YA JHULNI MA JHUL BHUPENDRA SAHU Old CG Song Lyrics

YA JHULNI MA JHUL BHUPENDRA SAHU Old CG Song Lyrics

झुलनी
YA JHULNI MA JHUL RAHO LYRICS
Old CG Song Lyrics
YA JHULNI MA JHUL BHUPENDRA SAHU Old CG Song Lyrics
TEJWIKI.IN
  • गीत – झुलनी
  • स्वर – भूपेन्द्र साहू, संजय महानंद, श्रद्धा सजल
  • गीतकार – भूपेन्द्र साहू
  • संगीत – भूपेन्द्र साहू
  • लेबल – आरम्भ फिल्मस्

स्थायी
या झुलनी म झूल रहो
या झुलनी म झूल रहो रे
या झुलनी म झूल रहो
या झुलनी म झूल रहो रे
गाय ले गवईया गा
या झुलनी म झूल रहो रे
गाय ले गवईया गा
या झुलनी म झूल रहो रे

या झुलनी म झूल रहो
या झुलनी म झूल रहो रे
या झुलनी म झूल रहो
या झुलनी म झूल रहो रे
गाय ले गवईया गा
या झुलनी म झूल रहो रे
गाय ले गवईया गा
या झुलनी म झूल रहो रे

अंतरा 1
कउन बनावे अकन ककन चूरी
कउन बनावे गजमोहर
अ झुलनी म झूल रहो रे
कउन बनावे अकन ककन चूरी
कउन बनावे गजमोहर
अ झुलनी म झूल रहो रे
गाय ले गवईया गा
या झुलनी म झूल रहो रे

अंतरा 2
लोहार बनाए अकन ककन चूरी
सोनरा बनाए गजमोहर
अ झुलनी म झूल रहो रे
लोहार बनाए अकन ककन चूरी
सोनरा बनाए गजमोहर
अ झुलनी म झूल रहो रे
गाय ले गवईया गा
या झुलनी म झूल रहो रे
गाय ले गवईया गा
या झुलनी म झूल रहो रे

अंतरा 3
कउन कोड़ावै ताले ओ सगुरिया
कउने बंधावै ओ केपारे
अ झुलनी म झूल रहो रे
कउन कोड़ावै ताले ओ सगुरिया
कउने बंधावै ओ केपारे
अ झुलनी म झूल रहो रे
गाय ले गवईया गा
या झुलनी म झूल रहो रे
गाय ले गवईया गा
या झुलनी म झूल रहो रे

अंतरा 4
रामे कोड़ावै ताले ओ सगुरिया
लक्ष्मण बंधावै ओ केपारे
या झुलनी म झूल रहो रे
रामे कोड़ावै ताले ओ सगुरिया
लक्ष्मण बंधावै ओ केपारे
या झुलनी म झूल रहो रे
गाय ले गवईया गा
या झुलनी म झूल रहो रे
गाय ले गवईया गा
या झुलनी म झूल रहो रे

अंतरा 5
पान रे खाए मुहु ल करे लाल
पान रे खाए मुहु ल करे लाल
ज्यादा मया झन करबे
हो जाही जीव के काल रे
खाए ल बीरो पान

मोर मोती दौना खड़े हे कुआ पार गा
बोलत नई हे
मोर मोती दौना खड़े हे कुआ पार गा
बोलत नई हे

मुड़े रे कोरे लिए ले लाली
मुड़े रे कोरे लिए ले लाली
बखरी ले ढ़ेला मारे पिरीत वाली
हो खाए ल बीरो पान
मोर कोदो माली खड़े हे कुआ पार वो
बोलत नई हे
मोर कोदो माली खड़े हे कुआ पार वो
बोलत नई हे

मोर मोती दौना खड़े हे कुआ पार गा
बोलत नई हे
मोर कोदो माली खड़े हे कुआ पार वो
बोलत नई हे

मोर मोती दौना खड़े हे कुआ पार गा
बोलत नई हे
मोर कोदो माली खड़े हे कुआ पार वो
बोलत नई हे

Conclusion

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको हमारी यह लेख YA JHULNI MA JHUL BHUPENDRA SAHU Old CG Song Lyrics जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

hi.wikipedia.org/wiki

YA JHULNI MA JHUL BHUPENDRA SAHU Old CG Song Lyrics

Join our Telegram Group

Join our Facebook Group

   Join Whatsapp Group

Leave a Comment