Coding क्या है? कोडिंग कैसे सीखें? इसका उपयोग कहाँ किया जाता है?

यदि आप Coding सीखना चाहते है? Coding क्या है? लेकिन मालूम नही कि कैसे और कहाँ से सीखें, तो इस पोस्ट के माध्यम से आप स्टेप-बाइ-स्टेप जानेंगे कि Coding कैसे सीखें?

आप एक वेबसाइट बनाना चाहे या कोई एप्लीकेशन इसके लिये आपको कोडिंग कैसे करते है, ये सीखना होगा। एक बार आप कंप्यूटर कोडिंग सीख गए उसके बाद एक वेबसाइट से लेकर, कंप्यूटर सॉफ्टवेयर, मोबाइल गेम्स और कई प्रकार के ऐप्स आसानी से डेवलप कर सकते है।

आगे पोस्ट में आपको सबसे पहले Coding क्या है और इसे सीखने के फायदे क्या होंगे? इस बारे में बताया गया है। इसके बाद कोडिंग सीखने के लिए किन तरीकों को आपको फॉलो करना चाहिए उन्हें एक-एक करके आप समझ सकते है।

 

Coding क्या है? कोडिंग कैसे सीखें? इसका उपयोग कहाँ किया जाता है?
TEJWIKI.IN

 

Coding क्या है?

 

कंप्यूटर की अपनी भाषा है जिसे मशीन कोड कहते हैं, वो कंप्यूटर को बताता है कि क्या करना है और कैसे करना है। यानि कंप्यूटर जो भाषा समझता है उसे कोडिंग कहते हैं. मशीन कोड एक कंप्यूटर प्रोग्राम है, जो binary (0,1) में लिखा जाता है। अन्य Programming Languages को मशीन कोड में ट्रांसलेट किया जाता है ताकि कंप्यूटर उन्हें पढ़ सके। मशीन कोड की जगह programming भाषा (html, css, Java etc) का इस्तेमाल करते हैं, जिसे समझना भी आसान है। Coding Kaise Sikhe में आपको यह जानना बेहद ज़रूरी है की विश्व की हर वेबसाइट कोडिंग की सहायता से ही काम करती है।

 

मुख्य कोडिंग लैंग्वेज

 

Coding Kaise Sikhe में आपको हम दे रहे हैं कुछ प्रमुख कोडिंग भाषाएं जो आपकी कोडिंग सीखने में बड़ी मदद करेंगी. तो आइए, जानते हैं।

C-Language

C language को शुरू में डेवेलप किया गया था। डेनिस रिच्ची ने 1969 से 1973 के बीच इसे डेवेलप किया था। Java, PHP, Javascript और language के Syntax सभी C language पर आधारित है।

C++

C++ बहुत ही पावरफुल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है इसका इस्तेमाल गेम्स, ब्रोवेर और ऑपरेटिंग सिस्टम को विकसित करने के लिए किया जाता है। C++ पावरफुल होने के साथ बहुत फ्लेक्सिबल है। यह अलग तरह ऑफ प्रोग्रामिंग को सपोर्ट करता है।

JAVA

Java एक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसका इस्तेमाल एप बनाने के लिए किया जाता है। Java को Sun Microsystems ने 90 के दशक में डेवेलप किया था। एप डेवेलपमेंट के लिए जावा सबसे सिंपल है। Java को नेटवर्क एप्लीकेशन बनाने के लिए ही डिज़ाइन किया है। अगर आपको Java की बेसिक नॉलेज है तो आप एक एप डिजाईन कर सकते हैं।

HTML

HTML एक कोडिंग लैंग्वेज है जिसका इस्तेमाल वेबसाइट डेवलपमेंट में सबसे ज्यादा किया जाता है। HTML का अर्थ HYPERTEXT MARKUP LANGUAGE होता है। HTML को टिम बर्नर्स ली ने 1980 में खोजा था। HTML से सबसे जरुरी है Tag अगर हम सही से tag उसे नहीं करेंगे तो HTML भी काम नहीं करेगा। HTML में कई छोटे कोड होते हैं जो मिलकर पूरी सीरीज बनाते हैं। HTML को हम नार्मल notepad पर ही लिखते हैं। HTML की बेसिक सीखने पर वेबसाइट आसानी से बनाई जा सकती है।

CSS

इसका इस्तेमाल होता है वेबपेज (Webpage) के layout, color fonts को डिज़ाइन और customize करने के लिए। इसे किसी भी XML based markup language के साथ इस्तेमाल में लिया जा सकता है। यह एक इंडिपेंडेंट HTML है।

RUBY

इसका इस्तेमाल वेब एप्लीकेशन डिज़ाइन करने के लिए किया जाता है और यह Python की General Coding Purpose लैंग्वेज है। इसमें डेटा विश्लेषण, प्रोटोटाइपिंग और प्रूफ ऑफ़ कांसेप्ट जैसे कई एप्लीकेशन हैं. RUBY का सबसे ज्यादा उपयोग रेल वेब में किया जाता है, और रेल वेब की रूबी पर ही बनाया गया है। इसमें आप चाहे तब बदलाव कर सकते हैं बिना किसी रुकावट के।

Python

HTML, CSS और JAVASCRIPT में Python सबसे अलग है। इसका इस्तेमाल डेटा साइंस में किया जाता है।

अन्य प्रोग्रामिंग लैंग्वेज

  • PHP
  • MYSQL
  • Javascript
  • .NET

 

 

कोडिंग कार्य कैसे करती है?

 

कंप्यूटर के माध्यम से हम सॉफ्टवेयर, वेबसाइट, फोटो, वीडियो या किसी भी चीज को देखते हैं। तो उसे हम आसानी से पढ़ व देख लेते हैं। यानी कि जो कंप्यूटर हमे प्रोसेसिंग के बाद output दिखता है। वह ह्यूमन लैंग्वेज के फार्म में होती है। जैसा कि हम जानते हैं कि कंप्यूटर एक आर्टिफिशियल मशीन है तो हमारी बोली जाने वाली भाषा को पढ़ पाना कंप्यूटर के लिए मुश्किल है। इसलिए कंप्यूटर को क्या करना है,

यह बताने के लिए हम बाइनरी कोड (Binary code) का इस्तेमाल करते हैं। यह एक ऐसी लैंग्वेज है जिसे सिर्फ़ कंप्यूटर समझ सकता है, जो सिर्फ शुन्य (Zero) से लेकर एक (One) के गणित आकड़ो निर्भर है।अगर आप ऐसा सोच रहे हैं कि सिर्फ इन दो गणित आकड़ो पर कंप्यूटर क्यों कार्य करता है। तो फिर आइए यह भी जान लेते है।

इसका जबाव है कि कंप्यूटर इंसानों के द्वारा बनाई गई इलेक्ट्रॉनिक मशीन है। जो कि हजारों Transistor से मिलकर बना है। Transistor बाइनरी स्विच और कंप्यूटर सर्किटरी का मौलिक निर्माण खंड होता है।कंप्यूटर को instructions देने के लिए एक स्पेशल सेट कि आवश्यकता होती है। Coding क्या है? सीधे शब्द में कहे तो कंप्यूटर से संवाद करने के लिए code कि जरूरत होती है। यह code कंप्यूटर प्रोग्रामर्स के द्वारा लिखे जाते हैं। इन सभी कोड के सेट को सोर्स कोड (हाई-लेवल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज) के नाम से जानते हैं।

जिसे compiler के माध्यम से पहले असेंबली लैंग्वेज (लो लेवल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज) और इसके बाद असेंबली लैंग्वेज को binary code में बदल दिया जाता है। कंप्यूटर सॉफ्टवेयर प्रोग्रामों के संकलन और निष्पादन करने के कुछ सेकंड के अंदर आपको आउटपुट दिखा देता है।

 

कोडिंग कैसे सीखें (How to Learn Coding in Hindi)

 

Coding की बेसिक समझ प्राप्त कर लेने के बाद अब मुख्य सवाल पर आते है “Coding कैसे सीखें?” चूंकि यह क्षेत्र बहुत बड़ा है, इसके साथ ही कोडिंग लैंग्वेज भी विभिन्न प्रकार की है। तो एक सवाल बहुत आम है, कि Coding सीखना कैसे स्टार्ट करें?

इसके लिये नीचे स्टेप बाई स्टेप कुछ पॉइंट्स दिए गए है। यदि आप उन्हें पढ़कर समझेंगे और फॉलो करेंगे तो हमें पूरी उम्मीद है, कि आप जल्द ही एक प्रोफेशनल कोडर बन जाएंगे:

स्टेप 1: खोजें कोडिंग के किस फील्ड में आपकी दिलचस्पी है
यदि आपकी Coding सीखने में काफी रूचि है, तो सबसे पहले इसके बारे में थोड़ा जानकारी ले और देखें कंप्यूटर प्रोग्रामिंग के किस फील्ड में आपकी ज्यादा दिलचस्पी है। उदाहरण के लिये अगर आप एक वेबसाइट बनाना चाहते है, तो वेब डेवलपमेंट (Web Development) के क्षेत्र में अपना करियर शुरू कर सकते है। इसके अलावा ऐप डेवलपमेंट (App Development), वीडियो गेम डेवलपमेंट (Video Game Development), सिस्टम डेवलपमेंट (System Development), एम्बेडेड सिस्टम डेवलपमेंट (Embedded Systems Development), और भी बहुत सारे फील्ड है, जिसके बारे में जानकारी लेकर आप सही दिशा में आगे बढ़ सकते है।

जिस फील्ड का आप चयन करेंगे वो काफी हद तक तय करेगा कि आपको कौन सी लैंग्वेज सीखनी चाहिए। इसके अलावा अपने पसंद के फील्ड में काम करने से आपको कोड लिखने और नई-नई चीजें सीखने में भी मजा आएगा। आपके पास एक स्पष्ट रास्ता होगा जिस पर चलकर आप Coding के उस फील्ड में मास्टर कर पायेंगे और अपनी स्किल के दम पर अच्छा पैसा भी कमा सकेंगे।

स्टेप 2: सही कंप्यूटर लैंग्वेज और टूल का चुनाव करें
एक बार अपना फील्ड चुन लेने के बाद यह काफी हद तक पक्का हो जाता है, कि आपको कौनसी कंप्यूटर लैंग्वेज सीखनी चाहिए। उदाहरण के लिये अगर आप वेब डेवलपमेंट को चुनते है, तो आमतौर पर आपको HTML, CSS और JavaScript जैसी लैंग्वेज सीखनी होती है। मोबाइल ऐप डेवलपमेंट में Java, C#, Python और Swift जैसी लैंग्वेज के साथ आप शुरुआत कर सकते है। ऐसे ही अन्य फील्ड के हिसाब से आपको सही लैंग्वेज और टूल का चुनाव करना है, जिसकी मदद से आप कोड लिखने की प्रैक्टिस करेंगे।

यह बेहद ही महत्वपूर्ण स्टेप है। इसके लिए आप यूट्यूब पर वीडियो देख सकते है, गूगल पर आर्टिकल पढ़ सकते है, किसी प्रोग्रामर की राय ले सकते है। जिस भी तरीके का आप उपयोग करना चाहे, करें। एक सही लैंग्वेज से शुरुवात करना आपके Coding सीखने के इस सफर को और बेहतर बना सकता है। नीचे दिए चार्ट की मदद से आपको अपने फील्ड के हिसाब से सही लैंग्वेज चुनने में मदद मिलेगी।

Web Development JavaScript/HTML/CSS, nodejs, php, django
Android JAVA, Kotlin
iOS Swift
Software Development Java, C#, Python
Game Development C, C++, C#

 

स्टेप 3: लैंग्वेज के बेसिक कॉन्सेप्ट सीखना शुरू करें
अब आपको चुनी गई लैंग्वेज के बेसिक कॉन्सेप्ट को सीखना शुरू करना है। उदाहरण के लिये मान लेते है, आपने C++ लैंग्वेज को चुना, तो आप उसके बेसिक फंडामेंटल्स (Syntax, Data Types, Variables, Functions, Loops, Arrays or Lists, etc.) को सीखिए। इसके लिए आप इंटरनेट की मदद ले सकते है। वेबसाइट जैसे ― Codecademy, W3Schools, SoloLearn, HackerRank, GeeksforGeeks, freeCodeCamp, etc. आपको फ्री में Coding के बेसिक्स सीखाने में मदद करते है। इसके साथ ही आप वीडियो ट्यूटोरियल की मदद भी ले सकते है। कुछ प्रमुख यूट्यूब चैनल ― CodewithHarry, Apni Kaksha, ProgrammingKnowledge, Telusko, MySirG.Com, etc.

इन संसाधनों का उपयोग करके आप आसानी से चुनी गई लैंग्वेज को सीखना शुरू कर सकते है। इसके अलावा यदि आपके शहर में Coding के लिए कोई ट्रैनिंग सेंटर हो, तो आप वहां जाकर भी क्लास जॉइन कर सकते है। अगर आप Coding के बारे में कुछ भी नही जानते, तो किसी ट्रैनर के माध्यम से सीखना आपके लिए ज्यादा बेहतर साबित हो सकता है।

स्टेप 4: खुद की वेबसाइट या ऐप बनाएं
अपना खुद का एक प्रोजेक्ट स्टार्ट करें। आप एक वेबसाइट या कोई ऐप बनाना शुरू कर सकते है। जो भी आप सीख रहे है, उसे प्रैक्टिस करने का यह सबसे अच्छा तरीका है। ऐसा करने से आप अपनी गलतियों को पकड़कर उनसे सीख पाएंगे। हालांकि बहुत से स्टूडेंट परेशान रहते है, कि वो कैसे खुदका प्रोजेक्ट स्टार्ट करें। आपको सीधे फेसबुक जैसी वेबसाइट नही बनानी है, बल्कि जो भी आप सीख रहे है, उसके हिसाब से एक सिंपल साइट या एप्लिकेशन बनाना शुरू करना है।

स्टेप 5: ऑनलाइन कोर्स और बुक्स से सीखें
ऑनलाइन बहुत सारे कोर्स और बुक्स मौजूद है, जिन्हें खरीदकर आप Coding सीख सकते है। कोर्स से सीखने का सबसे बड़ा फायदा ये होता है, कि उसमें लैंग्वेज से सम्बंधित सभी ट्यूटोरियल सीरीज में दिए गए होते है। इससे आप भटकते नही है, और उस लैंग्वेज से सम्बंधित सभी टॉपिक आप सीख भी लेते है।

Coursera, Udemy और edX कुछ प्रमुख वेबसाइट है, जहां से आप कोडिंग कोर्स खरीद सकते है। इसके साथ ही Coding सीखने के लिए बुक्स पढ़ना भी एक अच्छा तरीका है। बुक्स के माध्यम से आप लैंग्वेज के फंडामेंटल्स को और गहराई से समझ पाते है। कुल मिलाकर आपको सभी संसाधनों का उपयोग करना चाहिए, ताकि आप तेज गति से इस क्षेत्र में आगे बड़ पाए।

स्टेप 6: गूगल की मदद लें
Coding सीखने के दौरान आपको कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। हो सकता है, आपका कोड सही तरह से काम न करें, कोई एरर मैसेज दिखाने लगे। इसके साथ ही Coding में कई ऐसी चींजे होती है, Coding क्या है? जो पहली बार मे समझ नही आती है। समस्या कोई भी हो, उसे गूगल में सर्च करें आपको उसका समाधान जरूर मिलेगा।

ये बिल्कुल भी मत सोचिएगा कि आपसे कोई गलती नही होगी। बल्कि एक प्रोफेशनल प्रोग्रामर भी कोड लिखने के दौरान कई तरह की गलतियां कर बैठते है। तो जब भी कोड काम न करें और आपको कुछ समझ मे न आये, समस्या को गूगल में सर्च करें। उससे सम्बंधित कई सारे वेब पेज आपको मिल जाएंगे।

 

 

 

स्टेप 7: ऑनलाइन फॉरम जॉइन करें
शुरुआत में खुद से Coding सीखने पर आपको कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। कुछ चीजें ऐसी है, जो शायद आपके बिल्कुल भी समझ मे न आये। ऐसे में किसी Coding Forum को जॉइन करके आप अपने सवालों को वहां छोड़ सकते है। ये फॉरम दुनियाभर के प्रोग्रामरों के लिए एक ऑनलाइन समुदाय की तरह होते है, जहां वे एक-दूसरे के सवालों के जवाब देते और अपनी नॉलेज को अन्य लोगों के साथ शेयर करते है।

कुछ प्रमुख ऑनलाइन फॉरम जिसमें StackOverflow, CodeProject, Bytes Community, etc. शामिल है। ऐसे ही कुछ अन्य फॉरम जॉइन करें, जो आपको अपने हिसाब से बेहतर लगें। यह आपकी लैंग्वेज से सम्बंधित सभी परेशानियों को हल करने में मदद करेंगे।

स्टेप 8: रोजाना कोड लिखने की प्रैक्टिस करें
सीखने के साथ-साथ ये और भी जरूरी है, कि आप रोजाना कोड लिखने की प्रैक्टिस करें। आप जितना भी समय Coding को देते है, उसमें से आधा-आधा समय सीखने और प्रैक्टिस करने के लिए बांट दे। आपने इंग्लिश में एक कहावत “Practice Makes a Man Perfect” तो सुनी ही होगी। ये बात Coding सीखने के मामले में और भी सटीक बैठती है।

अगर आप एक बेहतर कोडर बनना चाहते है, तो आपको रोजाना कोड लिखने की अपनी आदत को विकसित करना होगा। ये बिल्कुल भी जरूरी नही कि आप एक ही दिन में बहुत सारा कोड प्रैक्टिस करें। भले ही दो लाइन कोड की प्रैक्टिस करें, परन्तु करे रोज। रोजाना प्रैक्टिस करने से आपके लिए कोड लिखना आसान होता चला जायेगा।

 

Coding सिखने के लिए Website

 

Coding Kaise Sikhe के लिए आपको निम्नलिखित वेबसाइट की सूची दी जा रही है, जहां से आप Coding सीख सकते हैं।

  1. W3schools
  2. Codecademy
  3. Tutorialspoint
  4. Javatpoint

इसके अलावा YouTube पर भी बहुत सारे से चैनल है, जहां पर आप हिंदी में भी कोडिंग सीख सकते हैं।

  1. CodeWithHarry
  2. MySirG

 

ऑनलाइन  और ऑफलाइन कोडिंग

 

Online और Offline Coding के लिए आपको यह जानना ज़रूरी है कि आपके लिए कौन सा माध्यम सबसे सही रहेगा। उसके बाद आप आपसे कोई पूछे कि Coding Kaise Sikhe, तो आप उन्हें बता सकते हैं।

Offline Coding

ऑफलाइन कोडिंग सीखने के लिए आपको कोचिंग क्लास जाकर प्रोगरामिंग की किताब से कोडिंग सीख सकते हैं। अगर आपको कोचिंग के बारे में नहीं पता, तो आप आपने कोई फ्रेंड से हेल्प ले सकते हैं।

Online Coding

ऑनलाइन कोडिंग सीखने के लिए बहोत सारी वेबसाइट हैं, जिनसे आप कोडिंग सीख सकते हैं, आपको ऑनलाइन बहुत सारी वेबसाइट मिल जाएँगी, जिनसे आप कोडिंग सीख सकते हैं, बहुत सारी वेबसाइट हैं जो फ्री में कोडिंग और प्रोगरामिंग सिखाती हैं, और बहुत सी में आपको पैसे देने पड़ते हैं।

 

Coding छात्र कब सीख सकते हैं?

 

नई शिक्षा निति से अब कक्षी छटी से छात्र कोडिंग सीख सीख सकते हैं। अब कोडिंग के लिए आपको लंबा इंतज़ार नहीं करना होगा, बस आपके पास टेक्निकल नॉलेज होनी चाहिए।

 

कोडिंग सीखने के लिए Laptop लें?

 

अगर आप C Language सीखना चाहते है तो आप किसी भी Laptop जो एकदम Simple जैसे की 2GB RAM वाला भी होगा तो भी चलेगा। लेकिन अगर आप नया Laptop खरीदना चाहते है तो ऐसे में कम से कम i3 Processor, 4GB RAM or 8GB RAM और SSD वाला ही खरीदना बेहतर रहेगा जिससे आपको Coding सीखने में आसानी रहेगी।

 

कोडिंग का उपयोग कहाँ किया जाता है?

 

Coding का इस्तेमाल आज कई चीजों में होता है आइए तो फिर जानते और समझते कि आज कोडिंग कहा कहा उपयोग की जाती है।
1. कंप्यूटर प्रोग्रामिंग या कोडिंग का इस्तेमाल हम वेबसाइटों, ग्राफिक डिजाइन, ऐप्स और कई अन्य चीजों को कंप्यूटर के माध्यम से करते है।

2. विजुअल इफेक्ट्स (VFX), और मोबाइल या पीसी गेम को बनाने के लिए कॉडिंग का इस्तेमाल किया जाता है।

3. फिल्मों और वीडियो में स्पेशल इफेक्ट को जोड़ने के लिए कोडिंग का इस्तेमाल करते हैं।

4. कंप्यूटर प्रोग्राम को कॉमनिकेशन मीडिया ( जैसे कि – Voice Communication, SMS, Chat, Video Calling ) को डिजाइन करने के लिए करते हैं।

5. आज सॉफ्टवेयर प्रोग्राम को प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के माध्यम से बनाया गया हैं। यानी कि कोडिंग का इस्तेमाल करके MS Office, calculator, browsers ( जैसे कि – क्रोम, इंटरनेट एक्सप्लोरर आदि) बनाए गए हैं।

 

Carrier एंड Sallery

 

कोडिंग सीखकर आप बड़े कॉर्पोरेट संस्थानों में सॉफ्टवेर एप डेवलपर, वेब डेवलपर, कंप्यूटर सिस्टम इंजिनियर, डेटाबेस एडमिनिस्ट्रेटर, बिजनेस इंटेलिजेंस एनालिस्ट, कंप्यूटर प्रोग्रामर, सॉफ्टवेर क्वालिटी एनालिस्ट आदि नौकरी कर सकते हैं। Coding क्या है? Coding Kaise Sikhe में एक अच्छे शुरूआती कोडर की भारत में शुरुआत की सैलरी महीने की 18-20 हज़ार से शुरू हो सकती है।

 

Coding से फायदा 

 

एक बार आपको कोडिंग करनी अच्छी तरह से आ जाए तो उसके बाद आप निम्नलिखित चीज़ें कर सकते हैं। तो आइए, Coding क्या है? Coding Kaise Sikhe में जानते हैं कोडिंग सीखने के लाभ।

  • Coding सीखना इस दौर की सबसे महत्वपूर्ण बात है। कोडिंग एक ऐसी स्किल है, जिसकी अभी के समय सबसे अधिक डिमांड है।
  • एक कोडर/कंप्यूटर प्रोग्रामर के पास जॉब के सुनहरे अवसर मौजूद होते है, वे अपनी स्किल्स से बहुत अच्छा पैसा भी कमाते हैं।
  • कोडिंग की सहायता से आप वेबसाइट, ऐप और वीडियो गेम बना सकते हैं। वहीँ आप दूसरे के लिए भी काम करके पैसा कमा सकते हैं।
  • Coding के लिए लॉजिकल थिंकिंग की आवश्यकता रहती है, आपको कंप्यूटर में स्टेप बाई स्टेप कमांड को फीड करना होता है। ऐसा करने से एक व्यक्ति की किसी समस्या को हल करने की क्षमता भी सुधरती है।

 

Coding के लिए India की सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालय

 

निम्नलिखित आपको भारत की कुछ Top Coding Universities की List दी जा रही है जहाँ से आप Coding Kaise Sikhe के लिए आगे कदम बढ़ा सकते हैं।

  1. Vellore Institute of Technology
  2. Indian Institute of Technology (BHU) Varanasi
  3. IIIT Hyderabad
  4. National Institute of Technology Tiruchirappalli
  5. IIT Madras
  6. The LNM Institute of Information Technology
  7. Delhi Technological University
  8. Dhirubhai Ambani Institute of Information and Communication Technology
  9. Indian Institute of Information Technology Allahabad
  10. Indraprastha Institute of Information Technology Delhi

 

FAQ

प्रश्न 1: फ्री में Coding Kaise Sikhe?

उत्तर: कोडकेडमी, कोडएवेंजर्स, कोडस्कूल आदि वेबसाइट की मदद से।

प्रश्न 2: Coding कैसे सीखें?

उत्तर: कोडिंग सीखने के लिए आपको कम से कम एक Programming या Script Language सीखना होता है। कई सारे ऑनलाइन प्लेटफार्म हैं, जहाँ से आप मुफ्त में ये सब सीख सकते हैं।

प्रश्न 3: कोडिंग भाषा क्या है?

उत्तर: कोडिंग मूल रूप से कंप्यूटर की भाषा है जिसका उपयोग ऐप्स, वेबसाइट और सॉफ्टवेयर विकसित(Develop) करने के लिए किया जाता है।

प्रश्न 4: कोडिंग सीखने से क्या फायदा है?

उत्तर: लॉजिकल थिंकिंग पॉवर बढ़ती है, प्रॉब्लम सोल्विंग पॉवर अच्छी होती है और फोकस और कंसंट्रेशन मजबूत आदि होती है।

प्रश्न 5: कंप्यूटर में कितने प्रकार की भाषाएं होती है?

उत्तर: कंप्यूटर की भाषा को 2 भागों में बांटा जा सकता है।
मशीनी भाषा (Machine Language)
असेम्‍बली भाषा (Assembly Language) 

 

 

Conclusion

 

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख Coding क्या है? कोडिंग कैसे सीखें? इसका उपयोग कहाँ किया जाता है? जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

Coding क्या है? कोडिंग कैसे सीखें? इसका उपयोग कहाँ किया जाता है?

 

Join our Facebook Group

   Join Whatsapp Group

 

Leave a Comment