एंड्रॉइड रूट क्या है? एंड्राइड रुट से लाभ व हानि क्या है? पूरी जानकारी

दोस्तों क्या आप जानते है एंड्रॉइड रूट क्या है? और Android Mobile Root Kaise Kare ?. अगर नही तो इस पोस्ट में हम मोबाइल रुट के बारे में विस्तार से समझेंगे। साथ साथ Android Mobile Root Karne ke Fayde Or Nukshan के बारे में हम आपको आसान भाषा मे जानेंगे। आइये बिना समय बर्बाद करे जाने What Is Android Mobile Root In Hindi.

Android Operating System से तो आप सभी वकिफ है जो आज कल हर मोबाइल में आप देख सकते है ये ऑपरेटिंग सिस्टम Google Company द्वारा बनाया गया है सभी एंड्राइड फ़ोन में आपको अनेको फीचर मिलते है लेकिन कुछ फीचरस जिनको आप बिना Mobile Root करे नहीं कर सकते जैसे की Mobile Screen को Record करना (Screen Record) , फ़ोन अपग्रेड (phone upgrade) करना और भी अनेको एसे फीचर है Android Mobile में जिन्हें आप बिना रूट करे नहीं इसतिमाल कर सकते हैं

अक्सर हम Android Phone Root के बारे में सुनते है। पर क्या आप जानते है मोबाइल रुट क्या है? (What is Mobile Root in Hindi?) एंड्राइड फ़ोन रुट के फायदे और नुकशान क्या है? अगर नही तो इस पोस्ट में हम Android Phone Root के संबंधित पूरी जानकारी देंगे और साथ मे ये भी जानेंगे कि एंड्राइड फ़ोन रुट कैसे करे? तो आइए जानते है Mobile Root के बारे मे.

 

एंड्रॉइड रूट क्या है? एंड्राइड रुट से लाभ व हानि क्या है? पूरी जानकारी
TEJWIKI.IN

 

एंड्रॉइड रूट क्या है? (What is Android Root)

 

जब कोई company एक software बनता है तो इसके साथ कुछ limitations भी add कर देता है, ताकि इसका कोई गलत इस्तिमाल ना कर सके. एंड्राइड एक Linux based operating system है. अगर अपने कभी Linux use किया है तो आपको जरुर पता होगा के ये एक open source OS है और ज्यादातर लोग इसे security और hacking केलिए इस्तिमाल किया करते है.

आप अपनी एंड्राइड smartphone में भी ऐसे बहुत सारे काम कर सकते है, अगर वो root किया गया हो तो. Root का मतलब होता है जड़; ये आपको एंड्राइड के जड़ तक पहुँचाने में मदद करता है. बिना root का Android phone में आप ये सब नहीं कर सकते. क्यूँ की आपको उसके system files को access करने का permission नहीं होता.

 

 

जब आप computer में कोई software के ऊपर right-click करते है तो आपको “Run as administrator” का option आता है. ऐसे ही जब आप अपनी mobile को root कर देते है तो आप अपनी phone को एक administrator power से use कर पाएंगे. आप ये भी कह सकते है के rooted Android smartphone में आपको कुछ भी करने की आज़ादी है. क्यूँ की root से उसके सारे limitations हट जाते है.

 

Android Phone को Root कैसे करें ? (How to Root Android Phone)

 

अपने Android Phone को हम दो तरीकों से root कर सकते हैं. पहले computer की मदद से और दूसरा बिना computer के मदद से. इनमें से बिना computer के मदद से Android Phone को root करना बहुत ही आसान काम है और इसे कोई भी कर सकता है. इसके लिए आप KingRoot App का इस्तमाल कर सकते हैं.

Step #1 सबसे पहले आपको Kingroot के official website में जाकर kingroot के latest version को download करना होगा.

Step #2 यदि आपने कभी पहले internet से app download नहीं किया है तब आपको इसके लिए अपने phone में कुछ setting change करना होगा ताकि वो app आसानी से install हो सके.

Step #3 इसके लिए आपको phone के setting में जाना होगा फिर security में click करना होगा. इसके बाद unknown sources के option में जाकर उसे allow करना होगा. इसके पश्चात आप आसानी से कोई भी app install कर सकते हैं.

Step #4 यहाँ पर Kingroot को install कर लें.

Step #5 इसे install करने के बाद आपको “root access unavailable” का status दिखायेगा और उसके निचे आपको “Get Now” का button भी दिखेगा जिसे आपको click करना है. इस click करने पर rooting चालू हो जायेगा और 97% में रुक जायेगा.

Step #6 इसके बाद आपको continue में click करना है. इससे app का purify system download होने लगेगा.

Step#7 Download complete हो जाने पर आपका phone पूरी तरह से root हो जायेगा. इसके बाद status में “optimal state” लिखा नज़र आएगा.

 

Android Phone Root है की नहीं Check कैसे करें ? (How To Check Android Phone Is Rooted Or Not)

 

ये सवाल आपके मन में जरुर आया होगा की मैंने अपने phone को root तो कर लिए लेकिन हमे कैसे पता चले की अपना Android Phone root है की नहीं check कैसे करें. इसका जवाब बहुत ही आसानी से दिया जा सकता है. क्यूंकि Google के Playstore में एक App है जिसका नाम है Root Checker जिसके इस्तमाल से आप अपने phone के root status के विषय में जान सकते हैं.

इसमें अगर आपका phone rooted होगा तब ये आपको green colour status दिखायेगा और लिखेगा की Root access is properly installed.

वहीँ अगर आपका phone root नहीं हुआ हो तब यहाँ पर आपका Red colour status दिखायेगा और लिखेगा की Root access is not properly installed. इससे आपको अपने Android Phone का Root Status पता चल जायेगा.

 

क्या हमें एंड्राइड रुट करना चाहिए? (Should we root Android)

 

अगर आप अपने धीमे फ़ोन से परेशान है तो फ़ोन को रूट करके आप फालतू के Useless Apps को डिलीट कर सकते है तथा Custom ROM को Install कर सकते है, सामान्यत आपको रूट नहीं करना चाहिए क्यूंकि आपकी एक गलती आपके फ़ोन को Dead कर सकती है।

अगर आपको फ़ोन का सॉफ्टवेर पसंद नहीं है तो फ़ोन को रूट करने के बाद आप आसानी से किसी अन्य ROM को इनस्टॉल करके इससे अलग बना सकते है, एंड्रॉइड रूट क्या है? फ़ोन की RAM बढ़ाना और फ़ोन में नये Font को इनस्टॉल करना, यह काम आप Android Phone Rooting के बाद कर पायेंगे।

इससे आपको एंड्राइड की तरफ से कोई भी Security Patch Updates और System Software के Updates नहीं मिलेगे और इससे आपके फ़ोन की Warranty भी ख़तम हो जाती है, अंत में यहीं कहूँगा अगर आपका फ़ोन पुराना है तो उससे रूट कर सकते है वरना आपको रूट करना नहीं चाहियें।

 

Mobile Phone को Unroot कैसे करे? (How to Unroot Mobile Phone)

 

यदि आप किन्हीं कारणों से अपने rooted mobile phone को unroot करना चाहते है तो आप बड़ी आसानी के साथ अपना mobile phone unroot कर सकते है. Mobile phone unroot करने के लिए आपको उस application में जाना होगा जिसकी सहायता से आपने अपने फ़ोन को रूट किया है.

  • App को ओपन करने के बाद app की सेटिंग में जाना होगा.
  • सेटिंग में आपको आपको एक आप्शन uninstall kingroot का मिलेगा. आपको uninstall kingroot पर क्लिक करना होगा.
  • Uninstall kingroot पर क्लिक करने बाद एक popup खुलेगा जिसमे आपको Continue पर क्लिक करना होगा.
  • Continue पर क्लिक करते ही app उनिन्स्ताल हो जायेगी और आपका mobile phone unroot हो जाएगा.

 

एंड्राइड रुट से लाभ क्या है? 9What is the advantage of Android Root)

 

Root करने के फायदे बहुत होते है. इसीलिए हर कोई जानना चाहता है Android rooting के बारे में. मैंने निचे कुछ महत्वपूर्ण points दिया है, जिससे आपको ये समझने में आसानी होगी के phone root करने से क्या होता है.

1# अपने Phone की Performance और Battery Life: अगर आपका mobile rooted है तो आप applications के मदद से इसको overclock करके इसकी performance को बाधा सकते है. साथ ही साथ underclock करके इसकी बैटरी लाइफ को increase भी कर सकते है. पर आपको ये दोनों एक साथ नहीं कर सकते. आपको इनमे से एक process को चुनना होगा. आप चाहे तो दोनों के बिच balance करके speed और battery दोनों को बाधा सकते है.

2# आप Incompatible Apps Install कर सकते हैं : कुछ पुराने apps नए एंड्राइड versions में काम नहीं करते. पर root की मदद से आप उन्हें भी चला सकते है. कुछ app पूरी तरह से ना चल पाए, पर कुछ हद तक चल जाते है.

3# System Apps Uninstall कर सकते हैं : जो apps आपके फ़ोन के साथ आते है उन्हें system apps कहा जाता है. ये apps को आप uninstall नहीं कर सकते. पर एक rooted mobile में ये सम्भब है.

4# बहुत से Root Only Apps Run कर सकते हैं : कुछ apps ऐसे भी है जो बिना root access के नहीं चलते. आप उन्हें आराम से चला सकते है और अपनी mobile का feature भी increase भी कर सकते है.

5# Customization कर सकते हैं : Custom ROM के मदद से आप अपनी mobile को एक नया look दे सकते है. इसके साथ साथ उसके icons, notification bar, color, font और ऐसे बहुत सारे elements को change कर पाएंगे.

6# आप Full Device Backup ले सकते हैं : Titanium Backup के नाम से एक application है. जिसके मदद से आप अपनी सारी data का backup ले पाएंगे. अगर मान लीजिये के कभी आपकी mobile में कुछ problem आ जाता है या फिर आप फ़ोन को format करते है, तब आप फिर से उसके पुराने की तरह कर पाएंगे.

 

 

 

एंड्राइड रुट से हानि क्या है? (What are the disadvantages of rooting Android)

 

हर सिक्के का दो पहलु होते है। इसी तरह हर काम का 2 नतीजा निकलता है. Android root बस फायेदे नहीं देता कुछ नुक्सान भी करता है. चलिए जानते है के वो सब क्या है.

 

1# आपका Phone ख़राब हो सकता है :

 

इसका मतलब आपका फ़ोन पूरी तरह से ख़राब हो सकता है. अगर आपका rooting technique ठीक से काम नहीं करता, तब आपका phone और boot नहीं लेता और एंड्राइड logo में रुक जाता है. अगर आप sure नहीं है तो आपको try नहीं करना चाहिए.

 

2# Rooting से Warranty नष्ट होती है :

 

हर phone एक साल की warranty के साथ आता है. अगर आप उसे root कर देते है, तो उसकी warranty चला जाता है. पर आपको डरने की कोई जरुरत नहीं. अगर आप उसे unroot कर देते है, तो warranty फिर से लागु हो जाता है. क्यूँ की service center वाले कभी भी पता नहीं कर पाएंगे के आपका phone पहले root किया गया था.

 

3# ज्यादा Update Issue होता है :

 

Root के साथ आप अपनी smartphone को कभी भी नया Android version को update नहीं कर सकते. आपको पहले unroot करना होगा, उसके बाद जाके आप उसके update कर पाएंगे. कभी कभी unroot करने के बाद भी update काम नहीं करता. इस case में आपको अपनी phone को format करना होगा. और एक problem है के update करने के बाद पहला rooting procedure आपके mobile में काम नहीं करता. हर एक नया एंड्राइड version के साथ एक नया rooting procedure आता है.

 

 

Conclusion

 

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख एंड्रॉइड रूट क्या है? एंड्राइड रुट से लाभ व हानि क्या है? पूरी जानकारी  जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

एंड्रॉइड रूट क्या है? एंड्राइड रुट से लाभ व हानि क्या है? पूरी जानकारी

 

Leave a Comment