क्लाउड स्टोरेज क्या है (What is Cloud Storage in Hindi) पूरी जानकारी

आज हम इस पोस्ट के माध्यम से जानेंगे कि क्लाउड स्टोरेज क्या है तथा Cloud Storage ko Use Kaise Kare और Cloud Storage Use Karne Ke Fayde इसी के साथ-साथ हम आपको Disadvantages Of Cloud Storage in hindi क्या-क्या हो सकते हैं?आज के समय में यह टेक्नोलॉजी काफी ज्यादा विकसित हो रही है और ज्यादा से ज्यादा लोगों के द्वारा इस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जा रहा है।

क्योंकि जितने भी लोग जैसे कोई बिजनेस करता हैं वह अपने महत्वपूर्ण डाटा को ऑनलाइन सुरक्षित Cloud Storage पर रखते हैं ताकि जब भी उन्हें जरूरत पड़े तो वह इस डाटा को एकत्रित कर सकें। अब Traditional Data Storage (मेमोरी, पेनड्राइव, हार्डडिस्क, डीवीडी, इत्यादि) की तुलना में Cloud Storage का अधिक इस्तेमाल किया जाता हैं जिसे आप बड़ी आसानी से दुनिया के किसी भी स्थान से कभी भी Access कर सकते हो और इस Physical Storage Device को कही ले जाने की भी जरूरत नही पड़ती।

किसी भी Physical Storage Device के डाटा को ऑनलाइन सुरक्षित स्टोर करके रखना है तो उसके लिए क्लाउड स्टोरेज (Cloud Storage) का उपयोग किया जाता है। क्लाउड स्टोरेज एक ऐसा ऑनलाइन स्टोरेज है जहां पर हम अपने Data को डिजिटल स्टोर Store करके उसका बैकअप (Backup) बना सकते हैं। क्लाउड स्टोरेज (Cloud Storage) पर हम सभी अपने Data को सुरक्षित रख सकते हैं जैसे कोई डाटा Photos, Videos, Documents तथा Phone Numbers आदि को सुरक्षित रख सकते हैं और जब कभी भी हम Backup लेना चाहे तो किसी भी समय हम Backup ले सकते हैं।

 

क्लाउड स्टोरेज क्या है? (What is Cloud Storage in Hindi) पूरी जानकारी
TEJWIKI.IN

 

क्लाउड स्टोरेज क्या है? (What is Cloud Storage in Hindi)

 

Clould Storage का मलतब है की आपकी सारी data online किसी server में सुरक्षित रख जाएँगी जिसे आप जब चाहें कहीं भी और कभी भी इस्तमाल कर सकते हैं.

वैसे देखा जाये तो यदि किसी आम इन्सान से इसके बारे में पूछा जाये जिसको इसके बारे में कुछ भी पता नहीं तो वो ये समझेगा की आप किसी बदल या मौसम के बारे में बात कर रहे हैं. लेकिन में आपको बता दूँ की ये एक ऐसे Storage System के बारे में है जिसे की की data को off-site storage system में रखा जाता है और जिस एक third parts संभालती है.

अपने जरुरत के information को आप अपने personal computer या किसी local storage के बदले आप इसे किसी remote storage में store करते हो.

Internet के माध्यम से आप अपने इस database को अपने ही computer से घर बैठे access कर सकते हो.

यदि हम cloud storage की बात करें तो ये traditional data storage के मुकाबले बहुत ही फायेदेमंद साबित हुआ है. उदहारण स्वरुप अगर आप कोई भी data को cloud storage system में रखते हो तो इसे आप दुनिए के किसी भी जगह से access कर सकते हो बड़ी ही आसानी से.

इसके लिए आपको कोई physical storage device को ले जाने की जरुरत नहीं है जैसे की हम पहले किया करते थे. जरुरत पड़ने पर आप अपने data को access करने का authorization किसी दुसरे व्यक्ति को भी दे सकते हो जिससे की आप वहां मेह्जुद न होकर भी आपका काम बिना रुके चल सकता है.

 

 

क्लाउड स्टोरेज के प्रकार (Types of Cloud Storage)

 

अब तक तो हमें cloud storage के बारे में अच्छे से पता चल ही गया है अब चलिए जानते हैं की आखिर Cloud Store के कितने Types मेह्जुद हैं. अगर मुख्य रूप से देखा जाये तो Cloud Storage के चार प्रकार इस्तमाल में मेह्जुद हैं. वो हैं Personal, Public, Private और Hybrid.

Personal Cloud Storage

इसे Mobile Cloud Storage के नाम से भी जाना चाहता है, personal cloud storage एक हिस्सा है Public cloud storage का जिसमें की individual’s data को clould में store किया जाता है.

और उसका access उस व्यक्ति को दिया जाता है ताकि वो कभी भी और कहीं से भी access किया जा सकता है. इसके साथ ये data syncing की भी सुविधा प्रदान करता है जिससे की users किसी भी device से इसको access कर सकते हैं.

उदाहरन के तोर पे Apple’s iCloud है.

 

Public Cloud Storage

Public Cloud Storage ये Storage आम इंसानों के लिए नहीं है बल्कि यहाँ बड़े बड़े enterprise अपना data store करते हैं. यहाँ enterprise और cloud storage provider एक साथ integrate होकर Enterprise data center में काम नहीं करते.

ये Storage को manage enterprise नहीं करते बल्कि वही company करती है जो की इन enterprises को storage service provide करती है. इसके लिए enterprises को ज्यादा tension लेने की जरुरत नहीं है.

Private Cloud Storage

ये cloud storage का एक ऐसा form हैं जहाँ की enterprise और cloud storage provider दोनों मिलकर या integrate हो जाते हैं enterprise’s data center में.

यहाँ इस private cloud storage में storage provider का infrastructure होता है enterprise’s data center में और जिसे typically storage provider ही manage करता है.

Private cloud storage मदद करता है किसी भी security threat के विरुद्ध, और किसी भी performance issue को solve करता है, इसके साथ cloud storage की सारी advantages भी देता है.

Hybrid Cloud Storage

Hybrid Cloud Storage देखा जाये तो एक combination होता है public और private cloud storage का की कुछ critical data enterprise’s के private cloud में रहता है वहीँ दुसरे data को store और access किया जा सकता है public cloud storage provider से.

 

Cloud Storage Requirements (जरूरतें)

 

जैसे की हम जानते हैं की जब Data को cloud storage में रखा जाता है तो ऐसे कुछ पहलुओं पर नज़र जरुर डाला जाता है की जिससे की company की critical data को हमेशा safe, secure, और available रखा जाता है ताकि जरुरत पड़ने पर उनका सही इस्तमाल किया जा सके.

इन्ही सभी चीज़ों के लिए कुछ fundamental requirements जिसे की consider किया जाता है data को cloud storage में रखने के पहले. तो चलिए उन्ही के बारे में कुछ और अधिक जानकरी प्राप्त करते हैं.

Durability

Data की durability को ख़ास ध्यान दिया जाता है, इसीलिए Data को redundantly store किया जाना चाहिए, वो भी multiple facilities के across रखा जाता है और multiple devices में भी रखा जाता है हरेक facility में.

ताकि Natural disasters या प्राकृतिक विपदा, इंसानी गलतियाँ, और mechanical faults उन data की कोई क्ष्यती न पहुंचा सके.

Availability

सभी data जरुरत के समय में हमेशा available रहना चाहिए ताकि उनका सही इस्तमाल हो सके. लेकिन production data और archives में काफी अंतर होता है. एक ideal cloud storage हमेशा सही balance of data को retrive करता है और उचित मूल्य में.

Security

सभी data ideally encrypted होनी चाहिए, दोनों rest के समय और transit के समय में भी. Permissions और access controls Cloud में वैसे ही काम करने चाहिए जैसे की वो local storage में काम करते हैं.

 

क्लाउड स्टोरेज का उपयोग कैसे करें – How To Use Cloud Storage Application On Mobile And Computer In Hindi?

 

यदि आप क्लाउड स्टोरेज का इस्तेमाल पहली बार कर रही हैं और आपको इसके बारे में बिल्कुल भी नहीं पता तो आपको परेशान होने की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है। क्योंकि अब हम आपको स्टेप बाय स्टेप क्लाउड स्टोरेज के बारे में पूरी जानकारी देंगे जिससे कि आप मोबाइल तथा कंप्यूटर दोनों पर ही क्लाउड स्टोरेज का इस्तेमाल कर पाएंगे।

यदि आप क्लाउड स्टोरेज (Cloud Storage) का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको अपनी एक ईमेल आईडी (Email Id) बनानी होगी।

जब आप ईमेल आईडी बना लेते हैं तो उसके पश्चात आपको गूगल ड्राइव (Google Drive) या फिर माइक्रोसॉफ्ट वनड्राइव (Microsoft Onedrive) एप्लीकेशन को अपने मोबाइल या फिर कंप्यूटर में Install करना होगा फिर आपको ईमेल आईडी (Email ID) की मदद से इनमें से किसी पर भी अपना अकाउंट (Account) बनाना होगा।

अब आप इन आईडी (Log IN) और पासवर्ड (Password) की सहायता से क्लाउड सर्विस एप्लीकेशन (Cloud Service Application) को चला सकते हैं। यदि आप फोन में क्लाउड स्टोरेज की एप्लीकेशन चला रहे हैं तो आप फाइल मैनेजर की सहायता से अपने क्लाउड स्टोरेज पर जो चाहे वह अपलोड कर सकते हैं क्लाउड स्टोरेज क्या है और कंप्यूटर में भी आप बिल्कुल इसी प्रकार क्लाउड स्टोरेज एप्लीकेशन (Cloud Storage Application) पर अपने डाटा को स्टोर कर सकते हैं।

 

Cloud Storage के concerns

 

मुझे तो लगता है की Cloud Storage के दो ही सबसे बड़े concerns हैं और वो हैं Reliability और Security.

क्यूंकि यदि कोई company अपनी सारी data को किसी Cloud Storage Provider को सुरक्षित रखने के लिए दे रही है तो उन्हें पहले कुछ ऐसे gurantee चाहिए जिससे उन्हें विस्वास हो सके उनके data एकदम से सुरक्षित है और उसे उनके बिना दूसरा कोई इस्तमाल नहीं कर सकता.

Data को ज्यादा secure रखने के लिए, प्राय सभी systems बहुत से techniques की combinations का इस्तमाल करती हैं जिसे मैंने आगे अच्छे से समझाया है.

 

 

• Encryption: सबसे पहला तरीका है ये encryption जिसका मतलब है की इसमें complex algorithm का इस्तमाल किया जाता है information को encode करने के लिए. और उस information को decode
करने के लिए encryption key की जरुरत होती है.

लेकिन ऐसी encryption को crack भी किया जा सकता है जिसके लिए की बहुत ही ज्यादा मात्रा में Computing power की जरुरत है और इसका
होना प्राय नामुमकिन है किसी hacker के पक्ष में.

• Authentication: ये check करने का process है, जिसमें की आपको User name और Password बनाने की जरुरत पड़ती है.

• Authorization: इस प्रक्रिया में पहले ही Client list कर दिया हुआ होता है की किन लोगों के पास सही माने में Authorize access है जिससे की वो cloud storage में स्तिथ information को access कर सकें. बहुत से corporations में multiple levels of authorization होते हैं.

उदहारण स्वरुप front-line employee के पास limited access होती है stored data को access करने के लिए जो की Cloud Storage में स्तिथ हैं वहीँ human resources के मुख्य के पास सभी data की access हो सकती है.

 

Cloud Storage Providers कौन-कौन है?

 

Google Drive की तरह ही बहुत से Cloud Storage Services है | जिनका use आप Online Cloud Storage के लिए कर सकते है | और बहुत आराम से अपने डाटा को Online कही से भी use कर सकते है |

#1 Dropbox :

Dropbox सबसे पोपुलर है Computer (Linux, Mac, Windows) और phone (Android, Windows, Blackberry, iPhone) के लिए आप अपने Email id से Dropbox में Data Store कर सकते है | और कही भी किसी भी Computer में अपना Email id लॉग इन करके अपने डाटा को download कर सकते है| Dropbox में आपको 2GB Data Storage Free में मिलता है | उसके बाद आपको पैसे देना पड़ेगा |

#2 Microsoft OneDrive:

यह Microsoft का Cloud Storage Service है | जिसमे आप Outlook या Hotmail Account से लॉग इन कर लॉग इन कर सकते है | इसमें आपको 5GB Free Cloud Storage मिलता है | उसके बाद अगर आप Microsoft OneDrive Cloud Storage का use करते है| तो आपको इसके लिए पैसे देने पड़ेंगे | यह बिलकुल Google Drive के जैसा है और आप इसे Phone और Computer दोनों में use कर सकते है |

#3 Copy:

Copy Cloud Storage Service अभी 2016 में लांच हुआ है | यह एक बहुत ही Useful Free File Sharing और Free Online Data Storage service है | जिसमे आपको करीब 15GB Free Online Space मिलेगा और इसके बाद अगर आपका 15 GB Storage फुल हो जाता है तो आपको 5GB और एडिशनल Online Free Space मिलेगा | Cloud Data Storage के लिए इसके साथ इसमें आपको best Cloud Security का Feature मिलता है | जो आपके Store Data को Online safe रखेगा |

#4 Apple iCloud:

यह Specially Apple user के लिए है अगर आप Apple iPhone या Apple Computer use करते है | तो आप iCloud Online Data Storage Service का use कर सकते है | इसके लिए आपके पास Apple id होना चाहिए | क्लाउड स्टोरेज क्या है Google और Microsoft के साथ ये सबसे Secure Cloud Storage Service है |इसमें आपको 5 GB free online Storage मिलता है और अगर आपको 5GB से ज्यादा Storage चाहिए तो इसके लिए आपको एक्स्ट्रा पैसे Pay करने पड़ेंगे |

#5 Amazon Cloud Drive:

Amazon Cloud Drive दुनिया की सबसे बड़ी e-Commerce Company Amazon.com का Cloud Storage Service है इसमें भी आपको 5GB Free Data Space मिलेगा उसेक बाद Store करने के लिए पैसे Pay करने पड़ेंगे | But अगर Cloud Security के Purpose से देखा जाये तो ये बहुत ही अच्छा Cloud Storage है क्योकि Amazon Web Service को बहुत से Online Marketing Company अपने Server में use करती है अपना Data Store करने के लिए | अगर आपके पास Android या iOS phone है तो आप इसका app download करके use कर सकते है |

 

क्लाउड स्टोरेज के फायदे (Advantages of Cloud Storage)

 

वैसे देखा जाये तो Cloud Storage के बहुत से advantages हैं जिसे मैंने निचे लिखा हुआ है.

1. Usability: प्राय सभी cloud storage services के पास desktop folders होती है Mac’s और PC’s के लिए. इससे users को बहुत ही आसानी हो जाती है files को drag and drop करने के लिए cloud storage और उनके local storage के बिच.

2. Bandwidth: यहाँ आप सभी लोगों को individually mail भेजने की जरुरत नहीं बल्कि आप बस एक web link अपने recipients को भेज सकते हैं अपने email के जरिये.

3. Accessibility: आपकी Stored files को आप दुनिया के किसी भी कोने से access कर सकते हैं Internet की मदद से.

4. Disaster Recovery: ये तो सभी को पता ही है की सभी business में एक emergency backup plan हमेशा ready रखना चाहिए किसी emergency परिस्तिथि के लिए.

इस संधार्व में Cloud storage को आप back‐up plan के तरह इस्तमाल कर सकते हैं अपने businesses के लिए बस आपको अपनी सारी important documents को cloud storage में store कर के रखने की जरुरत है क्लाउड स्टोरेज क्या है. और जिसे आप बाद में बड़ी आसानी से कहीं और किसी भी समय इस्तमाल कर सकते हैं.

5. Cost Savings: ये पाया गया है की Businesses और organizations बहुत हद तक अपने annual operating costs को कम कर सकते हैं cloud storage के इस्तमाल से, क्यूंकि cloud storage की कीमत बस 3 से 4 cents per gigabyte होती है अपने data को store करने के लिए.

इसके साथ companies को data store करने के लिए अपने internal power को भी कर्च करने की जरुरत नहीं है.

 

क्लाउड स्टोरेज के नुकसान (Disadvantages of Cloud Storage)

 

1. Usability: इसे इस्तमाल करते वक़्त थोडा ध्यान रखिये क्यूंकि जब आप drag/drop कर रहे हैं तब आपकी document पूरी तरह से cloud storage folder में चली जा रही है. तो यदि आप किसी document की copy अपने system में भी रखना चाहते हैं तब उन files को copy और paste कीजिये.

2. Bandwidth: प्राय सभी cloud storage services की एक specific bandwidth allowance होती है. और अगर कोई organization उसे surpass करता है तो उन्हें इसके लिए additional charges भी देने को पड़ सकता है और जो की बहुत ही कीमती होती हैं. मेरे हिसाब से इन सभी चीज़ों का थोडा ख़ास ख्याल रखना चाहिए.

3. Accessibility: अगर आपके पास Internet नहीं है तब तो आप अपने data को access नहीं कर सकते और आपको इन्टरनेट का इंतजार करना पड़ेगा जो की समय की बर्बादी है.

4. Data Security: क्यूंकि आपकी सारी data किसी दुसरे के हाथ में है इसलिए उनकी security को लेकर हमेशा से चिंता बनी रहेगी. ये बात की possibilty भी है की वो आपके data का दुरुपयोग भी कर सकते हैं. इसीलिए सबसे पहले उनकी terms and conditions को पड़ना बिलकुल न भूलें.

5. Software: अगर आप अपने files को locally बदलना चाहते हैं अपने multiple device के द्वारा तब आपको अपने सारे devices में उन softwares को install करना पड़ेगा और कहीं तभी जाकर आप ये काम कर सकते हैं.

 

Clould Storage और Cloud Computing में क्या अंतर है (What is the difference between Cloud Storage and Cloud Computing)

 

Cloud Storage:

Cloud storage में हम simply data को store करते हैं और उनकी backups को एक external location offsite में रखा जाता है. इसका मुख्य benefit ये है की ये company के data को पूरी तरह से secure रखता है और हमेशा जरुरत के समय इस्तमाल के लिए तैयार रखता है.

और ये data किसी virtual server में मेह्जुद रहती है न की किसी employee के device में. Cloud storage एक cloud computing model है क्लाउड स्टोरेज क्या है जहाँ की data को remote servers में store किया जाता है और उसे Internet के द्वारा access किया जाता है.

इन्हें maintained, operated and managed किसी एक cloud storage service provider के द्वारा होती है. इनकी storage servers virtualization techniques के आधार पर बनी होती है.

ये आजकल हमारे जीवन का एक मुख्य हिस्सा बन गया है और अब हम अपने data को दुनिया के किसी भी कोने से access कर सकते हैं.

 

Cloud Computing:

 

वहीँ Cloud computing वो running applications हैं जिन्हें की virtual desktop में एक secure internet connection के ऊपर run किया जाता है.

Cloud computing की मदद से हम वाकई कंप्यूटर प्रसंस्करण संसाधनों और मांग पर किसी भी कंप्यूटर और अन्य उपकरणों को डेटा प्रदान करते हैं।

मैंने निचे कुछ ऐसे लाभों के बारे में लिखा है जिनसे की companies को बहुत फ़ायदा हुआ है :

  • इसमें किसी special hardware की requirement नहीं होती है
  • यहाँ हम कहीं से भी apps और data के ऊपर access पा सकते हैं और उन्हें किसी भी device पर run कर सकते हैं.
  • यहाँ पर नए upgrades, updates, और patches को बड़े आसानी से सभी devices में fast, simple, और easy ढंग से पहुँचाया जा सकता है क्यूंकि इसमें सभी devices के जगह बस एक ही virtual server में सारी चीज़ों को perform किया जा सकता है.

 

 

Conclusion

 

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख क्लाउड स्टोरेज क्या है? (What is Cloud Storage in Hindi) पूरी जानकारी  जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

क्लाउड स्टोरेज क्या है? (What is Cloud Storage in Hindi) पूरी जानकारी

 

Join our Facebook Group

   Join Whatsapp Group

 

Leave a Comment