Two Step Verification क्या होता है? टू स्टेप वेरिफिकेशन कैसे करते हैं?

दोस्तों आप जितने भी Social Media App Use करते है लगभग सभी में Two Step Verification क्या होता है?  लेकिन आपको इसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होती है और आप इसका लाभ नहीं उठा पाते है, अगर आप Two Step Verification के बारे में विस्तार से जानना चाहते है तो यह पोस्ट आपके लिए बहुत Useful होने वाली है।

Two Step Verification क्या होता है इसे जानने से पहले हमे इस बारे में जानना होगा कि Two Step Verification की जरूरत क्यों पड़ी? मान लीजिए किसी व्यक्ति को आपकी किसी Social Media का पासवर्ड पता है तो वह आसानी से आपकी Id पर Login कर सकता है और आपकी Chats, Data देख सकता है यहां तक की आपके अकाउंट को हैक भी कर सकता है।

कई लोगो का स्ट्रॉन्ग पासवर्ड नही होता था तो उन्हे यह Problem का सामना पड़ता था। इसी को ध्यान में रखते हुए Two Step Verification को Introduce कराया गया है। Two Step Verification को Two Factor Authentication भी कहते है।

 

Two Step Verification क्या होता है? टू स्टेप वेरिफिकेशन कैसे करते हैं?
TEJWIKI.IN

 

Two Step Verification क्या होता है? (What is Two Step Verification)

 

Two Step Verification एक ऐसी Online प्रक्रिया है, जिससे आप अपने किसी Social Media Platform पर दो Security लेयर लगा सकते है, अर्थात अगर आप अपने Social Platform पर Two Step Verification लगा लेते है तो आप जब भी आपने Account पर Login करेंगे, तो आपको Password तो डालना ही होगा साथ ही आपके नंबर या जीमेल पर एक OTP आता है जोकि आपको Password के बाद डालना होगा तभी आप Login कर पाएंगे। Two Step Verification एक ऐसी सुरक्षा लेयर होती है जिससे आप अपने किसी भी Account को और भी ज्यादा Secure कर सकते है।

 

 

इससे अगर किसी व्यक्ति को आपका Password भी पता हो तो वह बिना OTP के Login नही कर पायेगा और जब आपके Number पर OTP आयेगा तो आपको भी पता चल जायेगा कि कोई Third Party आपके Account पर Login करने की कोशिश कर रहा है।

सभी लोग अपनी प्राइवेसी को लेकर काफी अवेयर रहते है कि कही कोई आपके Mobile से Data चुराकर या पढ़कर आपकी प्राइवेसी में हस्तक्षेप तो नही कर रहा है। Two Step Verification से प्राइवेसी काफी हद तक सुरक्षित की जा सकती है। Two Step Verification ऐसा ही एक तरीका है जिससे आप अपनी प्राइवेसी को और अधिक Secure कर सकते है।

 

टु स्टेप वेरिफिकेशन का उपयोग कैसे किया जाता हैं। (How to use Two Step Verification)

 

टु स्टेप वेरिफिकेशन का प्रयोग करने के लिए सबसे पहले हमें अपने एकाउंट्स में इसका सेटअप करना होता हैं जिसमे पहले ईमेल या मोबाइल नंबर और पासवर्ड के द्वारा लॉगिन करने के बाद सेटिंग में जाकर इसका सेटअप करना होता हैं।

इसके लिए हमे अपने मोबाइल नंबर की आवयश्कता होती हैं जिसमे फर्स्ट टाइम सेटअप के दौरान मोबाइल नंबर पर ओ टी पी (OTP – One Time (Password) आता हैं उसे फिल करने के बाद नंबर वेरिफाइड हो जाता हैं।

 

इसके बाद हम कभी भी अपने टु स्टेप वेरिफिकेशन सेटअप किये हुए अकाउंट को कही भी लॉगिन करते हैं तो पासवर्ड एंटर करने के बाद हमारे मोबाइल नंबर पर ओ टी पी आता हैं उसे देने के बाद हम अपने अकाउंट में लॉगिन कर सकते हैं।

 

 टू स्टेप वेरीफिकेशन को अपने मोबाइल में कैसे बंद करें? (How to turn off Two Step Verification in your mobile)

 

Google 2 Step Verification को अपने मोबाइल में बंद करने के लिए नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें।

  • अपने फोन पर सेटिंग्स में जाएं और गूगल अकाउंट पर क्लिक करें।
  • सबसे ऊपर आपको सिक्योरिटी पर क्लिक करना पड़ेगा।
  • साइन इनटू गूगल  मैं जाकर टू स्टेप वेरीफिकेशन पर क्लिक करें।
  • टर्न ऑफ पर क्लिक करें।

 इससे आपका टू स्टेप वेरीफिकेशन बंद हो जाएगा।

 

2 (Two) Step वेरिफिकेशन के क्या लाभ हैं। (What are the benefits of 2 (Two) Step Verification)

 

1 . इसके द्वारा हम अपने अकाउंट को डबल सिक्योर रख सकते हैं । यह सेटअप होने के बाद अकाउंट हैक होने के चान्सेस ना के बराबर होता हैं क्युकी अगर कोई हैकर आपके अकाउंट को एक्सेस करने के लिए जैसे ही आपके अकाउंट को लॉगिन करने की कोशिश करेगा तो आपके मोबाइल नंबर पर ओ टी पी आएगा।

 

जिससे उसे ओ टी पी नहीं मिल पाने के कारण वह लॉगिन नहीं कर पायेगा और आप भी अलर्ट भी हो जायेगे की कोई आपके अकाउंट को एक्सेस करने की कोशिश कर रहा है तो आप चाहे तो अपने अकाउंट में लॉगिन करके अपने अकाउंट का पासवर्ड भी चेंज कर सकते हैं।

 

Two Step Verification से हानि हैं। (There are disadvantages with Two Step Verification)

 

1. टु स्टेप वेरिफिकेशन के कुछ नुकसान भी हैं। जैसे की टु स्टेप वेरिफिकेशन इनेबल होने पर जब भी आप अपने अकाउंट को लॉगिन करना चाहेंगे तो आपको अपना मोबाइल पास में ही रखना होगा जिससे की मोबाइल में ओ टी पी आने पर आप आसानी से OTP फिल कर पाए।

 

2. सिम या मोबाइल खो जाने पर अकाउंट में लॉगिन करने में प्रॉब्लम हो सकती हैं। आपको अपने पुराने नंबर को दुबारा एक्टिवेट करना पड़ेगा जिससे आपके नंबर पर OTP आने में कोई परेशानी नहीं हो।

 

 

Whatsapp 2 Step Verification क्यों जरुरी हैं (Why Whatsapp 2 Step Verification is Important)

 

Whatsapp two step verification meaning in hindi क्या होता हैं ये तो आप समझ गए होंगे। लेकिन ये क्यों जरुरी हैं इसके बारे में भी जानना जरुरी हैं। Whatsapp 2 Step Verification को Enable करने के बाद आपके व्हाट्सप्प को कोई भी अपने मोबाइल में नहीं चला पायेगा।

इसके अलावा आपका सिम कार्ड कही खो जाता हैं और किसी दूसरे को वो सिम कार्ड मिल जाता हैं तो वो आपके नंबर से Whatsapp अपने मोबाइल में चालू कर देगा तो हो सकता हैं आप अपने रिलेटिव या किसी से भी बात करते हो और वो आपको समझकर उससे बात करने लग जाये तो आपके और आपके रिलेटिव के लिए बहुत बड़ी प्रॉब्लम हो सकती हैं। Two Step Verification क्या होता है? ऐसे में अगर आप इस फीचर को ऑन कर लेते हैं। तो

जब तक 6 डिजिट का वेरिफिकेशन पिन उसे पता नहीं होगा। क्योंकि व्हाट्सप्प पर नंबर रजिस्टर करने के बाद OTP डालना पड़ता है और उसके बाद 6 Digit का वेरिफिकेशन पिन डालना पड़ता हैं और कई बार तो जब आप अपने मोबाइल में Whatsapp ओपन करते हैं तो भी इस पिन को डालना पड़ता हैं।

सीधा-सीधा कहे तो व्हाट्सप्प को हैक होने से बचाने या दुसरो के मोबाइल में ओपन होने से बचाने के लिए 2 स्टेप वेरिफिकेशन जरुरी हैं।

 

FAQ-अक्सर पूछे जाने वाले सवाल जवाब :-

 

1. Two Step Verification लगाना जरूरी है या नही?

 

हां, अगर आप अपने Data और प्राइवेसी को सुरक्षित रखना चाहते है तो आपको Two Step Verification का Use ज़रूर करना चाहिए।

 

2. Two Step Verification लगाने वाले App?

 

Two Step Verification लगाने के लिए आप और भी कई Apps का Use कर सकते हैं।
1. Microsoft Authenticator
2. Twilio Authy (2-Factor Authenticator)
3. 2FA Authenticator
4. Google Authenticator

 

3. Google Authenticator क्या है?

 

Google Authenticator एक Two Step Verification App है, जिसे Google द्वारा बनाया गया है। अगर आप अपने किसी अकाउंट को Google Authenticator से Connect करते है तो उस Account पर Login करते समय Google Authenticator पर OTP आता है, जिसे डालने के बाद ही आप Login कर पाएंगे।

 

 

Conclusion

  

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख Two Step Verification क्या होता है? टू स्टेप वेरिफिकेशन कैसे करते हैं? जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

Two Step Verification क्या होता है? टू स्टेप वेरिफिकेशन कैसे करते हैं?

 

Leave a Comment