SEO Friendly Blog Post कैसे लिखे, की सम्पूर्ण जानकारी हिन्दी में

दोस्तों  SEO Friendly Blog Post कैसे लिखे :- क्या यह सवाल आपके मन में भी आ रहा है ? यदि हाँ ,तो आप सही जगह आये है। यहाँ हम सीखेंगे कि SEO फ्रेंडली ब्लॉग पोस्ट कैसे लिखें और अपने ब्लॉग वेबसाइट को गूगल मे रैंक कैसे करें। सबसे पहले आपको SEO के बारे में पता होना चाहिए कि SEO क्या है ? उसके बाद SEO friendly article लिखना आसान होगा। आप चाहे जितना भी ब्लॉग पोस्ट लिख ले लेकिन बिना SEO friendly post के आपको अच्छा रिजल्ट नहीं मिलेगा।

आप गूगल में भी रैंक नहीं कर पाएंगे। इसलिए SEO friendly blog post लिखना बहुत ज़रूरी है। SEO friendly blog post लिखकर आप अपने ब्लॉग पोस्ट को Google में रैंक करा पाएंगे। चलिए सीखते है की SEO फ्रेंडली ब्लॉग पोस्ट स्टेप बाय स्टेप कैसे लिखते हैं।

SEO ka full form, Search Engine Optimization होता है। यदि आप SEO friendly blog post लिखते हैं, तो Google को समझने में आसानी होती है कि आपका post किस विषय में है। Search Engine optimize ब्लॉग पोस्ट गूगल में जल्दी रैंक होता है। SEO optimize ब्लॉग पोस्ट का ट्रैफिक फ्री में बढता है और Google में search करने पर पहले पेज पे आने का ज्यादा चांसेज़ रहता है।

जब आपके ब्लॉग पर ज्यादा से ज्यादा Visitors आएंगे तो आपके ब्लॉग का ranking भी बढेगा। इससे आपकी earning भी बढेगी।

 

SEO Friendly Blog Post कैसे लिखे, की सम्पूर्ण जानकारी हिन्दी में
TEJWIKI.IN

 

SEO Friendly Blog Post कैसे लिखे (How to Write SEO Friendly Blog Post)

 

SEO का पूरा नाम है, Search Engine Optimization. आप SEO friendly article लिख रहें हैं, इसका मतलब ये है की आप Google को बता रहे हो की आपका Article किस topic पे लिखा गया है. इसके जरिये content को search engine के लिए optimize कर रहे हो.

जिसके बोहत सारे फायदे हैं जैसे Site का traffic बढेगा. आपका article search करने पे google के पहले पेज पे आएगा. ज्यादा से ज्यादा Visitors होंगे. आपके site का rank बढेगा. ये सब इसके फायदे हैं. इसके जरिये Visitors को जो content चाहिए वही content, google user को दे सकता है. आपकी Income में भी वृद्धि होगी.

तो आप निचे दिए गए tips को अछे से follow करे आपको सब समझ आजायेगा.

 

 

#1. Keyword Research

 

आपके मन में पहला सवाल आया होगा की ये keyword क्या होता है. कोई ज्यदा Rocket Science नहीं है. जो भी Phrase और Sentence आप Google में search करते है वही आपका keyword है. जैसे आप google में search करते हो “Facebook से पैसे कैसे कमायें”.

यही आपका keyword है. अब अगला सवाल आता है की कोनसा Keyword ज्यादा सही रहेगा. इसके लिए आपको Tools का इस्तेमाल करना है जैसे google की और से Free tool है. जिसका नाम “Google Keyword Planner” है. Keyword आप एसा चयन करे जिसमे Competition कम हो एसे keyword को जल्दी rank कर सकते हो.

आप चाहो तो आप अपने हिसाब से भी keyword दे सकते हो, बस Google Keyword Planner से Competition check कर सकते हो. एक जरुरी बात long Tail Keyword का प्रोयोग करे. इसका फायदा यह है, इसमें Short Tail Keyword को भी अच्छे से rank कर सकते हो.

चलो आपको समझाते हैं ये Long tail keyword क्या होता है और Short tail keyword क्या है. “TOP 10 best photo editing aaps in 2022” ये आपका long tail keyword है. लेकिन आप अगर लिखो photo editing aaps तो ये short tail keyword है।

लेकिन उपर वाले keyword (TOP 10 best photo editing aaps in 2022) में short tail keyword भी आ जाता है. मेरा बोलने का मतलब है Long tail keyword का इस्तेमाल करे short tail keyword अपने आप rank हो जायेगा.

 

#2. Keyword को Title में रखें

 

आप का article जिस topic पे है उसके हिसाब से आपको अपना Title का चयन करना है. और एक बात याद रहे की आपका title जो है वही आपके article का keyword होना चाहिए. आप एसा गलती कभी मत कीजिये की आपका का Focus keyword है “ Seo Friendly blog post कैसे लिखे” और आप कुछ और लिख रहे हो. तो आप अपने post के Title में भी यही लिखे. ये तो आपको समझ अगया होगा चलिए आगे अभी और कुछ सीखते हैं

 

#3. अपने पहले Paragraph में Keyword का उपयोग करे

 

इस बात पे भी आपको ध्यान देना होगा की जब भी आप article लिखे तो पहले paragraph में keyword का प्रयोग जरुर करे. जो की SEO के लिए मददगार होगा. अगर एक Article लिख रहे हो जिसमे का नाम है “SEO क्या है” तो आप इसको keyword के हिसाब से लेना होगा.

मेरा मतलब “SEO क्या है” को कहीं भी Paragraph में लिखे. लेकिन एक बात को ध्यान में रखें की आपका keyword, Natural तरीके से लिखा जाएँ. keyword को जानबुज कर बार बार ना लिखे ये Google के Guide lines के खिलाफ है. इसीको keyword Stuffing भी बोलते हैं.

 

#4. Image Alt Tag का प्रोयोग करे

 

कोई भी search engine, Image को read नहीं कर सकती. बल्कि आपको search engine को बताना होगा की आप Image का इस्तेमाल किये हैं और Image किसके Related है. Alt tag में आपको Image का नाम डालना होगा.

जैसे अगर Seo का Image है तो आपको alt tag में SEO लिखना होगा. इस्से Search engine को ये पता चलता है की Image किसके बारे में है. alt tag में Keyword का प्रोयोग करे इस्से आपका लेख Optimize होगा.

Seo Friendly Image नाम का plugin का भी आप इस्तेमाल कर सकते हैं. एक बात और हमेसा Image को Compress करे इस्से Page Load time कम होगा. जब भी कोई google image search करेगा तो आपका image भी वहां दिखाई दे सकता है.

 

#5. Heading और Subheading (H2 और H3 Tag) का प्रयोग करे

 

Heading और Subheading का इस्तेमाल करना ही अपने आप में एक SEO है. हमेसा ये याद रखे की Heading से visitors को ये पता चलता है की असल में अंदर क्या लिखा गया है.

वैसे तो Heading और Subheading मतलब H2 और H3 tag में आपको कोनसा Keyword का इस्तेमाल करना है. लेकिन ये याद रहे की आप Exact जो Keyword है उसको वैसे ही मत लिखे उसमें थोडा बदलाव लायें और फिर लिखे।

जैसे एक उदहारण लेलो “Article कैसे लिखे” इसके बदले में आप ये भी लिख सकते हो “Article को अच्छे से कैसे लिखेते हैं”. आप इसको H2 tag में भी लिख सकते हो और H3 में भी लिख सकते हो.

 

#6. Important और Related Keyword को Bold करे

 

ये काम पोस्ट को लिखने के बाद भी कर सकते हो. ये भी seo friendly topic लिखने का अच्छा तरीका है. इसमें आपको बस जरुरत मंद और Related Keywords को Bold कर दीजिये. इस्से search engine को keyword पे Focus करने में आसानी होगी. (इसका मतलब ये नहीं की आप सबको Bold कर दो गे). ये तरीका Visitors को भी Article में content धुंडने ने में आसानी होती है.

 

#7. 1 से 2 Italic keyword

 

आपको कुछ words मतलब 1 से 2 focus keywords को italics कर दीजिये. इस्से भी आपकी article में काफी फरक पड़ेगा. हमेसा एक बात याद रखना की आप ranking के लिए एक word को या sentence बार बार मत लिखे वरना User को भी आपका article boring लगेगा.

 

#8. Outbound Link To High Quality Sites

 

आप देखे होंगे कुछ बोहत बड़ी sites होती हैं. जिन sites के CPC, Rank, Page-rank भी ज्यादा होते हैं. उन site को अपने page में link करे. आप एक Article लिख रहें हैं जिसका नाम है “Blogging क्या है” तो इसमें आप ‘Blogging’ सब्द को कोई दुसरे site के साथ link कर सकते हो।

Blogging सब्द के साथ एक URL का Link दे सकते हो और वो link Wikipedia site से भी हो सकता है. जब भी कोई Blogging सब्द पे Click करेगा तो वो WIKIPEDIA Page पे Redirect करेगा.

बोहत सारे site हैं जैसे Facebook, Microsoft, Apple ये सब High quality sites हैं. इन सभी के साथ अपने site के कुछ words को link कर सकते हो. Google इसे बोहत ही जरुरी मानता है. अच्छे से समझने के लिए आप video को भी देख सकते हो.

 

 

#9. Internal Links to Related Article

 

आप अगर Video देख लिए होंगे तो आपको समझ में अगया होगा की मैं क्या समझाना चाहता हूँ. Internal Links to Related Article इसका मतलब है, अपने article के बिच में दुसरे post का link दें।

आप अपने article में Quality article के बारे में लिखे हो तो फिर आपको बिच में “SEO क्या है ” post का link दे सकते हो वो भी आपका लिखा हुआ post होगा. इस्से होगा क्या आपके site का engagement बना रहेगा. Visitors आपके site के दुसरे post को पढ़ते रहेंगे. Bounce Rate भी बरकरार रहेगा।

 

#10. High Quality Content लिखे

 

आप चाहो जितना भी SEO, Keyword का प्रयोग कर लो लेकिन अगर आप User के लिए नहीं लिखोगे तो कोई फायदा नहीं है.

मेरा मतलब है आप हमेसा Quality content लिखे मतलब Relevant content, User readable content, Complete content लिखे. आप एसे लिखे की user पढने के बाद ये सोचे की जो मुझे चाहिए वो मिल गया.

Article length पे भी आप ध्यान दें. 700 words का article लिखे ही लिखे. जब आप Quality content लिखते हों तब आप भूल ही जाइए SEO के बारे में, बस सब कुछ दिल से निकलना चाहिए यही Google को पसंद है.

 

#11. Blog URL

 

Article को Search Engine Optimize करने के लिए Blog URL का बोहत महत्व रहता है. एसा URL दे जिसमे बस Keyword हो।

आपका keyword है Google क्या है.

एक उदहारण ले लो hindime.net/google-kya-hai.

ये सबसे बहतरीन उदहारण है blog URL कुछ इसतरह होने चाहिए.

बाकि कुछ URL जैसे hindime.net/What-is-google-google-kya-hai ये भी ख़ास नहीं है. hindime.net/GooGLeक्या?११%p ये भी सही URL नहीं है.

 

#12. Meta Description का प्रयोग करे

 

Meta Description में आपको पुरे Article को Summarize करना है. जब भी आप post को publish करो सबसे पहले आपको एक बार Meta Description को देख लेना चाहिए.

इसमें आपको उन keywords का इस्तेमाल करना है जिनको आप अपने post के Heading, Title Description, subheading में प्रयोग किये हो. ये Google को बताता है की आपका post किस के बारे में लिखे गया है. इस्से Google को भी Search करने में आसानी होती है।

ये description करीबन 140-150 Word का होना चाहिए. आप कभी बी Meta Description Copy ना करे. हमेसा Related keyword का इस्तेमाल करना चाहिए. WordPress में head tag के बिच में Meta Description लिखे।

 

#13. Important Keywords को ध्यान दें

 

पोस्ट में महत्वपूर्ण और Related Keywords को Bold और Italic करे। ये भी SEO friendly Blog पोस्ट/article लिखने का अच्छा तरीका है। इससे search engine को आपके पोस्ट के keyword पर Focus करने में मदद मिलेगा।

 

 

Conclusion

  

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख SEO Friendly Blog Post कैसे लिखे, की सम्पूर्ण जानकारी हिन्दी में  जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

SEO Friendly Blog Post कैसे लिखे, की सम्पूर्ण जानकारी हिन्दी में

 

Leave a Comment