Mortgage Loan क्या होता है? Mortgage लोन के प्रकार

दोस्तों Mortgage Loan क्या होता है? आपने लोन के बहुत से प्रकार के बारे में तो सुना ही होगा। ऐसे में ही एक शब्द आता है मॉर्गेज। आज आपको इस लेख के माध्यम से mortgage लोन का अर्थ हिंदी में बताएँगे वो भी example साथ। जब भी आप लोन के लिए अप्लाई करने जाते हैं तो बैंक वाले पूछते हैं कि आपको लोन किस प्रकार का चाहिए। उनका ये पूछने के पीछे कारण है क्योंकि लोन के बहुत सारे प्रकार होते हैं, जैसे होम लोन, गोल्ड लोन, मोर्टगेज लोन, पर्सनल लोन, कार लोन, लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी (LAP), सिक्योरिटी पेपर पर मिलने वाला लोन इत्यादि।

ऐसे में ही एक टर्म आता है mortgage loan, तो आखिर ये मॉर्गेज का हिंदी में अर्थ क्या होता है। इसी के साथ आप ये भी जानेंगे की मॉर्गेज लोन किस प्रकार का होता है और इसे प्राप्त करने के लिए क्या करना होता है? वैसे भारत देश में mortgage शब्द का इस्तेमाल नहीं किया जाता क्योंकि आम बोल चाल की भाषा में इस शब्द का प्रयोग नहीं होता। इसकी जगह हम सिर्फ यह जानते हैं की हमें लोन लेना है और उसके लिए बैंकों से संपर्क करते है। इसके बाद बैंक वाले लोन प्राप्त करने की सारी प्रक्रिया समझा देते हैं।

लेकिन फिर भी आपको Mortgage meaning in Hindi जानना है तो आपका इंतजार अब ख़त्म हुआ। तो चलिए जानते हैं Mortgage meaning in Hindi with example.

 

Mortgage Loan क्या होता है? Mortgage लोन के प्रकार
TEJWIKI.IN

 

Mortgage Loan क्या होता है? (What is Mortgage Loan)

 

Mortgage या मॉर्गेज का हिंदी अर्थ ‘बंधक‘ होता है। आप जब भी बैंक से मॉर्गेज लोन लेते हैं, तो आप बंधक के तौर पर प्रॉपर्टी जैसे की जमीन या जायदाद गिरवी या बंधक रखते हैं। Mortgage Loan का अर्थ या होता है कि जब भी आप बैंक में अपनी किसी भी प्रॉपर्टी को गिरवी रख कर के लोन लेते हैं तो उसे मोरगेज लोन कहते हैं। यह बैंक का Asset होता है जो लोन के रूप में देनदार को दिया जाता है।

बैंक में ज्यादातर लोग इस तरह का लोन तभी लेते हैं जब उन्हें बड़ी धनराशि की आवश्यकता होती है। बंधक या गिरवी या मॉर्गेज रख कर के लिया गया लोन सुरक्षित माना जाता है। बैंक से मॉर्गेज लोन तो लेते वक्त आप अपनी प्रॉपर्टी को गिरवी रखते हैं। इसलिए आप की प्रॉपर्टी से संबंधित और डॉक्यूमेंट बैंक के पास जमा हो जाता है। अगर आप सही समय पर बैंक से लिया गया लोन चुकता नहीं कर पाते, तो बैंक के पास आपकी संपत्ति जब्त करने का अधिकार होता है।

 

 

चलीए हम इसे एक उदाहरण द्वारा समझते हैं। मान लीजिए कि आपने किस व्यक्ति को उधार दिया है। इस उधार के बदले में उसने आपके पास में अपनी कुछ सामान गिरवी रखी है। वह सही समय पर आप का दिया हुआ उधार आपको नहीं लौटा पा रहा है। ऐसी स्थिति में आपके पास कुछ रास्ते बसते हैं। जिससे कि आप दिए गए पैसों को वापस से पा सके। पहली स्थिति में आप सबसे पहले कोर्ट में केस फाइल कर सकते हैं। जिससे कि आपके द्वारा दी गए पैसे आपको वापस मिल जाएंगे। लेकिन, उस व्यक्ति के पास ऐसी स्थिति भी उत्पन्न हो सकती है कि उसके पास वापस पैसे देने के लिए कुछ भी ना बचे हो।

ऐसे में आप अपने पैसों को प्राप्त करना चाहते हैं। ऐसी स्थिति यानी की दूसरी स्थिति में आप उसके द्वारा रखे गए गिरवी या बंधक या मॉर्गेज के रूप में समान को जब्त कर सकते हैं। जिससे आपके उधार की रिकवरी हो जाएगी। और आपके द्वारा दिए गए पैसे आपको वापस मिल जाएंगे। बैंक द्वारा दिए जाने वाले लोन पर मॉर्गेज कुछ इसी तरह से कार्य करता है। जब कोई व्यक्ति बैंक से लोन लेने के बाद पैसों को चुकता नहीं कर पाता, तो बैक अपने लोन की रिकवरी इसी तरह से करता है।

 

Mortgage लोन के प्रकार (Mortgage Loan Types)

 

आप में से बहुत से लोग ऐसे होंगे, जिन्होंने कभी न कभी मॉर्गेज लोन के बारे में सुना या पढ़ा होगा, लेकिन इसके बारे में सही जानकारी नही रखते हैं। फिक्र न करें, इस लेख में हम आपको मॉर्गेज लोन क्या होता है और इसे कैसे अप्लाई करते हैं इत्यादि जैसी सारी जानकारी प्रदान करेंगे। आइये सबसे पहले जानते हैं कि आखिर मॉर्गेज का क्या मतलब होता है?

मॉर्गेज या मॉर्गेज लोन संपत्ति के ऊपर लिया जाने वाला लोन होता है। जिसमे एक व्यक्ति अपनी संपत्ति को किसी वित्तीय संस्थान के पास गिरवी रख कर उस पर कुछ राशि लोन के रुप में लेता है और लोन की राशि का भुगतान करने के पश्चात अपनी संपत्ति का स्वामित्व वापिस पा लेता है। आमतौर पर मॉर्गेज लोन वह व्यक्ति लेते हैं जोकि नया घर खरीदते हैं। वह नए खरीदे गए घर के दस्तावेज़ वित्तीय संस्थान के पास गिरवी रखकर मकान की रजिस्ट्री पर लोन ले लेते हैं।

 

संपत्ति पर लोन (एलएपी) (Loan Against Property (LAP))

 

संपत्ति पर लेने वाले लोन को आमतौर पर एलएपी यानि ‘लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी’ के रूप में जाना जाता है। कमर्शियल और आवासीय संपत्तियों के लिए एलएपी की पेशकश की जाती है। उधार देने वाले संस्थानों से धन प्राप्त करने के लिए उधारकर्ताओं को अपनी संपत्ति गिरवी रखनी पड़ती है। संपत्ति के मूल दस्तावेजों को वित्तीय संस्थान के पास तब तक जमा रखना होता है, जब तक कि लोन की पूरी राशि चुक नही जाती। उधारकर्ता किसी भी व्यक्तिगत या व्यावसायिक जरूरत के लिए लोन की राशि का उपयोग कर सकता है।

 

व्यावसायिक खरीद (Commercial purchase)

 

व्यावसायिक खरीद लोन आमतौर पर व्यवसायियों और उद्यमियों द्वारा लिया जाता है। वे दुकान, ऑफिस स्पेस और कमर्शियल कॉम्प्लेक्स जैसी प्रॉपर्टी खरीदने के लिए ऐसे लोन लेते हैं। इस लोन की ब्याज दरें अन्य लोन से अलग रहती है। इस लोन की राशि का उपयोग केवल संपत्ति खरीदने के लिए किया जाता है।

 

मकान की रजिस्ट्री पर लोन (Loan Against House Registry)

 

हर मध्यम वर्ग के परिवार का सपना होता है कि वह अपना खुद का घर बनाए। ऐसे में घर के पुनर्निर्माण हेतु मॉर्गेज लोन सबसे उत्तम विकल्प होता है। आज कल ढेरों ऐसे वित्तीय संस्थान हैं जहां से आपको किफायती ब्याज पर आसानी से लोन प्राप्त हो जाता है। लोन के लिए उधारकर्ता को अपने घर की रजिस्ट्री को वित्तीय संस्थान के पास गिरवी रखना पड़ता है, जो लोन के पुर्नभुगतान के बाद उसे वापस मिल जाती है।

 

मॉर्गेज लोन कौन ले सकता ? (Who can take Mortgage Loan)

 

मॉर्गेज लोन के लिए, विभिन्न वित्तीय संस्थानों ने अलग-अलग योग्यता मानक बनाए हैं। कुछ सबसे सामान्य मानदंड नीचे सूचीबद्ध हैं।

 

  • आप भारत के निवासी हो
  • आपकी आयु न्यूनतम 25 वर्ष और अधिकतम 75 वर्ष हो
  • यदि आप स्व-व्यवसायी हैं, तो आप कम से कम तीन वर्षों से उसी व्यवसाय में होने चाहिए

 

जमीन पर लोन लेने के लिए क्या क्या डॉक्यूमेंट चाहिए? (What are the documents required to take loan against land)

 

  • संपत्ति पर मॉर्गेज लोन के लिए आवेदन करते समय आपको कुछ जरूरी दस्तावेज प्रस्तुत करने होंगे। इनमें से कुछ दस्तावेज हैं:
  • अपने पैन कार्ड की एक कॉपी के साथ सही से भरा हुआ मॉर्गेज लोन आवेदन पत्र
  • कुछ स्वीकृत केवाईसी दस्तावेज जैसे: आधार कार्ड/ड्राइविंग लाइसेंस /वोटर आईडी कार्ड/लीज या रेंट एग्रीमेंट
  • व्यापार संबंधी प्रमाण: सेलस टैक्स / सर्विस टैक्स / एक्साइस/ वैट पंजीकरण / व्यापार लाइसेंस / पार्टनरशिप डीड / प्रैक्टिस सर्टिफिकेट
  • आय प्रमाण: पिछले तीन साल का आईटीआर स्टेटमेंट, बैलेंस शीट, पी एंड एल अकाउंट और पिछले छह महीने का बैंक अकाउंट स्टेटमेंट

 

सभी मॉर्गेज लोन के लिए आवेदन कैसे करें? (How to Apply for All Mortgage Loans)

 

मॉर्गेज लोन अप्लाई करने के लिए आप वित्तीय संस्थान की वेबसाइट पर या व्यक्तिगत रूप से उनके शाखा कार्यालय में जाकर आवेदन कर सकते हैं। वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन के लिए निम्नलिखित स्टेप फॉलो करें

प्रॉपर्टी वेबपेज पर के मॉर्गेज लोन पर जाएं

वेबसाइट पर उपलब्ध पात्रता मानदंड अनुभाग से अपनी पात्रता की जांच करें
मॉर्गेज लोन पृष्ठ पर, मॉर्गेज लोन के लिए आवश्यक दस्तावेजों की जांच करें
‘अभी आवेदन करें’ टैब पर क्लिक करें और आवश्यक जानकारी भरें, और ऑनलाइन फॉर्म जमा करें।
एक बार आपके विवरण से संतुष्ट हो जाने पर, संस्थान के अधिकारी आपसे संपर्क करेंगे।
आप वित्तीय संस्थान की नजदीकी शाखा या आउटलेट पर जाकर भी मॉर्गेज लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं।

 

 

मॉर्गेज लोन से लाभ  क्या है? (What is the benefit of mortgage loan)

 

भारत में मॉर्गेज लोन को काफी सुरक्षित लोन माना जाता है। मॉर्गेज लोन के अंतर्गत आप अपनी संपत्ति को गिरवी रख करके बैंक से लोन लेते हो। मोरगेज लोन की सबसे अच्छी बात यह होती है कि इसमें आपको अधिक से अधिक लोन पर पैसे दिए जाते हैं। कोई भी वेतन भोगी कर्मचारी अपनी संपत्ति को गिरवी रख कर के 1 करोड़ रुपए तक का लोन बैंक से ले सकता है।

बिजनेस एवं व्यवसाय से संबंधित लोग प्रॉपर्टी को गिरवी रख कर के बैंक से 3.5 करोड़ रुपए तक का लोन प्राप्त कर सकते हैं। इसमें लगने वाला है कागजात आप बहुत ही कम समय में बना सकते हैं। इसमें से अधिकतर कागजात जैसे प्रॉपर्टी से संबंधित कागजात पहले से ही आपके पास होते हैं। इस वजह से लोन प्रोसेसिंग ने अधिक समय नहीं लगता है। मॉर्गेज लोन में मिलने वाला रीपेमेंट पीरियड लंबे समय का होता है। रीपेमेंट पीरियड लोन की राशि के आधार पर तय की जाती है। ज्यादातर बैंकों में लोन रीपेमेंट पीरियड 2 से 20 साल तक की रहती है।

वहीं अगर आप सही समय पर लोन चुकता कर देते हैं तो इसका असर आपके सिबिल स्कोर पर भी पड़ता है। आपका सिबिल स्कोर सकारात्मक एवं अच्छा होता है। अगली बार लोन लेते वक्त आपको बैंक अच्छे ऑफर देंगे।

 

 

Conclusion

 

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख Mortgage Loan क्या होता है? Mortgage लोन के प्रकार जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

Mortgage Loan क्या होता है? Mortgage लोन के प्रकार

 

Leave a Comment