रोगमुक्ति चमत्कारी पेंड्री तालाब मुंगेली क्यों प्रसिद्ध है? पूरी जानकारी

दोस्तों क्या आपको पता है –रोगमुक्ति चमत्कारी पेंड्री तालाब मुंगेली क्यों प्रसिद्ध है? पूरी जानकारी :-  पेण्ड्री तालाब मुंगेली में स्थित एक चमत्कारी तालाब है जहाँ स्नान करने मात्र से रोगी ठीक हो जाता है यह Pendri talab lormi रोड में स्थित है इस तालाब को 200 वर्षो से पहले का बताया जाता है जिसके बारे में लोगो को हाल ही में पता चला है। यदि आपको या फिर आपके परिवार में किसी को चर्मरोग है तो आप मुंगेली जिले में स्थित पेंड्री तालाब आ सकते है। यहाँ स्थित तलब में स्नान करने से रोग ठीक होने की मान्यता है।

इस पोस्ट में हम पेंड्री तालाब के इतिहास और चमत्कारों के बारे में जानेंगे।

रोगमुक्ति चमत्कारी पेंड्री तालाब मुंगेली क्यों प्रसिद्ध है? पूरी जानकारी
TEJWIKI.IN

 

पेंड्री तालाब की जानकारी 

 

पेंड्री तालाब मनोहरपुर गांव और बरबसपुर गांव के पास स्थित एक चमत्कारिक तालाब है। और यह पेंड्री तालाब मुंगेली जिले के अंतर्गत आता है तथा मुंगेली से पेंड्री तालाब की दूरी 15 किलोमीटर है।

पेंड्री तालाब लोरमी रोड पर स्थित है तथा लोरमी से पेंड्री तालाब की दूरी 12 किलोमीटर है। यही पेंड्री नामक गांव में यह चमत्कारिक तालाब स्थित है जो आज पूरे छत्तीसगढ़ में प्रचलित हो रही है।

तो चलिए हम आपको चमत्कारी पेंड्री तालाब के बारे जानकारी देते हैं।

Pendri Talab Mungeli ( पेंड्री तालब मुंगेली )

छत्तीसगढ़ के मुंगेली जिले में पेंड्री तालाब नामक एक चमत्कारी तालाब है जिसे लोग Mungeli talab के नाम से जानते है, जो मुंगेली से 15 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। जहां अगर कोई रोगी व्यक्ति स्नान करता है तो उसके सारे रोग समाप्त हो जाते हैं। इस तालाब को लोग “सत्य सागर पेंड्री तालाब” के नाम से जानते हैं।

स्थानीय लोगों के अनुसार यह पेंड्री तालाब 200 सालों से चली आ रही है। जब सभी को इस तालाब के चमत्कार के बारे में पता चला लोग भारी संख्या में इस तालाब में स्नान करने के लिए आने लगे।

सावन से लोग पेंड्री तालाब अधिक संख्या में आ रहे हैं जिसमें हर दिन 500-1000 लोग आते हैं और इसकी संख्या बढ़ती जा रही है। सोमवार के दिन लोगों की भारी संख्या यहाँ देखी जाती है।

पेंड्री तालाब में स्नान करने वाले लोगों के अनुसार उनके स्नान करने के बाद उनके शारीरिक रोगों में उनको कुछ फर्क देखने को मिल रहा है और बहुत लोग स्नान करने के बाद ठीक भी हो रहे हैं।

pendri talab

चलिए हम पेंड्री तालाब के इतिहास के बारे में जानते हैं।

Pendri talab history in hindi – पेंड्री तालाब का इतिहास

स्थानीय लोगों के अनुसार पेंड्री तालाब मुंगेली जिला में स्थित चमत्कारी तालाब है तथा पेंड्री तालाब का इतिहास 200 साल पुराना है। जहां नायक नाम का एक मजदूर रहता था जो बैल भैंस से अपनी रोजगारी करता था और वह कुष्ट रोग से ग्रसित था साथ ही उसका भैंस भी बीमार था।

एक दिन की बात है नायक अपनी मजदूरी खत्म करने के बाद वही आराम कर रहा था, रोगमुक्ति चमत्कारी पेंड्री तालाब उसके पास में एक छोटे से गड्ढे में पानी भरा हुआ था जिसे उसके भैंस ने पिया जिससे उसके भैंस की बीमारी तुरंत ठीक होने लगी।

 

जिसे देखकर नायक आश्चर्यचकित हो गया और खुद भी उस गड्ढे की मिट्टी को अपने ऊपर लगाने लगा और फिर उस पानी से स्नान किया जिससे उसे कुछ फर्क दिखा और उसकी बीमारी भी ठीक होने लगी।

 

इसके बाद नायक ने इस बात को गांव के सभी बड़े बुजुर्गों को बताया और नायक ने कहा हमें इसे बड़े तालाब के रूप में परिवर्तित करना चाहिए जिसका समर्थन वहां सभी लोगों ने किया।

फिर सभी लोगों ने वहां तालाब का निर्माण किया उसके बाद नायक वहां से चला गया। फिर उसे समय से आज तक यह परंपरा चली आ रही है कि जो भी रोगी व्यक्ति उस तालाब में स्नान करेगा उसका सभी रोग खत्म हो जाएगा।

Pendri Talab Photos

नीचे मैंने कुछ पेंड्री तालाब की फोटो दी हुई है जिसे आप देख सकते है –

pendri talab photo

पेंड्री तालाब में कौन कौन सी बीमारियाँ ठीक होती है?

पेंड्री तालाब में चर्म रोग जैसी बीमारियां ठीक होती है जिनमें शामिल है

  • दाद
  • खुजली
  • घमौरी
  • खाज (स्कैबी)
  • सफेद दाग
  • मुंहासे
  • कुष्ट रोग
  • फोड़ा
  • फुंसी
  • रूसी
  • त्वचा का रंग बदलना
  • चिंगराज
  • बावासीर
  • भगंदर
  • नसों का चिपकना

और भी बहुत से शारीरिक रोग हैं जिसका यहां ठीक होने की मान्यता है।

पेंड्री तालाब Video

पेंड्री तालाब में क्या करते है

मुंगेली तालाब में लोग अपने रोग के निवारण के लिए स्नान करते हैं जिसमें सभी तालाब के अंदर उतरकर तालाब के कीचड़ को अपने शरीर पर लगाते हैं उसके बाद पानी के अंदर डुबकी लगाते हैं।

पेंड्री तालाब में स्नान करने वाले लोगों का मानना है कि यहां स्नान करने से उनके सारे शारीरिक बीमारियां ठीक हो जाती है। स्थानीय लोगों के द्वारा ही चमत्कारी मुंगेली पेंड्री तालाब के बारे में सभी को पता चला।

पेंड्री तालाब कब जाना चाहिए

पेंड्री तालाब हर सोमवार जाने की प्रथा है तथा स्थानीय लोगों के अनुसार पेंड्री तालाब जाने का सही समय सोमवार के दिन है जिसमें रोगी व्यक्ति को तीन सोमवार स्नान करना होता है। इसके अलावा भी लोग अलग-अलग दिन यहां आते हैं।

पेंड्री तालाब कैसे पहुचे?

मुंगेली से पेंड्री तालाब की दूरी 15 किलोमीटर है, यदि आप पेंड्री तालाब कैसे पहुचे कैसे पहुंचे सोच रहे हैं तो नीचे मैंने वहां पहुंचने के लिए कुछ यात्रा के साधन सुझाए हैं जिसकी Help से आप Mungeli talab बड़ी आसानी से पहुंच सकते हैं।

आप इस प्रकार Pendri Talab तक पहुच सकते है –

  • By Bike(बाइक द्वारा) – बाइक द्वारा Pendri talab mungeli तक आप बड़ी आसानी से पहुच सकते है।
  • By Car (कार द्वारा) – कार द्वारा Mungeli Pendri talab तक आप बड़ी आसानी से पहुच सकते है।
  • By road (सड़क मार्ग द्वारा) – सड़क मार्ग द्वारा पेंड्री तालाब मुंगेली तक पहुंचना आसान है।

पेंड्री तालाब कहाँ है

पेंड्री तालाब छत्तीसगढ़ के मुंगेली जिले में मनोहरपुर गांव और बरबसपुर गांव के पास स्थित है।

मुंगेली पेंड्री तालाब क्यों प्रसिद्ध है

पेंड्री तालाब के प्रसिद्ध होने का कारण यह है की जो भी रोगी व्यक्ति पेंड्री तालाब में स्नान करता है उसके सारे रोग समाप्त होने लगते है।

लोग ढूंढ रहे हैं –

Conclusion

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको हमारी यह लेख रोगमुक्ति चमत्कारी पेंड्री तालाब मुंगेली क्यों प्रसिद्ध है? पूरी जानकारी जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

hi.wikipedia.org/wiki

रोगमुक्ति चमत्कारी पेंड्री तालाब मुंगेली क्यों प्रसिद्ध है? पूरी जानकारी

Join our Telegram Group

Join our Facebook Group

   Join Whatsapp Grou

Leave a Comment