SMS Full Form in Hindi – SMS की फुल फॉर्म क्या है पूरी जानकारी

क्या आप जानते है की SMS Full Form क्या होती है या sms क्या होता है या sms काम कैसे करता है? अगर नहीं तो आप इस आर्टिकल को जरूर पढ़े। इसमें आपको एसएमएस के बारे में डिटेल में सारी जानकारी मिलेगी।

आज के आधुनिक समय में हम टेक्नोलॉजी में दिन ब दिन आगे बढ़ते जा रहे है। जब पहले whatsapp, facebook, या बाकी सोशल मीडिया नहीं थे तब हम मैसेज को एसएमएस के द्वारा भेजते थे। यहाँ तक की चैटिंग के लिए भी एसएमएस पैक का recharge कराते थे लेकिन आज हमारे फ़ोन में व्हाट्सप्प है तो पहले के मुकाबले हम आज एसएमएस का इस्तेमाल नहीं करते है लेकिन आज भी 20 billion से ज्यादा sms हर रोज भेजे जाते है।

आप भले ही आज whatsapp का इस्तेमाल करते हो। लेकिन आज भी कंपनी आपको कोई भी message sms के द्वारा ही भेजती है। फिर चाहे वह आपका नेटवर्क ऑपरेटर हो, बैंक हो या इंशोरेंस कंपनी हो। सभी अपनी service की information एसएमएस के द्वारा बताते है।

तो आज मैं आपको sms की full form बताऊँगा साथ ही आपको यह भी बताऊँगा की sms क्या होता है sms काम कैसे करता है और sms के फायदे और नुक्सान क्या है? इसके साथ आपको sms के कुछ मजेदार तथ्य भी बताऊँगा।

 

SMS Full Form in Hindi – SMS की फुल फॉर्म क्या है पूरी जानकारी
TEJWIKI.IN

 

SMS Full Form in Hindi एस.एम.एस का पूरा नाम क्या है

 

SMS की फुल फॉर्म Short Messaging Service होती है . इसको हिंदी में संक्षिप्त संदेश सेवा कहते है SMS को इसलिए short messaging service कहा जाता है क्योंकि मोबाइल मे sms टेक्स्ट करने की कुछ सीमा होती है. इसका मतलब यह है हम अधिकतम 60 से 100 शब्द तक ही message भेज सकते है. कोई भी मोबाइल कैसा भी हो उसमे Message भेजना करने का Features जरूर होता है.

 

SMS क्या होता है?

 

अब sms की full form तो आप समझ गए। अब बात करते है की यह एसएमएस क्या होता है। SMS एक लघु सन्देश सेवा है जिसमें यह आपके मैसेज को एक जगह से दूसरी जगह वायरलेस तरीके से पहुंचाने में मदद करता है।

SMS का प्रयोग करके आप घर बैठे दुनियाभर में अपने किसी भी दोस्त को कोई भी मैसेज एक second में भेज सकते है। आमतौर पर साधारण यूजर आज के समय में मैसेज का प्रयोग ज़्यदातर किसी को विश करने के लिए ही करता है।

 

 

SMS का मतलब क्या होता है?

 

दोस्तों यह SMS का service हर एक Telecom company के तरफ से सभी मोबाइल फोन पर दिया जाता है| हम यह service के माध्यम से एक बार में सिर्फ और सिर्फ 160 character का ही SMS को भेज सकते हैं और यह एक बहुत ही छोटा सा short message होगा जिसके वजह इसे short message service कहा जाता है|आप सभी लोग भी सोच सकते हो की 160 character में कितना लम्बा SMS भेज सकते हो|

यह service का original नाम ही short message service है लेकिन इसे short form में SMS कहा जाता है| दोस्तों यह SMS service एक प्रकार का instant processing service है, यानी की यहां पर हम कुछ ही second के अन्दर अन्दर किसी को भी अपना SMS भेज सकते हैं|

 

MSG का Full Form क्या है?

 

दोस्तों यह msg का फुल फार्म क्या है उसके बारे में भी जानना आप लोगों के लिए कहीं ना जरुरी है| इसी लिए यहां पर msg फुल फार्म क्या है उसके बारे में जानकारी दिया गया है|

MSG full form ::- “Message”

दोस्तों msg का फुल फार्म है “message” यानी की message को short form में msg कहा जाता है|
Message का Short Form क्या है::-
दोस्तों यहां पर आपको already बता दिया गया है की msg का फुल फार्म है Message यानी की बिलकुल समझ गए होगें की आखिर यह message का short form क्या है|

 

Msg का मतलब क्या होता है?

 

दोस्तों msg भी एक प्रकार का message service है और यहां पर आपको एक बार में कितना character का msg भेजना है उसका कोई भी limitations नहीं होता है|

Msg service में आप जितना चाहे उतना लम्बा सन्देश भेज सकते हो|

SMS भेजने के लिए आपको 160 character का limitations दिया जाता है लेकिन msg में इसका कोई भी limit नहीं रहता है|

 

SMS का आविष्कार किसने किया था?

 

SMS यह बहुत बेहतरीन Messages सर्विस होती है जिसकी सहायता से आप अपने Smartphone में या किसी भी तरह के मोबाइल Devis से आप अपने दोस्त रिश्तेदार Girl friend को बिना इंटरनेट की सहायता से TEXT Messages बहुत आसानी से भेज सकते हैं और बता दें कि SMS का अविष्कार Matti Makkonen ने सन 1984 को किया था।

और उन्होंने यह पहली बार सन 1984 में इस बेहतरीन Technology को प्रदर्शित किया था और SMS दुनिया के सामने मै पहली बार (Text Massage) (लिखित सन्देश) को बहुत आसानी से एक स्थान से दुसरे स्थान भेजने का तरीका इजात किया हैं और | Matti Makkonen | को ही SMS Technology का जनक माना जाता है या SMS Technology का पितामा कहा जाता है।

 

SMS कैसे कार्य करता है

 

SMS मुख्य रूप से एक cellular connection के माध्यम से सूचना प्रसारित करता है| ज्यादातर मामलों में, एसएमएस संदेशों को भेजने के लिए internet कनेक्शन की आवश्यकता नहीं होती है, यही एक कारण है कि एसएमएस संदेश केवल text transmit करने में सक्षम हैं|

जब आप एक एसएमएस संदेश भेजते हैं, तो संदेश भेजने वाले उपकरण से नजदीकी cell tower तक पहुंच जाता है| वह सेल टावर एक SMS center (SMSC) को संदेश भेजता है| फिर SMSC एसएमएस संदेश को रिसीविंग डिवाइस के पास एक सेल टॉवर पर भेज देता है। अंत में, वह टावर यूजर के डिवाइस पर संदेश भेजता है|

 

 

यह सब उसी cellular infrastructure का उपयोग करके प्राप्त किया जा सकता है जिसका उपयोग सेल फोन फोन कॉल के लिए करते हैं| इसलिए जब तक आपके पास cell service है, तब तक इंटरनेट कनेक्शन की आवश्यकता नहीं होती है|

हालाँकि, एसएमएस संदेश इस traditional network को आसानी से बंद कर सकते हैं, क्योंकि इसे ध्वनि संचार के लिए डिज़ाइन किया गया है| इसलिए अधिकांश वाहकों की सीमा होती है कि आप एक बार में कितने एसएमएस संदेश भेज सकते हैं| भेजने की सीमा के बिना, एसएमएस केंद्रों का बैकअप लिया जा सकता है, जिससे एसएमएस संदेश प्रसारण में देरी होती है|

 

SMS का उपयोग 

 

आज कल के Time मे SMS का प्रयोग कई क्षेत्र में बहुत सारे कामों के लिए हो रहा है. सभी कंपनी मिसकॉल या कॉल सम्बन्धी सूचना देना देने के लिए SMS ही उपयोग करने लगी है. स्कूल या कॉलेज में छुट्टी, फीस आदि कि Information बच्चो के माता-पिता को देने के लिए भी SMS का ही प्रयोग हो रहा है.

SMS का उपयोग किस लिए और कहाँ पर किया जाता है. आज के समय में SMS का उपयोग कई Field में बहुत सारे कामों के करने के लिए हो रहा है, जिनमे से कुछ का उपयोग करता की सूची इस प्रकार है −

  • SMS का उपयोग सामान्य बातचीत के लिए बहुत ज्यादा किया जाता है.
  • SMS का उपयोग मोबाइल मार्केटिंग करने के लिए भी किया जा रहा है.
  • SMS का उपयोग स्कूल और कॉलेजों में छुट्टी, और फीस कि जानकारी बच्चो के माता पिता को देने के लिए भी किया जाता है.
  • SMS का उपयोग किसी भी तरह की अधिसूचना को एक उपयोगकर्ता के मोबाइल फ़ोन से लेकर दूसरे उपयोगकर्ता के मोबाइल फ़ोन तक पहुचने के लिए भी होता है.

 

SMS और MMS में क्या अंतर है?

 

1) SMS को शॉर्ट मैसेजिंग सर्विस कहते हैं वही MMS का full form multimedia messaging service होता है।

2) SMS को सिर्फ 160 लीटर तक ही लिखा जा सकता है वहीं MMS की कोई लिमिट नहीं है।

3) SMS को सन 1984 में लांच किया गया था वही एमएमएस 2002 में लॉन्च किया गया था।

4) SMS. में पुरानी टेक्नोलॉजी और MMS में नई टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया गया था।

5) MMS को जैसे कि व्हाट्सएप, फेसबुक, इंस्टाग्राम, टेलीग्राम जैसे मैसेजिंग एप है।

 

SMS के फायदे क्या क्या होते है?

 

No Internet Connection – एसएमएस का सबसे बड़ा फायदा है की इसके लिए आपको इंटरनेट की जरुरत नहीं है। अगर हम बात करे व्हाट्सप्प, फेसबुक की तो इसके लिए मैसेज भेजने वाले और मैसेज को रिसीव करने वाले दोनों के फ़ोन में internet होना जरुरी है।

अगर मैसेज भेजने वाले के फ़ोन में internet नहीं है तो वह मैसेज भेज नहीं पाएगा। और अगर मैसेज receive करने वाले के फ़ोन में internet नहीं है तो वह मैसेज को रिसीव नहीं कर पाएगा। लेकिन एसएमएस में आप बिना internet के भी एक दूसरे को मैसेज भेज और रिसीव कर सकते है।

Message Dropping – एसएमएस की एक और खासियत की आप अपनी सुविधा अनुसार कभी भी भेज सकते है जैसा आप जानते है की कालिंग एक लाइव प्रोसेस है इसमें आप कॉल करते है और अगर सामने वाला यूजर network area में हुआ तो फ़ोन लग जाता है नहीं तो फ़ोन कनेक्ट नहीं हो पता है।

इसी की विपरीत आप मैसेज को छोड़ सकते है और अगर सामने वाला user active नहीं भी हुआ तो भी मैसेज एसएमएस सेंटर में सेव हो जाता है और उस यूजर के एक्टिव होने पर चला जाता है।

जैसे अगर किसी का फ़ोन मिल नहीं रहा हो तो आप उसे एक मैसेज भेज सकते है की “आपका फोन उपलब्ध नहीं है कृपया मुझे कॉल करें” और जब वह network area में आएगा उसे यह मैसेज मिलेगा तो वह तुरंत आपको फ़ोन करेगा।

Convenient – इसके अलावा एसएमएस एक सुविधाजनक स्रोत भी है। इसे आप अपनी इच्छा के अनुसार कभी भी इस्तेमाल कर सकते है SMS Full Form जैसे अगर आप किसी को बर्थडे विश करना चाहते है और वह रात को सो गया हो तो आप उसे फ़ोन करने की जगह message कर सकते है जिससे उसकी नींद भी ख़राब न हो और जब वह सुबह सो कर उठे तो उसे आपका मैसेज भी मिल जाए।

 

SMS के नुक्सान क्या क्या होते है?

 

Word Limitation – इसमें एक नुक्सान है और वह है शब्द सीमा। SMS में आपको 160 शब्दों की सीमा मिलती है। एसएमएस में आपको 160 शब्दों के अंदर ही अपने message को लिखना होता है अगर आप इससे बड़ा message लिखते है तो वह खुद ब खुद मैसेज टूट कर अगला मैसेज 2 हो जाएगा।

Less Priority – एसएमएस में आपको कम प्राथमिकता मिलती है। आपने देखा होगा की कभी मैसेज यूजर के पास एक सेकंड में पहुँच जाता है तो कभी एक घंटे में पहुँचता है। तो ऐसा भी अक्सर होता है।

SMS Recharge – आप जानते ही होंगे की मैसेज को इस्तेमाल करने के लिए अलग से रिचार्ज करना पड़ता है और उस पैक में आपको 1000 मैसेज तक या इससे ज्यादा भी मिल सकते है। अब यह पहले तो बहुत अच्छा लगता था लेकिन जब से whatsapp, facebook और बाकी सारे सोशल मीडिया आए है तब से इनका इस्तेमाल कम हो गया। क्योकि जब आप whatsapp में बिना अलग से कोई रिचार्ज के आप अनलिमिटेड मैसेज भेज और रिसीव कर सकते है तो कोई एसएमएस का रिचार्ज क्यों कराएगा।

हालांकि आज भी दुनियाभर में sms का इस्तेमाल खूब हो रहा है क्योकि आज भी दुनियाभर में इंटरनेट पहुंच नहीं पाया है। और वैसे भी कोई भी कंपनी, ब्रांड या बैंक आपको sms के द्वारा ही information भेजते है।

 

SMS के रोचक तथ्य –

 

  • क्या आप जानते है की 1980 के दशक की शुरुआत में मोबाइल डिवाइस में टेक्स्ट मैसेजिंग फीचर को जोड़ना शुरू किया। और सन 1984 में एसएमएस कांसेप्ट को Friedhelm Hillebrand और Bernard Ghillebaert ने फ्रेंको-जर्मन जीएसएम  में विकसित किया।
  • क्या आप जानते है की दुनिया का पहला SMS मैसेज 3 दिसम्बर 1992 को Sema Group के Neil Papworth ने यूनाइटेड किंगडम में वोडाफोन gsm नेटवर्क पर Orbitel 901 हैंडसेट से वोडाफोन के Richard Jarvis को किया था और सन्देश था “Merry Christmas”।
  • क्या आप जानते है की 1992 से 1999 तक लोग सिर्फ एक ही नेटवर्क पर मैसेज भेज सकते थे जैसे अगर आपके पास airtel का नंबर है तो आप airtel to airtel एसएमएस भेज सकते थे दूसरे नंबर जैसे vodafone पर एसएमएस नहीं भेज सकते थे लेकिन 1999 के बाद लोगो को यह सर्विस मिली की अब आप किसी भी network पर मैसेज भेज और रिसीव कर सकते है।
  • क्या आपको पता है की 2010 तक एसएमएस का सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया गया था इसके लगभग 3.5 billion एक्टिव यूजर थे यानी 80% मोबाइल उपभोक्ता।
  • क्या आप जानते है की एसएमएस में आपको 160 word की limit मिलती है जबकि अगर आप एक एसएमएस चीन, जापान या सऊदी अरब की भाषा में लिखते है तो आपको मात्र 70 word की ही limit मिलती है।
  • क्या आप जानते है की एसएमएस का इस्तेमाल मोबाइल मार्केटिंग के लिए खूब किया जाता है। यह एक तरह की डायरेक्ट मार्किट है। 2014 में एक market research report के अनुसार दुनियाभर में एसएमएस मैसेज का बिजनेस 100 billion से भी अधिक था।

 

 

Conclusion

 

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख SMS Full Form in Hindi – SMS की फुल फॉर्म क्या है पूरी जानकारी  जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

SMS Full Form in Hindi – SMS की फुल फॉर्म क्या है पूरी जानकारी

 

Join our Facebook Group

   Join Whatsapp Group

 

Leave a Comment