Ethernet क्या है? और कितने प्रकार के है पूरी जानकारी (2023)

दोस्तों Ethernet क्या है? Ethernet वह तकनीक है जो आमतौर पर वायर्ड लोकल एरिया नेटवर्क (LAN) में उपयोग की जाती है। LAN कंप्यूटर और अन्य इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेस का एक नेटवर्क है जो एक कमरे, ऑफिस या बिल्डिंग जैसे छोटे एरिया को कवर करता है। इसका उपयोग Wide Area Network (WAN) के विपरीत किया जाता है, जो बहुत बड़े भौगोलिक क्षेत्र पर फैलता है।

Ethernet एक नेटवर्क प्रोटोकॉल है, जो यह कंट्रोल करता है कि LAN पर डेटा कैसे ट्रांसमिट किया जाए। तकनीकी रूप से इसे IEEE 802.3 प्रोटोकॉल के रूप में जाना जाता है। यह प्रोटोकॉल प्रति सेकंड एक गिगाबिट की स्‍पीड से डेटा ट्रांसफर करने के लिए समय के साथ विकसित और सुधार हुआ है।

कई लोगों ने अपने पूरे जीवन में Ethernet टेक्‍नोलॉजी का उपयोग इसे बिना जाने ही किया है। इस बात की सबसे अधिक संभावना है कि आपके ऑफिस में, बैंक में और घर पर कोई भी वायर्ड नेटवर्क ईथरनेट लैन है। अधिकांश डेस्कटॉप और लैपटॉप कंप्यूटर एक इंटिग्रेटेड ईथरनेट कार्ड के साथ आते हैं ताकि वे ईथरनेट लैन से कनेक्ट होने के लिए तैयार हों।

 

Ethernet क्या है? और कितने प्रकार के है पूरी जानकारी (2022)
TEJWIKI.IN

 

Ethernet क्या है? (What is Ethernet in Hindi)

 

Ethernet को “ether net” उचारण किया ज्याता है. ये एक Local Area Network Technology है. इस Technology की मदद से Computers और Networking Devices को आपस में connect किया ज्याता है और information को share किया ज्याता है. जैसे office में, College में, School में किया ज्याता है. “Ethernet” TCP/IP Stack के data link layer का Protocol है. इस Ethernet Technology की मदद से ही LAN में अलग अलग Computer आपस में Information share कर पाते हैं. ये Protocol मतलब Ethernet का काम है, Information किस Format में Transmit होगा. जैसे की वो एक LAN में information अछे से दुसरे Computer तक पोहांचा सके बिना किसी Error के.

Ethernet LAN में Networking devices के बिच में Information का Communication करवाता है. आप को इसको को अछेसे समझाने के लिए एक आसन सा उदहारण लेते हैं. जैसे आपका Computer LAB. जहाँ पे Ethernet cable मतलब twisted pair cable की मदद से ही सारे Computer आपस में connected होते हैं. लेकिन जो Information आपके पास आपके Computer तक पोहंच ती है, उस Technology का नाम है Ethernet. जिसको Ethernet protocol भी बोला ज्याता है. वैसे आपको ये तो पता होगा OSI Network Model के 7 layers होते हैं उनमे से “Ethernet” data link layer और “physical layer “दोनों में काम करता है.

Ethernet data Transmission में दो तरह के यूनिट का इस्तेमाल करता है पहला Frame और दूसरा Packet (जैसे आप चावल को Packet में भी तोलते हो, आप इससे किलो ग्राम में, और टन में भी तोलते है ऐसे ही data Frame और Packet दोनों रूप में network से गुजर ता है). Frame केवल Payload को लेके नहीं ज्याता बल्कि वो MAC Address को भी साथ में लेके ज्याता है. MAC address Computer का address होता है, जैसे की वो Sender और Receiver Computers का पता प्राप्त कर सके.

 

Ethernet का इतिहास (History of Ethernet in Hindi)

 

सुरुवात में Ethernet को Alto Aloha Network बोला ज्याता था. इसको बनाने वाली company का नाम है Xerox PARC. जिसको सन 1973 में Robert Metcalfe ने इजात किया था कुछ और लोगों के साथ मिलके. ये एक पहला network था जो की CSMA/CD (Carrier Sense Multiple Access/ Collision Detection) Technology का इस्तेमाल करता था. Ethernet तब से अब तक का सबसे तेज और भरोसेमंद network रहा है. जो की अब तक हर जगह मोजूद है. सन 1980 तक ये दुनिया के हर कोने में इस्तेमाल होने लगा था.

 

 

Ethernet सुरुवाती दोर में अथिकतम 10 Mega bits per second की speed से चलता था. उसकेबाद बदलते Technology की वजह से 100Mbps की speed से ये काम करने लगा जिसको Fast Ethernet बोला गया. बादमे 1000Mbps जिसको gigabit Ethernet बोला गया और 10 gigabit Ethernet तक अब speed है. जो की अब दोर का सबसे तेज है. आम तोर पर Ethernet cable की लम्बाई 100 मीटर होती लेकिन इस cable की मदद से हम स्कूल, college और office को आसानी से connect कर सकते हैं.

 

Ethernet Network के लिए कोनसे Component चाहिए

 

Ethernet Cable
Ethernet HUB
Crossover Cable
Router

1) Ethernet Cable

Ethernet cable की मदद से दो या दो से अधिक Computer को आपस में जोड़ सकते हैं. जिसके जरिये data या Information आना जाना कर सके. LAN network में एक ही तरह के ईथरनेट cable का इस्तेमाल होता है. इन cables के उदाहरण जैसे twisted pair cable और fiber optics cable.

2) Ethernet HUB

ये एक Networking device है जिसके जरिये हम सारे Computers के cable (तार) को आपस में जोड़ सकते हैं. Hub एक network के सारे Computer को अपसा में जोड़ता है. एक hub में बोहत सारे Ethernet port रहते है. जिसमे इन cables को जोड़ा ज्याता है.

3) Crossover Cable

इस cable को हम Ethernet cable के बदले में इस्तेमाल कर सकते है. इसका भी वही काम है, जब हम दो या दो से अधिक Computer को अपसा में connect करते है तब इसका इस्तेमाल होता है.

4) Router

इसका नाम तो आप सुने ही होंगे जब भी हम wifi Network की बात करते हैं. ये सब्द जरुर सुनने को मिलता है. Router भी एक networking device है जिसके जरिये Network से आने वाला Data Computer तक पोहंच ता है. और Computer से data दुसरे network में चला ज्याता है. ये device Route मतलब रास्ता निर्धारित करती है. अब तक आप जान ही गए Ethernet क्या है. अभी आप जानोगे ये कितने प्रकार के हैं और क्या क्या हैं.

 

Ethernet टेक्नोलॉजी कैसे काम करती है ?

 

LAN सेट अप करने के लिए इथरनेट टेक्नोलॉजी का सहारा लिया जाता है। यह एक छोटा एरिया कवर कर सकता है स्कूल, कॉलेज, ऑफिस, किसी बड़ी कंपनी का ऑफिस, एक्सपोर्ट, कंपनी, गवर्नमेंट ऑफिसेज इन जगहों पर इस तकनीक के द्वारा कार्य किया जा सकता है। जब एक कंप्यूटर दूसरे कंप्यूटर को डाटा भेजना चाहता है तो यह तकनीक यह पता करती है कि इस सिस्टम से कितने कंप्यूटर से जुड़े हुए हैं फिर तकनीकी यह पता लगा लेती है कि जो इंफॉर्मेशन भेजी जा रही है वह पहले से इसके पास है तो नहीं अगर नहीं तो वो डाटा भेज देती है लेकिन अगर जिसे डाटा भेजा गया है वह कंप्यूटर किसी कार्य में लगा हुआ है तो वह जब तक इंतजार करती है जब तक वह कंप्यूटर अपने काम से फ्री नहीं हो जाता फिर जैसे ही वह कंप्यूटर अपने काम से फ्री होता है |

 

Ethernet Network के प्रकार (Types of Ethernet Networks)

 

1. Ethernet

ये तो आपको पता चल ही गया Ethernet एक LAN Technology है. एक Standard Ethernet network 10 megabits per second पे काम करता है. इस Technology का performance काफी अच्छा है क्यूंकि ये सस्ता है और high speed data transmission देता है . आसानी से हम इसे install कर सकते हैं. ये दुनिया के सारे Computer का एक Universal LAN network Technology है. 10BASE-T इस ईथरनेट Technology का एक उदहारण है. सारे protocols को ये support करता है, इसलिए ये ख़ास है.

Institute for Electrical and Electric Engineering ने एक Ethernet Standard (मानक) को बनाया जिसको IEEE Standard 802.3 बोला ज्याता है. इस Standard में कुछ Rule बनाये गए जिस्से सारे Ethernet network को आसानी से Configure किया जा सके. इसके साथ साथ इस RULE की मदद से जितने भी इस network के elements है वो आपस में interact कर सके. और Communicate कर सके.

2. Fast Ethernent

धीरे धीरे Ethernet का अगला Standard (मानक) उभर के बहार आया. जिसको बोला गया Ethernet Standard IEEE 802.3u. इसकी transmission speed करीबन 10 Mbps से 100 Mbps है. बस Ethernet cable में थोड़े मोड़े बदलाव किये गए और Fast Ethernet बनाया गया. fast Ethernet का throughput “videos, Multimedia, Graphics, Internet” के मामले में बोहत बढ़िया है. इसमें error detection और correctoin का mechanism इस्तेमाल हुआ है.

वैसे तो 3 प्रकार के Fast Ethernet है: 100BASE-XT इसको Level 5 UTP (Unshielded Twisted Pair) cable के साथ इस्तेमाल किया ज्याता है. 100BASE-FX को fiber Optics cable के साथ इस्तेमाल किया ज्याता है. 100BASE-T4 जो 2 EXTRA wire को उपयोग करता है. इसको level 3 UTP के साथ इस्तेमाल किया ज्याता है. 100BASE-TX जो की बहुत ही लोक प्रिय Fast Ethernet Standard है.

अगर आप पहले से मोजूद 10BASE-T Ethernet में बदलाव करके अगर आप 100BASE-T को configure करना चाहते हो. तो आपको कुछ चीजों का आकलन करना बोहत ही जरोरी है. जैसे कितने user हैं, और क्या क्या Hardware चाहिए. अब आगे हम बात करें तो Gigabit Ethernet जो की भिस्यत की अगली तकनीक है. जो की Fast Ethernet से भी बहतर data speed देने का वादा करती है. तो चलिये इसके बारे में जानते हैं.

3. Gigabit Ethernet

Multimedia और Voice Over IP (VoIP) को उपयोग करने के लिए तेज चलने वाले network की जरुरत पड़ी. इस speed को हासिल करने के लिए gigabit Ethernet को बनाया गया. इसको “Ethernet-over-Copper” 1000BASE-T, 1000BASE-SX, 1000BASE-LX, और GigE ये सब इसके उदहारण है. इसको IEEE 802.3z Standard में निर्धारित किया गया है. फिल हाल के दोर में ये बोहत सारे company का रीड की हडी जैसे काम करता है. ये 100BASE-T से 10 गुना तेज है.

 

 

मोजुदा 10 और 100 Mbps cards को हम Gigabit Ethernet में डाल सकते हैं. जिसकी मदद से हम switches, Routers और server को interconnect कर सकते हैं और Performance को बढ़ा सकते हैं. data link layer की उपरी परत से अगर हम देखेंगे तो Gigabit दुसरे Ethernet के समान ही दिखेगा. और इसका implementation भी वैसे ही है. दोनों Ethernet मतलब fast और Gigabit में महत्वपूर्ण अंतर बस यही है. Gigabit Ethernet full duplex को समर्थन करता और data Rate भी काफी अच्छा है.

4. 10 Gigabit Ethernet

ये सबसे तेज और सबसे आधुनिक Ethernet Standard है. जो की IEEE 802.3ae version में आता है. इसकी data transfer रेट की बात करें तो 10 Gbps पे काम करता है. ये पहले वाले gigabit Ethernet से 10 गुना तेज है.

दुसरे Ethernet से भिन्न, ये पूरी तरह से Optical fiber cable connection पे काम करता है. ये Standard LAN design से काफी अलग है क्यूंकि ये data को सारे nodes पे Broadcast मतलब प्रसारित करता है. अब तक इसको commercial Standard की स्वीकृति नहीं मिली है. क्यूंकि ये पूरा नया है. और वैसे इसके Media type के बारे में निचे Table में दिया गया है.

Table को देख के आप आसानी से सब समझ सकते हो. जैसे की कुछ जानकारी दी गई है IEEE Standard, data rate, Media type और Maximum Distance.

 

Ethernet कैसे काम करता है (How Ethernet Works in Hindi)

 

अगर आपके पास थोडा Computer science का knowledge है तो बड़ी आसानी से आप इस को समझ सकते हो. लेकिन हम आपको सरल भाषा में इसको समझते हैं. जैसे की आपको पता है Ethernet एक LAN technology है. जिसमे data “packet और Frame” के unit में Travel करता है. ये भी उपर समझाया गया था की ये CSMA/CD (Collision Sense Multiple Access/ Collision Detection) Mechanism का इस्तेमाल करता है.

CSMA/CD मदद से जब भी Ethernet network में एक Computer दुसरे Computer को packet (data) भेजता है. तब ये main तार (cable) को sense करता है (क्या पता main cable में कोई packet पहले से ही हो). अगर तार में कोई packet नहीं है तब Ethernet packet को main तार में send करता है .(main तार वही है जिसके साथ सारे Computer जुड़े हुए होते हैं) network में जितने भी devices या फिर Computer Connected है वो सब उस packet के Destination address को Check करते हैं. और जिस के साथ वो address मिलता है वही उस Packet को ले लेता है.

अगर main cable ब्यस्थ है तो तो वो Computer 1 second के 1000 में हिसे तक इंतजार करता है और जब भी main cable free होता है वो वापस Packet को भेजता है. CD मतलब Collision Detection की मदद से अगर network में कहीं भी कोई टकरार हो ज्याता है. तो ये उसे Detect करके दिखता है और दुसरे device को बताता है. Ethernet क्या है? अब तक तो आप जान गए Ethernet क्या है और कैसे काम करता है. लेकिन अब थोडा बोहत Ethernet cable के बारे में जान लेते हैं.

 

Ethernet LAN setup के लिए जरुरी चीजे:

 

अगर आप ईथरनेट LAN setup करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको कुछ चीजे की आवश्यकता पड़ेगी जो की निचे दिए गए हैं|

  • Computer और devices जिसे आप ईथरनेट LAN के द्वारा connect करना चाहते हैं| यह वैसे सभी computers और devices को नेटवर्क के द्वारा connect करता है जिसके पास Ethernet adapter या ईथरनेट कार्ड होता है|
  • Devices में Network Interface cards होना चाहिए| Network interface cards या तो computer के motherboard में inbuilt रहता है या फिर इसे अलग से install करना पड़ता है| इसमें ports होते हैं जहाँ पर आप cable को connect कर सकते हैं| Generally दो ports होते हैं: एक RJ-45 jack के लिए जो की Unshielded Twisted-Pair (UTP) cable को connect करता है और दूसरा Coaxial jack के लिए|
  • Devices को connect करने के लिए एक Router, Hub या Gateway की आवश्यकता पड़ती है|
  • Devices को एक दुसरे से जोड़ने के लिए एक Cable की आवश्यकता पड़ती है| इसमें generally UTP Cables use होते हैं|
  • Network को manage करने के लिए software की आवश्यकता होती है| अभी जितने भी operating system available हैं जैसे की Latest version of Windows, MacOS, Linux इत्यादि, ये सभी Ethernet LAN को manage करने के लिए sufficient (पर्याप्त) हैं|

 

ईथरनेट नेटवर्क केबल कितने प्रकार की होती हैं? (Types of Ethernet Cables in Hindi)

 

ईथरनेट टेक्‍नोलॉजी के विभिन्न प्रकारों को नीचे दिए गए केबल्स के टाइप और diameter के अनुसार नामित किया गया है:

10Base2: एक पतली coaxial केबल का इस्तेमाल होता है: thin Ethernet

10Base5: एक मोटी coaxial केबल का इस्तेमाल होता है: thick Ethernet

10Base-T: Twisted-pair का इस्तेमाल किया जाता हैं और प्राप्त स्‍पीड लगभग 10 Mbps है।

100Base-FX: मल्टीमोड फाइबर ऑप्टिक का उपयोग करके 100 Mbps की स्‍पीड प्राप्त करना संभव बनाता है।

100Base-TX: 10Base-T के समान, लेकिन 10 गुना अधिक (100 Mbps) की स्‍पीड के साथ।

1000Base-T: कटैगरी 5 केबल्स की एक डबल-ट्विस्ट जोड़ी का उपयोग करता है और प्रति सेकंड एक गिगाबिट तक की स्‍पीड देता है।

1000Base-SX: मल्टीमोड फाइबर ऑप्टिक के आधार पर 850 नैनोमीटर (770 से 860 nm) के एक शॉर्ट wavelength signal का उपयोग करता है।

1000Base-LX: मल्टीमोड फाइबर ऑप्टिक के आधार पर 1350 nm (1270 से 1355 nm) के लंबे wavelength signal का उपयोग करता है। ईथरनेट व्यापक रूप से उपयोग की जाने वाली नेटवर्क तकनीक है क्योंकि ऐसे नेटवर्क की लागत बहुत अधिक नहीं है।

 

FAQ-ईथरनेट पर अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

 

क्या आपको इंटरनेट के लिए ईथरनेट चाहिए?

हां, आपको पहले वायर्ड डिवाइस (राउटर) में अपने आईएसपी से इंटरनेट प्राप्त करने के लिए वाईफाई (इंटरनेट) के लिए ईथरनेट की आवश्यकता है और फिर अपने राउटर में वाईफाई का उपयोग करके इंटरनेट को हवा में फैलाएं।

क्या ईथरनेट वाईफाई 2020 से तेज है?

ईथरनेट वाई-फाई की तुलना में बिल्कुल सादा है – इस तथ्य के आसपास कोई नहीं है। आपके ईथरनेट केबल की सटीक अधिकतम गति आपके द्वारा उपयोग किए जा रहे ईथरनेट केबल के प्रकार पर निर्भर करती है। हालाँकि, आम उपयोग में आने वाली Cat5e केबल भी 1 Gb/s तक को सपोर्ट करती है। और, वाई-फाई के विपरीत, वह गति सुसंगत है।

क्या मुझे अपने टीवी पर ईथरनेट चलाना चाहिए?

ईथरनेट केबल – वायर्ड कनेक्शन – सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन
ऐसा इसलिए है क्योंकि इंटरनेट की गति, प्रदर्शन और विश्वसनीयता को अधिकतम करने के लिए मैं आपके उपकरण को डेटा/ईथरनेट केबल के माध्यम से जोड़ने की सलाह दूंगा। इसका मतलब है कि जहां संभव हो वहां पीसी, टीवी आदि को ईथरनेट केबल से जोड़ना सबसे अच्छा है।

Conclusion

 

दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख Ethernet क्या है? और कितने प्रकार के है पूरी जानकारी (2023) जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

Ethernet क्या है? और कितने प्रकार के है पूरी जानकारी (2023)

 

Join our Facebook Group

   Join Whatsapp Group

 

Leave a Comment