संतरा खाने से लाभ-हानि, प्रकार और उपयोग की पूरी जानकारी

दोस्तों संतरा खाने से लाभ-हानि, प्रकार और उपयोग की पूरी जानकारी :- संतरे को सुपर फ़ूड भी कहते हैं। खट्टे-मीठे ज़ायके और रस से भरपूर संतरा, शायद ही कोई हो जिसको ये ना पसंद हो। संतरा एक मशहूर फल है। इसको दुनिया भर में खाया जाता है। आप इसे छीलकर खा सकते हैं या फिर इसका जूस भी पी सकते हैं। वैसे संतरे के जूस का इस्तेमाल कई तरह के ड्रिंक्स में भी होता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि संतरे का इस्तेमाल खाने या पीने के अलावा आयुर्विज्ञान के क्षेत्र में भी एक ज़माने से किया जाता रहा है। संतरे के इन्हीं भरपूर फायदों के कारण इसे सुपरफूड कहा गया है। ख़ास कर सर्दियों में संतरा खाने के फायदे बहुत होते हैं।

दरअसल संतरे में अनेकों गुण हैं। संतरा सर्दी-जुकाम से भी बचाता है और आपकी स्किन की देखभाल भी करता है। ये आपकी त्‍वचा को खूबसूरत बनाता है। संतरे में विटामिन सी भरपूर होता है। यही वजह है कि संतरा खाने से एम्‍युनिटी बढ़ती है और ये आपका वज़न भी काबू में रखता है।

 

संतरा खाने से लाभ-हानि, प्रकार और उपयोग की पूरी जानकारी
TEJWIKI.IN

 

Contents

संतरा खाने से क्या लाभ होता है? (What is the benefit of eating orange)

 

आइये अब देखते हैं कि और क्या क्या हैं संतरा खाने के फायदे और आपको संतरा क्यों खाना चाहिए।

 

1. नुट्रिएंट्स से भरपूर (rich in nutrients)

 

संतरा न्यूट्रिएंट्स से भरपूर होता है। संतरे में प्रचुर मात्रा में विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन बी, एमिनो एसिड, कैल्शियम, आयोडीन, फॉस्फोरस, सोडियम, मिनरल्स और फाइबर पाए जाते हैं। अगर आप रोज़ संतरे का सेवन करते हैं तो फिर आप कई गंभीर बीमारियों से बचे रह सकते हैं। ज़रा सोचिये, अगर एक ही फल से इतने सारे विटामिन्स और अन्य पदार्थ आपके शरीर में पहुँच जाएँ तो फिर किसी दवा की आपको शायद ही कभी ज़रूरत पड़े। इसलिए हो सके तो संतरे का सेवन आप भी अवश्य कीजिये, ये बहुत सी बीमारियों से आपको दूर रख सकता है।

 

 

2. कॉन्स्टिपेशन से बचाव (Prevent constipation)

 

यह भी संतरा खाने के फायदे में आपके पेट का स्वास्थ भी आता है। संतरे में घुलनशील और अघुलनशील दोनों तरह के फाइबर होते हैं। यह आपकी आंतों और पेट को बेहतर बनाये रखते हैं। संतरा खाने से लाभ-हानि इससे आँतों के सिंड्रोम को भी रोका जा सकता है। इसके अतिरिक्त संतरे में अधिक मात्रा में मौजूद फाइबर कॉन्स्टिपेशन का इलाज करने में भी सहायता करता है।

 

3. आँखों के लिए भी फायदेमंद (Beneficial for eyes)

संतरा कैरोटीनॉयड का एक संपन्न स्रोत है। इनमें मौजूद विटामिन ए आँखों में म्यूकस मेम्ब्रेन को स्वस्थ रखने में अहम भूमिका निभाता है। उम्र से संबंधित मस्कुलर डिजनरेशन को रोकने में भी विटामिन ए पॉजिटिव भूमिका निभाता है। यह आँखों को प्रकाश अब्ज़ॉर्ब करने में भी मदद करता है।

 

4. शरीर को एल्कलाइन करता है (Alkalizes the body)

 

ये तो आप भी जानते होंगे कि संतरा वास्तव में अम्लीय होता है। उनमें बहुत सारे अल्कलाइन मिनरल्स ऐसे होते हैं जो डाइजेशन की प्रक्रिया में अहम भूमिका निभाते हैं। संतरे का यह गुण नींबू की तरह होता है जो वाक़ई सबसे ज़्यादा अल्कलाइन फूड्स में से एक है।

 

5. संतरा कैंसर के खतरे को करता है कम (Orange reduces the risk of cancer)

 

संतरे में डी-लिमोनेन नामक एक कंपाउंड होता है जो फेफड़ों के कैंसर, स्किन कैंसर और स्तन कैंसर को रोकने में सहायक होता है। संतरे में मौजूद विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट दोनों ही शरीर की प्रतिरोधक क्षमता के निर्माण के लिए महत्वपूर्ण हैं। ये कैंसर से लड़ने में मदद करते हैं और संतरे की रेशेदार लेयर भी कैंसर से बचाव में सहायक होती है। संतरा में एस्कॉर्बिक एसिड और बीटा कैरोटीन होता है जो शरीर में कैंसर के खतरे को कम करते हैं। प्रतिदिन संतरे का सेवन करने से शरीर में फ्री रेडिकल्स से छुटकारा भी मिलता है।

 

6. ब्लड शुगर लेवल को रखता है नियंत्रित (Keeps blood sugar level under control)

 

संतरे के फायदे में मुख्य ये है कि संतरे में मौजूद फाइबर ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखने में मदद करता है। संतरा शुगर पेशेंट्स के लिए हानिकारक नहीं माना जाता। हालाँकि संतरे में मामूली सी शुगर मौजूद होती है। इसलिए बहुत ज़्यादा संतरे खाना शुगर के मरीज़ों के लिए अच्छा नहीं होगा। वैसे आपको इस बारे में आपका डॉक्टर ही सही सलाह दे सकता है।

 

7. इम्यूनिटी को करता है मजबूत (Makes immunity strong)

 

संतरा का फायदा ये भी है कि इसके खाने से आपकी इम्युनिटी मज़बूत होती है। नियमित रूप से संतरे का सेवन करने वाले लोगों को सर्दी, खांसी और जुकाम की समस्या भी कम सताती है। आपका इम्यून सिस्टम अगर मज़बूत होता है तो वह कई इन्फेक्शन्स को रोकने में सहायक होता है। संतरे में विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है और यही आपके इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है।

 

8. ब्लड प्रेशर कंट्रोल करता है (controls blood pressure)

 

संतरे के फायदे बहुत हैं। अगर आपको ब्लड प्रेशर की समस्या है तो आप रोज़ाना एक संतरे का सेवन कर सकते हैं। संतरा ऐसे कई ऐसे गुणों से भरा हुआ है जो ब्लड प्रेशर को नॉर्मल रखते हैं। संतरे में मौजूद मैग्नीशियम और हेस्पेरिडिन, हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में कारगर होते हैं।

 

9. गठिया में फायदेमंद (Beneficial in arthritis)

 

सच बात तो यही है कि संतरा खाने के फायदे अथाह हैं। अगर आपको गठिया की बीमारी है तो आप संतरे पर भरोसा कर सकते हैं। संतरा आपको गठिया के दर्द से राहत दे सकता है। संतरा खाने से लाभ-हानि इसके अलावा संतरा जोड़ों में दर्द, अकड़न और सूजन की समस्या को भी कम करता है। संतरा खाने से शरीर में यूरिक एसिड कम होता है और यही वजह है कि संतरा खाने से गठिया के मरीजों को आराम मिलता है।

 

10. संतरे से वजन भी होता है कम (Orange also reduces weight)

 

वास्तव में संतरा सौ मर्ज़ की एक दवा है, ये मुहावरा संतरे के लिए बिलकुल सही है। संतरे में कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है और इसी कारण से संतरा खाने से वजन घटाने में मदद मिलती है। आप चाहें तो संतरे को अपने सुबह या शाम के स्नैक्स में भी शामिल कर सकते हैं। इससे आपकी एनर्जी भी बनी रहेगी और कैलोरी इंटेक भी कम हो जाएगा। अगर आप कुछ मोटे हैं तो भी संतरे का सेवन आपके लिए फायदेमंद है। वैसे आप चाहें तो सुबह के नाश्ते में आप एक गिलास ताज़ा संतरे का जूस भी पी सकते हैं। नेचुरल ताज़ा जूस पीने से आपमें दिनभर ताज़गी बनी रह सकती है।

 

11. कोलेस्ट्रॉल करे कम (Lower cholesterol)

 

संतरे में फाइबर होता है जो शरीर में कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है। साथ ही इसमें ‘पालीमेथाक्सीलेटेड फ्लेवोनोइड्स’ पाया जाता है जो कोलेस्ट्रॉल को ज्यादा प्रभावी तरीके से कम करता है। कहते हैं कि संतरे का यह गुण कोलेस्ट्रॉल को कम करने वाली मेडिसिन्स से भी ज्यादा प्रभावी होता है।

 

12. पथरी को बढ़ने से रोकता है (Prevents stone from growing)

 

संतरे में सिट्रिक एसिड होता है जो यूरिनरी डिसऑर्डर्स और गुर्दे की समस्या में बहुत लाभदायक होता है। अगर आप रोज़ाना संतरे का सेवन करते हैं तो यूरिन के जरिए सिट्रिक एसिड के एमिशन्स से ‘पीएच बैलेंस’ के लेवल बेहतर होता है और ये गुर्दे से कैल्शियम निकालने में सहायक होता है। इससे गुर्दे की पथरी के बढ़ने की सम्भावना कम हो जाती है।

 

 

संतरे कितने प्रकार के होते है ? (How many types of oranges are there)

 

आर्टिकल की शुरुआत में आपको बताया है कि मौसम के साथ अन्य कारणों से संतरे के कई प्रकार हैं। मौसम, जमीन, पौषण, वातावरण आदि ऐसे कई सारे फेक्टर हैं जिस कारण संतरे के इतने सारे प्राकर पाए जा सकते हैं। संतरे के प्रकार से जुड़ी अधिक जानकारी यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

 

1) मैंडरिन संतरा (Mandarin Orange)

 

मैंडरिन संतरे का पेड़ छोटा होता है और यह बिल्कुल संतरे की तरह दिखता है। इसका छिलका बाकी संतरे के मुकाबले पतला होता है और खाने में यह मीठा होता है। मैंडरिन संतरा दुनिया भर में चीन में सबसे ज्यादा उगाया जाता है।

मैंडरिन संतरा मीठा होता है।

 

2) नेवल संतरा (Navel Orange)

 

भारत में सबसे ज्यादा नेवल संतरा पाया जाता है। नेवल संतरे में बीज ज्यादा नहीं होते हैं और यह बहुत रसदार होता है जिसको खाने में बहुत आनंद आता है। नेवल संतरे को सबसे ज्यादा ब्रज़ील, फ्लोरिडा आदि में उगाया जाता है।

यह संतरा खाने में रसीला होता है।

 

3) ब्लड संतरा (Blood Orange)

 

ब्लड संतरा अपने नाम की तरह है क्योंकि बाहर से यह नारंगी होते हैं लेकिन अंदर से इनका रंग लाल होता है। एंथीसायनिन्स (anthocyanins) नाम के कंपाउंड होने के कारण संतरा (santra) अंदर से लाल होता है। ब्लड संतरा खाने में रसीला होता है। ब्लड संतरे अधिकतर कैलिफोर्निया और फ्लोरिडा में उगाए जाते हैं।

ब्लड संतरा बाहर से नारंगी और अंदर से लाल होता है।

 

4) टैंजरीन संतरा (Tangerine Orange)

 

टैंजरीन संतरे का स्वाद कम खट्टा होता है और ज्यादा मीठा होता है। इसका छिलका सोफ्ट होता है। बाकी सभी संतरो के मुकाबले इसमें विटामिन सी की मात्रा ज्यादा होती है। टैंजरीन संतरा यू.एस और नार्थ अमेरिका में ज्यादा उगाया जाता है।

इस संतरे में सबसे ज्यादा विटामिन सी होता है।

 

5) कलेमेंटिन संतरा (Clementine Orange)

 

कलेमेंटिन संतरे सोफ्ट होते हैं और इनमें बीज नहीं होते हैं। यह मीठे और रसीले होते हैं। कलेमेंटिन संतरे नार्थ अफ्रीका, कैलिफोर्निया आदि जगह पर उगाए जाते हैं।

 

संतरे से बनने वाली रेसिपी (orange recipe)

 

संतरे के फायदे (santre ke fayde) इतने सारे हैं कि अब आप इन्हें अपनी डाइट में जरुर शामिल करना चाहेंगे। अगर आप संतरा (santra) अपना डाइट में दिलचस्प तरीके से शामिल करना चाहते हैं तो उससे जुड़ी जानकारी नीचे से प्राप्त कर सकते हैं। यहां से आप संतरे से बनने वाली डिश के आइडिया ले सकते हैं।

 

1) संतरे का सलाद (Orange Salad)

 

फल को डाइट में सलाद के रूप में आसानी से शामिल किया जा सकता है। इसके लिए आपको सिर्फ संतरा (santra) छीलना है और बाकी फलों के साथ सलाद के रूप में सेवन कर सकते हैं।

सलाद में संतरे के साथ बाकी फल भी शामिल करें।

 

2) संतरे का जूस (Orange Juice)

 

सभी फलों के जूस में से संतरे का जूस सबसे ज्यादा आसानी के साथ बनाया जा सकता है। इसके लिए आपको सिर्फ संतरा (santra) छीलना है और जूसर में डालना है। इसमें आपको और कुछ भी नहीं डालने के जरुरत है।

सिर्फ संतरे से जूस बनाएं।

 

3) संतरे का केक (Orange Cake)

 

संतरे से केक बनाने की रेसिपी बेहद सिंपल है। इसके लिए आपको सबसे पबले ब्लैंडर में अंडे डालने हैं, अब तेल और चीनी डालें और इसके बाद बिना छिले और बिना बीज के संतरे ब्लैंडर में डालें। अच्छे से ब्लैंड करें। अब इस मिश्रण को बर्तन में निकाल लें और केक को उभारने वाला आटा (केक को फूलाने वाला आटा) इस मिश्रण में डालें और अच्छे से मिक्स करें। अब बैकिंग ट्रे को अच्छे से चिकना कर लें और केक का मिश्रण डालें। बैकिंग ट्रे को ओवन में 170 डिग्री के तापमान में 40-45 मिनट के लिए रख दें। आपका संतरे वाला केक तैयार है।

घर में संतरे का केक बनाएं।

 

4) संतरे की खीर (Orange Kheer)

 

संतरे की खीर बनाने के लिए आपको कुछ भी अलग नहीं करना है। जैसे आप चावल की खीर बनाते हैं वैसे ही संतरे की खीर बनती है लेकिन इसमें चावल की जगह संतरा (santra) डाला जाता है। संतरा खाने से लाभ-हानि दूध उबाल लें और कम गैस पर पकने दें। अब अपनी पसंद के अनुसार ड्राई फ्रूट्स डालें। सभी अच्छे से पकने के बाद छिले और बीज निकले हुए संतरे डालें। अब खीर पकने दें और पकने के बाद मज़े से खाएं।

 

संतरे से हानि (Harm from oranges)

 

 

हर चीज़ के अगर बहुत सारे फायदे होते हैं तो कुछ नुकसान भी होते हैं। संतरे के साथ भी कुछ ऐसा ही है। नो डाउट, संतरा हमारे स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभदायक है, लेकिन तब तक, जब तक इसका प्रयोग सीमित मात्रा में किया जाए। बहुत अधिक मात्रा में इसका सेवन स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह भी हो सकता है।

  • संतरे में फाइबर कंटेट प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, लेकिन बहुत अधिक मात्रा में फाइबर का सेवन अपच, पेट में ऐंठन और दस्त का कारण बन सकता है।
  • संतरा एसिडिक प्रकृति का होता है, इसलिए संतरे का अधिक मात्रा में सेवन सीने में जलन पैदा कर सकता है।

 

Conclusion

 

 

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख दोस्तों संतरा खाने से लाभ-हानि, प्रकार और उपयोग की पूरी जानकारी जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.
यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

 

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!