CIF number क्या है (What is CIF number in Hindi) कैसे पता करें

हर उस व्यक्ति जिसके पास bank account है उसे एक CIF number मिलता है. CIF number क्या है लेकिन बहुत लोग ऐसे है जिनको नहीं पता है की CIF number क्या होता है? और इसका Full form क्या होगा? ऐसे में अगर आपको banking terminology और इस important factor के बारे में जानकारी हासिल करना है. तो आप बिलकुल सही जगह है. अगर बेहतर बैंकिंग सुविधाओं का इस्तेमाल करना चाहते है

तो आपको इसके बारे में जानकारी होना चाहिए और यहाँ पर विस्तार से जानकारी देंगे की आप कैसे पता कर सकते है. अगर अपने अभी तक CIF number नहीं देखा है तो अपने बैंक का पासबुक ओपन करे. उस पर सबसे पहले वाले page पर दिया होगा, देखने से बैंक अकाउंट नंबर की तरह होता है. लेकिन इसका काम banking में पैसे निकलने के लिए नहीं बल्कि identification के लिए होता है.

बहुत सारे लोग ऐसे है जिनको आज तक नहीं पता होगा की CIF number क्या होता है? और यह हमारे अकाउंट के साथ क्यों issue किया जाता है? क्योकि नार्मल banking काम जैसे की deposit और withdrawal करने के लिए इसका कोई काम नहीं है. ऐसे में सोचा क्योकि इसके full form और meaning के बारे में बताया जाये.

 

CIF number क्या है.(What is CIF number in Hindi) कैसे पता करें
TEJWIKI.IN

  

सीआईएफ (CIF) नंबर क्या है ?

 

CIF का फुल फॉर्म Customer Information File होता है। सीआईएफ नंबर बैंक अकाउंट होल्डर या ग्राहक की एक यूनिक पहचान नंबर होता है। इस फाइल में बैंक अकाउंट और ग्राहक की सभी व्यक्तिगत जानकारी होती है। इस डाटा फाइल को केवल बैंक के कर्मचारी ही देख सकते है। जब कोई अपना अकाउंट किसी बैंक में खुलवाता है तब उसे एक बैंक अकाउंट नंबर के साथ साथ एक यूनिक नंबर भी मिलता है।

इस यूनिक नंबर को अलग अलग बैंकों में अलग अलग नामों से जाना जाता है। जैसे – कोटक महिंद्रा बैंक में इसे CRN (customer relationship number) कहा जाता है, ICICI, BOB, HDFC बैंक में इसे Customer ID के नाम से जानते है। इसी तरह SBI, Central Bank Of India (CBI) में इस यूनिक नंबर को CIF number कहा जाता है।

 

CIF number क्या है. What is CIF number in Hindi

 

CIF number का full form Customer Information File यह होता है. Bank के हर एक account holder को यह CIF नंबर दिया जाता है. यह नंबर आपकी एक unique पहचान होती है. CIF नंबर में आपकी personal details, account details, nominee details और बैंक की अन्य सभी आवश्यक details मौजूद होती है. सभी बैंक खातादारों को CIF नंबर दिया जाता है,

लेकिन इसमें मौजूद सारी details गुप्त रखी जाती है.यह details सिर्फ banks के employee ही देख सकते है. आपको बैंक account किसी और बैंक, branch में transfer करना है तो cif number आपको पता होना ज़रुरी है. SBI bank के खातादारों को sbi cif number पता करने के लिए SBI online या offline तरीके का इस्तेमाल कर सकते है.

 

इन्हें भी पढ़ें:-

 

सीआईएफ (CIF) का फुल फॉर्म

 

सीआईएफ का फुल फॉर्म “Customer Information File” होता है | वहीं इसे हिंदी भाषा मे “ग्राहक जानकारी फ़ाइल” के नाम से जाना जाता है |

यह एक प्रकार का नंबर होता है, जिसमें Account Holder सभी प्राइवेट और Banking की पूरी जानकारी दी हुई होती है | इसी File का एक Unique Number होता है, जिसे CIF Number या CIF कोड कहा जाता है |

 

CIF Number क्या होता है?

 

CIF का full form – Customer Information File (ग्राहक सूचना फ़ाइल) होता है. इसके माध्यम से banks अपने ग्राहक के बारे में जानकारी जमा और हासिल करते है. जब भी कोई ग्राहक खाता खोलता है तो उसके bank account number के लिए एक unique CIF number भी दिया जाता है.

यह बैंक और कस्टमर दोनों के पास होता है. किसी भी बैंक का अकाउंट है तो उसके पास आपका CIF नंबर जरूर दिया होगा आप पासबुक के पहले पेज पर देख सकते है.

CIF number में किसी bank account holder के बारे में जानकारी जमा किया जाता है. इसमें व्यक्ति का नाम, उम्र, फोटो, एड्रेस, बैंकिंग डिटेल, नॉमिनेशन डिटेल और दूसरे जरुरी इनफार्मेशन होते है. बैंक कर्मचारी ग्राहक के CIF numbers के माध्यम से उसके बारे में पूरी जानकारी हासिल कर लेते है.

 

CIF Number State Bank of India

 

हर bank की तरह state bank of india भी अपने सभी account holders को एक unique number provide करता है. जैसा की अब हम जानते है की इस unique number को short में CIF number कहा जाता है. Friends चूँकि यह customer का CIF number होता है न की bank का, इसलिए different customer का different CIF number होता है. यह CIF number आपके bank account passbook में छपा हुआ आपको मिलता है.

यह आपके passbook में आपके account details के पास मौजूद होता है. हर bank और customer का CIF number code different होता है. SBI का CIF number 11 digit का होता है, लेकिन यह account holders number increase होने के साथ यह number भी increase होता रहता है.

 

CIF Number कैसे पता करें

 

अपने बैंक अकाउंट का सीआईएफ नंबर पता करने के लिए आपके पास कई तरीके है जैसे की बैंक द्वारा दी गई पासबुक, कस्टमर केयर व इंटरनेट बैंकिंग यदि आपने Online अकाउंट ओपन किया है तो बैंक आपको ईमेल आईडी पर भी CIF नंबर भेजता है। नीचे आपको सीआईएफ नंबर निकालने के 3 तरीके बताए गए है।

1. बैंक पासबुक से CIF नंबर पता करना

ज़्यादकर लोगों को इंटरनेट बैंकिंग चालू करते समय ही CIF नंबर या कस्टमर आईडी की जरूरत पड़ती है, यदि आपके पास बैंक द्वारा दी गई पासबुक है तो ये सीआईएफ नंबर पता करने का सबसे फास्ट व आसान तरीका है, पासबूक के पहले पन्ने पर ठीक अकाउंट नंबर के ऊपर CIF नंबर लिखा रहता है। ये नंबर एसबीआई बैंक मे 11 अंकों का होता है

CIF Number in SBI Passbook

आपका अकाउंट चाहे किसी भी बैंक का हो CIF नंबर या कस्टमर आईडी आपकी पासबुक के पहले पन्ने पर लिखी रहती है।

 

इन्हें भी पढ़ें:-

2. कस्टमर केयर से CIF नंबर पता करना

यदि आपके पास पासबुक नहीं है तो आप बैंक के कस्टमर करे से बात करके भी CIF नंबर क्या है इसका पता लगा सकते है, यदि आप एसबीआई बैंक के ग्राहक है तो एसबीआई कस्टमर केयर से बात करने के लिए ये नंबर 1800 425 3800 डायल करें।

कस्टमर केयर से CIF नंबर जानने के लिए आपको अपने अकाउंट के बारे मे कुछ जानकारी पहले से होनी चाहिए जैसे की अकाउंट नंबर, आपका अकाउंट किस ब्रांच मे है और रजिस्टर्ड मोबाईल नंबर

कस्टमर केयर को कॉल करने के बाद ग्राहक सेवा अधिकारी से बात करने के लिए IVR द्वारा बताए गए प्रोसेस को फॉलो करे, ग्राहक सेवा अधिकारी आपसे अकाउंट नंबर भी पूछ सकता है इसके अलावा जहां तक संभव हो अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से ही कॉल करें।

 

3. इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से CIF नंबर पता करना

इंटरनेट बैंकिंग से भी आप CIF नंबर पता कर सकते है हालंकी ये तरीका केवल कुछ ही लोगों के काम आएगा क्यू की ज़्यादकर लोग जो CIF नंबर जानना चाहते है इंटरनेट बैंकिंग चालू करने के लिए ही CIF नंबर पता कर रहे है। यदि आपकी इंटरनेट बैंकिंग चालू है तो नीचे बताया गया प्रोसेस फॉलो करें।

 

नेट बैंकिंग मे लॉगिन करें

अब आपके सामने Account Summary वाला पेज ओपन हो जाएगा यदि नहीं होता है तो लेफ्ट साइड मे बनी लिस्ट मे से चुनकर ओपन करे
अब अकाउंट नंबर के नीचे View Nomination and Pan Details पर क्लिक करें जिसके बाद आपको अपने CIF नंबर दिखा दिए जाएंगे।

 

How Can You Find Your CIF Number?

 

अगर आपको अपने bank account का CIF number जानना है, तो इसके लिए आप के पास तीन रास्ते है. इन तीनो में से आपको जो ठीक लगे आप वो choose कर लेना –

आप अपने bank passbook के front page पर इसे देख सकते है, जहाँ पर आपके account का details print रहता है. जैसे की आपका name, account number, address वहाँ से आप अपना CIF number जान सकते है.

आपका account जिस bank में है आप उस bank का internet banking या mobile banking का use करके उसमे log in करके अपने account का CIF number देख सकते हैं.

अब अगर आपके पास न तो passbook है और न ही internet banking या mobile banking भी नहीं है. ऐसे condition में अगर आपको अपना CIF number जानना है, तो फिर आपको अपना पहचान पत्र लेकर bank जाना होगा और फिर वहाँ से आप अपना CIF number पता कर सकते हैं.

 

SBI Yono ऐप के माध्यम से

अगर आप SBI Yono मोबाइल बैंकिंग को प्रयोग करते हैं तो आप ऐप में जाकर भी अपना सीआईएफ नंबर ढूंढ सकते हो। इसके लिए नीचे दिए गए स्टेपस को फॉलो करें:

सबसे पहले SBI Yono मोबाइल बैंकिंग ऐप में लॉग इन कर ले। उसके बाद Services आप्शन को सेलेक्ट करें।अगले पेज पर Online Nomination को सेलेक्ट करें।
उसके बाद आपको आपकी मोबाइल स्क्रीन पर आपका एसबीआई सीआईएफ नंबर दिखेगा।
ऊपर दिए गए चारों माध्यमों में से आप किसी को भी फॉलो करके अपने बैंक का सीआईएफ नंबर ढूंढ सकते हो।

 

CIF नंबर कैसे मिलता है – CIF नंबर कहाँ से प्राप्त करे ?

CIF नंबर आपके पास ही होता है इसके लिए आपको किसी बैंक में जाने की जरुरत नहीं होता है । CIF नंबर जैसे ही आप अपना बैंक में खता खोलते है उसीके साथ ही आपको ये मिल जाता है । इसके देखने कलिये आप अपने पासबुक में देख सकते है जहाँ पे बैंक अकाउंट नंबर लिखा रहता है उसके पास में CIF नंबर या फिर user ID या फिर CRN करके लिखा होगा ।

अगर आपको आपके पासबुक में नहीं मिल रहा है तो आप अपने ATM कार्ड के इस्तमाल से बी प्राप्त कर सकते है आपका CIF नंबर उसके लिए आपको नजदीकी ATM में जाके आपका बैंक का mini statement निकलने से बी वहां बी लिखा हुआ रहता है आपका CIF नंबर ।

 

CIF Numbers क्यों जरुरी है?

 

ग्राहक और बैंक दोनों के लिए ये बहुत जरुरी होता है. क्योकि ग्राहक को अगर अपने अकाउंट का नेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग इनेबल करना है. तो उसके लिए CIF numbers पूछा जाता है. इसी तरह बैंक के लिए भी यह जरुरी होता है क्योकि एक ग्राहक, एक बैंक में एक से ज्यादा अकाउंट ओपन कर सकता है. ऐसे में अकाउंट नंबर से ग्राहक के बारे में जानकारी नहीं हासिल किया जा सकता है.

ऐसे में ग्राहक के भले ही multiple bank accounts हो लेकिन उसका CIF number एक ही रहेगा एक बैंक के लिए, इससे बैंक को तुरंत जानकारी हासिल कर लेता है की ग्राहक के पास कितने accounts है और किस अकाउंट में कितने ट्रांसक्शन हो रहे है.

 

CIF नंबर कहाँ इस्तमाल होता है ?

आज के समय में हर कोई इंटरनेट का इस्तमाल करता है और आज के समय में लोग ज्यादा से ज्यादा इंटरनेट का इस्तमाल कर रहे है अपने हर कामों में । उनमे से एक काम है इंटरनेट के जिरए पैसा भेजना । अगर आप इन्तेर्नत के जरिये पैसा भेजना चाहते है एक बैंक से दूसरे बैंक को उनके अकाउंट नंबर के जरिये तो कहीं ना कहीं आपको CIF नंबर की जरुरति होगी ।

जैसे ही आप इंटरनेट में नेट बैंकिंग करने जायेगे आपको वह आपका CIF नंबर यानि User ID देना होगा उसके बिना इंटरनेट के जरिये पैसा नहीं भेज सकते है । अगर आप सोच रहे है इंटरनेट में पैसा भेजना तो आपको आपका CIF नंबर पता होना चाहिए ।

 

CIF Number का क्या उपयोग है ?

अब समझ लेते हैं CIF Number का उपयोग क्या है जैसे कि future में आप बैंक से जो भी सेवाएं लेते हैं वह सारी आपके CIF Number से जुड़ी होती हैं जैसे कि आपका बैंक में Saving account है या current account है और साथ ही साथ आपने लोन भी ले रखा है या फिर आपने बैंक में locker की फैसिलिटी ले रखी है या फिर Credit card की सेवा ले रखी है इस प्रकार से आपने जो भी सेवा बैंक से ले रखी है

वह आपके सिर्फ और सिर्फ CIF Number से जुड़ी हुई होती है | तो बैंक इस CIF Number का उपयोग बैंक खाता धारक के खाते में चल रही सारी activity को देखने के लिए करता है | आपका यह सवाल कि What is CIF Number ( CIF Number क्या है ) शायद अब आपको इसका जवाब मिल गया होगा |

 

सभी के Banks का CIF Numbers

cif number means और इसके full form के बारे में तो अपने जानकारी हासिल कर लिया अब अगर आपको SBI, Central bank of India, Indian bank, Allahabad bank या किस भी बैंक का कोड आप पासबुक और नेट बैंकिंग के माध्यम से पता कर सकते है. चुकी यह एक identification code है

जिससे customers के बारे में जानकारी मिलता है. तो ऐसे में किसी भी बैंक का रहे यह भी अकाउंट नंबर की तरह कॉमन होता है. इसके नाम अलग-अलग हो सकते है जिसके बारे में हमने ऊपर बताया है. हाँ, अगर आप केवल mobile banking का इस्तेमाल करते है जिनके साथ पासबुक नहीं होता है वह केवल डिजिटल तरीके से काम करते है. जैसे की DBS digi तो इसमें आपको MMID मिलता है. यहाँ भी CIF की तरह ही काम करता बस इसका नाम अलग है.

 

इन्हें भी पढ़ें:-

 

Conclusion

 

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख  CIF number क्या है.(What is CIF number in Hindi) कैसे पता करें  जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

CIF number क्या है.(What is CIF number in Hindi) कैसे पता करें

 

Join our Facebook Group

   Join Whatsapp Group

 

Leave a Comment