Bios क्या होता है? कंप्यूटर में बायोस के मुख्य कार्य क्या है? की जानकारी

दोस्तों Bios क्या होता है? कंप्यूटर आज की आवश्यकता बन चुका है। आज लगभग सभी क्षेत्र के कार्यों में कंप्यूटर का उपयोग होता है। जैसे; Bank, Railway, Post Office, Airports, Business, Entertainment, School And College से लेकर Engineer, Students, Teachers, Doctors इत्यादि। बिना कंप्यूटर जीवन यापन करना मुश्किल हो गया है।

जिस तरह मनुष्य की शुरुआत कंप्यूटर से होती है। उसी तरह कंप्यूटर के शुरू होने के लिए भी एक Software की आवश्यकता होती है। उस Software के बिना कंप्यूटर शुरू नहीं हो सकता है। उस Software का नाम BIOS (बायोस) है। इस Post में BIOS की पूरी जानकारी बताया गया है।

यदि आपको BIOS की जानकारी नहीं है। जैसे; BIOS क्या है (What is BIOS in Hindi), BIOS का Full Form, BIOS का कंप्यूटर में कार्य इत्यादि। तब इस Post को अंत तक जरूर पढ़ें।

 

Bios क्या होता है? कंप्यूटर में बायोस के मुख्य कार्य क्या है? की जानकारी
TEJWIKI.IN

 

Bios Full Form क्या होती है? (What is Bios Full Form)

 

Bios की full form होती है Basic Input Output System। Bios का main काम होता है कंप्यूटर को boot करना यानी कंप्यूटर start करना।

बायोस यानी Basic Input Output System को हिंदी में “आधार निवेश निर्गम तंत्र” कहते है।

 

Bios क्या होता है? (What is Bios)

 

बायोस एक तरह का software या firmware होता है। बायोस कंप्यूटर का एक मुख्य सॉफ्टवेयर होता है। बायोस पहला सॉफ्टवेयर होता है जो कंप्यूटर में run होता है। बायोस अपने आप चलने वाला सॉफ्टवेयर है जो कंप्यूटर स्टार्ट होते ही चलने लगता है।

बायोस कंप्यूटर को boot करने में मदद करता है। कंप्यूटर को boot करने के बाद बायोस का काम खत्म हो जाता है। इसके बाद बायोस दुबारा तब काम में आता है जब आप अपने computer को start करते है।

 

 

 

Bios को मदरबोर्ड बनते समय ही फैक्ट्री में स्टोर किया जाता है वैसे तो आप इसके साथ को छेड़ छाड़ नहीं कर सकते है लेकिन आप बायोस को अपडेट जरूर कर सकते है।

 

BIOS का इतिहास (History of BIOS)

 

BIOS का परिचय दुनिया से करवाने वाले पहले व्यक्ति Gary Kildall थे जिन्होंने 1975 में BIOS को विकसित किया था. Gary Kildall एक अमेरिकी कंप्यूटर वैज्ञानिक थे. उस समय में CP/M (कंट्रोल प्रोग्राम / मॉनिटर) ऑपरेटिंग सिस्टम में BIOS को शामिल किया गया था.

जल्द ही, यह पर्सनल कंप्यूटर का हिस्सा बन गया और माइक्रोसॉफ्ट के डिस्क ऑपरेटिंग सिस्टम (DOC) के आगमन के साथ BIOS बहुत लोकप्रिय हो गया. 1981 में BIOS IBM के पहले PC का हिस्सा था. बहुत ही जल्द BIOS PC का एक प्रमुख हिस्सा बन गया.

 

Bios कार्य कैसे करता है? (How does Bios work)

 

Bios आपके कंप्यूटर या लैपटॉप को शुरू करने में मदद करता है जब आप अपने कंप्यूटर को ऑन करते है तो Bios यह सुनिश्चित करता है की आपके कंप्यूटर में लगे सभी हार्डवेयर डिवाइस जैसे Hard disk, Ram, Processor,Keyboard, Mouse, Printer, Scanner आदि सही से काम कर रहे है या नहीं। जब Bios देख लेता है की हां सब सही से काम कर रहा है इसके बाद फिर प्रोसेसर का काम शुरू होता है।

इसके अलावा Bios आपके कंप्यूटर को यह भी बताता है की कौन सा इनपुट डिवाइस है और कौन सा आउटपुट डिवाइस है। इनपुट डिवाइस जैसे Ram, Processor, Graphic Card, SMPS आदि। आउटपुट डिवाइस जैसे Keyboard, Mouse, Printer, Scanner आदि।

 

कंप्यूटर में बायोस के मुख्य कार्य क्या है? (What is the main function of Bios in computer)

 

कंप्यूटर में Bios के मुख्यरूप से 4 कार्य होते है जो निम्नलिखित है।

POST

Power On Self Test करना। जैसा मैंने आपको पहले ही बताया था की जब आप कंप्यूटर ऑन करते हो तो Bios सबसे पहले यह चेक करता है की कंप्यूटर से जुड़े सभी हार्डवेयर डिवाइस ठीक से काम कर रहे है या नहीं।

 

SETUP

Post के दौरान यह मदरबोर्ड और चिपसेट को configure करता है।

 

BIOS

Bios आपके ऑपरेटिंग सिस्टम और आपके हार्डवेयर के बीच एक ब्रिज की तरह काम करता है।

 

BOOTSTRAP LOADER

ऑपरेटिंग सिस्टम लोड करने के लिए हार्ड डिस्क बूट सेक्टर को Read करता है। यह एक तरह का प्रोग्राम होता है जो की कंप्यूटर के EPROM मे स्‍टोर होता है जो कि कंप्यूटर चालू होने पर प्रोसेसर द्वारा स्वचालित रूप से निष्पादित होता है।

कंप्यूटर के मुख्य मेमोरी RAM मे फ्लॉपी डिस्क या हार्ड डिस्क से ऑपरेटिंग सिस्टम लोड करना इस प्रोग्राम का काम होता है की जब तक कि बूट प्रक्रिया पूरी न हो जाये तो ऑपरेटिंग सिस्टम को मुख्य मेमोरी RAM मे कॉपी किया जाता है तब तक उपयोगकर्ता कंप्यूटर का उपयोग नही कर सकता।

 

Bios कहा होता है? (Where is Bios)

 

Bios मदरबोर्ड में लगी EEPROM (Electrically Erasable Programmable Read Only Memory) चिप में स्टोर होता है। यह एक Non Volatile Rom है मतलब आप Bios को री अपडेट या रीराइट कर सकते है।

Bios की सभी सेटिंग CMOS (Complementary metal oxide semiconductor) चिप में स्टोर होती है। और इस CMOS चिप को CMOS बैटरी पावर मुहैया कराती है।

Cmos बैटरी डाटा स्टोर नहीं करती है। डाटा स्टोर तो cmos चिप करती है लेकिन cmos बैटरी यह सुनिश्चित करती है कि कंप्यूटर बंद होने पर भी cmos चिप को पावर मिलती रहे। इसलिए आपने देखा होगा, जब आपका कंप्यूटर बंद भी हो जाता है तब भी कंप्यूटर की डेट और टाइम नहीं बदलता है क्योकि cmos बैटरी का मुख्य काम यही है की जब कंप्यूटर बंद हो तब भी cmos चिप को cmos बैटरी पावर सप्लाई करती रहे।

 

कंप्यूटर में Bios कैसे Access करे? (How to Access Bios in Computer)

 

अब आपको यह तो पता चला गया कि Bios क्या होता है Bios की फुल क्या होती है और Bios काम कैसे करता है। अब मैं आपको बताऊंगा की Bios को अपने कंप्यूटर में आप कैसे ओपन कर सकते है।

awardbios cmos setup utility
Bios को अपने कंप्यूटर में खोलें के लिए आपको सबसे पहले यह देखना होगा की आपके पास कोनसा कंप्यूटर है क्योकि हर कंप्यूटर या लैपटॉप में Bios को खोलने के लिए अलग अलग keys प्रयोग में लगयी जाती है जैसे :-

Company Keys
Acer F2
HP F10
Dell F2
Lenovo F1, F2
Sony F1, F2, F3
Samsung F2
आपके पास जिस भी कंपनी का कंप्यूटर या लैपटॉप है आपको उसके लिए ऊपर दी गयी keys को press करना है। ध्यान रहे, जब आप कंप्यूटर ऑन करते है तो कंप्यूटर में लोगो आने से पहले आपको यह key दबाते रहना है जब तक की Bios ओपन नहीं हो जाता है। इसके अलावा कई कंप्यूटर के Bios Esc और Del से भी खुल जाते है। अगर यह के key काम न करे तो आप वह आजमा सकते है।

 

 

बायोस अपडेट कैसे करें? How to update BIOS in hindi?

 

बायोस के Instructions में हम सीधे कोई बदलाव नहीं कर सकते पर इसे Update जरुर कर सकते. समय के साथ बेहतर Compatibility के लिए तथा Bug दूर करने के लिए Manufacturer Company के द्वारा बीच-बीच में Update दिए जाते है, जिसकी Update Version BIOS File को हम उस लैपटॉप, डेस्कटॉप या मदरबोर्ड बनाने वाली कंपनी के Site से Download कर सकते है. हालाँकि बायोस की अपडेट बहुत ही ज्यादा दिनों के बाद ही आते है या अगर यदि कंपनी को पुराने बायोस से सम्बंधित कोई त्रुटी का पता चलता है तो उस बायोस का Updated Version File कंपनी के द्वारा अपने ऑफिसियल वेबसाइट पर उपलोड कर दिया जाता है जिसकी हेल्प से हम बायोस अपडेट करते है.

अगर यदि किसी भी लैपटॉप या डेस्कटॉप की BIOS को अपडेट करना हो तो सबसे पहले BIOS Setting में जाकर पुराने BIOS का Version पता करें….

उसके बाद लैपटॉप, डेस्कटॉप या मदरबोर्ड बनाने वाली कंपनी के ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर अपने सिस्टम की Model No के अनुसार पता करें की उसके लिए BIOS का Update आया है या नहीं…

अगर वेबसाइट पर पुराने बायोस का Updated Version BIOS दिख रहा हो तो सबसे पहले उस File को Download कर लें…

उसके बाद दिए गए इंस्ट्रक्शन के अनुसार उस File को Run कराना है, जिससे BIOS Update की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी. यह प्रक्रिया कम्पलीट होते ही आपके सिस्टम का बायोस अपडेट हो जायेगा.

नोट- BIOS Update के दोरान Suddenly Power Off कभी भी नहीं होने देना चाहिए, अगर ऐसा हो जाता है तो आपका BIOS Update के बजाय Corrupt भी हो सकता है. जिससे बेवजह आप उलझन में फंस सकते है.

 

बायोस सेटिंग को ओपन कैसे करें? (How to open bios setting)

 

कंप्यूटर के बायोस सेटिंग को ओपन करने के लिए हमारे लिए कोई साधारण आप्शन नहीं दिया गया होता है, बल्कि इसके लिए अलग-अलग कंपनी के द्वारा अलग-अलग कोई Special Key या Function Key निर्धारित किये गए होते हैं जिसको हमें बूटिंग के दोरान ही दबाना पड़ता है. जिसके बाद बायोस सेटिंग ओपन होती है.

किसी भी कंप्यूटर सिस्टम के BIOS Setting को ओपन करने के लिए सबसे पहले इन्टरनेट या किसी और की मदद से यह पता करें की उस सिस्टम के लिए BIOS को ओपन करने के लिए कोन सा Key निर्धारित है….

फिर अपने सिस्टम को Restart करें या Shut Down कर के ऑन करें….

इस दोरान ध्यान रहे की जैसे ही आपका सिस्टम ऑन हो रहा हो उसी समय निर्धारित BIOS Key को दबाना है….

अगर बिलकुल सही-सही सारी स्टेप्स को फॉलो किया जायेगा तो BIOS Key दबाते ही या कुछ ही सेकंड बाद आपके सामने BIOS Setting खुल जाएगी….

 

 

FAQ-BIOS पर अक्सर पूछे जाने वाले सवाल जवाब:-

 

BIOS हार्डवेयर है या सॉफ्टवेयर?

BIOS एक विशेष प्रकार का सॉफ्टवेयर है जो कि कंप्यूटर के हार्डवेयर Component का Operating System के साथ Interface करता है.

BIOS का आविष्कार किसने किया?

BIOS का अबिष्कार 1975 में अमेरिकी कंप्यूटर वैज्ञानिक Gary Kildall ने किया था.

BIOS का फुल फॉर्म क्या है?

BIOS का फुल फॉर्म Basic Input Output System है.

BIOS कंप्यूटर में कहाँ होता है?

BIOS की सारी Setting मदरबोर्ड में लगी एक चिप में स्टोर होती है जिसे कि CMOS कहते हैं.

 

 

Conclusion

  

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख  Bios क्या होता है? कंप्यूटर में बायोस के मुख्य कार्य क्या है? की जानकारी  जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

Bios क्या होता है? कंप्यूटर में बायोस के मुख्य कार्य क्या है? की जानकारी

 

Leave a Comment