सर्च इंजन क्या है? यह कार्य कैसे करता है? (What is search engine)

दोस्तों क्या आपको पता है सर्च इंजन क्या है? और ये कैसे काम करता है. इसके साथ इसके साथ साथ मैं आपको कुछ और जानकारी हिंदी में देने वाला हूँ आज के इस लेख में. जमाना तो Internet का है और Internet बिना Information के कुछ भी नहीं है. जब भी आपके मन में कोई सवाल आता है तो इस 21 Century में कौई भी इनसान आस पास के लोगों से या, उनके teachers से नहीं पूछ ते हैं. वो सीधा अपना मोबाइल निकालते है और जो भी उनके मन में सवाल है वो लिख देते हैं. उनको कुछ seconds के अंदर जवाब मिल जाता है.

जब भी दोस्तों के बिच में कोई सवाल को लेके Argument हो जाता है, तो उसका जवाब भी Internet में मतलब कोई search engine जैसे Google, Yahoo, Bing पे Search करते हो. लेकिन हम 1990 की बात करें तो एसा कोई concept नहीं था जहाँ आप कुछ search करो और तुरंत मिल जाये. उस दौर में तो Internet भी नहीं था.

बात की जाये आजकल की लोगों के मन में हजारों सवाल आते हैं और हर कोई बोलता है Internet में ढूंड मिल जाये गा. ये युवा पीढ़ी इसे कहती है Google कर लो भाई. यही वो Search Engine है जिसकी आज हम हमारे Readers को इस लेख में बताएँगे. Google, Yahoo और Bing की जानकारी इस लेख में देंगे तो चलिए सुरु करते हैं.

 

सर्च इंजन क्या है? यह कार्य कैसे करता है? (What is search engine)
TEJWIKI.IN

 

सर्च इंजन क्या है?  (What is search engine)

 

Search engine एक Web based tool अथवा Software है, जो internet users को World Wide Web पर information search करने में मदद करता है. उदाहरण के लिये Google, Bing, Yahoo, Baidu और Yandex लोकप्रिय खोज इंजन है. जब उपयोगकर्ता search bar में कोई शब्द type करता है, तो उसे Keyword कहा जाता है. इन्ही कीवर्ड और key phrase के आधार पर search engines उपयोगकर्ता के सामने वेब परिणामों की लम्बी सूची प्रदर्शित करते है.

खोज इंजन website link, image और video के रूप में हमे जो परिणामों की सूची (content list) दिखाते है, उस page को Search engine result page (SERP) कहा जाता है. उदाहरण के लिये हमारी website के इस पेज पर पहुँचने से पहले आपने Google search engine पर “सर्च इंजन क्या होता है” लिखकर सर्च किया होगा. इस स्थिति में लिखा गया शब्द search engine एक Keyword है. जिससे सर्च इंजन यह पता लगाते है, कि user किस बारे में जानना चाहते है.

 

 

 

बाकी के पूरे sentence को Key phrase कहा जाता है, जो google या दूसरे search engine को best match result दिखाने में मदद करता है. तो कुल मिलाकर Search Engine एक ऐसी Service है, जिसे हम Internet के माध्यम से Access कर पाते है. यह user की query (सवाल) के आधार पर information database से उस जानकरी को खोजता है और अपनी Algorithm का इस्तेमाल करके हमारे सामने ऐसे परिणाम रखता है. जिनमे हमे अपने सवालों के exact result मिल पाए.

 

सर्च इंजन का इतिहास (search engine history)

 

सारे सर्च engine का काम एक ही था इन्टरनेट पे डाटा सर्च करना और display करना. सुरावती दिनों में Search ENGINE कुछ और नहीं बस एक File Transfer Protocol का collection था. जितने भी server एक दुसरे से connect थे उनमे से डाटा ढूंडना था. तब के world wide web internet से जुड़ने का एक मात्र जरिया था. Search engine को इसलिए बनाया गया क्यंकि web server और file को locate करना इतना असान नहीं था.

सबसे पहले वाला सर्च इंजन एक school का project था, जिसको बनाने वाले का नाम है Alan Emtage. जो 1990 में वो McGill University का student था. तो चलिए अब जानते हैं अलग अलग search engine इंजन कब और कैसे बने.

 

Excite

 

Excite का जन्म February 1993 हुआ था. Excite भी एक University का project था और उस project का नाम था Architext. इस project में 6 uundergraduatestudent थे. Stanford university का ये project 1995 तक आगे चल के Crawling search engine का रूप ले लिया. इसमें काफी growth के कारण इसने Web-crawler और Magellan को भी इसने खरीद लिया. आखिर में इसने MSN और Netscape के साथ partnership कर ली.

 

Yahoo

 

इसका नाम तो अभी भी है, थोडा बोहत तो आप जानते ही होंगे इसका जनम 1994 को हुआ था. इसकी सुरुवात Stanford university में हुई थी. 1994 में Jerry Yang और David Fillo ने इसकी सुरुवात की थी. ये दोनों Electrical Engineering के Graduate Student थे. उन्होंने जब एक वेबसाइट बनाई जिसका नाम था “Jerry and David to guide to world wide web”. ये guide एक Directory थी जो दुसरे websites दुसरे websites को organize करके रखता था. 1994 में याहि Guide Yahoo का रूप ले लिया था. yahoo.com domain 18 January 1995 Registered हुआ था.

 

WebCrawler

 

ये एक Meta search engine है जिसका जन्म April 20 1994 में हुआ था. Google और yahoo दोनों के top result को ये show करता था. जिसमे आप audio, video, news को बड़ी आसानी से search कर सकते हो. इसको बनाने वाले का नाम है Brian Pinkerton University Of Washington में.

 

Lycos

 

इसका भी जन्म 1994 में ही हुआ था. ये search के साथ साथ एक web portal सेवा देता है. Carnegie Mellon University से इसकी सुरुवात हुई. ये email, Web hosting, Social Networking और Entertainment websites की सेवा भी देता था.

 

Infoseek

 

Infoseek भी काफी लोकप्रिय Search engine है जिसका जन्म 1994 में ही हुआ था, जिसके Founder थे Steve Kirsch. Infoseek को INFOSEEK corporation operate करता है. इसका Head quarter Sunnyvale, California है. इस company को The Walt Disney Company ने 1998 में खरीद लिया फिर ये बाद में yahoo के साथ जुड़ गई और अभी इसका कोई नाम नहीं है.

 

AltaVista

 

इसका जन्म 1995 में हुआ था. पुँराने ज़माने में ये एक जादा इस्तेमाल करने जाने वाली search engine है. 2003 में इसको yahoo ने खरीद लिया. लेकिन Brand और services altavista के ही थे. लेकिन 2013 July में सारे services को yahoo ने बंद कर दिया और ये Yahoo search engine में redirect हो गई.

 

Inktomi

 

Inktomi का जन्म 1996 में हुआ था. इनके Founder थे UC Berkeley professor Eric Brewer और एक graduate Student जिनका नाम है Paul Gauthier. सुरुवात में ये भी एक search engine थी जिसको UNIVERSITY में Develop किया गया था.

 

Ask.com

 

इसका नाम तो आज भी है ASK.COM पहले Ask Jeeves था. इसका भी जन्म 1996 में हुआ था. ये एक question answer साईट है. जिसका जादा focus E-Business और web search engine पे था. इसके Founder का नाम है Garrett Gruener and David Warthen California से.

 

Google

 

वैसे आज के वक्त में Google एक अरबो खरबों की company है, जिसने Oxford Dictionary में अपनि खुद की जगह बना राखी है, जो की एक क्रिया है. लेकिन इसको बनाने में दो PHD Students का हाथ था जिनका नाम है Sergey Brin और Larry Page जो की Stanford University, California के छात्र थे, 1995 में वे वहीँ पे आपस में मिले थे और वही से इस Search engine की सुरुवात हुई.

1996 में Sergey Brin और Larry Page जब PHD पढाई कर रहे थे उन्होंने अपना PHD का re Search project में कुछ अलग करने की सोची और वो सोचे थी “अगर हम Website को Rank करें दुसरे website के साथ तुलना करके, तो काफी अच्छा होगा, उस वक्त उनका रैंक करने का तरीका ये था, जितनी बार Search किया गया सब्द, उस webpage में होगा उस हिसाब से वो rank करगें और यही कल्पना आज Google का रूप है. सुरुवात में उन्होंने इसका नाम BACKRUB दिया था. 1997- में दोनों ने Search engine का नाम “Google” रखा गया.

 

भारत के पांच प्रमुख खोज इंजन kya  hai (What are the five major search engines of India)

 

Internet आज के समय में हमारी daily life का एक important part है और search engine इंटरनेट की रीढ़ की हड्डी है. आप इंटरनेट पर मौजूद हर जानकारी तक खोज इंजन के माध्यम से पहुंच सकते है. तो चलिए अब हम आपको भारत के कुछ popular search engine के बारे में बताते है, जिन्हें शायद आप भी इस्तेमाल करते होंगे.

 

Top 5 Search engine list in Hindi:

 

Google

 

इसमे कोई शक नही कि Google दुनिया का सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला Search engine है. गूगल में per second लगभग 63000 searches होती है. जरा सोचिये प्रति सेकंड इतनी बार सर्च किया जाता है, तो रोज और पूरे साल की संख्या क्या होगी. अगर इस नंबर के आधार पर देखे तो Google में per year लगभग 2 trillion searches होती है. गूगल की शुरुवात 1997 में American computer scientist Larry Page और Sergey Brin ने की थी.

गूगल के पास Search engine market share का लगभग 92.81% हिस्सा है गूगल के लोकप्रिय होने की सबसे बड़ी वजह इसका information database है, कुछ भी सर्च कीजिये आपको उसका तुरंत जवाब मिलेगा.

 

Bing

 

Bing को Microsoft द्वारा बनाया गया है. माइक्रोसॉफ्ट के CEO Steve Ballmer ने वर्ष 2009 में इसकी शुरुवात की थी. गूगल के बाद बिंग लोकप्रिय search engine की list में दूसरे नंबर पर आता है. माइक्रोसॉफ्ट ने bing को अपने पुराने सर्च इंजन Live search और MSN search से replace किया था. बिंग को अक्सर गूगल के प्रतियोगी के रूप में देखा जाता है.

परन्तु वास्तव में इन दोनों की कोई तुलना नही है. Search engine market share की लगभग 2.38% हिस्सेदारी के साथ बिंग दूसरे नंबर पर है.

 

Yahoo

 

दुनिया के बडे search engine में yahoo भी एक जाना माना नाम है. एक सर्च इंजन और portal होने के अलावा याहू कई अन्य service भी मुहैया कराता है. yahoo mail इनमे से सबसे प्रशिद्ध है. google के साथ तुलना में yahoo उतने fast और exact result नही दिखा पाता है और शायद इसीलिए सर्च इंजन के रूप में यह इतना preferable नही है.

 

AOL.COM

 

AOL एक American web portal और online service provider कंपनी है. हालांकि AOL search engine का भारत मे उतना उपयोग नही होता परन्तु हिंदी सर्च के हिसाब से यह एक बेहतरीन खोज इंजन है. इसमे लाखो हिंदी वेबसाइट और ब्लॉग उपस्थित है, जो आपको हिंदी भाषा मे जानकरी मुहैया कराते है. search engine market में इसका करीबन 0.06 % शेयर माना जाता है.

 

Yandex

 

Yandex को Russia के सबसे popular search engine का दर्जा मिला हुआ है. जिस तरह google भारत मे छाया है वैसे ही Yandex Russia में प्रसिद्ध है. इसकी शुरुआत Arkady valozh और Arkady Borkovsky ने 1997 में की थी. खोज इंजन के अलावा यह कई दूसरी services भी प्रदान करता है. भारत मे इसका market share मात्र 0.01% है. Yandex पर जानकरी खोजना गूगल की ही तरह आसान है.

 

सर्च इंजन कार्य कैसे करता है? (How does search engine work)

 

चलिए यह तो समझ आ गया Search engine क्या होता है? परन्तु इससे भी दिलचस्प बात यह है, कि सर्च इंजन काम कैसे करते है? जब भी आप कोई keyword या key phrase सर्च बॉक्स में लिखकर सर्च करते है. तो यह कैसे हमें exact result दिखा पाते है. इस कार्य को search engine द्वारा three phase में किया जाता है. जिसमे Crawling पहला Indexing दूसरा और Retrieval तीसरा चरण है. चलिये इन तीनो के बारे में थोड़ा अच्छे से समझते है.

खोज इंजन के तीन प्राथमिक कार्य क्या है?

 

 

1) Search Engine Crawling

 

Crawling एक खोज प्रक्रिया है, जिसमे search engine द्वारा किसी नई या पुरानी website को scan किया जाता है. इस कार्य को करने के लिए Robot (जिसे crawler और spider भी कहते है) का सहारा लिया जाता है. सर्च इंजन क्या है? यह Spiders किसी website के content को उसके link द्वारा खोजते है. इनका काम website scan करना और वेबसाइट के हर page के बारे में detail एकत्र करना होता है.

Spiders किसी Web page के title, url image, keywords को स्कैन कर यह पता लगाते है, कि web page किस बारे में है. अगर उस पेज में कई दूसरे वेब पेज के link मिलते है, तो स्पाइडर उस लिंक की मदद से अगले पेज पर पहुंच कर उसे scan करना शुरू कर देते है. ऐसे ही यह Automated bot लिंक के माध्यम से लाखों वेबपेज को स्कैन करते रहते है. अगर कुछ बुद्धिजीवों की माने तो Google crawler एक सेकंड में हजारों वेब पृष्ठों को स्कैन कर सकता है.

 

2) Search Engine Indexing

 

एक बार जब crawler किसी web-page को scan कर लेते है, उसके बाद Indexing की process शुरू होती है. crawl किये गए data को database में store किया जाता है. इस database center पर पर्याप्त मात्रा में servers रखे गए होते है, जो crawler द्वारा बनाई जा रही web page की सभी copies को store करते है. web page के इस भंडार को index कहा जाता है.

यही वो data है, जो search engine में जानकारी खोजने के दौरान आपको search result के रूप में दिखाई देता है. यह data और web pages के द्रव्यमान को व्यवस्थित करने की प्रकिया है, ताकि खोज इंजन आपके search query के लिए relevant result को जल्दी से ढूंढ पाये.

 

3) Search Engine Ranking और Retrieval

 

तीसरा और अंतिम चरण Ranking है. इसमे search engine हमारे द्वारा सर्च की गई query की processing करता है और ऐसे relevant pages हमारे सामने रखता है, जिनमें हमारे सवाल का सही जवाब मिल पाए. जो web page हमे search result में सबसे उप्पर दिखाई देते है वह खोज इंजन के हिसाब से आपकी query के लिए सबसे relevant है. अब सवाल यह है, Google या कोई दूसरा सर्च इंजन कैसे तय करता है कि पहले नंबर में rank हुआ web page दूसरे नंबर से बेहतर है.

इसके लिये Ranking Algorithm का सहारा लिया जाता है. प्रत्येक खोज इंजन की एक अलग Ranking method हो सकती है. सभी search engine अपनी algorithm को secret रखते है, ताकि कोई web creator उन एल्गोरिदम का इस्तेमाल करके गलत तरीके से उप्पर न आये. लेकिन वेब निर्माता SEO (Search engine optimization) का बेहतर इस्तेमाल करके अपने web page को दूसरों से आगे लाने की कोशिश करते है.

 

सर्च इंजन के प्रकार (Search engine type)

 

Search engine आज हमारे लिए जानकारी खोजने का एक बेहतरीन tool बन चुका है. किसी विषय के बारे में जानने के लिए आपको resources का पता लगाने की कोई जरूरत नही बस सर्च इंजन पर विषय डाले आपके सामने वह सभी website होंगी जो उस बारे में जानकारी देती है. आपके द्वारा सर्च की गई जानकारी प्राप्त करने के लिए विभिन्न प्रकार के खोज इंजन है.

खोज इंजन को निम्न तीन श्रेणियों में वर्गीकृत किया जाता है.

Crawler Based Search Engines
Directories
Hybrid Search Engine

 

1. Crawler

 

सभी crawler आधारित search engine database में नई सामग्री को crawl और index करने के लिये Spiders, crawler, robot और bot programs का इस्तेमाल करते है. किसी भी website को search results में दिखाने से पहले यह चार स्टेप को फॉलो करते है, crawling, indexing, calculating relevancy और retrieving result. इस प्रकार के खोज इंजन सबसे ज्यादा उपयोगी होते है.

Crawler Based Search Engine Example:

Google
Bing
Yahoo

 

2. Directories

 

Web directory जिसे हम subject directory के रूप में भी जानते है, एक प्रकार का डायरेक्टरी सिस्टम होता है. इसमे category के आधार पर websites की list दी जाती है और वेबसाइट किस बारे में है, इसका एक छोटा description भी दिया जाता है. वेबसाइट का owner इन directories में खुद अपनी वेबसाइट को सबमिट करता है. इन डायरेक्टरी में भी एक search box होता है. जिस पर अपनी query डाल कर आपको उन websites के link प्राप्त हो जायेंगे जो इस बारे में जानकारी दे रहे है. इस प्रकार के सर्च इंजन पूरी तरह से मानव संचालित होते है.

Directory Based Search Engine Example:

Yahoo Directory
DMOZ
BOTW

 

3. Hybrids

 

यह Crawler और directory आधारित search engines का मिश्रण है. Google या दूसरे क्रॉलर आधारित खोज इंजन crawler को प्राथमिक तंत्र और directories को दूसरे तंत्र के रूप में उपयोग करते है. इस category में आने वाले सर्च इंजन अपने परिणामों में क्रॉलर और डाइरेक्टरी दोनों से ही वेबपेज का विवरण लेकर आपको दिखा सकते है. यह एक अच्छा विकल्प है, सर्च इंजन क्या है? जहाँ आप मानव संचालित परिणाम और क्रॉलर परिणाम एक ही खोज इंजन पर प्राप्त कर सकते है.

परन्तु आज कल human based directories गायब होती जा रही है, जिससे अब hybrid search engine पूरी तरह से crawler आधारित हो गये है.

Hybrid Based Search Engine:

Yahoo
Google

 

Search Engine के उपयोग क्या है? (What is the use of Search Engine)

 

  • Search Engine का उपयोग बहुत से लोग अलग-अलग उद्देश्य करते हैं जो हम आपको बता रहे हैं। बहुत से लोग इसका इस्तेमाल अपने मनोरंजन के लिए करते हैं लेकिन ज्यादातर लोग अपनी रिसर्च के लिए इसका उपयोग करते हैं
  • और वह उनके दिमाग में जो भी क्वेश्चन होता उसका आंसर पाने के लिए वह Search Engine का इस्तेमाल करते हैं। इसमें इंटरनेट यूजर बहुत से काम अपने घर बैठे ही कर लेते हैं जैसे कि ऑनलाइन शॉपिंग नेट बैंकिंग वेबसाइट
  • पर अपना अकाउंट बनाना। अलग अलग तरह के लोग इसका उपयोग अपनी रूचि के हिसाब से Search Engine के द्वारा सर्च करते हैं।

 

 

 

FAQ – Search Engine पर अक्सर पूछे जाने वाले सवाल जवाब:-

 

1. दुनिया का पहला सर्च इंजन कौन सा है?

दुनिया का पहला सर्च इंजन का नाम आर्ची (Archie) है जिससे 10 सितंबर 1990 को बनाया गया था. इसको बनाने वाले प्रोग्रामर का नाम Alan Emtage था.

2. सर्च इंजन कितने हैं?

सर्च इंजन कई है जिनमें सबसे प्रमुख है गूगल, बिंग, याहू, यांडेक्स, बैदु इत्यादि.

3. सर्च इंजन का क्या उपयोग है

यह एक ऐसा माध्यम है जिसके द्वारा कोई भी इंसान अपनी जानकारी को किसी की वोट की मदद से इंटरनेट पर ढूंढ सकता है.

4. दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन कौन सा है?

इसमें कोई शक नहीं कि आज दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन गूगल है.

5. गूगल कैसे काम करता है?

सर्च इंजन हम जो कीवर्ड एंटर करते है उसे गूगल अपने डेटाबेस तक पहुंचता है. सर्च इंजन ‘वेब क्रॉलर’ प्रोग्राम डेटाबेस पर मौजूद सभी वेब पेजेस को चेक करता है और उनमें मौजूद लिंक और डेटा को सर्वर पर सेंड करता है फिर रिजल्ट दिखा देता है.

   

Conclusion

 

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख  सर्च इंजन क्या है? यह कार्य कैसे करता है? (What is search engine)  जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

सर्च इंजन क्या है? यह कार्य कैसे करता है? (What is search engine)

 

Leave a Comment