CSC ka full form क्या है? CSC क्या है? सीएससी के प्रमुख कार्य क्या है?

दोस्तों CSC ka full form क्या है? :- CSC Full Form या मलतब Common Service Centre (कॉमन सर्विस सेंटर्स) होता है। सीएससी का फुल फॉर्म हिंदी में सार्वजनिक सेवा केंद्र या जन सेवा केंद्र है। यह सेवा डिजिटल इंडिया योजना के तहत शुरू की गई एक महत्वपूर्ण सेवा है। जो बहुत सारी आवश्यक जन सेवाओं को देश के ग्रामीण और दूरदराज के उन जगहों पर मुहैया करवाता है, जहां आज भी आधुनिक सेवाएं जैसे- इंटरनेट और कंप्यूटर की सही सुविधा उपलब्ध नहीं है।

कॉमन सर्विस सेंटर के माध्यम से केंद्र सरकार द्वारा प्रदान की गई सुविधाओं को जन-समुदाय तक पहुँचाया जाता है। CSC को संचालित करने वाले को VLE (Village Level Entrepreneur) कहा जाता है। भारत सरकार की ओर से आम नागरिकों को बहुत सी ई-सेवाएं प्रदान की जा रही है ताकि उन्हें ज्यादा परेशान न होना पड़े, लेकिन आज भी भारत में कई ऐसे पिछड़े गांव एवं कस्बे है जहां इंटरनेट की सही सुविधा उपलब्ध नहीं है, ऐसी जगहों पर सीएससी सेंटर E-Service प्रदान कर रहे है।

 

अगर आप भारत सरकार के साथ मिलकर अपने घर पर ही व्यवसाय करना चाहते है, तो आप सभी के लिए CSC Centre खोलना बहुत ही फायदेमंद साबित हो सकता है। भारत सरकार द्वारा देश भर में बहुत सारे CSC Service Center खोले गए है और अभी भी खोले जा रहे है।

अगर आप भी CSC खोलने की चाह रखते है तो इससे पहले आपको सीएससी सेंटर खोलने से जुड़ी सभी आवश्यक जानकारी प्राप्त कर लेना चाहिए जैसे- CSC Kya Hai, CSC Ka Full Form in Hindi, CSC में क्या काम होता है, इसे खोलने के योग्यता क्या चाहिए एवं इसमें रजिस्ट्रेशन करने की प्रोसेस क्या है आदि।

 

CSC ka full form क्या है? CSC क्या है? सीएससी के प्रमुख कार्य क्या है?
TEJWIKI.IN

 

CSC क्या है?

 

CSC भारत सरकार के आईटी मंत्रालय (इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौधोगिकी मंत्रालय) द्वारा चलाया गया एक E-Program है, जिसका उद्देश्य स्थानीय लोगों को विभिन्न सरकारी सुविधाएँ और योजनाएं से लाभान्वित कराना है। CSC (कॉमन सर्विस सेंटर) एक जन सेवा केंद्र है जिसके माध्यम से केंद्र सरकार द्वारा प्रदान की गई ई-सेवाओं को भारत के गांवों और कस्बों में बसे जन-समुदाय तक पहुँचाया जाता है।

कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) को किसी भी पंजीकृत इंटरप्रेन्योर द्वारा गाँव के स्तर पर चलाया जाता है। अब कोई भी व्यक्ति अपने गांव एवं कस्बें में खुद का CSC Centre शुरू कर सकता है। आज का युग डिजिटल का है और अब हर काम ऑनलाइन होते जा रहा है। सरकार अपनी डिजिटल इंडिया योजना को साकार करने की और कदम बढ़ाते हुए है, यही चाह रही है कि जितना काम Online हो सके उतना अच्छा है। इससे लोगों के समय की भी बचत होगी और काम भी आसान तरीके से हो सकेंगे।

हमारी Economy Paperless हो जाये, लेकिन Paperless और Cashless के बारे में जितना भी हम पढ़ते हैं, उस Economy को भारत जैसी बड़ी आबादी वाले देश में करना इतना आसान नही है। क्योंकि इन सब को करने के लिए बहुत सारे लोगों की जरूरत होगी, इसीलिए भारत सरकार ने CSC नाम की योजना लॉन्च की है।

 

सेवा का नाम CSC Digital Seva
शुरुआत की गई भारत सरकार द्वारा
लाभार्थी भारत के नागरिक
पंजीकरण प्रक्रिया ऑनलाइन
उद्देश्य विभिन्न प्रकार की ऑनलाइन एवं ई-सेवाएं उपलब्ध कराना
श्रेणी केंद्र एवं राज्य सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइट https://register.csc.gov.in/

 

CSC ka full form क्या है? (What is the full form of CSC)

 

सीएससी का फुल फॉर्म हिंदी में सर्व सेवा केंद्र होता है। कॉमन सर्विस सेंटर्स डिजिटल इंडिया मूवमेंट को साकार करने के उद्देश्य से बनाया गया अति महत्वपूर्ण सेंटर है, जो बहुत सारे एसेंशियल पब्लिक यूटिलिटी सर्विस को देश के रूरल और दूरदराज के उन जगहों पर मुहैया करवाता है, जहां आज भी इंटरनेट और कंप्यूटर की सही सुविधा उपलब्ध नहीं है।

भारत सरकार की तरफ से आज बहुत सारी इ-सेवाएं आम लोगों के लिए दी जा रही है, लेकिन आज भी भारत के कई ऐसे गांव और कस्बे हैं, जहां इंटरनेट की सही सुविधा उपलब्ध नहीं है, तो वहां कॉमन सर्विस सेंटर लोगों को भारत सरकार की तरफ से दी जाने वाली, सभी e-service सेवाओं को प्रदान कर रहे हैं।

कॉमन सर्विस सेंटर्स को इस तरह से प्लान किया गया है, कि वह एक ही जगह पर बहुत सारे जरूरी सेवाओं को लोगों तक पहुंचा सके। सीएससी की शुरुआत भारत सरकार द्वारा 2006 में नेशनल ई गवर्नेंस प्लान के तहत की गई थी, और इस जरूरी सेवा को सही तरह से मैनेज करने के लिए सीएससी e-governance सर्विसेज इंडिया लिमिटेड की स्थापना 16 जुलाई 2009 को की गई।

 

 

सीएससी यानि कॉमन सर्विस सेंटर पूरे देश में एक समान काम करता है, और किसी राज्य या क्षेत्र के भगौलिक, सांस्कृतिक और भाषाई विविधता से इस पर कोई फर्क नहीं पड़ता है।

और यह भारत सरकार के सामाजिक, आर्थिक और डिजिटल रूप से समावेशी देश के उदेश्य को, सक्षम बनाता है।

2020 में जब कोरोना के कारण लोग काफी परेशान थे, तब कॉमन सर्विस सेंटर्स ने सरकार की कई वेलफेयर स्कीम्स को लोगों तक पहुंचाने में काफी मदद की।

कुछ प्रमुख एसेंशियल पब्लिक यूटिलिटी सर्विसेज जो सीएसी द्वारा लोगों तक आसानी से पहुंच रहा है, यह सब है-

 

  • सोशल वेलफेयर स्कीम
  • फाइनेंसियल
  • एग्रीकल्चरल सर्विसेज
  • एजुकेशनल सर्विसेज
  • मोबाइल रिलेटेड सर्विसेज
  • हेल्थ केयर सर्विसेज
  • इंसुरेंस

 

CSC (सीएससी) के उद्देश्य (Objectives of CSC)

 

सीएससी शुरू करने का भारत सरकार का उद्देश्य पूरे देश में किसी सेवा को समान रूप से लागू करना है

कुछ अन्य प्रमुख उद्देश्यों की बात करें तो यह सब है-

  • पब्लिक सर्विसेज को लोगों तक सही ढंग से पहुंचाना
  • लोगों तक जरूरी इंफॉर्मेशन पहुंचाना
  • लोगों को digitalization से जोड़ना
  • रूरल एंटरप्रेन्योरशिप को बढ़ावा देने के लिए जरूरी कदम उठाना
  • लोगों तक स्किल अपग्रेडेशन और क्वालिटी एजुकेशन को पहुंचाना
  • लोगों तक हेल्थ सर्विसेस इंफॉर्मेशन को पहुंचाना

 

सीएससी के प्रमुख कार्य (Major Functions of CSC)

 

आज किसी भी कॉमन सर्विस सेंटर पर बहुत सारे सेवाओं को प्रदान किया जाता है, जिनमें से कुछ प्रमुख निम्न है-

 

गवर्नमेंट टू सिटीजन (G2C)

 

आम लोगों के लिए भारत सरकार और राज्य सरकार द्वारा चलाए जाने वाले कई तरह की सेवाओं को, डिजिटल माध्यम से लोगों तक पहुंचाना CSC का महत्वपूर्ण काम है।

B2C यानी बिजनेस टू कस्टमर सेवा का लाभ भी सीएससी पर उठाया जा सकता है।

 

भारत बिल पे-

 

भारत बिल पे सीएससी पर उपलब्ध महत्वपूर्ण सेवाओं में से एक है, जिसका उपयोग कर कोई भी व्यक्ति अपने किसी तरह के बिल का भुगतान कर सकते हैं, चाहे इलेक्ट्रिसिटी बिल हो, मोबाइल रिचार्ज हो, मोबाइल बिल पेमेंट हो, ब्रॉडबैंड एंड लैंडलाइन बिल पेमेंट हो, डीटीएच रिचार्ज हो, गैस बिल हो, वाटर बिल हो, सब कुछ एक ही जगह से सुरक्षित और भरोसेमंद ढंग से किया जा सकता है।

 

पासपोर्ट सेवा-

 

भारत सरकार की मिनिस्ट्री ऑफ़ एक्सटर्नल अफेयर्स ने सीएससी के साथ पार्टनरशिप किया है, जिसके तहत आम लोग सीएससी सेंटर से ही पासपोर्ट के लिए अप्लाई कर सकते हैं, फीस का पेमेंट और अपने अपॉइंटमेंट को schedule कर सकते हैं।
यह एक अति महत्वपूर्ण सेवा है, जिसके लिए अब आप लोगों को किसी बड़े शहर में जाने की जरूरत नहीं है।

 

पैन कार्ड सेवा-

 

सीएससी सेंटर के माध्यम से कोई भी व्यक्ति नए पैन कार्ड के लिए अप्लाई कर सकते हैं, या अपने पुराने पैन कार्ड में किसी तरह के बदलाव के लिए भी अप्लाई कर सकते हैं।

 

फास्टैग सेवाएं-

 

2020 से ही सभी तरह के चार पहिया वाहनों के लिए फास्ट टैग का प्रयोग करना अनिवार्य कर दिया गया है।
कॉमन सर्विस सेंटर पर फास्ट टैग प्राप्त किया जा सकता है, जिसके माध्यम से किसी भी हाईवे पर टोल का पेमेंट अपने आप होता रहेगा।

 

जॉब एप्लीकेशन सर्विसेज-

 

कई तरह की सरकारी और प्राइवेट नौकरियों के लिए लोग सीएससी के माध्यम से अप्लाई कर सकते हैं साथ में गांव में काम करने वाले लोग अपना मनरेगा कार्ड भी सीएससी के माध्यम से बना सकते हैं।

 

कृषि से जुड़ी सेवाएं-

 

कृषि से जुड़ी कई तरह की सेवाओं का लाभ भी सीएससी पर उठाया जा सकता है जैसे कि अपनी फसल को बेचने के लिए जरूरी प्रबंध करवाना फसल का सही दाम जानना भूमि हेल्थ कार्ड बनवाना मौसम की सही जानकारी प्राप्त करना आदि।

 

इंश्योरेंस सेवाएं-

 

सभी तरह की गलती इंश्योरेंस सेवाओं का लाभ भी कॉमन सर्विस सेंटर पर उठाया जा सकता है
चाहे नया बीमा लेना हो या अपने बीमा की प्रीमियम का पेमेंट करना हो सब कुछ आसानी से सीएससी पर हो जाता है।

किसानों को अपने फसलों का बीमा कराने के लिए भी अब कहीं और जाने की जरूरत नहीं होती है और किसान फसल बीमा योजना का लाभ भी सीएससी पर ही ले पाते हैं

 

इलेक्शन कमिशन सर्विसेज-

 

इलेक्शन कमिशन से जुड़ी कई तरह की सेवाएं जैसे कि वोटर लिस्ट में नाम जोड़ना या अपने वोटर आईडी में कोई सुधार करवाना आदि सेवाओं का लाभ भी सीएससी पर लिया जा सकता है।

 

ट्रैवल बुकिंग सर्विसेज-

 

अलग-अलग तरह की ट्रैवल बुकिंग जैसे कि बस टिकट ट्रेन टिकट हवाई जहाज टिकट की बुकिंग भी सीएससी से की जा सकती है।

 

CSC की विशेषताएं (Features of CSC)

 

  • ग्रामीण विकास पर फोकस।
  • निजी क्षेत्रों में सेवाएँ प्रदान करना।
  • जन सेवा केंद्र का सबसे बड़ा फायदा यह है, की वह सरकारी दफ्तरों से काफी दूर होता है और आम लोगों के सबसे करीब होता है।
  • आपको यहाँ पर बिना किसी भ्रष्टाचार और परेशानी के सेवा आसानी से मिल जाती है।
  • CSC के द्वारा आप कोई भी फॉर्म्स आसानी से भर सकते हैं।
  • CSC का एक और लाभ यह होता है, की इसमे लोगों का समय और पैसा दोनों बच जाता है।

 

कोई व्यक्ति कैसे नया सीएससी खोल सकता है? (How can a person open a new CSC)

 

कोई भी इच्छुक व्यक्ति जिसने कम से कम 10 वीं तक की पढ़ाई की है, और जिसे कंप्यूटर का बेसिक नॉलेज हासिल है, नए सीएससी के लिए VLE लिए यानी विलेज लेबल entrepreneur के लिए रजिस्टर कर सकते हैं।

रजिस्ट्रेशन के लिए आपको नीचे बताए गए लिंक पर क्लिक करना होगा-

register.csc.gov.in

नया CSC (सीएससी) खोलने के लिए कम से कम 200 स्क्वायर फीट की जगह की जरूरत होती है और एक अच्छे कंफीग्रेशन के साथ कंप्यूटर जिसमें इंटरनेट कनेक्टिविटी हो।

सीएससी खोलकर कोई व्यक्ति खुद के लिए रोजगार हासिल कर सकता है CSC ka full form और अपने आसपास के लोगों को भी इस डिजिटल माध्यम से बहुत सारी जरूरी सेवाओं को मुहैया करवा सकता है।

भारत सरकार का लक्ष्य है कि हर पंचायत में कम से कम एक कॉमन सर्विस सेंटर जरूर हो और आगे चलकर इसे हर गांव के स्तर पर खोलना है।

 

 

आप CSC Center से पैसा कैसे कमा सकते है? (How can you earn money from CSC Center)

 

दोस्तों अगर आप सीएससी सेंटर खोल के आप ज्यादा ज्यादा पैसे कमाना चाहते हैं तो आप सीएससी सेंटर खोल सकते हैं जहां आप 10 से ₹15000 प्रति महीने कमा सकते हैं

इसमें आप लोगों को प्रति महीने जितना भी आप फॉर्म फिल करेंगे उतना ही आपको कमीशन मिलेगा जो कि आप जाकर csc.gov.in साइट पर अपना विवरण देख सकते हैं

और इस पैसे को अपने बैंक अकाउंट में ट्रांसफर भी कर सकते हैं तो अभी तक आपने सीएससी अकाउंट नहीं ओपन किया है तो आप इस लिंक पर क्लिक करके सीएससी अकाउंट ओपन कर सकते हैं

 

CSC के लिए महत्वपूर्ण बिंदु (Important Points for CSC)

 
यदि आप common service center खोलना चाहते हो तो उसके लिए आपके पास कुछ जरूरी चीजें होनी चाहिए यह चीजें आपको जनसेवा केंद्र चलाने में काफी मदद करती हैं, यदि यह चीज आपके पास हो गए तो आप बड़ी ही आसानी के साथ अपना जनसेवा केंद्र चला सकते हैं।

  • सबसे पहले आपके पास computer या laptop होना आवश्यक हैं।
  • आपके पास एक अच्छा Internet connection होना चाहिए।
  • आपके पास एक colorful printer होना चाहिए।
  • एक या दो fingerprint senser होना चाहिए।
  • आपके पास बैटरी backup होना चाहिए।
  • आपके पास online payment ( Paytm, UPI ) करने का तरीका होना चाहिए।

यह कुछ चीजें हैं और इसके अलावा बहुत ऐसी चीजें है जो कि आपके पास होनी चाहिए. जिनको आपको ध्यान रखना चाहिए अगर आप एक जनसेवा केंद्र को खोलना चाहते हो तो क्योंकि यह सभी चीजें आपको जन सेवा केंद्र को चलाने में काफी मदद करती हैं।

 

FAQ-CSC सेंटर पर अक्सर पूछे जाने वाले सवाल जवाब :-

 

1 . CSC केंद्र पंजीकरण के प्रकार क्या हैं?

  • सीएससी VLE
  • SHG (स्वयं सहायता ग्रुप)
  • RDD (ग्रामीण विकास विभाग)

2. CSC Center खोलने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए?

  • आयु 18 वर्ष या उससे अधिक
  • 10th पास
  • भारत का नागरिक

3. CSC डिजिटल सेवा Toll Free Number क्या है?

  • CSC Toll Free Number – 1800 121 3468
  • All India Number:
  • 011-2430 1349 (VLE के लिए)
  • 011-4975 4924 (Non VLE के लिए)
  • 011 4975 4923 (सामान्य पूछताछ के लिए)

 

 

Conclusion

  

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख CSC ka full form क्या है? CSC क्या है? सीएससी के प्रमुख कार्य क्या है? जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

CSC ka full form क्या है? CSC क्या है? सीएससी के प्रमुख कार्य क्या है?

 

Join our Facebook Group

 

Leave a Comment