SPG का Full Form क्या है? SPG कमांडों की जानकारी हिंदी में

दोस्तों SPG का Full Form क्या है?– यह सबसे ऊंचे दर्जे की सुरक्षा है। जो केवल देश के प्रधानमंत्री को ही प्रदान की जाती है। लेकिन यदि किसी vvip पर जान का खतरा बना हो या फिर cabinet को लगे कि किसी को यह सुरक्षा प्रदान की जानी चाहिए। तो केवल उसी व्यक्ति को यह खाश सुरक्षा प्रदान की जाती है। इस सुरक्षा को अमेरिका के secret force’s की सुरक्षा के साथ भी मापा जाता है। क्योंकि की जो भी सुरक्षा कर्मी इस group में शामिल होते है. उनको खाश प्रकार की tanning से गुजरना पड़ता है। जो कि बहुत ही मुश्किल भरा होता है। और बहुत से आवेदक training period को भी नही खत्म नही कर पाते है।

आज के समय मे SPG सुरक्षा केवल कुछ लोगो के पास ही मौजूद है। जिसमे से एक हमारे देश के प्रधानमंत्री और दूसरे गाँधी परिवार के सदस्य है, तथा पूर्व प्रधानमंत्री को एक साल तक SPG की सुरक्षा दी जाती है। गाँधी परिवार को SPG सुरक्षा इस लिए प्रदान की जाती है क्योंकि उनके परिवार के सदस्यों को जान का खतरा है। लेकिन SPG के आला अधिकारियों का कहना है कि अब गांधी परिवार को SPG के सुरक्षा की कोई भी जरूरत नही है। क्योंकि अब उन पर जान का खतरा नही है। लेकिन यह फैसला पूरी समीक्षा के बाद ही लिया जाता है।

तो चलिए अब SPG security group के बारे में सभी चीज़ों को विस्तार से जान लेते है। कि SPG क्या है इसका Full Form क्या होता है और इसका गठन क्यों और कब किया गया था। और यदि किसी को SPG force में शामिल होना है तो क्या करना पड़ता है।

 

SPG का Full Form क्या है? SPG कमांडों की जानकारी हिंदी में
TEJWIKI.IN

 

SPG का Full Form क्या है? (What is the full form of SPG)

 

SPG का Full Form यानी इसका पूरा नाम “Special Protection Group” हैं यह अंग्रेजी भाषा में इसका पूरा नाम है जबकि हिंदी भाषा में SPG का Full Form “एक सशस्त्र सेना बल” या सेना की विशेष टुकड़ी हैं।

SPG यानि Special Protection Group एक सशस्त्र सेना बल है इस सशस्त्र सेना बल के द्वारा हमारे देश के नेताओं व वर्तमान प्रधानमंत्री व पूर्व प्रधानमंत्री को सुरक्षा प्रदान की जाती है हम इसे इस प्रकार भी कह सकते हैं कि देश के नेताओं व प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए जिस समूह को तैयार या तैनात किया जाता है वह एसपीजी समूह कहा जाता है।

हम आपको बता दें कि कैबिनेट सचिवालय के अन्तर्गत कार्य करने वाला एसपीजी एक्ट 1988 में शुरू हुआ जब यह जनादेश जारी हुआ था उस समय प्रधानमंत्री के साथ-साथ उनके पूरे परिवार को भी पूरी सुरक्षा दिए जाने का प्रावधान था चाहे फिर परिवार प्रधानमंत्री के साथ रहे या उनसे अलग रहे।

 

 

लेक़िन कुछ वर्षों बाद इसमे संशोधन किया गया और 2019 में विशेष सुरक्षा समूह (संशोधन) अधिनियम के अन्तर्गत इस नियम को बदल दिया गया आज आप देखेगें कि वर्तमान समय में सिर्फ़ हमारे प्रधानमंत्री को ही यह महत्वपूर्ण सुरक्षा प्रदान की गई है।

 

एसपीजी का गठन कब और कैसे हुआ (When and how SPG was formed)

 

जैसा कि आप सब जानते हैं भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की मृत्यु उनकी ही सुरक्षा कर्मियों द्वारा की गई थी जिसके बाद भारतीय सरकार ने प्रधानमंत्री की सुरक्षा पर गहन चिंतन किया और फ़िर एक अलग समपिर्त बल बनाने का निश्चय किया जोकि देश के वर्तमान प्रधानमंत्री के साथ-साथ पूर्व प्रधानमंत्री व उनके परिवार को सुरक्षा प्रदान कर सके।

इसके बाद 2 जून 1988 को संसद के अधिनियम द्वारा एक स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप यानी कि SPG का गठन किया गया जिसके अनुसार यह सुरक्षा वर्तमान प्रधानमंत्री के साथ उनके परिवार के अलावा भारत के सभी पूर्व प्रधानमंत्री व उनके परिवार को 1 साल के लिए प्रदान की गई साथ ही उनकी सुरक्षा खतरे के अनुसार इस सुरक्षा को बढ़ाया जा सकता है।

हालांकि पहले एसपीजी की सुरक्षा प्रधानमंत्री के साथ उनके निकटतम व परिवार के सदस्यों को भी दी जाती थी परंतु अब इस संशोधन में बदलाव करने के बाद यह सुरक्षा वर्तमान में मौजूद सिर्फ प्रधानमंत्री को ही दी जाती है एसपीजी सुरक्षा का चक्र अभेद्य होता है जिसके लिए अलग-अलग फोर्स के जवानों को इसमें शामिल किया जाता है।

 

SPG कमांडों की जानकारी (Information about SPG commands)

 

एसपीजी कमांडो सबसे शक्तिशाली कमांडो कहे जाते हैं जोकि देश, नेताओं व देश के प्रधानमंत्री की सुरक्षा में बेहद गंभीर किरदार अदा करते हैं जिन पर देश के वर्तमान प्रधानमंत्री की सुरक्षा की पूरी ज़िम्मेदारी होती है।

प्रधानमंत्री की सुरक्षा में कई घेरों के अन्तर्गत 1000 से अधिक कमांडो तैनात रहते हैं और अगर SPG की संख्या की बात करें तो इस में लगभग 3000 से अधिक कमांडोज़ होते हैं इनका निशाना इतना मज़बूत होता है कि ये क्षण भर में किसी भी आतंकी को मार गिरा सकते हैं।

इसलिए इन्हें देश को चलाने वाले मुख्य व्यक्ति की सुरक्षा की ज़िम्मेदारी सौंपी जाती हैं और इनकी Training अमेरिकी देश की सीक्रेट सर्विस के आधार पर दी जाती है जो बेहद कठिन व चौकन्नी होती है।

इन कमांडोज़ के हाथ में FNF- 2000 असॉल्ट राइफल , सेमी ऑटोमेटिक पिस्टल और 17 M dangerous Gun होती है इसके साथ ही आवश्यक अत्याधुनिक हथियार भी होते हैं जो आवश्यकता पड़ने पर तुरंत उपयोग में लाए जा सकते हैं।

प्रधानमंत्री के आवास को भी कमांडो द्वारा सुरक्षा का घेरा दिया जाता है जहाँ तकरीबन 500 या फिर आवश्यकता पड़ने पर अधिक कमांडो द्वारा सुरक्षा प्रदान की जाती है औऱ हम सबने देखा है कि जब कहीं भी प्रधानमंत्री जी का भाषण सभा होती है या फिर कोई रैली आदि का कार्यक्रम आयोजित किया जाता है तब एक या डेढ़ घंटे पहले उस मार्ग को पूरी तरह से या तो खाली करवा दिया जाता है या फिर उसे अतिरिक्त सुरक्षा दे जाती है।

जिस मार्ग पर प्रधानमंत्री जी का काफिला जाना होता है उस मार्ग को वहाँ की पुलिस व बड़े अधिकारी पहले ही छान बीन कर देते हैं परन्तु प्रधानमंत्री जी के अपनी कार से बाहर निकलते ही या फिर सम्बोधन के दौरान कमांडोज़ प्रधानमंत्री को चारों ओर से घेरा बनाकर खड़े हो जाते हैं जिससे कोई भी प्रधानमंत्री पर हमला ना कर पाए या वहाँ कोई अप्रिय घटना ना घटित हो इसलिए कमांडो का कार्य बहुत चुस्ती फुर्ती वाला है इसमे ज़रा सी भी चूक बर्दाश्त नहीं की जाती क्योंकि प्रधानमंत्री की सुरक्षा देश की सुरक्षा और देश सुरक्षित तो पूरी जनता सुरक्षित।

 

SPG कमांडों कैसे बनते हैं (How are SPG Commands Formed)

 

एसपीजी देश का सबसे शक्तिशाली दल/ टुकड़ी/ भाग होता है तथा एसपीजी एक ऐसी स्पैशल फोर्स है जो देश के प्रधानमंत्री व अन्य बड़े नेताओं को सुरक्षा मुहैया कराता है औऱ एसपीजी देश को सुरक्षित माहौल देने के लिए अपने ऊपर पूरी ज़िम्मेदारी लेती है।

हमारे देश में अनेक भर्तियाँ होती हैं और समय-समय पर उनमें परिवर्तन भी होते रहते हैं पर हम आपको बताना चाहते हैं कि एसपीजी की भर्ती इन सबसे अलग तरह से होती है औऱ अन्य सैन्य बल की तरह एसपीजी की भर्ती बहुत अलग होती है क्योंकि एसपीजी की ट्रैनिंग स्पैशल तरह से कराई जाती हैं जोकि आर्मी की कठिन ट्रैनिंग में से एक है।

एसपीजी की सुरक्षा केवल नेताओ को ही मिलती है किसी आम नागरिक के लिए यह सुरक्षा नहीं है औऱ सबसे ख़ास बात जो गौर करने वाली है वह है कि एसपीजी के जवान हर साल बदले जाते हैं कोई भी जवान एक साल से अधिक ग्रुप में बना नहीं रह सकता ऐसा सिक्योरिटी को ध्यान में रखते हुए किया जाता है।

 

 

यदि कोई व्यक्ति कमांडो बनना चाहता है तो वह सीधे आवेदन नहीं कर सकता क्योंकि एसपीजी कमांडो के विभिन्न दलो की भर्ती IPS भारतीय पुलिस सेवा, IPS केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल, CISF सीमा सुरक्षा बल, BSF और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल, ITBP, CRPF द्वारा की जाती है।

SPG गृह मत्रालय के अधीन बेहद प्रमुख सुरक्षा बल होता है आपको बता दें कि आईजी, दो डिप्टी आईजी, दो सहायक आईजी रैंक के आईपीएस अधिकारी द्वारा इन उम्मीदवारों का व्यक्तिगत साक्षात्कार लिया जाता है इसके पश्चात लिखित परीक्षा, शारीरिक परीक्षा और मनोवैज्ञानिक विश्लेषण परीक्षा ली जाती है औऱ जो उम्मीदवार इन परीक्षाओं में उत्तीर्ण हो जाता है उन्हीं को आगे ट्रेनिंग के लिए चुना जाता है तथा चुने जाने के बाद व चयन के पश्चात एसपीजी पूरी निष्ठा व विश्वास से एक साल तक अपने कामों को करते हैं।

 

SPG कमांडो की ट्रेनिंग की जानकारी (SPG commando training information)

 

जो भी एसपीजी कमांडो बनना चाहता है वह पहले ही से कहीं ना कहीं अनुभव प्राप्त व्यक्ति होता है या फ़िर हम यह भी कह सकते हैं कि उसे कई वर्षों का अनुभव होता है औऱ जब उसे एसपीजी मे चुना जाता है तब इसके बाद उसे वलर्ड क्लास की ट्रेनिंग दी जाती है।

इस ट्रेनिंग को लेते समय कमांडो को चुस्ती फुर्ती, टेक्नोलॉजी, सतर्कता व जानलेवा ट्रेनिंग से गुज़रना पड़ता है व हर कमांडो को अपने आपको वन मैन आर्मी के रूप में प्रस्तुत करना पड़ता है इस ट्रेनिंग के दौरान यदि कोई फेल हो जाता है तो उसे अगले बेच के लिए भेज दिया जाता है।

ऐसे ही इसमे कई कमांडो ट्रेनिंग के कई स्तरो व परीक्षाओं से होकर गुज़रते हैं और जब वह पूरी तरह से तैयार हो जाते हैं तभी उनसे देश व देश की सुरक्षा से सम्बंधित काम करवाया जाता है हमारे देश की सुरक्षा हमारे लिए सर्वोपरि है। हमारा देश सुरक्षित होगा तो हम सब भी अपने आपको सुरक्षित महसूस कर पायेगें हमारे कमांडोज़ इस सुरक्षा के लिए बेहद कठिन कार्य करते हैं जो प्रशंसा के योग्य हैं।

 

SPG कमांडों की सैलरी कितनी होती है (What is the salary of SPG commands)

 

एसपीजी कमांडो बहुत महत्वपूर्ण व्यक्ति होता है और पहले ही से किसी स्पैशल फोर्स या विशेष दल में काम कर चुका होता है उन्हें अनुभव होता है और वह बहुत शक्तिशाली होते हैं इसलिए एसपीजी कमांडो ही को प्रधानमंत्री व अन्य नेताओं की सुरक्षा के लिए चुना जाता है औऱ SPG कमांडो ड्यूटी के समय एक ख़ास तरह से बनाए गए सूट को पहनकर रखते हैं।

SPG को लगभग 90 हज़ार से लेकर 2 लाख के करीब तन्ख्वाह मिलती है इसके अतिरिक्त इन्हें बोनस का भी प्रावधान है तथा बोनस के तौर पर लगभग 20,000 रुपये तक दिए जा सकते हैं व भत्ता आदि मिलाकर एक कमांडो को 2.5 लाख के आसपास सैलरी मिलती है।

इसके अलावा जो एसपीजी कमांडो ऑपरेशन डयूटी करते हैं उन्हें सालाना लगभग 25 से 30 हज़ार तक सैलरी दी जाती है और जो नॉन ऑपरेशन ड्यूटी करते हैं उन्हें ड्रैस के साथ 20 से 25 हज़ार तक का खर्च दिया जाता है। एसपीजी की ड्यूटी बहुत सख्त होती है क्योकिं उसे अपनी जान की परवाह किए बिना प्रधानमंत्री को सुरक्षित कवच देना होता है तो उन्हें सैलरी भी उनके कार्य के अनुसार प्रदान की जाती है।

 

SPG सुरक्षा क्यों ज़रूरी है (Why SPG protection is important)

 

भारत देश के विकास व उन्नति के लिए कुछ कुशल व परिश्रमी नेताओं व प्रधानमंत्री का होना बेहद आवश्यक है और यही वह कर्मठ व्यक्ति होते है जो देश की नीति का निर्माण कर उसे विकसित देश की श्रेणी में लाने का प्रयास करते है।

परन्तु कई बार ऐसा भी होता है कि प्रधानमंत्री द्वारा लागू की गई कुछ नीतियाँ किसी को पसंद आती हैं तो कुछ ऐसे भी होते हैं जो पसंद नहीं करते और अस्वीकार कर देते हैं ऐसे में कुछ लोग भारत के प्रधानमंत्री व नेताओ को हानि पहुंचाने का पूरा-पूरा प्रयास करते हैं इसलिए इन सबको एसपीजी सुरक्षा प्रदान करना बेहद ज़रूरी हो जाता है।

दरसल, भारत में कई आतंकवादी संगठन निरन्तर इस प्रयास में लगे रहते हैं कि कब अवसर मिले और कब देश व देश के प्रतिष्ठित व्यक्तियों को नुकसान पहुंचाया जाएं इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए सुरक्षा की दृष्टि से इस महत्वपूर्ण सुरक्षा का गठन किया गया जो “एसपीजी” के नाम से प्रसिद्ध है या कही जाती है।

-SPG का Full Form यानी इसका पूरा नाम “Special Protection Group” शक्तिशाली सुरक्षा बल है और इन्हीं को देश के नेताओ व प्रधानमंत्री की सुरक्षा का उत्तरदायित्व सौंपा जाता है।

-SPG ड्यूटी पर रहते समय पूर्ण रूप से ड्रैस में रहते हैं औऱ इनके साथ हमेशा ऑटोमेटिक गन रहती हैं SPG का Full Form क्या है? जितनी सुरक्षा वीआईपी की होती है उतनी ही सुरक्षा इन्हें अपने आपको भी देनी होती है।

-SPG कमांडों के जूते विशेष प्रकार से बने होते हैं जो फर्श को जकड़कर रखते हैं और फिसलते नहीं है साथ ही हाथों में मोटे व मज़बूत दस्ताने होते हैं जो किसी भी तरह की चोट को बर्दाश्त करने व बचने मे निपुर्ण होते हैं।

-एसपीजी कमांडो के आँखो के चश्मे इस प्रकार के बने होते हैं जो लड़ते समय उन्हें कठिन नहीं लगते और सरलता से चश्मा पहनकर भी वह किसी भी समस्या पर विजय पा सकते हैं औऱ एसपीजी अपने कार्यों को बुद्धिमानी व पूरी निष्ठा से पूरा करते हैं।

 

 

Conclusion

  

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख SPG का Full Form क्या है? SPG कमांडों की जानकारी हिंदी में   जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

SPG का Full Form क्या है? SPG कमांडों की जानकारी हिंदी में

 

Leave a Comment