रैम क्या है? (What is RAM in Hindi) और इसके कार्य की जानकारी

दोस्तों क्या आप जानते हैं, कि रैम क्या है? अगर नहीं… तो आईये जानते हैं, RAM (Random Access Memory) कंप्यूटर की अस्थाई मेमोरी होती है। RAM में CPU द्वारा वर्तमान में किये जा रहे कार्यों का डाटा और निर्देश संग्रहित रहता है। स्मार्टफोन का इस्तेमाल करने वाले लगभग सभी लोग Memory से भलीभांति परिचित होंगे, क्योंकि जब भी आप किसी मोबाइल शॉप पर कोई न्यू मोबाइल खरीदने जाते है तो सबसे पहले यही पूछते हैं, कि मोबाइल की Memory Kya Hai या कितनी है ताकि बाद में आपको मोबाइल हैंग या स्टोरेज फुल होने जैसी परेशानी न हो।

अगर आप जानना चाहते है कि RAM Kya Hota Hai (Ram Ka Matlab Kya Hota Hai) और RAM Ka Full Form Kya Hai तो आपको कहीं भी जाने की ज़रूरत नहीं है, क्योंकि आज हम आपको हमारे इस पोस्ट के माध्यम से Computer Memory Kya Hai इससे जुड़ी पूरी जानकारी यहाँ उपलब्ध कराएँगे। तो RAM Kya Hoti Hai जानने के लिए हमारे साथ बने रहिए और इस पोस्ट को अंत तक पढ़िए।

 

रैम क्या है? (What is RAM in Hindi) और इसके कार्य की जानकारी
TEJWIKI.IN

 

रैम क्या है? (What is RAM in Hindi)

 

RAM की फुल फॉर्म “Random Access Memory” है, इसी को Computer की Main Memory भी कहा जाता है. ये एक temporary storage होती है यानी device के Off होते ही इसमे store data अपने आप remove हो जाता है. इसके बाद उस डेटा को वापस नही लाया जा सकता. इसीलिये RAM को volatile memory भी कहते है. ये एक semiconductor और flip-flop से मिलकर बनी memory है.

 

 

उदाहरण से समझिए अगर आप अपने mobile की internal memory में store किसी file को open करेंगे तो वो फ़ाइल जिस मेमोरी के उप्पर run करती है वो RAM है. इसलिए जब हम अपनी device में एक साथ कई apps को चलाते है तो RAM में load बढ़ने के कारण हमारी device slow हो जाती है. आमतौर पर RAM दो प्रकार की होती है:

 

1. SRAM

 

SRAM का पूरा नाम है Static Random Access Memory. डिवाइस के बंद हो जाने पर इसमे मौजूद डेटा भी खो जाता है. ये data को fast access करती है इसलिए इसे cache memory भी कहा जाता है. SRAM, flip-flop से मिलकर बनी होती है इसलिए ये कम refresh होती है.

 

2. DRAM

 

DRAM का मतलब है Dynamic Random Access Memory. SRAM के compare में इसकी data read करने की speed थोड़ी low होती है जिसके कारण इसे बार-बार refresh करना पड़ता है. ये प्रति सेकंड में हजार बार रिफ्रेश होती है और SRAM के मुकाबले DRAM काफी low price की होती है. अधिकांश device में यही RAM उपयोग की जाती है.

 

RAM की परिभाषा क्या है? (What is the definition of RAM)

 

Computer का वह Memory जो वर्तमान में CPU द्वारा चलाए गए कार्य को करने के लिए अस्थायी तौर पर Data और Instructions Store रखता है। RAM कहलाता है। अर्थात RAM Computer का वह Memory होता है। जो सिर्फ CPU को कार्य करने के लिए Data और Instructions Store रखता है। क्योंकि यह CPU का भाग होता है। इसमें Store Data को CPU Direct Access कर सकता है और अपना कार्य करता है। CPU को Fast कार्य करने के लिए ही RAM का उपयोग किया जाता है।

क्योंकि अन्य Memory की Speed RAM की तुलना में कम होती है। RAM में Data तभी तक Store रहता है। जब तक उस Data का इस्तेमाल आप कर रहे होते हैं। जैसे अगर आप कोई Software का इस्तेमाल कर रहे हैं। तब वह Software RAM में Load रहता है। लेकिन जैसे ही आप उस Software को बंद कर देते हैं। वैसे ही RAM से Software और उसका Data नष्ट हो जाता है। या फिर Software का उपयोग करते वक्त ही Computer बंद करने पर या Computer से बिजली जाने पर वह Data Automatic नष्ट हो जाता है। RAM की विशेषताए नीचे विस्तार में देखेंगे।

 

RAM का फुल फॉर्म है? (What is the full form of RAM)

 

“Random Access Memory”

जब हम अपने फ़ोन में या कंप्यूटर में एक साथ बहुत सारे एप्लीकेशन को खोलते हैं और प्रयोग करते हैं तो आपने देखा होगा की फ़ोन धीमा काम करने लगता है. ऐसा इसीलिए होता है की मोबाइल या कंप्यूटर की primary memory में space काम हो जाता है. जब एप्लीकेशन बंद करते हैं तो कुछ space खली हो जाता है और मोबाइल फिर से अच्छी स्पीड से चलने लगता है.

इसका मतलब आप समझ ही गए होंगे की अगर एक साथ ढेर सारे एप्प्स इस्तेमाल करना चाहते हैं तो आपका RAM ज्यादा होना चाहिए।

 

RAM का इतिहास (History of RAM)

 

RAM के इतिहास के बारे में अगर बात की जाये तो में आपको बताना चाहूंगा सबसे पहली रैम को 1947 में विलियम्स ट्यूब के साथ पेश किया गया था. इसका उपयोग CRT में किया गया था यानी के Cathode Ray Tube में और डेटा को विद्युत रूप से चार्ज किए गए स्पॉट के रूप में संग्रहीत किया गया था.

दूसरे प्रकार की रैम एक चुंबकीय कोर मेमोरी थी जिसका आविष्कार 1947 में किया गया था. यह प्रत्येक रिंग से जुड़ने वाले छोटे धातु के छल्ले और तारों से बना था. एक रिंग एक बिट डेटा संग्रहीत करती है और इसे किसी भी समय एक्सेस किया जा सकता है.

 

 

रैम जिसे आज हम सॉलिड स्टेट मेमोरी के रूप में जानते हैं इसका आविष्कार रॉबर्ट डेनार्ड ने 1968 में आईबीएम थॉमस जे वत्स रिसर्च सेंटर में किया था. इसे विशेष रूप से डायनामिक रैंडम एक्सेस मेमोरी (DRAM) के रूप में जाना जाता है और इसमें बिट्स को डेटा स्टोर करने के लिए ट्रांजिस्टर होते हैं. रैम क्या है? इसमें प्रत्येक ट्रांजिस्टर की स्थिति को बनाए रखने के लिए बिजली की निरंतर आपूर्ति की आवश्यकता होती थी इंटेल ने अक्टूबर 1969 में पूरी दुनिया के सामने अपना पहला DRAM, Intel 1103 पेश किया था. यह इसका पहला व्यावसायिक रूप से उपलब्ध DRAM था.

 

RAM के कार्य क्या है? (What is the function of RAM)

 

RAM का कार्य निम्नलिखित है।

  • Computer में RAM का कार्य मुख्य मेमोरी के रुप में होता है।
  • RAM का कार्य CPU को Data और Instructions देना होता है।
  • RAM का कार्य Computer को कार्य करने के लिए Space देना होता है।
  • RAM का कार्य Computer में हो रहे वर्तमान कार्य का Data, Program, Instructions या Command Load करना होता है।

तो यहाँ हमने RAM के कुछ कार्य बताया है। Computer के Start होते ही RAM कार्य करने लगती है और Computer को Start होने के लिए भी RAM की जरुरत होती है। क्योंकि Computer को Start करने वाले जरुरी Program जैसे; BIOS और Operating System भी RAM में Load होने के पश्चात कार्य करते हैं और Computer Start करते हैं।

 

RAM कैसे कार्य करता है? (How does RAM work)

 

Random Access Memory कंप्यूटर मेमोरी का सबसे महत्वपूर्ण पार्ट है. इसको Random Access Memory कहने का कारण ये है की अगर आप सेल के row और column के intersect point को जानते हैं इसके किसी भी मेमोरी सेल को तक बड़े ही आसानी से पहुँच सकते हैं. इसके काम करने के प्रोसेस को समझने के पहले ये जान ले की ये भी एक Integrated Circuit होता है

जो लाखों transistors और capacitors से बना होता है.इसमें एक capacitor और एक transistor का pair बनता है जिससे की एक memory cell बनता है जो डाटा के एक single bit को represent करता है.Capacitor information के bit को 0 और 1 के रूप में रखता है. Transistor switch के रूप में काम करता है. और ये Memory के circuit को control करता है यानी capacitor को read करता है और इसके state को भी बदलता है. अब चलिए इसके काम करने के प्रोसेस को जान लेते हैं.

एक Capacitor bucket यानि बाल्टी की तरह होता है जिसमे electron को स्टोर करने की क्षमता होती है. Memory के cell में एक 1 को स्टोर करने के लिए bucket में electrons को भरा जाता है. रैम क्या है? एक 0 को स्टोर करने के लिए इसे खाली रखा जाता है.Capacitor bucket की समस्या ये है की इसमें leakage होता है. कुछ milliseconds के अंदर में ही पूरा भरा हुआ bucket खाली हो जाता है.

इसीलिए Dynamic memory को काम करने के लिए CPU या memory controller को उन सभी Capacitors को recharge करना होता है जो 1 को hold किये हुए होते हैं.Dynamic Memory के capacitor को periodically refresh करना जरुरी होता है नहीं तो ये discharge होकर 0 हो जायेगा.

इसके बार बार Refresh Operation की वजह से इसका नाम Dynamic रखा गया है वैसे अगर refresh न किया जाये तो ये भूल जाता है की इसने क्या hold किया हुआ है.

 

RAM की विशेषताएँ (Features of RAM)

 

  • CPU का भाग होती हैं.
  • इसके बिना कम्प्यूटर अपना काम नही कर सकता हैं.
  • कम्प्यूटर की प्राथमिक मेमोरी होती हैं.
  • उपलब्ध डाटा Randomly Access कर सकते है.
  • अस्थाई मगर तेज होती हैं.
  • RAM मंहगी होती हैं.
  • Storage से भिन्न होती हैं.

 

FAQ-RAM पर अक्सर पूछे जाने वाले सवाल जवाब:-  

 

1. RAM किसे कहते हैं?

Memory के एक प्रकार को RAM कहते हैं।

 

2. RAM का Full Form क्या है?

RAM का पूरा नाम (RAM Full Form in Hindi) Random Access Memory (रैंडम ऐक्सेस मेमोरी) होता है।

 

3. RAM किस तरह की मेमोरी है?

RAM एक तरह का Volatile Memory है।

 

4. RAM कितने प्रकार की होती है?

RAM मुख्य रुप से दो प्रकार की होती है।

5. कंप्यूटर की मुख्य मेमोरी क्या होती है?

Computer की मुख्य मेमोरी RAM होती है।

 

6. RAM को हिंदी में क्या कहते हैं।

RAM या Random Access Memory को हिंदी में याभिस्मृति या यादृच्छिक-अभिगम स्मृति कहते हैं।

 

   

Conclusion

  

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख  रैम क्या है? (What is RAM in Hindi) और इसके कार्य की जानकारी   जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

रैम क्या है? (What is RAM in Hindi) और इसके कार्य की जानकारी

 

Leave a Comment