तुलसी बिहाव जेठवनी एकादशी – CG लिरिक्स सांग्स 2024

तुलसी बिहाव जेठवनी एकादशी – CG लिरिक्स सांग्स 2024

 

तुलसी बिहाव जेठवनी एकादशी 

 

🌹 Tulsi Mata CG Song Lyrics 🌹

🎵 Dukalu Yadav  🎵

 

  • गीत – तुलसी बिहाव जेठवनी एकादशी
  • स्वर – लक्ष्मी जंघेल, दुकालू यादव
  • गीतकार – 
  • संगीत – दुकालू यादव
  • प्रकार – छत्तीसगढ़ी गीत
  • लेबल – सुमिरन भक्ति माला (सुन्दरानी)

 

 

 

स्थायी

जय हो मैया वो तुलसी मईया वो

जय हो मैया वो दाई तुलसी मईया वो

झुमिरत झुमिरत जेठवनी परब आगे ना

छोटे देवारी कस जगमग लागे ना

जय हो मैया वो तुलसी मईया वो

जय हो मैया वो दाई तुलसी मईया वो

अंतरा 1

अरन बरन जगर बगर चारो डाहर लागे

दाई हमर तुलसी के बिहाव मड़हागे

अरन बरन जगर बगर चारो डाहर लागे

दाई हमर तुलसी के बिहाव मड़हागे

घरो घर गन्ना के मड़वा हा गडियागे

शालिग्राम संग में दाई तुलसी हा भागे

घरो घर गन्ना के मड़वा हा गडियागे

शालिग्राम संग में दाई तुलसी हा भागे

अंतरा 2

लोग लईका आरा पारा पोड़थे पटाका

जुर मिल जोड़े हावै सबो मया लाठा

लोग लईका आरा पारा पोड़थे पटाका

जुर मिल जोड़े हावै सबो मया लाठा

खुशी खुशी घर अंगना लगे हमर पारा

देवारी के नेवता हे आहूं झारा झारा

खुशी खुशी घर अंगना लगे हमर पारा

देवारी के नेवता हे आहूं झारा झारा

जय हो मैया वो तुलसी मैया वो

जय हो मैया वो दाई तुलसी मैया वो

Tulsi Mata Ekadashi CG Song Lyrics

स्थायी

यहो घर के अंगना म तुलसी के चौरा

जेमा शालिग्राम हे

यहो घर के अंगना म तुलसी के चौरा

जेमा शालिग्राम हे

यहो बेद पुरा जेखर गुण जाए

तेखर महिमा महान हे

यहो बेद पुरा जेखर गुण जाए

तेखर महिमा महान हे

जग जननी जगदंबा भवानी

जय तुलसी महारानी

अंतरा 1

कातिक महिना घर घर पूजा

घर घर दीयना जलाथे

एकादशी देव उठनी के माता

तोर तबहाव रचाथे

गन्ना के मड़वा गड़ा के माता

लाली चुनरी ओढ़ाथे

ओ घर म तुलसी के संग संग

शालिग्राम जियाथे

यहो देहे श्राप जेला माता सरस्वती

वृदा जेखर नाम हे

यहो बेद पुरा जेखर गुण जाए

तेखर महिमा महान हे

जग जननी जगदंबा भवानी

जय तुलसी महारानी

अंतरा 2

यहो नारी ले जनमे नर जलंधर

नारी हे जेखर कहानी

अद्भुत करनी वेद नव बरनी

वृदा जेखर हे नारी

यहो चारो बेद तोर महिमा बखाने

ऋषि मुनी करथे तोर चारी

छै हो शास्त्र तोर वर्णन करथे

बिधि वर्णत जग हारी

यहो जे घर म तोर होथे पूजा

वो घर सरग समान हे

यहो बेद पुरा जेखर गुण जाए

तेखर महिमा महान हे

जग जननी जगदंबा भवानी

जय तुलसी महारानी

अंतरा 3

यहो लक्ष्मी पति हे श्री नारायण हा

तोरे सत ला डिगाए

तेखरे खातिर श्राम दिया माँ

शालिग्राम कहाए

यहो पतिव्रता माँ तुलसी भवानी

नाव हा जग में छाए

तोर बिना पूजा होवय नही

शास्त्र में हावय लिखाए

यहो दास देवेन्द्र कोसरिया के माता

तुलसी चरण चारो धाम हे

यहो बेद पुरा जेखर गुण जाए

तेखर महिमा महान हे

जग जननी जगदंबा भवानी

जय तुलसी महारानी

लोग ढूंढ रहे हैं –

Conclusion

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको हमारी यह लेख तुलसी बिहाव जेठवनी एकादशी – CG लिरिक्स सांग्स 2024 जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

hi.wikipedia.org/wiki

तुलसी बिहाव जेठवनी एकादशी – CG लिरिक्स सांग्स 2024

Join our Telegram Group

Join our Facebook Group

   Join Whatsapp Group

Leave a Comment