Input Device क्या है? इसके कार्य और प्रकार की पूरी जानकारी हिंदी में

नमस्कार दोस्तों आप Input Device से क्या समझते हैं। क्या आपको पता है कि Input Device क्या है? इस लेख में हमने Input Device की पूरी जानकारी बताया है। जिसमें हमने बताया है कि Input Device क्या है, Input Device की परिभाषा Input Device के प्रकार, Input Device के कार्य, Input Device का उदाहरण और Input Device के नाम क्या है। अगर आपको Input Device की जानकारी नहीं है। तब इस लेख को पढ़ कर Input Device की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Computer का उपयोग करने वाले हर एक व्यक्ति को Computer के Input Device की कुछ न कुछ जानकारी होती है और होनी भी चाहिए। क्योंकि Input Device कंप्यूटर का महत्वपूर्ण Device होता है। अगर आपको पता नहीं है कि Input Device क्या होते हैं, Input Device के कितने प्रकार होते हैं और Input Device का क्या कार्य होता है। तब इस लेख को पढ़कर Input Device के बारे में जान सकते हैं। लेकिन अगर आपको Input Device की जानकारी है। तब भी इस लेख को पढ़ सकते हैं।

इस लेख से आपको भी Input Device के बारे में कुछ नया सीखने को जरुर मिलेगा। यहाँ मैंने Input Device को भी आसान भाषा में समझाया है। चलिए सबसे पहले जानते हैं कि Input Device क्या है। लेकिन Input Device क्या है? जानने से पहले Input क्या होता है? यानी Input का मतलब जानना बहुत जरुरी है। इससे आपको Input Device को समझने में आसानी होगी।

 

Input Device क्या है? इसके कार्य और प्रकार की पूरी जानकारी हिंदी में
TEJWIKI.IN

 

इनपुट डिवाइस क्या है (what is input device)

 

Input Device एक ऐसी Electronic Device होती है जिसके द्वारा हम डिवाइस में डेटा enter कर सकते हैं। यह Computer का एक Part है. हम जिस किसी भी Device के द्वारा कंप्यूटर या personal कंप्यूटर में कुछ भी Input करते हैं, उसे Input device कहा जाता है. इसके कुछ उदहारण हैं Keyboard, Mouse, Scanner, microphone, Light Pen. इन सभी इन पूट Devices से हम Computer के अंदर कुछ Input करते हैं.

यह एक Hardware है जिसके जरिए हम Computer के साथ Interact करके उसे Control करते हैं. जैसे Mouse से अलग अलग Icon को Select करना, Option को Select करना. एसे ही Keyboard के जरिए हम Text Input करते हैं और arrorw key से Laptop को Operate करते हैं.

 

 

इसकी मदद से हम Computer से सारा काम करवा पाते हैं. ये human-world को computer-world से जोड़ता है. इनकी मदद से हम Computer को Instruction देते हैं, और Computer Instruction को समझके कुछ Action लेता है. अब निचे Input Devices के Example हैं उनको समझते हैं अच्छे से.

 

Input Device की परिभाषा (Definition of input device)

 

वह Electronic Device, उपकरण या यंत्र जिसके द्वारा डेटा इनपुट कराया जाता है। अर्थात जिससे आंकड़े, शब्द या किसी प्रकार का निर्देश Memory तक पहुंचाए जाते हैं। उसे Input Device कहते हैं। Computer का वो सारे Device भी Input Device कहलाते हैं। जिसके द्वारा Computer User अपना निर्देश या आंकड़ा Computer को देते हैं। जैसे; Keyboard, Mouse, Scanner, Light Pen और Microphone इत्यादि।

जैसा कि हमने बताया है कि Computer को Input देने वाले Device Input Device कहलाते हैं। अगर आपने Computer को देखा है और आप Computer को चला भी लेते हैं। तब इस परिभाषा के अनुसार एक बार सोचकर देखिए कि Computer में वह कौन-कौन सा Device है। जिसके जरिए आप Computer को इनपुट दे पाते हैं। अगर आप ऐसा करने में सक्षम नहीं हैं। तब आपके लिए हमने Computer Input Device के 10 उदाहरण नीचे बता दिया है।

 

इनपुट डिवाइस के उदाहरण (examples of input devices)


चलिए अब हम इनपुट डिवाइस के कुछ उदाहरणों के बारे में जानते हैं।

 

Keyboard Microphone Webcam
Mouse Trackball Biometric Scanner
Scanner Touch Screen OMR Reader
Joy Stick Digital Camera OCR Reader

 

इनपुट डिवाइस के प्रकार (Types Of Input Devices in Hindi)

 

Keyboard:

यह सबसे प्रमुख Input device है. इसी के मदद से हम Computer के सारे लिखने वाले काम कर सकते हैं. सबसे ज्यादा इस्तमाल किए जाने वाले devices में से यह एक है. इसकी मदद से हम कुछ भी लिख सकते हैं. आप जो अभी पढ़ रहे हैं वो भी इसी के Keyboard से लिखा गया है.

जैसे की email भेजना, messages भेजना, online transfer करना, online shopping करना और अन्य कामों में हम इसे इस्तमाल करते हैं. इन सभी कामों में हमें Keyboard की जरुरत पड़ती है.

Keys और Description

Typing Keys (लिखने वाले Key)

यह वो Keys जिनसे हम Computer में कुछ लिखने के लिए इस्तमाल करते हैं. जैसे (A-Z) और (a-z).

Numeric Key (Number वाले Keys)

इन Keys से Number लिख सकते हैं जैसे (0,1,2,3,4,5,6,7,8,9)

Function Keys

Computer में ये 12 keys हैं, जो Keyboard के उपर एक ही Line में रहते हैं. F1, F2, F3, F4, F5, F6, F7, F8, F9, F10, F11, F12. हर एक Function key का अलग अलग काम (Function) के लिए इस्तमाल किया जाता है.

Control keys और Arrow Keys

इन keys को Cursor और Screen को Control करने के लिए किया जाता है. जैसे Arrow या Directional keys, जिनको cursor को उपर, निचे, दाएँ, बाएं Move करने के लिए किया जाता है. Control Keys को Screen को Control और Shortcut key बनाने के लिए किया जाता है. EX-Home, End, Insert, Delete, Page Up, Page Down और Ctrl(Control),Alternate(Alt), Escape(Esc).

Ctrl+c Copy करने के लिए किया जाता है. Ctrl+x Cut करने के लिए।

Special Purpose Keys
Keyboard से कुछ ख़ास काम करने के लिए ये keys होती हैं जैसे Enter, Shift, Caps Lock, Num Lock, Spacebar, Tab, and Print Screen. हर Key का Special Purpose होता है.

 

Mouse:

इसे pointing device और Cursor Moving Device के नाम से भी जाना जाता है. एक Mouse में 2 या 3 buttons हो सकते हैं. जेसे की Left, Right और मध्य button (Left key, Right key, Middle key Roller). इस Mouse के इस्तमाल से Computer में Graphical User Interface का महत्व बढ़ गया है. Mouse को Flat Surface पे या Mouse Pad पे रखा जाता है. Cursor को Control करने के लिए इसका इस्तमाल किया जाता है.

 

 

Left Key


Computer Screen में कुछ Icons को Select और File, Folders को Open करने के लिए किया जाता है. जब Left Key को एक बार दबाने से उसे Left Click कहते हैं.

Right Key-
Right Key को Press करने से Screen में Sub Menu खुलता है. Right Key को दबाने के Process को Right Click कहते हैं.

Middle Button-
Screen को उपर निचे Scroll करने के लिए किया जाता है. Scroll Button भि कहते हैं.

 

कैसे काम करता है

 

इसके निचे एक rubber का ball या Laser Light लगा रहता है. जब mouse को किसी सतह पर हिलाया जाता है तो यह rubber का ball घूमता है या Laser Light Move करता है. उसकी गति और दिशा monitor पर mouse pointer की गति और दिशा में परिवर्तित हो जाती है कुछ इस तरह से Mouse काम करता है.

Joystick :-

Joystick एक input device है. Trackball की तरह कार्य करता है. इसमें दो Ball होते हैं. balls के साथ एक छड़ी लगा दी जाती है जिससे ball को आसानी से घुमाया जा सकता है. इसका उपयोग video games खेलने, CAD Design व् simulator प्रशिक्षण आदि में किया जाता है. जब हम इसे Left में Move करते हैं तो अंदर से Right की और Move करता है. उपर वाला ball Direction के लिए किया जाता है और अंदर का ball, Socket में Move करता है.

Light Pen :-

इसका आकार पेन के जैसा होता है. यह एक Printing device और Pointing Device है. इसकी सहायता से computer screen पर लिखा जा सकता है. चित्र बनाया जा सकता है, bar code को पढ़ा जा सकता है।

इस Pen के छोटी सी Tube के अंदर Photocell और Optical System मोजूद रहता है.

 

काम कैसे करता है

 

जब Light Pen को Screen के उपर Move किया जाता है और Pen Button को Press किया जाता है. तो तब Photocell Screen के Location को Detect करती है और उस Location के Corresponding Signal को CPU के पास भेज देता है. कुछ इस तरह काम करता है.

Scanner:-

Scanner का प्रयोग करके लिखित कागजात और तस्वीरों को digital चित्र में परिवर्तित कर memory में सुरक्षित रखा जा सकता है. Scanner के जरिये documents को भी scan कर कंप्यूटर में स्टोर किया जा सकता है.

इन Digital चित्र पर computer द्वारा processing भी किया जा सकता है. Processing मतलब Scan किए गए Document को Edit कर सकते हो.

 

कैसे काम करता है

 

Scanner एक shining Light को Document के उपर डालता है. जो light reflect होक एक Document की Image बनाती है और यह light photo Sensitive Element में रहता है. एक Device है जिसका नाम है Charged Couple Device यह charged light को Digital Image बनाके Computer के अंदर Store करता है. Print करने से पहले Document को Edit भी कर सकते हैं.

Microphone

यह भी एक Input Device है. Souds को Digital Form में Convert करके Store करता है. जैसे आप Audio Recorder और Voice Recorder को इस्तमाल करते है.

इनका application बहुत ज्यादा है Video Recording, Movies बनाने में इन Microphone का बहुत योगदान है. Sound को Receive करता है Digital Signal में Convert करता है और Speaker के जरिये Output भी करता हैं.

 

Input Device के कार्य (Functions of Input Device)

 

Input Device का मुख्य कार्य Computer को Input देना होता है। चाहे वह किसी भी तरह से हो। सामान्यतः वह Input सबसे पहले Computer Memory में जाती है। जिसके बाद Central Processing Unit के द्वारा उस Input का Process किया जाता है। तत्पश्चात Output प्राप्त होता है। ये भी कह सकते हैं कि Input Device का कार्य हमारे निर्देश (Instructions) को इलेक्ट्रिक पल्स में बदलना होता है। जिसे Binary Digits से व्यक्त करते हैं।

उदाहरण के लिए जब हम Keyboard की सहायता से कुछ लिखते हैं। तब Keyboard पर दबाए गए प्रत्येक बटन Electric Signal Computer को देता है और इसी तरह Keyboard से Computer को Input प्राप्त होता है और अपना कार्य करता है।

 

 

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख Input Device क्या है? इसके कार्य और प्रकार की पूरी जानकारी हिंदी में  जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

Input Device क्या है? इसके कार्य और प्रकार की पूरी जानकारी हिंदी में

 

Leave a Comment