Bachelor of Science) जिसका हिंदी में अर्थ होता है विज्ञान में स्नातक।

 

BSC (Bachelor of Science) हेतु आवश्यक पात्रता क्या है ?

अगर आप BSC (Bachelor of Science) करना चाहते है तो आपको इंटरमीडिएट उत्तीर्ण होना जरुरी है।

 

क्या BSC (Bachelor of Science) में किसी भी स्ट्रीम के छात्र दाखिला ले सकते है ?

BSC (Bachelor of Science) में दाखिला लेने के लिए आपके पास इंटरमीडिएट में विज्ञान विषय होना आवश्यक है।

 

BSC (Bachelor of Science) में एडमिशन कैसे ले ?

 

अगर आप BSC (Bachelor of Science) में एडमिशन लेना चाहते है तो ऊपर दिए गये लेख को ध्यानपूर्वक पढ़े। आप इससे एडमिशन लेने की पूरी प्रक्रिया से परिचित हो जाएंगे।

 

BSC (Bachelor of Science) करने के क्या लाभ है ?

 

BSC (Bachelor of Science) करने के बाद आपपके पास करियर के ढेरों विकल्प है आप चाहते तो सरकारी या निजी क्षेत्र किसी में भी करियर बना सकते है।

 

BSC (Bachelor of Science) में फीस कितनी है ?

 

BSC (Bachelor of Science) की फीस अलग-अलग कॉलेजो में अलग-अलग है। सरकारी कॉलेजो में फीस निजी कॉलेजो के मुकाबले कम है।

 

Conclusion

 

 

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख दोस्तों BSc का फुल फॉर्म होता है? बीएससी करने से क्या बनते हैं? जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.
यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!