Whois क्या है और कैसे उपयोग करे – पूरी जानकारी हिंदी में (2022)

नमस्कार दोस्तों आज इस लेख में जानेंगे  Whois क्या है ? WHOIS जिसे की उच्चारित किया जाता है “who is” असल में एक Internet service होती है जिसका इस्तमाल एक domain name की जानकारी को खोजने के लिए किया जाता है। वैसे तो ये शब्द “WHOIS” ऐसे में कोई acronym नहीं होता है। वैसे यदि कोई इसका फ़ुल फ़ोरम पूछता है तब आप उन्हें ये बता सकते हैं की इसका जवाब है, “Who is responsible for this domain name?”

Domain names को असल में register किया जाता है ऐसी companies के द्वारा जिन्हें की registrars कहा जाता है। इनके उदाहरणों में शामिल है GoDaddy, Tucows, Namecheap, और MarkMonitor। इन सभी companies को approve और accredit किया गया होता है ICANN के द्वारा, जिससे की वो नए domain names को register कर सकें।

जब कोई एक individual या organization register करता है एक नया domain name, तब ऐसे में registrar को ये ज़रूरत होती है की वो इन सभी registration information को publicly उपलब्ध करवाए। इन सभी information को आसानी से WHOIS service के इस्तमाल से देखा जा सकता है।

चूँकि ऐसी कोई central database महजूद नहीं है domain registration information की, इसलिए WHOIS की search engines डेटा को multiple registrars में खोजती है। बहुत सारे registrars खुदके अपने ही WHOIS lookup service प्रदान करते हैं, वहीं लेकिन ऐसे बहुत सारे third-party WHOIS websites भी महजूद होते हैं। ICANN भी अपनी खुदकी WHOIS lookup service प्रदान करती है।

 

Whois क्या है और कैसे उपयोग करे - पूरी जानकारी हिंदी में (2022)
TEJWIKI.IN

 

Whois क्या है? (What is Whois in Hindi)

 

Whois एक ऑनलाइन Protocol या एक ऑनलाइन Website है जिसकी मदद से हम किसी भी Domain नेम के मालिक, Domain की वैधता आदि के बारे में जानकारी हासिल कर सकते है.

Whois के द्वारा हम Domain और उसके Sub Domain आदि से संबधित पूरी जानकारी पा सकते है, जिसकी एक यूजर को जरूरत होती है. Whois आपको यह भी बताता है की जिस Domain को आप सर्च कर रहे है वो अवेलेबल है या नहीं. अगर वो Domain अवेलेबल नहीं होगा तो आपको सर्च रिजल्ट में “No Match” दिखा देगा.

 

 

Whois का इस्तेमाल क्यों होता है? (Why is Whois used)

 

Whois का इस्तेमाल मैलवेयर युक्त Domain, फ्रॉड Domain, क्रेडिट कार्ड फ्रॉड, फ्रॉड एंट्रीज़, फ्रौस DNS आदि के बारे पता करने के लिए होता है।

Whois के द्वारा हम Domain से संबधित रियल और वास्तविक सुचना हासिल कर सकते है, जिससे यूजर का Domain के बारे में विश्वास बन जाता है. यूजर को यह पता चल जाता है की Domain सही है या नहीं और उससे संबधित सारी जानकारी भी उसे हासिल हो जाती है.

 

WHOIS Record क्या होता है? (What is a WHOIS Record)

 

WHOIS records vary करता है registrars के बीच, लेकिन ये सभी अपने पास रखते हैं सभी mandatory (जरुरी) information. इसमें बहुत सारे चीज़ें आती हैं जैसे की name of the registrar, created date, updated date, और expiration date किसी domain name की. ये name servers को भी list करती हैं.

इसमें तीन contacts को भी include किया जाता है — registrant, admin, और technical contacts. ये information, जिसे की provide किया जाता है registration के दोरान, उसमें होते हैं एक name, organization (अगर applicable हो), address, phone number, और email address. बहुत सारे cases में, ये information को duplicate किया जाता है सभी तीनों contacts के across, हालाँकि सभी में अलग अलग information होती हैं.

 

Whois से क्या-क्या पता चल सकता है? (What can be learned from Whois)

 

Whois के द्वारा हम निम्न बातें पता कर सकते है :-

 

  • Domain किसके नाम पर है और उसका मालिक कौन है.
  • Domain की वैधता कब तक है.
  • Domain रजिस्टर कब हुआ था.
  • Domain Owner की कांटेक्ट इनफार्मेशन.
  • Domain किस सर्वर पर है.
  • Domain का Name Server क्या है.
  • Domain का IP एड्रेस क्या है.
  • Domain अपडेट कब हुआ था.
  • Domain का स्टेटस क्या है.
  • Domain का Organization, City, State आदि के बारे में.

 

 

Whois का उपयोग कैसे करें? (How to use Whois)

 

– सबसे पहले अपने Browser में जाए और वहां टाइप करें whois.domaintools.com

– अब आपको स्क्रीन पर Whois Lookup का बॉक्स दिखेगा उसमे जिस Website के बारे में आप जानना चाहते है उसका URL टाइप करें और सर्च पर क्लिक करें.

– अब एक नया पेज ओपन होगा जिसमे आपको उस Domain से संबधित सारी जानकारी मिल जाएगी.

 

अपने डोमेन की निजता सेटिंग बदलने का बेस्ट तरीका (The best way to change your domain’s privacy settings)

 

आप इस तरीके से अपनी निजता सेटिंग किसी भी समय बदल सकते हैं:

 

  • Google Domains में साइन इन करें.
  • अपने डोमेन का नाम चुनें.
  • मेन्यू मेन्यू खोलें.
  • रजिस्ट्रेशन सेटिंग पर क्लिक करें.
  • स्क्रोल करके निजता सुरक्षा पर जाएं.
  • स्विच को चालू या बंद करके कोई निजता विकल्प चुनें:
  • निजता सुरक्षा की सुविधा चालू है (निजी रजिस्ट्रेशन).
  • निजता सुरक्षा की सुविधा बंद है (सार्वजनिक रजिस्ट्रेशन).
  • ध्यान दें: आप एक-आध मामले में, कोई विवाद होने पर, मामले की जांच होने तक अपनी संपर्क जानकारी में बदलाव नहीं कर पाएंगे.

 

Whois उपयोग से क्या लाभ है?

 

वैसे तो Whois के बहुत से महत्वपूर्ण फायेदे होते हैं. लेकिन यहाँ पर हम कुछ इसकें best फायेदे के विषय में जानेंगे.

 

1. Maintain Domain Name

 

अगर आप कोई नया Domain Name लेना चाहते है तो आप इस Website की मदद से अपने Domain को सर्च कर सकते है की वो अवेलेबल है या नहीं. अगर वो अवेलेबल नहीं होगा तो आपका No Match दिखा देगा और आप उस Domain को खरीद सकते है.

इसका सबसे बड़ा फायदा यह है की अगर आपका बिज़नस है तो आप अपने Domain से संबधित Domain सर्च कर सकते है, जिससे आपको मार्किट मे कम्पिटेशन का पता चल सके.

 

2. Domain Name Registration Issue Solving

 

कई बार हम अपने Domain से जुड़ी जानकारी भूल जाते है और ऐसे में कभी हमे उसकी जरूरत पड़ती है तो हमारे लिए उन्हें खोजना मुश्किल हो जाता है और ऐसे Whois बहुत मदद करता है. यह आपको Domain Name की रजिस्ट्रेशन डेट, एक्सपायरी डेट और रजिस्ट्रेशन की इनफार्मेशन दे देता है, जो आपके लिए बहुत काम की होती है.

 

3. Security Issue

 

कई बार हमारी Website परकोई अटैक हो जाता है तो ऐसे में जब हम Cyber Security की मदद लेते है तब वह Whois टूल की मदद से हमारे Website की इनफार्मेशन निकालता है और हमारी Website को सही करता है. ऐसे में Whois हमारी Website को सिक्योरिटी प्रदान करता है.

 

4. Network Information

 

कई बार हमें नेटवर्क इनफार्मेशन जैसे DNS, Name Servers आदि की जरूरत पड़ती है तब हम Whois की मदद से यह सारी जानकारी आसानी से हासिल कर सकते है.

 

WhoisGuard क्या है? (What is WhoisGuard)

 

जैसा की हमने आपको बताया है की Whois में आपके Website से संबधित सारी जानकारी होती है जिसकी वजह से Hacker यह सारी जानकारी हासिल कर लेते है और हमारी Website पर अटैक कर सकते है. लेकिन अगर आप चाहते है की Whois के Database में आपकी प्राइवेट जानकारी ना दिखे तो WhoisGuard की मदद ले सकते है।

असल में WhoisGuard आपकी पर्सनल इनफार्मेशन को Whois के पब्लिक Database में डिस्प्ले होने से बचाता है. WhoisGuard अपने खुद का डाटा Whois के पब्लिक Database में डाल देता है, जिससे किसी की भी पर्सनल इनफार्मेशन स्पैमर्स को शो नहीं होती है.

जब भी कोई बंदा Whois से एमकिल देखकर आपको मेल करेगा तो सबसे पहले वो मेल WhoisGuard के पास जाएगी और वह उसे चेक करेगा की कहीं इसमें स्पैम तो नहीं है और जब वह सन्तुष्ट होगा तो उस मेल को आपने ओरिजनल मेल एड्रेस पर फॉरवर्ड कर देगा. कई Domain देने वाली कम्पनियां आपको इसकी Privacy लेने को कहती है.

 

 

Conclusion

 

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख Whois क्या है और कैसे उपयोग करे – पूरी जानकारी हिंदी में (2022) जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

Whois क्या है और कैसे उपयोग करे – पूरी जानकारी हिंदी में (2022)

 

Join our Facebook Group

   Join Whatsapp Group

 

Leave a Comment