INDIA का फुल फॉर्म क्या है? India का पूरा नाम क्या है?

दोस्तों INDIA का फुल फॉर्म क्या है? क्या आप भारतीय हैं? यदि हाँ तब तो आपको पता ही होगा की भारत को कई और नाम से भी जाना जाता है. अंग्रेजी में इसे INDIA कहा जाता है. लेकिन क्या आप जानते हैं की INDIA का Full Form क्या है या भारत का फुल फॉर्म क्या है? कोई अगर आपसे पूछे तो क्या जवाब देंगे?

वास्तव में, INDIA का कोई Full Form नहीं है. प्राचीन काल में, india (भारत) को ‘आर्यावर्त’ के नाम से जाना जाता था. इसे कई और नाम से भी जाना जाता है जैसे हिंदी में ‘भारत‘ और ‘हिंदुस्तान‘.

भारत का नाम सिंधु शब्द से लिया गया है, जो खुद संस्कृत के सिंधु शब्द से लिया गया है. सिंधु एक नदी का नाम भी है. यूनानियों ने सिंधु नदी के दूसरी तरफ देश को इंडोई के रूप में संदर्भित किया था. इसलिए मैंने सोचा की क्यूँ न आप लोगों को India Full Form in Hindi के विषय में पूरी जानकारी प्रदान करें. तो फिर बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं.

 

INDIA का फुल फॉर्म क्या है? India का पूरा नाम क्या है?
TEJWIKI.IN

 

India का पूरा नाम क्या है? (What is the full name of India)

 

India का पूरा नाम है (official name होता है: the Republic of India; Hindi: भारत गणराज्य). यह एक ऐसा देश है जो की Asia महादीप के दक्षिणी भाग में स्तिथ है. Area के हिसाब से ये दुनिया का सातवां सबसे बड़ा देश है, वहीँ जनसँख्या के मामले में ये दूसरे स्थान में आता है. वहीँ ये दुनिया का सबसे बड़ा democracy भी है.

 

 

सच में इंडिया का फुल फॉर्म क्या होगा? (Really what will be the full form of India)

 

जी नहीं सच में India का कोई भी Full Form नहीं होता है. असल में India एक acronym है ही नहीं इसलिए इसका कोई भी Full Form नहीं होता है।

भारत का नाम India इसलिए हुआ क्यूंकि भारत से होकर famous नदी Sindhu या Indus बहती है, जिसके कारण की Persian लोग हमें ‘Hindush‘ भी कहते थे (चूँकि वो पहला letter ‘S’ को ‘H’ उच्चारित करते थे)। India शब्द असल में Indus से आया हुआ है।

 

INDIA का फुल फॉर्म क्या है? (What is the full form of INDIA)

 

INDIA शब्द का कोई आधिकारिक फुल फॉर्म नहीं होता हैं, INDIA अपने आप में ही एक पूरा नाम हैं। नाम के रूप में, भारत (देश), एक परिचित नहीं है और इसलिए, इसका कोई पूर्ण रूप नहीं है। भारत एक दक्षिण एशियाई देश है और यह क्षेत्रफल के हिसाब से सातवाँ सबसे बड़ा देश है और जनसंख्या के हिसाब से दूसरा सबसे बड़ा देश है।

भारत दुनिया में सबसे अधिक आबादी वाला लोकतंत्र है और दक्षिण में हिंद महासागर, दक्षिण-पश्चिम में अरब सागर और दक्षिण-पूर्व में बंगाल की खाड़ी से घिरा है. भारत का नाम सिंधु शब्द से लिया गया है (सिंधु एक नदी थी, जिसके प्रमुख हिस्से पाकिस्तान में उन्मुख थे)।

वर्ड सिंधु को दुनिया की सबसे पुरानी सभ्यता, सिंधु घाटी सभ्यता के नाम से पहला संदर्भ मिलता है. यूनानियों ने सिंधु नदी के दूसरी तरफ देश को इंडोई के रूप में संदर्भित किया और इसे बाद में इस नाम को INDIA के रूप में बदल दिया गया। 1991 में बाजार आधारित आर्थिक सुधारों के बाद, भारत सबसे तेजी से विकसित होने वाली प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में से एक बन गया और इसे एक नव औद्योगीकृत देश माना जाता है।

भारत का कोई पूर्ण रूप नहीं है, लेकिन कहीं न कहीं आप इस तरह के कुछ दिलचस्प और मजेदार फुल फॉर्म देख सकते हैं:

I: Independent
N: National
D: Democratic
I: Intelligent
A: Area

I – Independent
N – Nation
D – Declared
I – In
A – August

 

भारत (India) के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियां

 

भारत के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियां  
हिंदी नाम भारत गणराज्य
अंग्रेजी नाम Republic of India
राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा
राष्ट्रीय प्रतिक अशोक चिह्न
राष्ट्रीय वाक्य सत्यमेव जयते
राष्ट्रगान  जन गण मन (संस्कृत)
राष्ट्र गीत वन्दे मातरम्
राजधानी नई दिल्ली
सबसे बड़ा नगर मुम्बई
राजभाषा हिन्दी, अंग्रेजी
निवासी भारतीय
सरकार संघीय संसदीय, संवैधानिक गणराज्य
राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू
उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू
प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी (भाजपा)
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला (भाजपा)
भारत के मुख्य न्यायाधीश एन. वी. रमना

 

भारत को और किस नाम से जाना जाता है? (By what other name is India known)

 

भारत कई अलग-अलग युगों और समाजों में कई अलग-अलग नामों से जाना जाता था और उनमें से कुछ नाम यहाँ दर्शाए गए हैं:

 

Jambudvipa

 

जम्बूद्वीप भारत का प्राचीन नाम है जिसका शाब्दिक अर्थ है “जम्बू वृक्षों की भूमि” और इसे विभिन्न धर्मों के विभिन्न धार्मिक ग्रंथों में पाया जा सकता है. हिंदू धर्म, बौद्ध धर्म और जैन धर्म. जम्बू या जम्बुल का अर्थ है भारतीय ब्लैकबेरी और डीवीपा का अर्थ है महाद्वीप.

 

Nabhivarsha

 

जैन ग्रंथों में, भारत को नाभि के देश के रूप में जाना जाता था. नाभि एक चक्रवर्ती राजा थे और पहले जैन तीर्थंकर ऋषभनाथ के पिता थे.

प्राचीन हिंदू ग्रंथों में, नाभिवंश के लिए एक अलग परिभाषा दी गई है. हिंदू ग्रंथों के अनुसार, यहां नाभि का अर्थ है “ब्रह्म की नाभि” और वर्ण का अर्थ है “देश.”

 

Aryavrata / द्रविड़

 

शास्त्रीय संस्कृत साहित्य में, उत्तर भारत के लिए अरिवर्ता नाम है. मनु स्मार्ती में, इसे “हिमालय और विंध्य पर्वत के बीच का मार्ग, पूर्वी (बंगाल की खाड़ी) से पश्चिमी सागर (अरब सागर) तक बताया गया है.”

दूसरी ओर, दक्षिण भारत को द्रविड़ के नाम से जाना जाता था. द्रविड़ क्षेत्र में आधुनिक भारतीय राज्य आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, तेलंगाना और छत्तीसगढ़ का एक छोटा हिस्सा शामिल है. इस क्षेत्र में अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, लक्षद्वीप और पुदुचेरी के केंद्र शासित प्रदेश भी शामिल हैं.

 

भारतवर्ष / Bharatam

 

शब्द “भारतवर्ष” को पहले विष्णु पुराण में देश (वरुम) के रूप में उद्धृत किया गया है जो समुद्र के उत्तर में स्थित है और बर्फीले पहाड़ों के दक्षिण में भारतम कहा जाता है; वहाँ भरत के वंशज रहते हैं. यहाँ, भरत को पौराणिक वैदिक युग के राजा भरत के रूप में संदर्भित किया जाता है और देश का अर्थ होता है.

 

Bharata

 

भारत में भारत का आधिकारिक नाम भरत, भारतवर्ष का संक्षिप्त रूप है, जहाँ भरत को वैदिक युग के राजा भरत के नाम से जाना जाता है.

 

Hind

 

हिंद का नाम फारसी भाषा सिंध के बराबर है. कई इतिहासकारों और भाषाविदों के अनुसार, फारस के लोग सिंध का ठीक से उच्चारण नहीं कर पा रहे थे. उन्होंने “एस” ध्वनि के बजाय “एच” ध्वनि बनाई. इस प्रकार, सिंध शब्द हिंद हो गया.

 

Hindustan

 

11 वीं शताब्दी में, मुस्लिम विजेता अपने भारतीय प्रभुत्व को हिंदुस्तान कहते थे. हिंदुस्तान का अर्थ है हिंद की भूमि.

 

Al-Hind

 

कुछ अरबी पाठ में, भारत को अल-हिंद के नाम से जाना जाता है, जिसका शाब्दिक अर्थ है “हिंद”.

 

Tianzhu

 

तियान्झू भारत का चीनी ऐतिहासिक नाम है. मूल रूप से तजुक का उच्चारण, “हिंदू” शब्द से हुआ है.

 

Tenjiku

 

तेनजीकू भारत के लिए चीनी नाम, तियानझू का जापानी संस्करण है.

 

Cheonchuk

 

चोनचुक भारत का ऐतिहासिक कोरियाई नाम है. इसे भारत के लिए चीनी नाम, तियानझू (xien-t’juk) की तरह उच्चारण किया जाता है.

 

Shendu

 

सिमा कियान की शिजी, द सेवेन के रिकॉर्ड्स में, भारत को शेंदु के रूप में उल्लेख किया गया है. संभवतः “सिंधु” शब्द का विरूपण.

 

Tiandu

 

हो हांसु या बुक ऑफ़ द लेटर हान में, चीनी अदालत के दस्तावेज में हान राजवंश के इतिहास को 6 से 189 सीई तक कवर किया गया है, भारत को तियानदू के रूप में जाना जाता है.

 

Yintejia

 

युकतेजिया नाम भारत का एक और ऐतिहासिक नाम है जो कुच के चीनी राजवंश के अभिलेखों में पाया जाता है.

 

 

Wutianzhu

 

चीन में, भारत को वूटियान्झु भी कहा जाता है, जिसका शाब्दिक अर्थ है “पांच भारत”. भारत पाँच प्रमुख क्षेत्रों में विभाजित हो सकता है, मध्य, पूर्वी, पश्चिमी, उत्तरी और दक्षिणी भारत.

 

Wu-yin

 

वू यिन प्रसिद्ध चीनी बौद्ध विद्वान जुआनज़ैंग द्वारा भारत को दिया गया नाम है. वह भारत में अपनी सत्रह साल की यात्रा (629 – 645 CE) के लिए प्रसिद्ध हुए. वू यिन शब्द का अर्थ है फाइव इंडियाज़.

 

Yindu

 

Yindu भारत के लिए वर्तमान चीनी शब्द है और यह हिंदू या सिंधु से लिया गया है.

 

Hidush

 

हिदुश भारत का एक और फ़ारसी नाम है, जो डेरियस द ग्रेट के खातों में पाया जाता है. दारा ने 515 ईसा पूर्व के आसपास गांधार से आधुनिक कराची तक सिंधु घाटी को नियंत्रित किया.

 

Indo

 

भारत गणराज्य के लिए इंडो वर्तमान जापानी नाम है.

 

Indika / इंडिका

 

प्राचीन यूनानी इतिहासकार, राजनयिक और खोजकर्ता, मेगस्थनीज ने भारत को इंडिका के नाम से पुकारा. उनकी लोकप्रिय रचना इंडिका मौर्य साम्राज्य का एक लेखाजोखा है. मूल पुस्तक अब खो गई है, लेकिन इसका टुकड़ा बाद के ग्रीक और लैटिन ग्रंथों में बच गया.

 

भारत

 

वर्तमान नाम भारत सिंधु नदी के नाम से लिया गया है. इसका उपयोग ग्रीक में हेरोडस (400 ईसा पूर्व) और अंग्रेजी में 9 वीं शताब्दी के बाद से किया गया है.

 

सोन की चिडिया

 

Sone Ki Chidiya, शाब्दिक रूप से गोल्डन स्पैरो, भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों द्वारा भारत के लिए अपनी समृद्ध और उच्च संस्कृति के लिए दिया जाने वाला एक लोकप्रिय शब्द है. शोभायात्रा का उपयोग स्वतंत्रता सेनानियों द्वारा भारतीय आत्माओं के मनोबल को बढ़ाने और ब्रिटिश राज की तपस्या के खिलाफ लड़ने के लिए किया गया था।

 

भारत के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बिंदु (Some important points about India)

 

भारत एक ऐसा देश है जो प्रगति के हिसाब से आज के समय में काफी आगे बाद चूका है इसलिए भारत के बारे में कुछ कहना या फिर लिखना बहुत ही काम होगा। आज हमने भारत के बारे में बहुत सी बाते जानी। और अब निचे हम आपको भारत की कुछ अनोखी जानकरी देंगे :-

  1. भारत का नाम (इंडिया) की उत्पत्ति इंडस नमक नदी से हुआ है। जो की इंडस नामक वैली की घाटियों में बहती हैं।
  2. भारत दुनिया में आकार के मुताबिक़ सातवा देश है।
  3. भारत के कुम्भ मेले में इतनी भीड़ होती है की उस भीड़ को आप अंतरिक्ष से भी देख सकते हैं।
  4. चैस (शतरंज) खेल की खोज भारत में हुई है।
  5. भारत के केरल राज्य में दुनिया की सबसे बड़ी डाक व्यवस्था है।
  6. भारत के पास दुनिया का सबसे बड़ा रोड नेटवर्क है जो की तक़रीबन 1.9 मिलियन मील को एक साथ आपस में जोड़ता है।
  7. भारत का स्थान सुपर कंप्यूटर बनाने में तीसरे नम्बर पे आता है
  8. 1986 तक भारत ही सिर्फ एक ऐसा देश था जहाँ पर आधारिक रूप से हीरा पाया जाता था।
  9. दुनिया का सातवा अजूबा ताज महल भी भारत के आगरा में स्तिथ है।
  10. भारत में ही दुनिया का सबसे ऊँचा क्रिकेट स्टेडियम है जो की समुद्र तट से 24 हजार मीटर ऊपर बना है। यह हिमांचल प्रदेश में स्तिथ है।
  11. जीरो नम्बर का अविष्कार भी भारत के रहने वाले आर्यभट्ट ने किया था।
  12. भारत की सेना दुनिया के तीसरे नम्बर पे आती है।
  13. भारत का सबसे पहला रॉकेट पर और उपग्रह बैलगाड़ी पर लाया गया था।
  14. भारत ने दुनिया तक योग पहुँचाया है। योग 5000 से भी ज्यादा पुराना है।
  15. भारत का मेघालय राज्य दुनिया का सबसे अधिक बारिश वाला राज्य है।

 

भारत का कितना क्षेत्रफल है?

भारत का क्षेत्रफल करीब 3.287 मिलियन km square है।

भारत को सोने की चिड़िया क्यों कहा जाता था ?

भारत को सोने की चिड़िया इसलिए कहा जाता था क्योंकि प्राचीन काल में भारत के पास काफी मात्रा में धन सम्पदा मौजूद थी। 1600 ईस्वी के आस-पास भारत की प्रति व्यक्ति की जीडीपी 1305 अमेरिकी डॉलर थी जो की उस समय अमेरिका ,जापान,चीन और ब्रिटैन से कई अधिक थी।

भारत की सेना दुनिया में कौनसे नम्बर पर आती है ?

भारत की सेना दुनिया की तीसरे नम्बर पर आती है।

भारत की सबसे बड़ी नदी कौनसी है ?

भारत की सबसे बड़ी नदी गंगा है।

  

Conclusion

 

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख INDIA का फुल फॉर्म क्या है? India का पूरा नाम क्या है? जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे. 
यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

Leave a Comment

error: Content is protected !!