B.ed क्या है? कैसे करे (Bed Course Details In Hindi) पुरी जानकारी

B.Ed एक प्रतिष्ठित कोर्स होने के साथ-साथ एक बेहतर कैरियर प्रदान करने वाला कोर्स भी है. B.ed क्या है? भारतीय संस्कृति में शिक्षक को सर्वोच्च सम्मान मिलता है क्योंकि शिक्षक शिक्षा के मुख्य स्रोत होते हैं. इस दृष्टिकोण से शिक्षक का महत्व शिक्षा से भी उच्च माना जाता है. B.Ed Kya Hai के सभी जानकारी यहाँ सरल शब्दों में दिया है जो B.Ed के लिए आवश्यक है.भारत एक ऐसा राष्ट्र है जहां शिक्षा देने वाले शिक्षक को गुरु पद से सम्मानित किया जाता है,

जिसका उद्देश्य शिक्षा को प्रसारित करना होता है.शिक्षक उन महत्वपूर्ण बिंदुओं का स्रोत होते हैं, जो जीवन को दिशा के साथ-साथ गति प्रदान करते हैं. इसलिए भारत जैसे देश में शिक्षक बनना किसी नोएल विजेता सम्मान से कम नहीं है.शिक्षक पद धारण करने के लिए भारत सरकार शिक्षकों के लिए एक प्रसिद्ध कोर्स यानि B.Ed करना अनिवार्य कर दिया है. ताकि शिक्षा को एक नई पहचान एवं शिक्षा की गुणवत्ता पहले से बेहतर बनाए जा सके. इसलिए हर शिक्षक उम्मीदवार को B.Ed की डिग्री लेना आवश्यक होता है.

सामान्यतः B.Ed की डिग्री लेने के लिए किन मापदंडों से होकर गुजरना होता है. उसकी जानकारी यहां विस्तार से पढ़ेंगे. जैसे- B.Ed Kya Hai b ed में कैरियर कैसे बनाएं, B.Ed के लिए योग्यता, बीएड की सिलेबस, B.Ed की कोर्स, B.Ed कोर्स फीस. B.Ed के बाद वेतन, आदि विषयों पर चर्चा करना आवश्यक है.

 

B.ed क्या है? कैसे करे (Bed Course Details In Hindi) पुरी जानकारी
TEJWIKI.IN

 

B.ed  क्या है?  

 

बी.एड (B.Ed) या बैचलर ऑफ एजुकेशन एक 2 साल का प्रोफेशनल कोर्स है जो ग्रेजुएशन के बाद स्कूलों में शिक्षक के रूप में काम करने के लिए किया जाता है। नेशनल कॉउन्सिल ऑफ टीचर एजुकेशन (NCTE) के अनुसार सभी शिक्षकों के लिए बी.एड पाठ्यक्रम होना अनिवार्य है।

B.Ed में एडमिशन एंट्रेंस एग्जाम (जैसे- DU BEd, MP PRE BEd, IGNOU BED, UP BED JEE) और मेरिट लिस्ट के आधार पर होता है। बी.एड कोर्स करने के लिए छात्रों का स्नातक (Graduation) होना आवश्यक है।

 

B.Ed Full Form in Hindi

 

B.Ed Ka Full Form ‘’Bachelor of Education’’ है। जिसे हिंदी में (बी एड फुल फॉर्म) ‘शिक्षाशास्त्र में स्नातक’ होता है।

बीएड का अर्थ एवं B.Ed का फुल फॉर्म क्या होता है ये तो आपने जान लिया, आईये अब आगे आपको इस कोर्स से जुड़ी कुछ और महत्वपूर्ण बातों जैसे- B.Ed डिग्री है या डिप्लोमा (B.Ed Degree Hai Ya Diploma), यह कितने वर्ष का होता है, इसके लिए कौन सी एंट्रेंस एग्जाम होती है आदि के बारे में बताते है।

 

Bed Diploma Hai Ya Degree

 

बैचलर ऑफ एजुकेशन (B.Ed) एक स्नातक (Graduate) प्रोफेशनल डिग्री कोर्स है जो छात्रों को स्कूलों में शिक्षक के रूप में काम करने के लिए तैयार करती है। हालांकि इस कोर्स को करने के लिए आपका ग्रेजुएशन होना आवश्यक है।

 

 

B.ed Kitne Saal Ka Hota Hai

 

बीएड (B.Ed) या बैचलर ऑफ एजुकेशन 2 साल का Full-Time डिग्री कोर्स है जो उन छात्रों को दिया जाता है जो शिक्षण या इससे संबंधित क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते है।

 

B.Ed कैसे करें (Bed Course Details In Hindi)

 

B.Ed. Course एडमिशन प्रोसेस प्रवेश परीक्षा (Entrance Exam) एवं मेरिट लिस्ट दोनों के आधार पर की जाती है। कुछ कॉलेज एवं इंस्टिट्यूट योग्य उम्मीदवारों के लिए एक प्रवेश परीक्षा (जैसे- RIE CEE, CUCET, TSEdCET, APEdCET, BEET Exam, IGNOU B.Ed आदि) आयोजित करते है और कुछ उम्मीदवारों की ग्रेजुएशन डिग्री में प्राप्त अंकों पर विचार करते है।

टॉप रैंक हासिल करने वाले छात्रों को पहले Counselling का मौका मिलता है, जिससे वे अपनी पसंद के अनुसार कॉलेज का चुनाव कर सकते है। B.ed क्या है? अधिकतर छात्र गवर्नमेंट कॉलेज के लिए प्रयासरत रहते है, इनमें कम फ़ीस में उत्तम शिक्षण व्यवस्था होती है।

बी.एड. कोर्स नियमित (Regular) के साथ-साथ डिस्टेंस लर्निंग (Distance Learning) यानि IGNOU से भी किया जा सकता है। हालाँकि प्रवेश परीक्षा देने के लिए आपको कुछ निर्धारित मानकों को पूरा करना होगा जैसे- शैक्षणिक योग्यता, आयुसीमा आदि।

 

बीएड कोर्स (B.Ed Course) के लिए Qualification

 

बी.एड कोर्स में आवेदन करने से पहले, उम्मीदवारों को बी.एड में प्रवेश के लिए सभी आवश्यक पात्रता मानदंड के बारे में पता होना चाहिए। बी.एड कोर्स के लिए मांगी जाने वाली कुछ महत्वपूर्ण पात्रता मानदंड (eligibility criteria) आपको नीचे दिए गए है:

  • उम्मीदवारों को किसी भी मान्यताप्राप्त यूनिवर्सिटी या इंस्टिट्यूट से किसी भी स्ट्रीम (Arts, Science या Commerce) से अपना ग्रेजुएशन पूरा करना होगा।
  • अधिकांश लोकप्रिय बी.एड कॉलेजेस में उम्मीदवारों को बी.एड कोर्स के लिए प्रवेश प्रक्रिया से गुजरना होगा।
  • उम्मीदवार के ग्रेजुएशन में कम से कम 50% अंक होना अनिवार्य है। ये प्रत्येक कॉलेजेस के अनुसार 50 या 55% भी हो सकते है।

 

B.Ed के लिए प्रवेश परीक्षा (Entrance Exam for B.ed)

 

  • बीएड में प्रवेश करने के लिए उम्मीदवारों को सबसे पहले प्रवेश परीक्षा देनी होती है।
  • ये प्रवेश परीक्षा आम तौर पर जून-जुलाई महीने में आयोजित की जाती हैं, जिसमें अंग्रेजी, सामान्य ज्ञान, प्रयोग, मूल अंकगणित शिक्षण क्षमता और एक स्थानीय भाषा के बारे में प्रश्न शामिल होते हैं।
  • परीक्षा के परिणाम आम तौर पर जुलाई / अगस्त तक आ जाते हैं।
  • परीक्षा के बाद एक काउन्सलिंग होती है।
  • उस काउन्सलिंग में उम्मीदवार को उसके रैंक के अनुसार कॉलेज मिल जाते हैं।

 

बीएड की तैयारी कैसे करें (How to Prepare for B.Ed in Hindi)

 

अगर आप शिक्षा के फिल्ड में बीएड की तैयारी करना चाहते है तो कोर्स में दाखिला लेने के लिए एंट्रेंस एग्जाम से होकर गुजरना पड़ता है। तो आपको कुछ Prepare tips के बारे में जानना आवश्यक है।

  • अभ्यर्थी सबसे पहले बीएड कोर्स पूरा करने के लिए टाइम-टेबल बनाकर तैयार करें।
  • अभ्यर्थी बीएड के आधार पर एक टीचर बनने के लिए अच्छा कम्युनिकेशन कौशल होना चाहिए।
  • नियमित रूप से सामान्य ज्ञान, दैनिक समाचार और प्रतिदिन नवीनतम जानकारी पढ़ते रहें।
  • आपको इतिहास, संस्कृति, भूगोल, अर्थशास्त्र और सामान्य नीतियों आदि जानकारी होनी चाहिए।
  • अभ्यर्थी अतरिक्त ज्ञान बढ़ाने के लिए विभिन्न पुस्तकों का उल्लेख कर सकते है।
  • बीएड परीक्षा पैटर्न या परीक्षा के स्तर को समझने के लिए पिछलें वर्ष के प्रश्न पत्रों को देखते रहें।
  • बीएड से आधारित सिलेबस को समझें और पर्याप्त रिविजन करते रहना चाहिए।
  • अपनी परीक्षा के अनुसार एक स्ट्रेटेजी बनाकर पुस्तकों का इस्तेमाल करें।
  • बीएड कोर्स से रिलेटेड एलिमिनेशन मेथड का प्रयोग कर शोर्टकट के बारे में जाने।
  • किसी भी एंट्रेंस एग्जाम को कैक्र करने के लिए अभ्यर्थी को स्लॉट बनाकर नोट्स हल करने का अभ्यास करना चाहिए।

 

 

बीएड की फीस कितनी होती है?

 

अगर बीएड फ़ीस की बात कर तो, इस पाठ्यक्रम की अवधि 2 वर्ष निर्धारित होती है, अभ्यर्थी चाहे तो बीएड Distance या Regular के माध्यम से कर सकते है, लेकिन दोनों पाठ्यक्रमों का फ़ीस शुल्क भिन्न होता है।

अभ्यर्थी नियमित रूप से बीएड करते है तो उन्हें पाठ्यक्रम शुल्क लगभग 50,000 से 70,000 देना होता है या अभ्यर्थी बीएड डिस्टेंस से करते है तो उन्हें भुगतान शुल्क कम देना होता है।

यदि आप बीएड कोर्स किसी सरकारी कॉलेज से करते है तो आपको न्यूनतम फ़ीस औसतन लगभग 16,500-32,000 प्रति वर्ष देनी होगी, लेकिन राज्य एवं कॉलेज अनुसार गवर्नमेंट फ़ीस अलग-अलग हो सकती है।

 

बी.एड. के विषय

 

जैविक विज्ञान प्राकृतिक विज्ञान
व्यापार शारीरिक शिक्षा
कंप्यूटर विज्ञान भौतिक विज्ञान
अर्थशास्त्र विशेष शिक्षा
अंग्रेज़ी तमिल
भूगोल गणित

एक अच्छा शिक्षक बनने के लिए आपको कई विषयों का ज्ञान होना चाहिए। बी.एड. सब्जेक्ट्स लिस्ट और बी.एड. की फ़ीस, स्थान तथा यूनिवर्सिटी मानकों के अनुसार होती है। बी.एड. में पढ़ाए जाने वाले मुख्य विषय निम्नलिखित है –

  • शिक्षा दर्शन ( Educational Philosophy)
  • शैक्षिक समाजशास्त्र (Educational Sociology)
  • शिक्षा मनोविज्ञान एवं बाल विकास (Educational Psychology and Child Development)
  • निर्देशन एवं परामर्श (Guidance and Counselling)
  • विद्यालय प्रबंधन एवं नेतृत्व (Educational Leadership and Management)
  • भारत में शिक्षा व्यवस्था का विकास एवं चुनौतियाँ (Development of Education System in India and Its Challenges)
  • पाठ्यक्रम विकास और आकलन (Curriculum Development and Evaluation)
  • समग्र शिक्षा (Inclusive Education)
  • सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी का शिक्षा में प्रयोग (Information and Communication Technology, ICTE)

 

B.Ed में निम्नलिखित सब्जेक्ट्स में से उन सब्जेक्ट्स में विशेषयगता प्राप्त करनी अनिवार्य होती हैजिनमें उम्मेदवार की दिलचस्पी हो। 

 

  • जैविक विज्ञान
  • प्राकृतिक विज्ञान
  • शारीरिक शिक्षा
  • भौतिक विज्ञान
  • कंप्यूटर विज्ञान
  • अर्थशास्त्र
  • विशेष शिक्षा
  • अंग्रेज़ी
  • भूगोल
  • गणित
  • राजनीति विज्ञान
  • हिन्दी
  • रसायन विज्ञान
  • हियरिंग इम्पेरेड
  • भौतिक विज्ञान
  • होम साइंस
  • क्षेत्रीय भाषा

 

बी एड करने के बाद नौकरी (Carrier option After B.ed)

 

  • बीएड पूरा करने के बाद निजी और साथ ही सरकारी स्कूलों में अच्छा वेतन पैकेज के साथ नौकरी पाने के लिए अवसर प्राप्त होते हैं।
  • बी.एड. करने के बाद टीजीटी और पीजीटी के जरिए नौकरी मिलती है।
  • बी.एड. में 50% अंक और बी.ए., बी.कॉम., बी.एससी. या स्नातक स्तर की परीक्षा में भी 50% अंक हैं तो TGT ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर (टीजीटी) के जरिए कक्षा 1 से लेकर कक्षा 10 तक अध्यापक की नौकरी मिलती है। PGT यानि कि पोस्ट ग्रेजुएट टीचर (पीजीटी) के जरिए किसी भी सरकारी या निजी स्कूल में कक्षा 12 तक अध्यापक की नौकरी मिलती है।
  • सरकारी नौकरी प्राप्त करने के लिए बी.एड. के साथ TET टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (टी.ई.टी.) की परीक्षा को उत्तीर्ण करना भी अनिवार्य है, जो वर्ष 2012 में देश में अनिवार्य कर दिया गया है अर्थात इस टेस्ट को पास करने वाले ही अध्यापक की सरकारी नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।
  • बीएड के बाद एम.एड भी कर सकते हैं और उच्च शिक्षा में अध्यापन के लिए नौकरी पा सकते हैं, लेकिन शिक्षाशास्त्र में इसके साथ ही NET नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट (नेट) क्वालीफाई करना आवश्यक है।
  • बीएड के बाद मास्टर ऑफ एजुकेशन (एमएड) स्नातकोत्तर उच्च विशेष पाठ्यक्रम है, एम.एड. के पूरा होने के बाद उम्मीदवार पीएचडी भी कर सकते हैं।

 

भारत में टॉप-10 बीएड कॉलेज

 

क्र० स०  कालेज का नाम
1. लेडी श्रीराम कॉलेज फॉर बूमन
2. कस्तूरी राम कॉलेज ऑफ हायर एजुकेशन
3. जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी
4. यूनिवर्सिटी ऑफ दिल्ली
5. अल-अमीन कॉलेज ऑफ एजुकेशन
6. विजया टिचर्स कॉलेज
7. बॉम्बे टिचर्स ट्रेनिंग कॉलेज
8. एमिटी इंस्टीट्यूट ऑफ एजुकेशन
9. डॉ एम जी आर एजुकेशनल एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट
10. लेडी इरवीन कॉलेज

 

बीएड कोर्स (B.Ed Course) के लाभ

 

  • अगर आप टीचर बनना है, तो B.ed कोर्स आपके लिए सबसे बढ़िया कोर्स है।
  • किसी भी GOVT या Private स्कूल में टीचर बन विद्यार्थियों को प्रशिक्षित कर सकते है।
  • अपने ज्ञान को दूसरों के साथ बाँट सकते है और उन्हें शिक्षित कर एक बेहतर भविष्य प्रदान कर सकते है।
  • B.ed डिग्री की मदद से आप टीचर या प्रोफेसर बनकर अपना भविष्य सवाँर सकते है।
  • आप चाहे तो बीएड करके खुद का निजी स्कूल भी खोल सकते है।
  • B.ed करने के बाद आप अपना कोचिंग इंस्टिट्यूट भी खोल सकते है।

 

FAQ बीएड कोर्स से जुड़े अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न 

 

  • B.Ed कितने वर्ष का कोर्स है?

बीएड एक प्रोफेशनल ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स है जिसकी अवधि 2 वर्ष है।

  • B.Ed टीचर की सैलरी कितनी होती है?

एक अनुभवी बी.एड. टीचर का औसत वेतन अनुमानित तौर पर 3 लाख रूपये प्रति वर्ष तक हो सकता है।

  • क्या Private कॉलेज से बी.एड किया जा सकता है?

जी हाँ, छात्र प्राइवेट या सरकारी कॉलेज से बीएड बैचलर डिग्री कर सकता है।

  • B.Ed करने के लिए आयु सीमा क्या है?

आप 21 से 35 वर्ष की आयु सीमा के भीतर बी.एड कर सकते है।

 

 

Conclusion

 

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख B.ed क्या है? कैसे करे (Bed Course Details In Hindi) पुरी जानकारी जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

B.ed क्या है? कैसे करे (Bed Course Details In Hindi) पुरी जानकारी

 

Join our Facebook Group

   Join Whatsapp Group

 

Leave a Comment