ब्लॉगिंग क्या है? अपना ब्लॉग कैसे बनायें? सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में

दोस्तों ब्लॉगिंग क्या है? अगर आप इस पोस्ट को पढ़ रहे हैं ,तो इसका ये मतलब है के आपको professional blogging में interest है. आज के इस लेख में हम जानेंगे की ब्लॉग्गिंग क्या है. हम जब भी कोई चीज़ professionally करते हैं, तो इसका ये मतलब होता है के हम अपना best skills का इस्तमाल कर उससे अच्छा earn करना चाहते हैं.

Professional Blogging के बारे में जानने से पहले, मैं आपको Blogging के बारे में थोडा idea दे देता हूँ. Blog एक तरह का website होता है, जहाँ लोग अपना knowledge or information शेयर करते हैं. हर रोज लाखो, करोडो लोग अपनी problems की solution के लिए Google या फिर अलग अलग search engines में search करते हैं. इसका मतलब ये नहीं है के search engine लोगो के problems की solutions रखता है. इसका काम बस ये ही के, ये अलग अलग blogs and websites से information collect करके आपको उनकी links दिखाता है.

हम ये कह सकते हैं के, लोग अपनी जानकारी share करने के लिए blogging करते हैं. इससे दोनों Readers और Bloggers (Writers) का फायेदा होता है क्यूंकि दोनों एक दुसरे की सहायता करते हैं.

 

ब्लॉगिंग क्या है? अपना ब्लॉग कैसे बनायें? सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में
TEJWIKI.IN

 

ब्लॉगिंग क्या है? (what is blogging)

 

Blog बनाकर उस पर हर रोज पोस्ट डालना,पब्लिश करना औऱ उसे अच्छे से डिज़ाइन करना Blogging कहलाता है Blog पर हम किसी भी विषय पर लिख सकते है और साथ ही इंटरनेट की दुनिया में कदम रख सकते है Blog के जरिये आप ऑनलाइन पैसे भी कमा सकते है जैसे बहुत से लोग पैसा कमा रहे है

 

ब्लॉगर क्या है (what is blogger)

 

जो व्यक्ति Blog बनाकर उस पर blogging करता है हर रोज कोई न कोई पोस्ट शेयर करता है और लोगो से जुड़ने के लिए उनसे बाते करता है वो blogger होता है यह अपने ब्लॉग पर ऐसे पोस्ट डालता है जिसे किसी की हेल्प होती है और लोग उसे पड़ना पसन्द करते है इन सब को पढ़ने के बाद आपके मन में कुछ इस तरह के सवाल आते है तो चलिये देखते है आपके सवाल और उनके जवाब

 

 

ब्लॉग के प्रकार (Type of blog)

 

ब्लॉग्स को कई वर्गों में बांटा जा सकता है. लेखन के आधार पर, प्रस्तुति के आधार पर, ब्लॉग़ तकनीक के आधर पर. इस प्रकार अन्य तरीके भी है जो ब्लॉग के विभिन्न प्रकार बता सकते है. मगर यहाँ पर हम ब्लॉग़ के सबसे अधिक प्रचलित 5 प्रकारों के बारे में बात करेंगे.

  • Personal Blogs
  • Group Blogs
  • Microblogs
  • Business Blogs
  • Aggregated Blogs
  • Personal Blogs

पर्सनल ब्लॉग एक ऑनलाईन डायरी है जो वेब पर प्रकाशित होती है. इस डायरी (ब्लॉग) में एक व्यक्ति, समूह या संगठन नही, अपने निजि विचार शेयर करता है. इसलिए इस प्रकार के ब्लॉग़ परिवार के सदस्यों, रिश्तेदारों, दोस्तों, कार्यालय कर्मीयों के अलावा थोडे बहुत पाठकों को अपनी तरफ आकर्षित कर पाते है. मगर, आजकल पर्सनल ब्लॉगिंग़ पेशेवर तरीके से की जाने लगी है. इसलिए इस प्रकार के ब्लॉग भी खूब ट्रफिक आकर्षित कर रहे है और लोगों को पैसा कमाने का साधन भी जुटा रहे है.

जी हां. आप एक ब्लॉग से पैसे भी कमा सकते है. आजकल ब्लॉगिंग से पैसे कमाने का ट्रेंड चल रहा है (अधिक जानकारी के लिए गूगल करिए, “ब्लॉग/ब्लॉगिंग से पैसे कैसे कमाये”‌) और पेशेवर ब्लॉग़र फुल टाईम इनकम अपने पर्सनल ब्लॉग से कमाने में कामयाब हो रहे है.

 

Group Blogs

 

किसी ब्लॉग को एक से अधिक लोगों द्वारा लिखा जाता है तो ऐसे ब्लॉग ग्रुप ब्लॉग कहलाते है. ये ब्लॉग ज्यादा बडी संख्या में पाठकों को प्रभावित करते है और इनका ट्रैफिक भी पर्सनल ब्लॉग से बहुत ज्यादा होता है. साथ ही ये इंगेजमेंट भी ज्यादा अच्छे तरीके से करने में कामयाब हो पाते है. इस तरह के ब्लॉग एक से ज्यादा टॉपिक पर लिखे जाते है. एक ब्लॉगर सिर्फ एक टॉपिक पर अपने विचार व्यक्त करता है और अन्य ब्लॉगर अपने पसंद के अन्य टॉपिक्स पर अपने विचार व्यक्त करते है. इसका एक फायदा ये भी होता है कि ब्लॉग संभालने का काम बंट जाता है इसलिए सिर्फ एक ही व्यक्ति पर काम का दबाव नहीं रहता है.

 

Micro Blogs

 

आपने ट्विटर का नाम तो सुना ही होगा. और इसका इस्तेमाल भी करते होगें. ट्वीटर अपने युजर्स को केवल 140 कैरेक्टर्स लिखने की अनुमति देता है. ब्लॉगिंग क्या है? इसे ही माइक्रोब्लॉग कहते है और माइक्रोब्लॉगिंग करने का कार्य माइक्रोब्लॉगिंग कहलाता है. ट्वीटर के अलावा फेसबुक, ट्म्बलर आदि प्लैटफॉर्म इस सेवा को मुहैया करा रहे है.

इसका उपयोग राजनेता, अभिनेता, लेखक, गायक आदि पेशेवर लोग अपने नए शॉ, किताबों, फिल्मों तथा अन्य अपडेट्स अपने फॉलोवर्स को बताने के लिए करते है. इससे फॉलोवर्स के साथ इनका जुडाव ज्यादा मजबुत बनता है. इसलिए सोशल मीडिया साईटों पर इन सेलेब्रिटीज के लाखों-करोडों की संख्या में फैन फॉलोविंग होती है.

सोशल मीडिया साईटों पर फॉलोवर्स की संख्या कामयाबी का स्टेटस समझा जाता है.

 

Business Blogs

 

सॉफ्टवेयर कंपनिया, निजि व्यापारी, गैर-सरकारी संगठन अपने कर्मचारियों को अपडेट देने के लिए ब्लॉग का उपयोग करते है. इस प्रकार का ब्लॉग केवल कर्मचारियों तक सीमित होता है और कोई अन्य व्यक्ति उसे नहीं पढ सकता है. इस प्रकार के ब्लॉग बिजनेस ब्लॉग कहलाते है. चुंकि इनका उपयोग एक कंपनी विशेष द्वारा अपने कर्मचारियों के लिए होता है इसलिए इन्हे Corporate Blogs भी कहते है.

कंपनिया, सदस्यता क्ल्ब, ग्रुप्स, संगठन आदि नई सूचना, मीटिंग्स की जानकारी, बिजनेस रिपोर्ट आदि शेयर करने के लिए ब्लॉग्स का इस्तेमाल करती है. इस तरह अपडेट देने से कम समय मे अधिक कर्मचारियों तक सूचना पहुँच जाती है. इस प्रकार के ब्लॉग निजी ब्लॉग भी कहलाते है.

वहीं दूसरी तरफ कुछ बिजनेस नए ग्राहकों तक पहुचने के लिए भी ब्लॉग का इस्तेमाल कर रहे है. अपने प्रोडक्ट अथवा सेवा से संबंधित जानकारी ब्लॉग के माध्यम से शेयर करके नए संभावित ग्राहकों को वेबसाईट पर लाया जा रहा है. यह तरीका अन्य मार्केटिंग साधनों से ज्यादा सस्ता साबित हो रहा है. इसलिए इस प्रकार के ब्लॉग्स की संख्या दिनो-दिन बढ़ती ही जा रही है.

 

Aggregated Blogs

 

कुछ ब्लॉग अपनी पोस्ट में संबंधित अन्य ब्लॉग भी शामिल कर देते है. या फिर किसी टॉपिक, प्रोडक्ट, सेवा से जुडे हुए पोस्ट शेयर करते है. इस तरह पाठकों को एक ही जगह पर एक टॉपिक से जुडी हुई जानकारी प्राप्त हो जाती है. ऐसे ब्लॉग Aggregated Blogs कहलाते है.

 

 

अपना ब्लॉग कैसे बनायें (How to make your own blog)

 

ब्लॉग बनाना अब मिनटों का काम हो गया है. आपको प्रोगामिंग सीखने, कम्प्युटर या लैपटॉप खरीदने तथा कॉलेज या फिर संस्था से ट्रैनिंग लेने की भी कोई जरूरत नहीं है. क्योंकि ब्लॉग बनाने के लिए आपको इन सब चीजों की कोई जरूरत नहीं है आप ब्लॉगिंग टूल्स की सहायता से मिनटों में अपना ब्लॉग बनाकर पहली पोस्ट भी प्रकाशित कर सकते है.

ब्लॉग बनाने के लिए आपको निम्न चीजों की जरुरत पडने वाली है.

  • Domain Name
  • Hosting
  • SSL Certificate
  • Some Knowledge

 

Domain Name

 

यह आपके ब्लॉग का नाम होगा. यानि TutorialPandit.com एक डोमेन नेम है इसी तरह आपको भी एक अपने ब्लॉग के लिए एक डोमेन नेम खरीदना पडेगा. जिसे आप डोमेन रजिस्ट्रार से एक हजार रुपये से भी कम दाम में खरीद सकते है.

 

Hosting

 

इंटरनेट से जुडने के लिए हमें इंटरनेट कनेक्शन और कम्प्युटर की जरूरत पडती है जो 24 घंटे लाइव रह सके. ऐसा कम्प्युटर हमें वेब होस्टिंग कंपनियों द्वारा उपलब्ध करवाया जाता है. जहां पर हमारा ब्लॉग कंटेट तथा अन्य आवश्यक टूल्स एवं सामग्री स्टोर रहती है.

होस्टिंग़ में हमें एक कम्प्युटर मिलता है जिसे सर्वर कहा जाता है. इस सर्वर पर हम ब्लॉगिंग़ टूल (जैसे वर्डप्रेस) इंस्टॉल करते है और डोमेन नेम तथा होस्टिंग को एक-दूसरे से कनेक्ट करते है. यह काम हो जाने के बाद हमारा ब्लॉग लगभग तैयार हो जाता है.

 

SSL Certificate

 

ब्लॉग़िंग के शुरुआती दिनों में इसकी जरूरत नहीं थी. मगर, इसके बढ़ते प्रभाव और वाणिज्यीकरण के कारण इसका प्रयोग गैर-कानूनी तरीके से पैसे कमाने तथा युजर्स की पर्सनल जानकारी चुराने के लिए होने लगा. ई-कॉमर्स के कारण ये घटनाएं बढ़ने की ज्यादा संभावना थी. ब्लॉगिंग क्या है? इसलिए सभी साईटों को SSL Certificate इंस्टॉल करना अनिवार्य से हो गया. यदि आप भी ब्लॉग बनाना चाहते है तो डोमेन नेम और होस्टिंग के साथ Secure Sockets Layer Certificate जरूर इंस्टॉल करें.

यदि आपके पास ये तीन चीजें हैं तो आप थोडें से इंटरनेट और कम्प्युटर ज्ञान तथा कॉमन सेंस का इस्तेमाल करके ब्लॉग शुरु कर सकते है. आप फ्री ब्लॉग कैसे बनाये गाईड को पढकर इस बारे में और अधिक जानकारी लें सकते है. इस गाईड में हमने फ्री ब्लॉग़ बनाना बताया है.

 

FAQ- ब्लॉगिंग पर अक्सर पूछे जाने वाले सवाल जवाब :-

 

kya blog se paise kmaye ja skte hai aur kese

 

Ans- हाँ बिल्कुल एक Blog बनाकर उसे पैसे कमाए जा सकते है सबसे पहले आपको Blogger.com पर जाकर एक ब्लॉग बनाना पड़ता है और उस पर हर रोज पोस्ट लिखनी होती है जब लोगो द्वारा आपका पोस्ट पसन्द आने लगेगा और बहुत से लोग आपके Blog पर आने लगेंगे तो आप Google Adsense से अपने ब्लॉग को जोड़कर पैसे कमाना शरू कर सकते है

 

Blog dikhne main kesa hota hai

 

Ans- जब आप अपना Blog बना लेते है तो उसका इंटरफ़ेस कुछ इस तरह का दिखाई देता है जिसमे कोई तरह की कैटेगरी होती है जिनकी मदत से ब्लॉग पर काम किया जाता है और जो बिल्कुल दिखने में वेबसाइट की तरह दिखता है

 

Blogging kis subject(visy) pr kre

 

Ans- आप blogging किसी भी विषय पर कर सकते है जैसे खेल, स्पोर्ट्स, इंटेरेंमेन्ट, हेल्थ,टेक्नोलॉजी जिस भी विषय में आपकी रुचि हो आप उसी तरह का अपना Blog और वेबसाइट बना सकते है

 

Website aur Blog main kya difference hai

 

Ans-वेबसाइट बनाने के लिए आपको कई तरह की web designing की जानकारी की जरूरत होती है और इसे बनाने में पैसे लगते है जबकि blog एक फ्री सर्विस है जो वेबसाइट का ही काम करती है

 

Blog kaise bnaye

 

Ans-Blog बनाने के लिए आपको Blogger.com पर जाकर अपना एकाउंट बना पड़ता है और फिर वहाँ से अपने ब्लॉग या वेबसाइट का नाम लेना पड़ता है

 

Blog bnane ke liye paise lgte hai

 

Ans-नहीं, यह बिल्कुल फ्री है इसमें कोई पैसा नही लगता है

अगर आपके मन मे अब भी कोई सवाल है तो कमेंट बॉक्स में लिख दे आपको आपके सवाल का जवाब जरूर मिलेगा और हाँ दोस्तो Blog बनाकर उस पर पोस्ट डालकर पैसे कमाने के लिए उसमे कोई तरह की सेटिंग करनी पड़ती है और अपने Blog को लोगो तक पहुचने के लिए उसे वेबसाइट की तरह Google से जोड़ना पड़ता है और कोई तरह कोई चीजे करनी पड़ती है

 

 

Conclusion

  

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख ब्लॉगिंग क्या है? अपना ब्लॉग कैसे बनायें? सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में   जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

ब्लॉगिंग क्या है? अपना ब्लॉग कैसे बनायें? सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में

 

 

Leave a Comment