Ethereum क्या है? ये Bitcoin से किस प्रकार अलग है? पूरी जानकारी

दोस्तों क्या आप भी क्रिप्टोकरेंसी में रूचि रखते हैं और यह जानना चाहते हैं Ethereum क्या है?? कैसे काम करता है? और इसे कैसे खरीदें तो इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें क्यूंकि इस पोस्ट में मैंने आपके सभी सवालों का जवाब आसान भाषा में दिया है – What is Ethereum Coin in Hindi?

इथीरियम एक ब्लॉकचेन प्लेटफॉर्म है जिसकी अपनी क्रिप्टोकरेंसी है, जिसे ईथर (ETH) या इथीरियम कहा जाता है, और इसकी अपनी प्रोग्रामिंग भाषा, जिसे सॉलिडिटी कहा जाता है।

एक ब्लॉकचेन नेटवर्क के रूप में, एथेरियम लेनदेन को सत्यापित करने और रिकॉर्ड करने के लिए एक विकेन्द्रीकृत (decentralized) सार्वजनिक खाता बही (ledger)है। इथीरियम नेटवर्क के उपयोगकर्ता प्लेटफ़ॉर्म पर एप्लिकेशन बना सकते हैं, प्रकाशित कर सकते हैं, मुद्रीकृत कर सकते हैं और उनका उपयोग कर सकते हैं, और भुगतान के रूप में इसके ईथर क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग कर सकते हैं।

 

Ethereum क्या है? ये Bitcoin से किस प्रकार अलग है? पूरी जानकारी
TEJWIKI.IN

 

Ethereum क्या है? (What is Ethereum in Hindi)

 

Ethereum जिसे की Ether भी कहा जाता है, ये तीसरा सबसे ज्यादा valuable Digital Money हैं Bitcoin के बाद और जिसकी Market Value दुसरे स्थान में हैं अभी. ये जिस technology पर काम करती है उसे Ethereum Blockchain कहा जाता है. इसे सबसे पहले एक 19 वर्ष के Bitcoin Programmer जिनका नाम है Vitalik buterin ने सन 2013 में सबसे पहले दुनिया के सामने लाया था. इस CryptoCurrency ने अपनी popularity को बहुत ही कम समय में बहुत ऊपर तक ले लिया है. यदि हम इसकी अभी के valuation की बात करें तब ये होगा करीब $46 billion (£34bn), जो की लगभग $480 प्रति coin है. ये price ऊपर निचे होते रहती है.

Buterin ने Ethereum को कुछ इस प्रकार से improve किया है की ये Bitcoin के मुकाबले बहुत हद तक बेहतर है. Bitcoin के जैसे ही ये एक Decentralised Payment Network है जिसकी अपनी Cryptographic Currency है जिसे की दुनिया में हम किसी भी जगह को Internet की मदद से भेज सकते हैं और ऐसा करने के लिए हमें किसी bank या third party के ऊपर निर्भर नहीं होना पड़ेगा.

 

 

इन Coded Transactions को Decentralised ledger पर store किया जाता है जिसे Blockchain भी कहा जाता है और ये सभी को visible होता है जो की network में मेह्जुद रहते हैं.

 

Ethereum को किसने बनाया है? (Who created Ethereum)

 

जैसे की हम जानते हैं की Bitcoin को बनाने वाले का नाम है Satoshi Nakamoto जो की एक unknown इन्सान है, जिसके बारे में किसी को सही जानकरी नहीं है. लेकिन Ethereum में बात कुछ अलग है इसके जनक का नाम है Vitalik Buterin जो की Canada के निवासी हैं और जिनका जन्म Russia में हुआ था. उन्होंने 2013 में इस idea को publish किया था. और जिसे पूरी तरह से set up करने में दो साल लग गए.

Buterin एक बहुत ही मेधावी छात्र हैं जिनकी दिलचस्पी गणित विज्ञान में काफी ज्यादा है और उन्होंने International Olympiad in Informatics सन 2012 में Bronze Medal जीता था.

उन्हें Thiel Fellowship जो की worth $100,000 की थी सन 2014 में मिली थी जिसके बाद उन्होंने University of Waterloo से drop out कर लिया. Buterin और Canadian entrepreneur Joseph Lubin से मिलकर Ethereum Switzerland GmbH की शुरुवात की एक वर्ष के अंतराल के बाद.

 

Ethereum किस technology पर आधारित है |

 

Ethereum technology को स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट बनाने और पब्लिश करने और Distributed एप्लीकेशन (dApps) के लिए बनाये गया था|

इसका फायदा ये है की जो app ethereum के blockchain पर बनेगी तो इसके बीच मे कोई थर्ड पार्टी प्रोवाइडर नहीं होंगे सारा कण्ट्रोल owner के हाथ मे होगा|

  • वेबसाइट या app के अन्य रिस्क कम हो जायेगे जैसे की downtime, database failure, server down etc
  • थर्ड पार्टी ना होने की वजह से आपके साथ फ्रॉड नहीं हो सकते
  • सारा कण्ट्रोल आपके हाथ मे है
  • Payment के लिए आप ethereum के क्रिप्टोकर्रेंवंसी का use कर सकते है|

 

ये Bitcoin से किस प्रकार अलग है? (How is it different from Bitcoin)

 

क्यूंकि ये second-biggest cryptocurrency है Bitcoin के बाद इसलिए Ethereum को हमेशा से Bitcoin के साथ compare किया गया है. लेकिन देखा गया है की Ethereum Bitcoin के मुकाबले बहुत से प्रकार से बेहतर माना गया है. तो चलिए इसके बारे में जानते हैं.

दोनों का काम लगभग सामान ही है लेकिन दोनों में कुछ अंतर भी है.

1. Block Times का छोटा होना – Ethereum में blocks को mining करने में roughly 15 seconds लगते हैं वहीँ Bitcoin’s में ये 10-minutes की rate से होते हैं. जल्दी से हो जाने से Blockchain को transaction data को confirm करने के लिए बहुत ही कम समय लगता है जिससे ज्यादा से ज्यादा transaction हो सकते हैं.

2. ज्यादा Sophisticated Fee Structure का होना – Ethereum में transaction fees storage needs और network usage पर आधारित होते हैं. वहीँ Bitcoin transactions block size पर आधारित होते हैं और एक दुसरे से compete करते रहते हैं.

3. ज्यादा Sophisticated Mining का होना – Bitcoin की mining में ASICs (Application-Specific Integrated Circuits) की जरुरत होती है, जिसे की ज्यादा मात्रा में capital investment की जरुरत होती है mine करने के लिए. वहीँ Ethereum’s mining की algorithm को design किया गया है ASIC-resistance को ध्यान में रखते हुए, जिससे की आसानी से mining को decentralized किया जा सकता है.

4. ज्यादा Transaction Fees का न होना – Bitcoin की तुलना में Ethereum में Transaction Fees कम पड़ती है.

5. ज्यादा से ज्यादा Technology का इस्तमाल होना – Ethereum में currency के साथ साथ दुसरे third party application को भी allow किया जाता है Network में run होने के लिए वहीँ Bitcoin में केवल currency को ही allow किया जाता है Network में run होने के लिए.

6. Miners के लिए ज्यादा Profit – Ethereum में Bitcoin के मुकाबले Miners ज्यादा profit कमाते हैं.

 

एथेरियम क्यों उपयोगी है? (Why is Ethereum useful)

 

जबकि बिटकॉइन आपको एक वैश्विक वित्तीय नेटवर्क में भाग लेने की अनुमति देता है, Ethereum का उपयोग करके आप एक Global computational network में भाग ले सकते हैं. यह Smart contracts के माध्यम से किया जाता है, जो कोड की स्क्रिप्ट हैं जो Ethereum ब्लॉकचेन में Active किए जा सकते हैं.

हालाँकि Smart contracts अभी भी एक बहुत नई तकनीक है, लेकिन उनके पास कई अलग-अलग क्षेत्रों में संभावित Applications की एक विस्तृत श्रृंखला है, जैसे मतदान, वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला, चिकित्सा रिकॉर्ड, वित्तीय प्रणाली और संभवतः अन्य जिन्हें अभी तक खोजा जाना है

 

Ethereum की Price किस तरह से Affect होती है?

 

जब से Ethereum को launch किया गया है तब से इसका मूल्य धीरे धीरे बढ़ रहा है, वहीँ bitcoin की price में काफी जल्दी बढ़ोतरी आई है.

बिच में Ethereum के मूल्य में काफी कमी आई थी क्यूँकी किसी ने इसके Founder को मृत घोषित कर दिया था जो की एक अफवाह हो थी, इसके चलते एक ही दिन में Ethereum का मूल्य 20% तक कम गया था. हाल ही में ही कई बड़े companies ने Etherem में अच्छा Investment किया है जिसके चलते इसके मूल्य में काफी बढ़ोतरी आई है.

 

Ethereum ज्यादा Focus “smart contracts” पर देता है

 

अब बात उठता है की ये Smart Contract क्या हैं? तो में आपको बता देना चाहता हूँ की ये Contract को code में लिखा जाता है, जिसे की Creator(s) blockchain में upload करते हैं. यदि कभी भी किसी contracts को execute किया जाता है तब सभी nodes जो की Network में मेह्जुद हैं उन्हें run करते हैं, जिन्हें बाद में Blockchain में upload किया जाता है, और ऐसे ही उन्हें Public Ledger में store किया जाता है जो की theoretically tamper-proof होते हैं.

छोटे Contracts structured होते हैं If-then statements की तरह, जब कुछ conditions fulfill होते हैं तब वो Program उस Contract को पूरी करती है.

क्यूंकि सभी computers जो की network में स्तिथ है वो सारे हो रहे Transaction जो की Digital ledger में हो रही है को track कर रही होती है, इसलिए इस चीज़ को tamper करना या छेड़ना संभव नहीं है. अगर किसी ने इसके साथ कोई छेड़खानी की होगी तो इसके बारे में सभी को पता चल जायेगा.

 

Ethereum की Team

 

Vitalik Buterin (CEO) – 2011 में Bitcoin की मदद से, Vitalik ने cryptocurrencies और blockchain technologies को discover किया. उसने Bitcoin को समझने के लिए 2012 में Bitcoin Magzine को देखा.

2014 में Theil Fellowship मिलने के बाद, उसने Ethereum पर full-time काम करने के लिए University of Waterloo को drop out कर दिया. Vitalik ने इस बात को समझा कि future में offer करने के लिए blockchain technology के पास क्या है और 2013 में उसने Ethereum को invent किया था.

Gavin Wood (CTO) – 2014 में एक mutual friend के ज़रिये Gavin Vitalik से मिले. उसने smart contract language Solidity को बनाया. Ethereum Virtual Machine (EVM) के लिए, उन्होंने Ethereum blockchain पर पहला yellow paper भी लिखा.

 

 

Jeffery Wilcke – Inception के बाद, वह Ethereum पर Go programming की implementation के कार्य को देख रहें हैं.

Ming Chan – वह Ethereum के executive director के तौर पर काम कर रहे है और Ethereum blockchain की regulatory और legal matters की निगरानी करते हैं.

कितने लोग ethereum का इस्तमाल करते हैं?
आज लघभग 12 million से भी ज्यादा cryptocurrency wallets मेह्जुद हैं जो की ether को hold किये हुए है. इनकी संख्या धीरे धीरे बढ़ भी रही है.

 

क्या आपको Ethereum में Invest करनी चाहिए? (Should you invest in Ethereum)

 

अगर में Ethereum के मूल्य की बात करूँ तो बहुत ही कम समय में इनका मूल्य काफी बढ़ गया है और बढ़ता ही जा रहा है. एक बात आप सभी को में बता देना चाहता हूँ की Cryptocurrencies की मूल्य का कोई भी वास्तविकता नहीं होता है और इनमें उतार चढ़ाव होता रहता है.

इसलिए ऐसे बहुत से लोगों के बारे में आपने सुना भी होगा की कैसे वो बहुत ही कम समय में करोडपति बन गए हैं. ये सभी चीज़ें Ethereum की ही देन है. इसलिए उतनी ही Invest करें जितनी आपके दे पाने की क्ष्य्मता हो.

Ethereum में इन्वेस्ट करने के लिए सबसे बढ़िया प्लाट्फ़ोर्म है Wazirx। यक़ीन मानिए मैंने भी इसमें बहुत से cryptocurrency में इन्वेस्ट किया है।

 

Ethereum का भविष्य क्या है? (What is the future of Ethereum)

 

जब से Ethereum की उत्पत्तिं हुई है तब से लेकर Ethereum की मूल्य लगातार बढती ही जा रही है, निवेसकों का मानना है की इसकी बढ़ोतरी इसी प्रकार होती रहेगी आगे आने वाले सालों में. तो अगर कोई निवेसक इसमें निवेश करना चाहता है तो वो बेझिजक निवेश कर सकता है.

ऐसे इसलिए भी की बहुत से बड़े companies जैसे की JP Morgan Chase और Microsoft इसमें अपना पैसा निवेश कर चुके हैं.

लेकिन मेरा मानना ये है की यदि आपके पास निवेश करने के लिए धनराशी नहीं है तो loans लेकर इसमें निवेश न करें, ये आगे चलकर खतरनाक सिद्ध हो सकता है. उतनी ही निवेश करें जितनी आपकी क्ष्य्मता हो. बाकि निवेश करने से पहले अच्छे तरीके से research करना उचित रहेगा. ये तो समय ही बताएगा की Ethereum का भविष्य आगे चलकर क्या होने वाला है. क्या पता आप आगे चलकर कोई बड़े करोडपति भी बन सकते हैं.

 

Ethereum Smart Contract

 

  • Smart Contract का उपयोग कंप्यूटर कोड का वर्णन करने के लिए किया जाता है जो धन, सामग्री, संपत्ति, शेयर या मूल्य के कुछ भी आदान-प्रदान की सुविधा प्रदान कर सकता है। ब्लॉकचेन पर चलने पर एक Smart Contract एक Self-operating कंप्यूटर प्रोग्राम की तरह हो जाता है। जो विशिष्ट परिस्थितियों को पूरा करने पर स्वचालित रूप से Executed होता है। चूँकि Smart Contract ब्लॉकचेन पर चलते हैं, वे बिना Censorship, downtime, fraud or third-party interference के किसी भी संभावना के बिना प्रोग्राम के रूप में चलते हैं।
  • सभी ब्लॉकचेन में कोड को प्रोसेस करने की क्षमता होती है, अधिकांश गंभीर रूप से सीमित होते हैं। Ethereum अलग है, सीमित संचालन का एक सेट देने के बजाय Ethereum डेवलपर्स को जो कुछ भी ऑपरेशन चाहते हैं, बनाने की अनुमति देता है। इसका मतलब है कि डेवलपर्स हजारों विभिन्न एप्लिकेशन का निर्माण कर सकते हैं जो हमारे द्वारा पहले देखी गई किसी भी चीज़ से परे हैं।

 

   

Conclusion

  

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख Ethereum क्या है? ये Bitcoin से किस प्रकार अलग है? पूरी जानकारी  जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

Ethereum क्या है? ये Bitcoin से किस प्रकार अलग है? पूरी जानकारी

 

Leave a Comment