प्रोसेसर क्या है? Processor कितने प्रकार के होते हैं? पूरी जानकारी

क्या आप जानते है की ये Computer प्रोसेसर क्या है? (What is Processor in Hindi)? जब भी हम किसी computer के बारे में बात करते हैं तो Processor की बात जरुर हमारे दिमाग में आती है. एक computer किसी processor के बिना मुमकिन ही नहीं है. हाँ ये बात जरुर ठीक है की किसी किसी processor की efficiency कम होती है तो कुछ की ज्यादा होती है. लेकिन सभी कंप्यूटर के लिए processor होना अनिवार्य है. इस processor के कई नाम है

जैसे की CPU, central processor और microprocessor CPU यानि इसका Full Form है Central Processing Unit. यूँ कहे तो ये किसी कंप्यूटर का दिमाग होता है जो सारे गतिविधयों पर नज़र रखे हुए होता है. ये सारे instructions जिसे ये Hardware और Software से पाता है उसे ये handle करता है. देखा जाये तो basically ये एक ऐसा Hardware है जो सारे calculation बहुत जल्दी करता है जब उसे कुछ input मिले तब उसे process करता है और कुछ calculation करने के बाद result निकलता है.

पर क्या आपको पता है की कैसे ये छोटी सी चीज़ इतनी सारी information को अकेले process कर लेती है. तो आज हम इस article Processor क्या होता है और कैसे काम करता है में आप लोगों को में कुछ जानकारी देना चाहता हूँ. तो फिर देरी किस बात की चलिए शुरू करते हैं.

 

प्रोसेसर क्या है? Processor कितने प्रकार के होते हैं? पूरी जानकारी
TEJWIKI.IN

 

प्रोसेसर क्या है? ( What is Processor in Hindi)

 

Processor एक चिप है जो मदरबोर्ड से जुड़ी होती है और कंप्यूटर के अंदर इनपुट और आउटपुट ऑपरेशन को प्रोसेस करता है। यह आपसे इनपुट ले कर उसे प्रोसेस करता है और फिर आप तक सही आउटपुट पहुँचाने का काम करता है।

कंप्यूटर ON होने से लेकर कंप्यूटर पर हो रहे सारे काम को प्रोसेसर ही कंट्रोल करता है। आमतौर पर प्रोसेसर को CPU(Central processing unit) भी कहा जाता है जिसे कंप्यूटर का दिमाग भी कहते है। किसी भी काम को पूरा करने का स्पीड प्रोसेसर पर ही निर्भर करता है।

 

Processor Kya Hai

 

Processor Computer का Brain होता है, जो Computer के सभी इनपुट-आउटपुट ऑपरेशन को नियंत्रित करता है। आप जो Work Computer को देते है उसे पूरा करने का काम Processor का होता है, Computer में Processor का सबसे ज्यादा काम होता है, हम जब भी Computer में कुछ करते है तब हमारा Computer Processor को बताता है की वह उस काम के लिए तैयार रहे।

आप Computer में कोई Application चलाते हैं तो उसके होने वाले ज्यादा से ज्यादा Function आपके Processor से Control होते हैं, यह Mobile द्वारा दिए गए Instructions को Process करते है।

 

कंप्यूटर में प्रोसेसर का उद्देश्य (Purpose of the processor in the computer)

 

Computer में Processor का उद्देश्य कंप्यूटर के अंदर चीजों को ठीक से संचालित करना होता है, जैसे कि मेमोरी स्टोरेज को बनाए रखना, युजर से इनपुट प्राप्त करना और इसे प्रोसेस करना, प्रोसेस करने के बाद युजर को आउटपुट प्रदान करना इत्यादि।

आजकल लोग अपना समय बचाने के लिए एक ही समय पे अपने कंप्यूटर में एक से अधिक कार्य करते है तो इस कारण Computer Processor का काम बहुत ही जटिल हो जाता है। एक अच्छे प्रोसेसर का गुण ये है की वो एक साथ एक से ज्यादा कार्य को आसानी से मैनेज करने में सक्छम होता है।

 

प्रोसेसर का इतिहास (Processor History In Hindi)

 

Intel Company ने ही सबसे पहले प्रोसेसर का आविष्कार किया था। Intel के तरफ से आने वाला सबसे पहला single chip microprocessor था “इंटेल 4004 माइक्रोप्रोसेसर”(Intel 4004) जो कि साल 1971 में इंटेल के 3 इंजिनियर के द्वारा बनाया गया था अगर हम उन इंटेल के इंजीनियर के बारे में बात करें तो वह है Federico Faggin, Ted Hoff और Stan mazo। इंटेल का पहला प्रोसेसर अभी के समय के प्रोसेसर के मुकाबले आकार में बहुत ही बड़ा था परंतु जैसे-जैसे समय आगे बढ़ा वैसे ही हमें अच्छा और छोटा प्रोसेसर भी देखने को मिले, आज कल हमें जो प्रोसेसर देखने को मिलता हैं वह पहले के प्रोसेसर के मुकाबले बोहोत ही ज्यादा फास्ट है।

 

 

अच्छे प्रोसेसर की पहचान कैसे करे 9How to identify a good processor in hindi)

 

जब आप नए लैपटॉप या कंप्यूटर को लेने जाते है तो आपको ये नहीं पता होता है की कैसा प्रोसेसर(best processor in hindi) ले।जब आप कोई नया डिवाइस लेने जाते है तो सबसे पहले आपको कुछ चीजों को जानना पड़ता है जैसे प्रोसेसर की क्लाक स्पीड, fsb, ल1, ल2, cache, प्रोसेसर की स्पीड, आदि। प्रोसेसर की स्पीड नापने के लिए हम जाइगहर्ट्स का इस्तेमाल करते है। जितना अधिक प्रोसेसर की स्पीड होगी उतना ही जल्दी आपका प्रोसेसर प्रोसेसिंग करेगा।

चलिए समझते है की ये सभी बाते क्या है?

क्लॉक स्पीड (Clock Speed): एक प्रोसेसर की स्पीड कई सारे चीजों पर निर्भर करती है जैसे बैन्ड्विड्थ और क्लाक स्पीड। क्लाक स्पीड से आप माइक्रोप्रोसेसर के प्रोसेसिंग स्पीड को नापा जाता है। प्रोसेसर क्या है? सभी माइक्रोप्रोसेसर की Clock Speed 66 MHZ से 3.8 GHZ तक होती है।

FSB (Front Side Bus): फ्रन्ट साइड बस किसी प्रोसेसर के सिस्टम मेमोरी के सीपीयू की स्पीड को को नापता है। इसके जरिए cpu और ram के बीच हुए संचार को नापा जाता है। cpu की FSB की गति 66 से 1333 MHz है।

L2 कैश (L2 Cache): सभी माइक्रोप्रोसेसर मे लेवल 2 cache मेमोरी होती है इस मेमोरी की साइज़ 256 kb से लेकर 8 mb तक होती है।

 

Processor कैसे कार्य करता है?

 

Processor के डिजाईन आम तोर से काफी complex होते हैं, और ये company से company बहुत vary करते हैं यहाँ तक की इनकी एक model दुसरे से काफी अलग होती है. अभी मार्किट में दो company जैसे Intel और AMD के processor काफी डिमांड में है. ये दो कंपनी हमेशा यही कोशिस में लगे रहते हैं की कैसे Processor की performance को ज्यादा बेहतर बनाये वो भी कम जगह और energy इस्तमाल कर. लेकिन इतनी सब architectural differences होने के वाबजूद Processor को मुख्य रूप से चार Process से गुजरना पड़ता है, और तभी जाकर वो instructions को process कर सकते हैं. ये चार process हैं fetch, decode, execute और Write-back. अब में आप लोगों को इन सारे process के बारे में बताऊंगा. .

1. Fetch

Fetch जैसे की इसका मतलब है किसी चीज़ को लाना. यहाँ Processor Core instructions को retrieve करता है जो की waiting में रहते हैं किसी memory में. पर आजकल के Modern Processor में usually वो instructions पहले से ही wait कर रहे होते हैं Processor Cache में. Processor में एक area होता है जिसे Program Counter कहते हैं जो किसी bookmark के तरह ही काम करता है, जो की processor को ये बात सूचित करता है की कहाँ last instruction खत्म हुई और कहाँ next वाली शुरू हुई. .

2. Decode

एक बार instruction Fetch हो गयी तब next process है उसे decode करने का. एक instruction में processor core के कई area होते हैं जैसे arithmetic और जिन्हें processor core को पह्चानना पड़ता है. सभी part में कुछ ऐसा भी होता है जिसे Opcode कहते हैं जो processor को बताता है की क्या करना है उस instruction को इस्तमाल कर के. एक बार Processor ये पहचान ले की उसे क्या करना है तब वो अपने आप ही सारे चीज़ें कर लेता है.

3. Execute

इस step में Processor को पता होता है उसे क्या करना है, और वो actually उसे कार्यकारी करता है. यहाँ actually में क्या होता है ये इस बात पर निर्भर करता है की इसमें Processor Core का कोन सा area use में आता है और इसमें क्या information डाला जाता है. उदहारण के तोर पे Processor किसी arithmetic operation करने के लिए ALU का इस्तमाल करता है. माने की ये operation ALU के भीतर ही होता है. ये unit दुसरे input और output से जुड़ा होता है ताकि ये अपना काम को आसान कर सके और finally हमें हमारा रिजल्ट सही समय में दे सके.

4. Writeback

ये आकिर स्टेप भी कहा जा सकता है जैसे की इसका नाम है इसका काम भी समान है जो की आकिर में पहले किये गए तीनों कार्य का result को memory में प्लेस करता है. ये पता करना की आकिर में output गया कहाँ ये depend करता है की उस समय कोन सी application run हो रही है. पर ये आम तोर से processor के register में ही होता है क्यूंकि इसकी जरुरत बहुत ही ज्यादा होती है तो quick access के लिए इस यहाँ रखा जाता है.

ये पुरे Process को Instruction Cycle कहा जाता है. जैसे जैसे हम तरक्की कर रहे हैं वैसे वैसे हमारे पास और भी बेहतर Processor आ रहे जो की बहुत ही ज्यादा Fast और powerful हैं. प्रोसेसर क्या है? हमारी CPU को कुछ इस प्रकार बनाया गया है की ये बहुत किसी भी कार्य को divide कर देता है ताकि इसे जल्दी से जल्दी process कर सके. और नए आविष्कारों से ये बिलकुल संभव भी लगता है.

 

कंप्यूटर प्रोसेसर के प्रकार (Type of  computer processor)

 

Budget processor

आज के इंटरनेट के युग में बजट प्रोसेसर का बहुत अधिक उपयोग हो रहा है क्योंकि यह इलेक्ट्रॉनिक पावर को बहुत कम यूज करता है और इसकी कीमत भी मार्केट में बहुत कम है इसलिए यह कंप्यूटर को अपग्रेड करने में बहुत लाभदायक है क्योंकि सस्ता होने की वजह से इसे हर कोई आसानी से खरीद सकता है और इस प्रोसेसर की सहायता से आसानी से अपना काम कर सकता है।

Budget processor

Intel celeron

यह प्रोसेसर जब लॉन्च हुआ था तब ज्यादा अच्छा नहीं माना जाता था क्योंकि इसकी कार्यक्षमता कम थी और यह बाजार में महंगा भी था इन्हीं कारणों की वजह से इंटर सिलेंरन ने इसे अपग्रेड करके 64 बिट करके दोबारा मार्केट में उतारा और इसकी क्षमता पहले से बढ़ गई अब यह पावर भी कम यूज करता है और गर्म भी नहीं होता इसलिए इसकी मांग इंटरनेट यूजर्स में बढ़ गई है।

 

 

Intel celeron

Intel pentium 4

हमने आपको अब तक जितने भी प्रोसेसेर के बारे में बताया है इंटेल पेंटीअम 4 उन सब में सबसे ज्यादा अच्छा है इसके काम करने की क्षमता और इसकी स्पीड ऊपर बताए गए प्रोसेसर से ज्यादा है क्योंकि यह 3.2 गीगाहर्टज पर काम करता है जो उनमें से सबसे ज्यादा है उनमें से किसी की स्पीड इतनी ज्यादा नहीं है यह बहुत ज्यादा स्पीड मानी जाती है।

Intel pentium 4

Main stream processor

ये प्रोसेसर ऊपर दिये गये प्रोसेसर से थोडी ज्यादा पावर कंज्यूम करतें हैं इसलिये ये ज्यादा कोर तथा Caches बाले motherboard प्रयोग करतें हैं इनका प्रयोग करने से पहले motherboard की जाँच करनी पड़ती है।

Main stream processor

Dual core processor

जैसा कि आप जानते हैं डुअल का मतलब दो होता है इसलिए इसका नाम से ही पता चलता है कि यह 2 कोर वाला प्रोसेसर है जिसे 2 कोर प्रोसेसर के द्वारा बनाया गया है इसी की वजह से इसकी स्पीड भी ज्यादा होती है।स्पीड को बढ़ाने के लिए इसमें दो प्रोसेसर जोड़े जाते हैं ताकि यह बहुत कम समय में ज्यादा से ज्यादा आउटपुट दे सकने में सक्षम हो।

Dual core processor

AMD athlon 64×2

इस तरह के प्रोसेसर को कंप्यूटर की काम करने की क्षमता को बढ़ाने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है और यह एलक्ट्रॉनिक पावर का भी कम प्रयोग करता है जिससे हीटिंग होने का खतरा नहीं रहता इस प्रकार के प्रोसेसर मुश्किल काम को भी बड़ी आसानी से कर लेते हैं और कम समय में करते हैं इसमें एक तरह के सॉकेट का प्रयोग किया जाता है जिसे बड़ी सरलता पूर्वक मदरबोर्ड से कनेक्ट कर दिया जाता है।

Intel pentium D

इंटेल पेंटीअम डी द्वारा सभी तरह की सुविधा जैसे कि स्पीड और कार्यक्षमता को बढ़ाने की कोशिश की है इसी वजह से यह मार्केट में ज्यादा पसंद किया जाता है और यह पावर भी बहुत कम लेता है इसे कंप्यूटर से जोड़ने की परेशानी भी नहीं होती इसे इस प्रकार से डिजाइन किया गया है कि यह किसी तरह भी मदरबोर्ड से अटैच हो जाता है चाहे आप यूएसबी के द्वारा इसे बाहर से ही अटैच कर सकते हो और सीपीयू के बाहर ही रह कर अपना काम कर सकता है इससे काम करने में हर तरह के यूजर अच्छा महसूस करते हैं।

2.AMD processor

यह प्रोसेसर काफी सस्ते होते हैं, इंटेल प्रोसेसर के मुकाबले। अगर हम AMD का प्रोसेसर लैपटॉप में करतें हैं तो ये बैटरी पावर बहुत ही ज्यादा कंज्यूम करते हैं जिससे बैटरी जल्दी डैमेज हो जाती है। इसके साथ ही इसकी speed भी बहुत ही कम होती हैं जिससे ये हीटिंग ज्यादा पैदा करते हैं।

5.AMD Athlon 64

इस प्रकार के प्रोसेसर में दो सॉकेट का इस्तेमाल किया गया है जिससे ये 64 bit को support करता है पर इसमें एक कमीं है ये सिर्फ 32 Bit करके कार्य करती हैं।

 

प्रोसेसर में कोर क्या होता है? (What is Core in Processor in Hindi)

 

जैसा की आप जान चुके है की Computer का Speed ​​processor के ऊपर ही निर्भर करता है। लेकिन आपको बता दे की प्रोसेसर का स्पीड भी कोर पर आश्रित है।प्रोसेसर के Performance का अनुमान आमतौर पर कोर से ही लगाया जाता है। प्रोसेसर क्या है? एक प्रोसेसर में जितने ज्यादा कोर होंगे उसका स्पीड भी उतना ही अधिक होगा।Core ही कंप्यूटर के छमता को दर्शाता है।

अगर किसी भी कंप्यूटर के CPU में एक ही कोर है तो इसका मतलब वह कंप्यूटर एक समय में एक काम को ही आसानी से करने में सक्षम है। अगर आप के कंप्यूटर के CPU में एक से अधिक कोर है इसका मतलब आप एक समय में एक से अधिक काम आसानी से कर सकते है। आजकल के CPU में Multiple core होते है जिससे कि कंप्यूटर एक से अधिक कामों को आसानी से और तेज गति से कर सके।

 

Clock Speed और Gigahertz क्‍या होती है?

 

आपका CPU एक सेकंड में कितना चक्र पूरा करता है उसी माँप को क्लॉक स्पीड कहते है और यह गीगाहर्ट्ज में मापा जाता है। किसी कंप्यूटर के CPU का Clock Speed जितना ज्यादा होगा वह कंप्यूटर उतना ही तेज़ी से काम करेगा। इसलिए हमें कंप्यूटर या लैपटॉप खरीदते समय हमेशा ध्यान रखना चाहिए की उसके प्रोसेसर का क्लॉक स्पीड कितना Gigahertz है और हमेशा ज्यादा गीगाहर्ट्ज वाले कंप्यूटर को खरीदना चाहिए जिससे की हमारा कंप्यूटर तेज़ गति से काम करे।

 

कंप्यूटर में प्रोसेसर जेनरेशन  (Processor Generation in Computer)

 

इंटेल कंपनी हर साल old processor का एक नया powerful upgrade Variants लॉन्च करता है उसी को computer processor का generation कहा जाता है। प्रोसेसर क्या है? पहले इंटेल उतना ज्यादा प्रोसेसर को Upgrade करके जेनरेशन वाइज लॉन्च नहीं करता था परंतु 2010 से इंटेल कंपनी लगातार उनके प्रोसेसर को upgrade करके New generation लेकर अरहा है जैसे कि –

Intel i3 1st generation
Intel i3 2nd generation
Intel i3 3rd generation
Intel i3 4th generation
Intel i3 5th generation
Intel i3 6th generation
Intel i3 7th generation

Note – कंप्यूटर प्रोसेसर का जेनरेशन जितना ज्यादा होगा उतना ही अच्छा कंप्यूटर Performance देगा, इसीलिए कंप्यूटर या लैपटॉप खरीदने के वक्त आप सभी जांच कर लीजिएगा कि कंप्यूटर प्रोसेसर का जनरेशन लेटेस्ट है या नहीं।

 

Processor बनानी वाली company कौन-कौन सी है ?

 

  1. Intel
  2. AMD
  3. Qualeomm
  4. NVIDIA
  5. IBM
  6. Samsung
  7. Motorola
  8. Hewlett-Packard (hp)

इनमे Intel और AMD की सबसे ज्यादा demand होती है। क्योंकि ये दोनों companies अच्छा प्रोसेसर बनाती है और निरंतर processor को और बेहतर बनाने की कोशिश में लगी होती है।

 

Processor से संबंधित कुछ प्रश्नों के उत्तर

 

1. सबसे अच्छा प्रोसेसर कौन सा है?

अभी हाल ही मे एक नए प्रोसेसर जिसका नाम बुल्डोज़र है उसने दुनिया का सबसे तेज प्रोसेसर(fastest processor in the world in hindi ) का खिताब अपने नाम किया है।

2. सबसे अच्छा मोबाइल प्रोसेसर कौन सा है?

सैमसंग कंपनी द्वारा बनाया गया Exynos मोबाईल के लिए सबसे अच्छा प्रोसेसर है।

3. Snapdragon 730 और 730 G प्रोसेसर में क्या अंतर है और कौन सा बेहतर प्रोसेसर है?

ये दोनों प्रोसेसर एक ही कंपनी qualcomm के है। स्पीड लगभग बराबर है लेकिन दोनों का इस्तेमाल अलग अलग चीजों के लिए हैं। अगर आपको गेम और लाइव स्ट्रीमिंग करना है तो 730 g आपके लिए सही है।

4. कौन सा प्रोसेसर बेहतर है, स्नैपड्रैगन या मीडियाटेक?

यहाँ बात आती है कीमत की अगर आप 5 से 10 हजार के स्मार्टफोन ले रहे तो आप जरूर mediatek के साथ जाए क्योंकि इसके processor काम कीमत मे अच्छे होते है। अगर आप 10 हज्जार से ऊपर का स्मार्टफोन ले रहे है तो आप जरूर snapdragon का processor ले ये थोड़ा महँगा होता है लेकिन mediatek से कई गुणा अच्छा काम करता है।

5. I3 और dual core processor मे क्या अंतर है? सामान्य उपयोग के लिए दोनों में से कौन सा बेहतर है?

“Dual core ” का मतलब एक ही प्रोसेसर मे 2 प्रोसेसिंग कोर ।लेकिन i 3 भी एक dual core processor ही है।

दोनों मे कुछ खास फर्क है जैसे core i3 मे intigrated gpu होता है लेकिन dual core मे नहीं होता है।

अगर आपको कुछ ही छोटे मोटे काम करने है तो आप dual core processor ले सकते है।

लेकिन अगर आपको कई सारे जटिल काम और ऐप्लकैशन चलाने है तो आप core i3 ले सकते है।

 

 

Conclusion

 

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख प्रोसेसर क्या है? Processor कितने प्रकार के होते हैं? पूरी जानकारी जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

प्रोसेसर क्या है? Processor कितने प्रकार के होते हैं? पूरी जानकारी

 

Join our Facebook Group

   Join Whatsapp Group

 

Leave a Comment