Web Browser क्या है और Web ब्राउज़र कैसे काम करता है?

ऑनलाइन सूचनाओं को प्राप्त करने के लिए हम इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं और हर और Web Browser क्या है हर रोज़ कई जानकारियां निकालते हैं इसीलिए आज हम जानेंगे की वेब ब्राउज़र क्या है (What is web browser in hindi). इंटरनेट क्या है ये शायद ही  किसी को ना मालुम हो जिसके पास भी स्मार्टफोन है वो रोज़ कई जानकारी निकालने के लिए इंटरनेट सर्फिंग या ब्राउज़िंग करते हैं.

इस तरह हम दुनिया से जुड़ पाते हैं और इसके अलावा भी कई सारे काम कर लेते हैं. चाहे वो किसी भी competetive एग्जाम के लिए फॉर्म भरना हो या फिर किसी जॉब के लिए आवेदन करना हो. लेकिन क्या आपको मालूम है की आखिर इंटरनेट से जुड़ने के लिए हम किस माध्यम का इस्तेमाल करते हैं अगर नहीं जानते तो इसे पढ़ते पढ़ते आप पूरी तरह समझ जायेंगे की वेब ब्राउज़र कैसे काम करता है. इसकी क्या विशेषता है और इसके कितने प्रकार हैं.

इस के अलावा भी हम आपको सामान्य तौर पर इस्तेमाल होने वाले वेब ब्राउज़र की लिस्ट भी देंगे. सिर्फ इंटरनेट से जुड़ जाने से  में इंटरनेट नहीं चलता बल्कि ऐसे ॉफ्टवारे की जरुरत पड़ती है जो इंटरनेट से कनेक्टिविटी क्र पाने में सक्षम होते हैं. आप मोबाइल में कई ऐसे एप्प्स देखते होंगे जो इंटरनेट से जुड़ कर ही काम करते हैं जैसे व्हाट्सएप्प, यूट्यूब एप्प लेकिन आप मुझे बताएं की क्या आप इन एप्प्स  में किसी वेबसाइट को खोल सकते हैं? तो जवाब होगा नहीं इसके लिए हमे एक ब्राउज़र की जरुरत तो पड़ती है. तो चलिए अब जान ही लेते हैं की आखिर ये वेब ब्राउज़र क्या होता है (What is web browser in Hindi) और साथ ही ये भी जानते हैं की इसकी परिभाषा क्या है (definition of web browser in Hindi language).
Web Browser क्या है और Web ब्राउज़र कैसे काम करता है?(In Hindi)
TEJWIKI.IN

वेब ब्राउज़र क्या है? Web Browser Definition in Hindi

 

Web browser एक application software है. यह एक device में installed होकर रहता है. जब वो device Internet से जुड़ता है तब ये web browser काम करना शुरू करता है. Internet और web browser एक दुसरे से जुड़े हुए हैं. बिना internet के ना हम web browser का इस्तेमाल कर सकते हैं और ना ही बिना web browser के Internet हमारे किसी काम आ सकता है.

Internet की दुनिया में ये web browser users के लिए एक दरवाजे की तरह काम करता है जो हमें उस दुनिया तक लेकर जाता है. Web browser की मदद से हम internet पर मौजूद बहुत सारे web pages को देख सकते हैं और ये उनके फाइलों और दुसरे contents जैसे video, images और text का अनुवाद करता है और हमारे device के screen पर उसे दिखाता है.

हमें सिर्फ browser के address bar पर उस webpage का url डालना है जहाँ से हमें जानकारी प्राप्त करनी है उसके बाद browser उस web page को हमारे screen पर दिखा देता है. Web browser हमें World Wide Web की दुनिया में पहुंचाता है जहाँ सभी contents computer की भाषा में होती है जिसे हम HTML कहते हैं. Web browser computer की इस भाषा को translate करता है ताकि Internet users आसानी से contents को पढ़ सकें. कुछ कुछ web browsers सिर्फ text को translate कर पाते हैं और कुछ browsers graphics और animation भी support करते हैं और उन्हें translate कर पाते हैं.

 

 

वेब ब्राउजर क्या होता है? (What is web browser)

 

वेब ब्राउजर एक प्रकार का सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम है जिसके माध्यम से हम दुनिया की किसी भी वेबसाइट या सर्वर पर उपलब्ध जानकारी अपने कंप्यूटर या मोबाईल मे देख सकते है, वेब ब्राउजर मशीनी भाषा को इंसानी भाषा मे बदलने का काम करते है। 

वेब पेज HTML कंप्यूटर भाषा मे लिखे जाते है और वेब ब्राउजर उन्हे इंसानी भाषा मे यूज़र के सामने प्रदर्शित करता है। अक्सर लोग एक Web Browser को एक Search Engine समझ लेते है Web Browser क्या है लेकिन ये दोनों एक दूसरे से बिल्कुल अलग है।  वेब ब्राउजर का काम केवल इतना ही है की वो आपको किसी वेबसाइट या सर्वर से जोड़े और मशीनी भाषा को इंसानी भाषा मे बदले जिसके फलस्वरूप आप उस पेज मे दिखाए गए सभी उत्पादों जैसे की फोटो, लेख, विडिओ, ऑडियो आदि को देख सके। 

वेब ब्राउजर की दूसरी परिभाषा ये भी दी जा सकती है की ये एक यूज़र को किसी वेबसाइट या सर्वर से जोड़ने मे मदद करते है। वेब ब्राउजर से आप किसी दूसरे लोकल कंप्यूटर से भी डाटा का आदान प्रदान कर सकते है। 

 

वेब ब्राउजर का इतिहास; सबसे पहला वेब ब्राउजर 

 

वेब ब्राउजर इस दुनिया मे तब से है जब से इंटरनेट की शुरुआत हुई थी क्यू की उस समय केवल वेब ब्राउजर के माध्यम से ही इंटरनेट को एक्सेस किया जा सकता है, पुराने समय के ब्राउजर आज की तरह इतने समझदार नहीं थे, उन्मे बहुत सारी कमिया थी, आज के वेब ब्राउजर बड़े ही सुंदर तरीके से एक पेज को दिखाते है पर शुरुआती दिनों मे ये केवल टेक्स्ट (लेख) को ही प्रदर्शित करते थे। 

  1. दुनिया का सबसे पहला वेब ब्राउजर टिम बर्नर्स-ली द्वारा 1990 मे बनाया गया था, जिसको वर्ल्ड वाइड वेब (World Wide Web) नाम दिया गया, बाद मे वास्तविक वर्ल्ड वाइड वेब से अंतर करने के लिए इसका नाम बदलकर नेक्सस (Nexus) कर दिया, उस समय इंटरनेट तक पहुचने का केवल ये एक मात्र तरीका था। 
  2. इसके बाद सन 1992 मे LYNX ब्राउजर बनाया गया जिसमे केवल टेक्स्ट को पढ़ा जा सकता था, इसमे इसकी सबसे बड़ी दिक्कत ये थी की ये ग्राफिक सामग्री जैसे की फोटो या विडिओ को नहीं दिखा सकता था। 
  3. सन 1993 मे मोजेक ब्राउजर आया जिसमे अब टेक्स्ट के साथ फोटो को भी देखा जा सकता था, ये ब्राउजर काफी लोकप्रिय रहा।
  4. इसके बाद सन 1994 मे नेटस्केप नेविगेटर आया जिसमे मोजेक की कुछ कमियों को दूर किया। 
  5. 1995 मे Microsoft मे अपना पहला वेब ब्राउजर इंटरनेट एक्सप्लोरर लॉन्च किया, ये ब्राउजर लोगों द्वारा काफी पसंद किया गया। 
  6. 1996 मे ओपेरा मे अपना एक ब्राउजर बनाया जिसके बाद मुख्य रूप से IE 3 और नेविगेटर 3 और ओपेरा के बीच प्रतिस्पर्धा बढ़ी और फलस्वरूप ये ब्राउजर नए नए फीचर्स lलाते गए। 
  7. 2003 मे Apple ने अपना पहला ब्राउजर सफारी Macintosh कंप्युटर के लिए लॉन्च किया। 
  8. इसके बाद सन 2004 मे मोज़िला ने फ़ायरफ़ॉक्स को नेटस्केप नेविगेटर के रूप में लॉन्च किया। 
  9. 2007 मे एप्पल मे मोबाईल प्लेटफॉर्म के लिए अपना सफारी ब्राउजर लॉन्च किया, जो iPhone यूजर द्वारा काफी पसंद किया गया। 
  10. 2008 मे Google Chrome आया जिसमे जल्द ही पूरे ब्राउजर मार्केट पर अपना कब्ज़ा कर लिया। 
  11. 2008 से 2015 तक गूगल क्रोम, मोज़िला फ़ायरफ़ॉक्स और सफारी का कब्ज़ा रहा। 
  12. 2015 मे माइक्रोसॉफ्ट ने गूगल क्रोम से मुकाबला करने के लिए अपना नया ब्राउजर Microsoft Edge लॉन्च किया
  13. 2020 मे माइक्रोसॉफ्ट एज, गूगल क्रोम के बाद सबसे ज्यादा इस्तेमाल कीये जाने वाला ब्राउजर बना

 

वेब ब्राउज़र लिस्ट – वेब ब्राउज़र के प्रकार

 

आपको इन्टरनेट में बहुत प्रकार के वेब ब्राउज़र मिल जायेगा. इनमे से हम कुछ का इस्तिमाल कंप्यूटर में और कुछ का मोबाइल और टेबलेट में करते है. यहाँ में एक वेब ब्राउज़र लिस्ट तेयार की हूँ.

  1. Google Chrome (PC, Mobile & Tablet)
  2. Internet Explorer (PC)
  3. Microsoft Edge (PC, Mobile & Tablet)
  4. Mozilla Firefox (PC, Mobile & Tablet)
  5. Safari (PC, Mobile & Tablet)
  6. Opera (PC, Mobile & Tablet)
  7. Konqueror (Linux PC)
  8. Lynx (Linux PC)
  9. UC Browser (Mobile & Tablet)

 

सबसे अच्छे वेब ब्राउजर कोनसे है

 

जिस तरह रियल लाइफ मे हमे हमारी सिक्युरिटी का ध्यान रखना होता है उसी तरह आज के समय मे वर्चुअल लाइफ को सिक्युर करना होता है, आप एक ब्राउजर मे अपनी बहुत से जरूरी जानकारी देते है इसलिए हमेशा एक सिक्युर और विश्वसनीय वेब ब्राउजर का चयन करे। नीचे आपको कुछ अच्छे ब्राउजर के बारे मे बताया गया है। 

 1) गूगल क्रोम

Google Chrome एक क्रास प्लेटफॉर्म वेब ब्राउजर है जो की गूगल द्वारा बनाया गया है, इस ब्राउजर को सितंबर 2008 मे पहले Microsoft Windows प्लेटफॉर्म के लिए लॉन्च किया था, जिसके बाद फरवरी 2012 मे गूगल ने Android के लिए इसका बीटा वर्ज़न लॉन्च किया। 

गूगल क्रोम आज सबसे ज्यादा यूज किया जाने वाला वेब ब्राउजर है जिसका विश्व मे सभी ब्राउजर के बीच 68% मार्केट शेयर है, इस ब्राउजर मे आपको गूगल सर्च इंजन पहले से ही सेट किया हुआ मिलता है यदि आप चाहे तो इसे बदल भी सकते है। गूगल क्रोम का इस्तेमाल Android, iOS, Windows, और macOS मे किया जा सकता है। 

2) Microsoft Edge

माइक्रोसॉफ्ट एज साल 2015 मे विंडोज़ 10 के लिए लॉन्च किया गया था, Microsoft ने ये ब्राउजर कुछ बड़े खिलाड़ी जैसे की गूगल क्रोम और मोजिला फ़ायरफ़ॉक्स को टक्कर देने के लिए लॉन्च किया था, आज ये ब्राउजर बहुत से लोगों की पहली पसंद है। 

माइक्रोसॉफ्ट एज इंटरनेट एक्सप्लोरर वेब ब्राउजर की जगह की लॉन्च किया गया था क्यू की Internet Explorer का इस्तेमाल धीरे धीरे खत्म हो रहा था। इस ब्राउजर का इस्तेमाल आप Windows, macOS, Android, और iOS प्लेटफॉर्म पर कर सकते हो। Microsoft Edge वेब ब्राउजर Microsoft कंपनी का है जिसमे आपको Bing सर्च इंजन पहले से सेट करके दिया जाता है क्यू की bing सर्च इंजन का मालिकाना अधिकार Microsoft कंपनी का है। 

3) Mozilla Firefox

मोज़िला फ़ायरफ़ॉक्स Mozilla Foundation द्वारा बनाया गया एक ओपन सोर्स वेब ब्राउजर है जिसको सितंबर 2002 मे लॉन्च किया गया था, ये ब्राउजर भी साल 2020 तक गूगल क्रोम के बाद सबसे ज्यादा इस्तेमाल कीये जाने वाला ब्राउजर था। 

Mozilla Firefox आज 90 भाषाओ के उपलब्ध है इसके अलावा इसे Android, iOS, Windows, macOS, Linux प्लेटफॉर्म पर इस्तेमाल किया जा सकता हा। इस ब्राउजर मे आपको गूगल सर्च इंजन पहले से सेट किया हुआ मिलता है हालांकि Google ये करने के लिए Mozilla Foundation को 1 बिलियन से भी ज्यादा अमेरिकी डॉलर भुगतान करता है। 

4) Safari

सफारी वेब ब्राउजर को Apple कंपनी द्वारा जनवरी 2003 मे अपने macOS के लिए लॉन्च किया था, ये ब्राउजर केवल Apple के उत्पाद जैसे की iPhone, iPad, MacBook इत्यादि मे चलता है, आप इसे Android या Windows कंप्यूटर मे इस्तेमाल नहीं कर सकते, Apple मे 2007 से 2012 तक विंडोज़ के लिए भी इस ब्राउजर को उपलब्ध करवाया था। 

Statcounter की रिपोर्ट के अनुसार सभी ब्राउजर मे Safari का मार्केट शेयर 16.65% है जो की Google Chrome के बाद दूसरे नंबर पर है। एप्पल मे iPhone के लिए इस ब्राउजर की 2007 मे पेशकश की थी।

 

वेब ब्राउज़र के कार्य (Web Browser Functions in Hindi)

 

• इसका मुख्य कार्य होता हैं फंक्शन करना यानी वर्ल्ड वाइड वेब से डेटा प्राप्त करना और यूजर को जानकारी स्क्रीन पर उपलब्ध कराना।

• वेब ब्राउजर द्वारा किसी भी Websites पर विज़िट कर सकते हैं। जब किसी ब्राउज़र में URL इनपुट करते हैं, तो सर्वर हमे उस Website पर ले जाता हैं।

• Browser, यूज़र्स के Internal Cache डेटा को स्टोर करता है ताकि यूज़र्स बिना अतिरिक्त डेटा खोये एक ही वेबपेज को बार- बार खोल सकता हैं।

• एक ही समय ब्राउज़र मे विंडो के अलग-अलग टैब में अनेक वेब पेज ओपन कर सकते है।

• इंटरनेट की सेवा की दुरुस्त बनाता है व आसानी से Hyperlinks में पहुँच जाते है व ऑनलाइन डेटा निकाल सकते है

• वेब ब्राउज़र पर Back, Forword, Reload, Stop Reload, Home, Search Bar इत्यादि विकल्प मौजूद होते हैं जो इसका इस्तेमाल करना आसान और सुविधाजनक बनाते हैं।

• ब्राउज़र के Address Bar में किसी वेबसाइट का लिंक देते हैं। प्रत्येक लिंक का एक URL होता है जो क्लिक करते ही जानकारी उपलब्ध कराता हैं

• Browser पर Java Applets और Flash Content चलाने के लिए कई Plugin उपलब्ध हैं जो ब्राउज़िंग को सरल बनाता हैं।

 

Web Browser कार्य कैसे करता है? (How does a web browser work)

 

World Wide Web internet servers का एक प्रणाली है जो formatted documents का support करता है. web browser के इस्तेमाल से हम World Wide Web को आसानी से access कर पाते हैं. web browser की मदद से हम बहुत सारे web pages को देख पाते हैं जो web protocol से बने हुए होते हैं.

Protocol का मतलब rules होता है जैसे English के विषय में बहुत सारे rules होते हैं जिनका हमें English बोलने और लिखने के वक़्त पालन करना होता है वरना लोग ये नहीं समझ पायेंगे की हम उनसे क्या कहना चाहते हैं. ठीक उसी तरह web browser को भी हमारी बात समझने के लिए एक भाषा की जरुरत होती है उस भाषा के भी कुछ rules होते हैं जिसको हम HTTP(Hyper Text Transfer Protocol) केहते है.

http web servers को बताता है की कैसे web page के contents को format और transmit करना है और users के द्वारा दिए गए commands की प्रतिक्रिया करने के लिए web servers और web browsers दोनों को क्या करना है.

Http की मदद से web clients और web servers को एक दुसरे से जुड़ने की अनुमति मिलती है. जब user browser के address bar पर एक web address डालता है तब browser उसकी request को http command के रूप में web server को भेजता है उसके बाद browser उस web server के साथ जुड़ जाता है और वहां से requested web page को निकाल कर user के browser में सारी जानकारी दिखा देता है.

Internet पर मौजूद जितने भी web servers हैं जो web sites और web pages को रखते हैं वो सभी servers http protocol को support करते हैं तभी जाकर browsers उनसे जुड़ कर सारी जानकारी users को आसानी से दे पाते हैं.

 

 

अपने वेब ब्राउज़र से अपना काम करवाएँ

 

अधिकांश प्रमुख वेब ब्राउज़र उपयोगकर्ताओं को एक्सटेंशन या ऐड-ऑन के माध्यम से अपने अनुभव को संशोधित करने देते हैं। एक्सटेंशन सॉफ़्टवेयर के बिट्स हैं जिन्हें आप इसे कस्टमाइज़ करने या कार्यक्षमता जोड़ने के लिए अपने ब्राउज़र में जोड़ सकते हैं। एक्सटेंशन सभी प्रकार की मज़ेदार और व्यावहारिक चीज़ें कर सकते हैं जैसे नई सुविधाओं, विदेशी भाषा शब्दकोश, या दृश्य और थीम को सक्षम करना।

सभी ब्राउज़र निर्माता अपने उत्पादों को चित्रों और वीडियो को जल्द से जल्द और आसानी से प्रदर्शित करने के लिए विकसित करते हैं, जिससे आपके लिए वेब का अधिकतम लाभ उठाना आसान हो जाता है। वे सभी यह सुनिश्चित करने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं कि उपयोगकर्ताओं के पास एक ब्राउज़र हो जो तेज़, शक्तिशाली और उपयोग करने में आसान हो। लेकिन इनमें जो अंतर है वह इनके उद्देश्यों को लेकर है। आपके लिए सही ब्राउज़र चुनना महत्वपूर्ण है। Mozilla Firefox यह सुनिश्चित करने के लिए बनाता है कि उपयोगकर्ताओं को ऑनलाइन जीवन पर नियंत्रण मिलें और इंटरनेट एक वैश्विक, सार्वजनिक संसाधन रहे, जो सभी के लिए सुलभ हो।

 

वेब ब्राउज़र की विशेषताएं – Features of web browser in Hindi

 

हर वेब ब्राउज़र एक दूसरे से अलग होता है और अपने यूजर को बेहतरीन अनुभव देना चाहता है. लेकिन कुछ विशेषताएं हैं जिनके बिना यूजर के अनुभव अच्छा होने की बजाय बुरा भी हो सकता है . तो हम यहाँ उन सभी मुलभुत विशेषताओं के बारे में जानेंगे जिनकी जरुरत एक वेब ब्राउज़र में होती ही है.

  • वेब ब्राउज़र इंटरनेट में वेब पेजेज को एक्सेस कर पाने में माहिर होना चाहिए और हर तरह के वेबसाइट को ढूंढने और दिखाने के काबिल होना चाहिए.
  • वेब पर आपको Hyperlink को follow करने के सक्षम होना चाहिए इसे फॉलो करने के लिए URL टाइप करने की भी अनुमति होनी चाहिए.
  • commands तक पहुंचना आसान होनें चाहिए जैसे ये Menu, icon और बटन के रूप में उपलब्ध होने चाहिए.
  • ऑनलाइन हेल्प पाने के लिए ऑप्शन आसानी से उपलब्ध होने चाहिए.
  • आप जब वर्ल्ड वाइड वेब एक्सेस करते हैं और कई वेबसाइट में जाते हैं तो उन में कुछ हमे बहुत पसंद आते हैं और हमारे काम के भी होते हैं. हम दुबारा उन साइट्स में आसानी से पहुँच जाए इसके लिए ये दो तरह से इन पर वापस जाने की सुविधा देते हैं. एक तो ये की currentsession में पीछे जाकर और दूसरा तरीका है इन साइट को बुकमार्क कर के भी इन में दुबारा वापस आसानी से जाया जा सकता है.  बुकमार्क का उपयोग कर के वर्ल्ड वाइ वेब पेज को लिस्ट बना कर रख सकते हैं. इस लिस्ट का उपयोग कर के आप आसानी से किसी भी वक़्त स्टोर किये गए पसंदीदा वेबसाइट पर जा सकते हैं.
  • इसकी एक मुख्य विशेषता ये है की current पेज में इनफार्मेशन देने के साथ जी ये दूसरी जानकारी भी वर्ल्ड वाइड वेब  में सर्च कर सकते हैं.
  • इस में आप किसी भी वेब पेज की किसी जानकारी को प्रिंटर कर के निकाल सकते हैं और दूसरे वेबसाइट को ईमेल के जरिये डॉक्यूमेंट भेज सकते हैं.
  • ये text ,इमेजेज links और साथ ही डिजिटल वीडियो हैंडल करने में सख्सम होना चाहिए.
  • इसके अलावा एक अच्छा ब्राउज़र animated कंटेंट को run करने में सक्षम होना चाहिए.
  • अलग अलग प्लगइन होना चाहिए जिससे जरुरत के अनुसार ऑप्शन इनेबल कर सके और अपने काम पूरा कर सके.
  • इस में cache enable  करने की सुविधा भी होनी चाहिए जिससे की  वेब पेज लोड होने में आसानी हो और सर्वर पर लोड भी कम हो.

 

Web Browser Ke Features In Hindi

 

वेब ब्राउज़र अपने उपयोगकर्ताओं को विभिन्न प्रकार की मानक सुविधाएँ प्रदान करते है जो इस प्रकार है:

  • Home Button – होम बटन का चयन करने पर यह उपयोगकर्ता पूर्व-निर्धारित होमपेज पर लाएगा।
  • Web Address Bar – यह उपयोगकर्ताओं को एक वेब पता इनपुट करने और एक वेबसाइट पर जाने की अनुमति देता है।
  • Back और Forward Button – यह बटन यूजर को उस पिछले या अगले पेज पर ले जाएंगे, जिस पर वे थे।
  • Refresh – इसका उपयोग वेब पेज को पुनः लोड करने के लिए किया जा सकता है।
  • Stop – इस बटन पर क्लिक करने पर यह वेब सर्वर के साथ वेब संचार और पेज को लोड होने से रोकता है।
  • Tabs – यह उपयोगकर्ताओं को एक ही विंडो में कई वेबसाइट खोलने की अनुमति देता है।
  • Bookmark – यह विकल्प उपयोगकर्ता को अपनी मनपसंद व ज्यादा उपयोग में आने वाली वेबसाइटों को बुकमार्क करने की अनुमति देता है।

 

Web Browser और Web Server में क्या अंतर है

 

Web Browser Web Server
परिभाषा  Web browser एक ऐसा software होता है जिसका इस्तमाल कर users अपने जरुरत के information को Internet में खोजते हैं. ये information किसी भी forms (आकार) का हो सकता है जैसे की images, pages, videos या कोई दूसरी files. Web server एक ऐसा computer unit या software होता है जो की सभी information को create करता है और साथ में रखता भी है एक ही जगह में जिसे की web browsers के मदद से access किया जा सके. आसान भाषा में कहें तब एक ऐसी जगह जहाँ पर की एक website की सभी data को save किया जाता है.
उद्देश्य  Web browser का उद्देश्य होता है Internet में मेह्जुद information को extension के मदद से देखा जा सके. ये खुद कोऊ भी information को display नहीं कर सकता है और वहीँ ये पूरी तरह से निर्भर होता है browser के ऊपर.
दक्षता ये अक्सर free (मुफ्त) होता है और वहीँ इसे establish करने के लिए ज्यादा समय नहीं लगता है. इसे Install करने के लिए ज्यादा समय और साथ में काफी खर्च भी लगता है.
लाभ यह एक Single Computer में भी काम कर सकता है. लेकिन इसमें काफी सारे computers या software का उपयोग किया जाता है एक server को कार्यक्षम होने के लिए

 

ब्राउज़र का उपयोग क्यों किया जाता है? (Why is a browser used)

 

Web browser एक क्लाइंट प्रोग्राम है जो ब्राउज़र उपयोगकर्ता की ओर से पूरे इंटरनेट में वेब सर्वर को request करने के लिए HTTP (Hypertext Transfer Protocol) का उपयोग करता है। वेब ब्राउजर का प्राथमिक कार्य HTML को render करना है, जो कोड वेबपेजों को डिजाइन या “mark up” करने के लिए उपयोग किया जाता है।

 

Conclusion

 

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख  Web Browser क्या है और Web ब्राउज़र कैसे काम करता है?(In Hindi) जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


Leave a Comment