Dogecoin क्या है? Dogecoin कैसे कार्य करती है? पूरी जानकारी

दोस्तों Dogecoin क्या है? इंटरनेट के युग में एक नयी टेक्नोलॉजी का निर्माण हो रहा है जिसे ब्लॉकचैन कहा जाता है और इसी ब्लॉकचैन की वजह से DogeCoin जैसे क्रिप्टोकोर्रेंसी का निर्माण हुआ है. दोस्तों क्या आपने भी DogeCoin को ख़रीदा है? और यह जानना चाहते हैं की इसका भविष्य क्या है? तो आप बिलकुल सही जगह पर आये हैं क्यूंकि इस पोस्ट में आपको इन्ही सभी सवालों का जवाब मिलेगा – DogeCoin Ka Future Kya Hai?.

वैसे तो DogeCoin एक Meme कॉइन है अर्थात इसे सिर्फ जोक की तरह बनाया गया था लेकिन आज के समय में इस कॉइन ने बाकियों के मुकाबले सबसे अधिक Return दिया है.

हालंकि एलोन मस्क के वजह से ही इस कॉइन का कीमत इतना अधिक बढ़ गया है लेकिन क्या और भी अधिक इसका कीमत बढ़ेगा? तो चलिए इसके भविष्य के बारे में अच्छी तरह से जानते हैं.

 

Dogecoin क्या है? Dogecoin कैसे कार्य करती है? पूरी जानकारी
TEJWIKI.IN

 

Dogecoin क्या है? ( What is Dogecoin)


Dogecoin एक वर्चुअल यानी डिजिटल मुद्रा (करेंसी) है। ये बाकि कर्रेंसी से बिलकुल अलग है क्यूंकि Dogecoin को ना ही हम देख सकते हैं ना ही उसे पैसों की तरह छू सकते हैं। हम Dogecoin को सिर्फ ऑनलाइन खरीद और बेच सकते हैं। आप बस इसमें ट्रेड कर सकते है।

Dogecoin भी अन्य दूसरी क्रिप्ट्रोकरैन्सी की तरह ही एक डिजिटल करेंसी है जिसमें आप ट्रेड कर सकते है। Dogecoin की शुरुआत सॉफ्टवेयर इंजीनियर Billy Markus और Jackson Palmer ने 2013 में एक मजाक के रूप में की थी।

माना जा रहा है कि दुनियाभर में करीब 128 अरब से ज्यादा डॉजकॉइन (Dogecoin) सर्कुलेशन में है। इसे महज एक शुरुआत कहा जा रहा है। वर्तमान आंकड़ो पर नजर डाले तो bitcoin से भी ज्यादा Dogecoin क्रिप्टोकरेंसी में लोगो की रूची काफी बढी है।

 

 

Dogecoin क्रिप्टोकरेंसी को बनाने के पीछे भी एक फनी स्टोरी है जो की एक कुत्ते के मीम से संबंधित है और इसी प्रेरणा से प्रेरित होकर इस कॉइन को बनाया था। जब इसे बनाया गया था तो इसके बाद काफी समय के बाद भी इसका ज्यादा फायदा नहीं हुआ था पर वर्तमान में यह करेंसी चर्चाओं में आसमान छू रही है।

 

डोज कॉइन का इतिहास (History of Doge Coin)

 

डोजकॉइन को 6 दिसंबर 2013 में Billy Markus और Jackson Palmer द्वारा लॉन्च किया गया था। शुरुआती दौर में इसको बनाने का मुख्य उद्देश क्रिप्टो करेंसी का मजाक उड़ाना था। लेकिन इस कॉइन बनाने का एक उद्देश्य और भी था कि डोज कॉइन उस समय के दूसरे कोई जैसे कि बिटकॉइन से अधिक इस्तेमाल किया जाए।

डोज कॉइन लॉन्च होने के 1 महीने के अंदर ही इसकी वेबसाइट dogecoin.com के ऊपर 1 मिलियन से भी अधिक लोग जाने लगे। जिसकी वजह से इसकी लोकप्रियता को देखते हुए इसको इनका इस्तेमाल ऑनलाइन ट्रांजैक्शंस के लिए किया जाने लगा।

डोज कॉइन को बनाने के लिए उस समय के पहले से स्थित लाइटकॉइन का इस्तेमाल किया गया था। इस कॉइन को बनाने के लिए Markus ने पहले से स्थित लाइटकॉइन के प्रोटोकॉल्स का इस्तेमाल किया और उस समय लाइटकॉइन Scrypt टेक्नॉलॉजी का उपयोग करता था।

9 सितंबर 2013, डोज कॉइन ने अपने सबसे पहली छलांग मारी जिसमें यह 300% से भी अधिक बड़ा और इसकी कीमत $0.00026 to $0.00095 डॉलर तक पहुंच गई। और इसका पहला Crash तब हुआ जब चाइनीस बैंक ने बिटकॉइन में ट्रेड करने का विरोध करना शुरू कर दिया। उस समय इस कॉइन की कीमत 80% तक नीचे गिर गई थी।

Dogecoin history in Hindi के लिए आगे और भी बुरा समय आया जब 25 दिसंबर 2013 के दिन किसी हैकर ने लाखों डोज कॉइन चुरा लिये। इस चोरी के बाद डोज कॉइन के ऊपर कई सारे प्रश्न उठने लगे। और इस चोरी से जिन लोगों का नुकसान हुआ था उन लोगों की भरपाई करने के लिए डोज कॉइन की समिति ने डोनेशन दिए थे। और अच्छी बात तो यह हुई कि नुकसान की जितनी भी रकम थी वह बहुत जल्द ही डोनेशन के जरिए चुका दी गई।

इसके बाद डोज कॉइन की कीमत में कई बार उतार-चढ़ाव आए। लेकिन यह कॉइन असली हीरो तब बना जब एलोन मस्क ने इसका प्रमोशन करना शुरू किया। एलोन मस्क के द्वारा प्रमोशन किए जाने के बाद और डोज कॉइन के द्वारा एलोन मस्क के एक मिशन में फंड देने के बाद इसकी कीमत अचानक से बढ़ने लगी। और जहां डोज कॉइन ₹1 का भी नहीं था वही इसकी कीमत ₹60 से भी अधिक तक पहुंच गई।

लेकिन अभी हाल ही में हुए क्रिप्टो crash की वजह से इसकी कीमत में भारी गिरावट आई और इसकी कीमत अब बहुत ज्यादा कम हो चुकी है।

 

Dogecoin का मालिक कौन है? (Who owns Dogecoin

 

Dogecoin के मालिक Billy Markus और Jackson Palmer हैं। इन्होने Dogecoin की शुरुआत 2013 में की थी। और दोनों ही सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं। इन्होने डोगेकोईन की शुरुआत मजाक – मजाक में की थी जो आज अरबों की करेंसी बन चुका है।

बिली मार्कस और एडोब इंजीनियमर जैक्सन पाल्मर ने पीयर-टू-पीयर ट्रांजैक्शन (Peer-To-Peer Transaction) के लिए इसे शुरू किया था। उन्होंने डॉजकॉइन के लिए किसी फैन्सी एम्बलेम को चुनने की जगह जापानी कुत्ते की एक ब्रीड शिबा इनू (Shiba Inu) को चुना। यह पहले से ही ऑनलाइन पॉपुलर हो गया था।

 

Dogecoin इतना चर्चा में क्यों है?( Why is Dogecoin in the news so much)

 

अगर बात करे Dogecoin की चर्चा में क्यों हैं, तो आपको बता दें की वर्तमान में चर्चाओं का कारण दुनिया के सबसे अमीर आदमी की लिस्ट में शामिल टेसला और स्पेस एक्स के को-फाउंडर का एक ट्वीट है।

dogecoin and elon musk
इस ट्वीट में टेसला के को-फाउंडर एलोन मस्क ने कहा की वह स्पेस एक्स की तरफ एक रॉकेट लॉंच करेगा और उस रॉकेट में वे इस Dogecoin की एक कॉपी भेजेंगे। इसके बाद तो मानो इस की Price में बहार आ गई और इसमें 5 से 6 रुपये तक का उछाल आ गया। और अब इसमें 180 फीसदी का उछाल आचुका है।

इस करेंसी में निवेश करने की सलाह हर कोई दे रहा है क्योंकि इस Dogecoin क्रिप्टो करेंसी की कीमत बहुत ही जल्द सातवें आसमान पर जाने वाली है।

एलन मस्क बिटकॉइन को भी बेहतर क्रिप्टोकरंसी मानते हैं। उन्होंने इसमें बड़े पैमाने पर निवेश किया है और इस क्रिप्टोकरंसी में पेमेंट की मंजूरी दी है। एलन मस्क ने पिछले सप्ताह एक ट्वीट में लिखा था – ‘बिटकॉइन इज ए गुड थिंग।

शुरुआती दौर में डॉजकॉइन (Dogecoin) को बिटकॉइन (Bitcoin) और इथेरियम (Etherium) जैसी सफलता नहीं मिली। हालांकि, लॉन्च किए जाने के 72 घंटे के भीतर इस किप्टोकरंसी में 300 फीसदी की उछाल देखने को मिली थी।

बता दें कि लिटकॉइन (Litcoin) और लकीकॉइन (Luckycoin) क्रिप्टोकरंसी में भी डॉजकॉइन के पासवर्ड पर आधारित स्क्रिप्ट टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाता है। वहीं, बिटकॉइन में एसएचए-256 इनक्रिप्शन तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है।

 

Dogecoin  कैसे कार्य करती है? (How does Dogecoin work)

 

आप dogecoin खरीदना(buy) चाहते है तो aapke लिए ये जानना बेहद important हो जाता है। की आखिर dogecoin क्रिप्टोकरेंसी काम kaise करती है, नीचे हम इसी बारे में जानेंगे –

  • सभी cryptocurrency की तरह dogecoin भी ब्लॉकचेन(Blockchain Ledger) जैसी टेक्नोलॉजी

पर काम करती है।

  • ये blockchain ledger, एक तरह का digitally ledger होता है जो सभी transactions को एकदम सुरक्षित व उनका पूरा record रखता है।
  • blockchain सभी cryptocurrency की बुनियाद होती है जिस पर हर digital currency निर्भर करती है।
  • dogecoin के blockchain ledger की कॉपी सभी dogecoin holders के पास होती है। जो हर नयी transaction से अपडेट होती रहती है। आप ये भी कह सकते है की dogecoin blockchain हर तरह की transaction का अपने पास रिकॉर्ड रखता है ताकि एक तरह से proof रहे।

 

DogeCoin का उपयोग क्या है? (What is the use of DogeCoin)

 

यह कॉइन एक मीम कॉइन है अर्थात इसे सिर्फ मज़ाक के तौर पर बनाया गया था इसका इस्तेमाल किसी और काम में नहीं किया जाता है.

इसे Reddit जैसे सोशल मीडिया वेबसाइट पर reward के रूप में इस्तेमाल किया जाता है लेकिन जब से एलोन मस्क इसके पीछे पड़ें हैं इसका इस्तेमाल कुछ अन्य जगहों पर भी होने लगा है.

जैसे 2022 में होने वाले स्पेस मिशन में एलोन मस्क इसका पेमेंट DogeCoin के रूप में लेंगे जिससे इसके कीमत में भी असर दिखाई देगा.

इसका भविष्य आने वाले साल 2022 तक तो अच्छा रहने का आसार है बाकी 5 साल में क्या होगा यह कोई नहीं जनता है – DogeCoin Ka Future Kya Hai in Hindi.

2013 में IBM के सॉफ्टवेयर इंजीनियर बिली मार्कस और Adobe के जैक्सन पामर ने कोडिंग करके बनाया था

 

 

Dogecoin  से लाभ क्या हैं? (What are the benefits of Dogecoin

 

  • Dogecoin में fraud होने के chances बहुत ही कम है।
  • ये normal digital payment से ज्यादा secure होते है।
  • इसमें transaction fees भी बहुत है कम है अगर हम दुसरे payment options की बात करें तब…
  • इसमें account बहुत ही secure होते हैं क्यूंकि इसमें अलग अलग प्रकार के Cryptography Algorithm का इस्तमाल किया जाता है।

 

Dogecoin से हानि क्या हैं? (What are the disadvantages of Dogecoin)

 

Dogecoin में एक बार transaction पूर्ण हो जाने पर उसे reverse कर पाना असंभव होता है क्यूंकि इसमें वैसे कोई options ही नहीं होती है।
अगर आपका Wallet के ID खो जाती है तब वो हमेशा के लिए खो जाती है क्यूंकि इसे दुबारा प्राप्त करना संभव नहीं है. ऐसे में आपके जो भी पैसे आपके wallet में स्तिथ होते हैं वो सदा के लिए खो जाते है।

 

Dogecoin का भविष्य क्या है? (What is the future of Dogecoin)

 

कुछ विद्वानों की माने तो का फ्यूचर काफी अच्छा बताया जा रहा है। ऐसा अनुमान लगाया जा सकता है की इस की वर्तमान की रेट में 50 से 80 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है।

अगर आप इसमें आज निवेश करते है तो यह आपके लिए एक शानदार मौका हो सकता है और यह क्रिप्टोकरेंसी आपको भविष्य में एक अच्छी कमाई कर के दे सकता है।

 

Dogecoin कैसे खरीदें? (How to buy Dogecoin)

 

अगर आप भी Dogecoin खरीदना चाहते हैं तो खरीद सकते हैं। किसी भी दूसरी क्रिप्टोकरंसी की तरह डॉजकॉइन (Dogecoin) को क्रिप्टोकरंसी वॉलेट या ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के जरिए खरीदा जा सकता है।

Dogecoin को आप कैसे खरीद सकते हैं इसके बारे में डिटेल में जानने के लिए यहाँ क्लिक करें –

डॉजकॉइन के लिए डेडिकेटेड वॉलेट भी हैं, जिन्हें स्मार्टफोन के जरिए खरीदा जा सकता है। भारत में BuyUcoin, Bitbns, या Zebpay के जरिए डॉजकॉइन खरीदा जा सकता है। इन प्लेटफॉर्म्स पर क्रिप्टोकरंसी की खरीददारी के पहले केवाईसी (KYC) प्रॉसेस को पूरा करना होता है।

 

Dogecoin को भारत में निवेश करने की प्रक्रिया

 

  • Coins witch Kuber,WazirX,Coin DCX,Bitbns,Zebpay
  • इनमें से किसी एक क्रिप्टो एक्सचेंज को इंस्टॉल करना होगा।
  • इंस्टॉल करने से पहले किसी भी क्रिप्टो एक्सचेंज को पूरी तरीके से जांच लें।
  • केवाईसी वेरीफाई करने के बाद अपना अकाउंट बनाना होगा। 
  • ऐप पर अपनी बैंक डिटेल/यूपीआई डिटेल डालें। 
  • बैंक डिटेल/यूपीआई रजिस्टर होने के बाद एक्सचेंज में मनी ऐड करें। 
  • एक्सचेंज में रुपये जमा होने के बाद आप इसका उपयोग Dogecoinया किसी दूसरी   क्रिप्टोकरेंसी में निवेश कर सकते हैं।

 

 

Bitcoin और Dogecoin में क्या अंतर है (What is the difference between Bitcoin and Dogecoin)

 

जब Dogecoin को कई साल पहले बनाया गया था तब सॉफ्टवेयर इंजीनियरों ने इसमें उसी कोड का इस्तेमाल किया था जो बिटकॉइन बनाने में किया था। जबकि बिटकॉइन एक व्यापक और बेस्ट इकोसिस्टम पर आधारित क्रिप्टो करेंसी है जबकि उसके मुकाबले पर Dogecoin एक इन्फ्लेशनरी करेंसी है।एक्सपर्ट्स की मानें तो इसका मतलब होता है

अधिक डॉगी हर दिन हर मिनट में बनते हैं इसे बनाने की कोई लिमिट सीमित नहीं है। उदाहरण के तौर पर अगर आप माने तो हर रोज हर एक मिनट में 10,000 Dogecoin जारी होते हैं इसके हिसाब से हर एक दिन मैं 15 मिलियन Dogecoinऔर साल भर में 5 बिलियन Dogecoin बनते हैं।

 

Conclusion

 

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख  Dogecoin क्या है? Dogecoin कैसे कार्य करती है? पूरी जानकारी  जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

Dogecoin क्या है? Dogecoin कैसे कार्य करती है? पूरी जानकारी

 

Leave a Comment