RansomeWare क्या है (What is Ransomware) इससे कैसे बचे

Ransomware Kaise Kaam Karta Hai आप आज इस पोस्ट के माध्यम से जानेंगे। हम आपको यह बिल्कुल सरल भाषा में समझाएँगे। RansomeWare क्या है आशा करते है की आपको हमारी सभी पोस्ट पसंद आ रही होगी। इसी तरह आप आगे भी हमारे ब्लॉग पर आने वाली प्रत्येक पोस्ट को पसंद करते रहे।

आजकल हैकिंग करने के लिए बहुत से तरह के वायरस फैलाये जा रहे है। आपको इंटरनेट पर कई तरह के वायरस मिल जाएँगे जो कंप्यूटर और स्मार्टफोन में वायरस फैलाते है। हम अपने सभी ज़रुरी डाटा को अपने मोबाइल या कंप्यूटर में Save करके रखते है और अगर हमारे कंप्यूटर और मोबाइल पर ही किसी वायरस का अटैक हो जाये तो हमें कितना नुकसान हो सकता है।

इन्हीं वायरस में से एक वायरस है Ransomware Virus जिसे बहुत ही खतरनाक वायरस माना जाता है। सोशल मीडिया पर अभी यह बहुत ही चर्चा में है। जिसने बहुत से कंप्यूटर को अपनी चपेट में ले लिया था। अगर आपका कंप्यूटर इस वायरस की चपेट में नहीं आया तो आप इससे बच गये होंगे। लेकिन फिर भी अगर आपको इसकी जानकारी नहीं है तो इसके बारे में जानकर सतर्क रहने की जरुरत है।

 

RansomeWare क्या है (What is Ransomware) इससे कैसे बचे
TEJWIKI.IN

 

RansomeWare क्या है (What is Ransomware in Hindi)

 

Ransomware एक प्रकार का sophisticated Malware है जिसे की एक खास मकसद से बनाया गया है. यदि यह Malware हमारे computer system में लोड हो जाये तो कुछ ही seconds में ये सारी files और documents को encrypt या लॉक कर देगा और हमें अपने system को चलाने से भी रोकेगा।

यहाँ तक की हम अपना documents या कुछ जरूरी चीज़ तक नहीं खोल सकते. और यदि हम खोलना चाहे तब हमें कुछ password type करना होगा जो की उसी Ransomware बनाने वाले के पास मेह्जूद होता है और जिसे पाने के बदले में हमें कुछ पैसे उसे देने होते हैं.

 

इन्हें भी पढ़ें:-

 

Ransomware Kya Hai in Hindi

 

जैसे की हम बहुत की कम लोग अपना data backup कर के रखते हैं. और यदि ये Ransomware लोड हो जाये तब सारी Documents और Data हमारे Control से चली जाएगी. जिससे हमे बहुत ही नुकशान होगा. और इस प्रकार के चीज़ें हमेशा चलती रहती है क्या पता ये आपके पड़ोस में में चल रहा हो।

मुख्यतः ये Spam links या Email के द्वारा ही हमारे computer या Mobile को आता है.

 

Ransomware Virus बनाने का क्या उद्देश्य था ?

 

अब हमने यह जान लिया की Ransomware एक वायरस सॉफ्टवेयर है अब हम यह जानते है की यह वायरस क्यों बनाया गया इस वायरस सॉफ्टवेयर को बनाने का हैकर का उद्देश्य पैसा कमाना है

यह सॉफ्टवेयर हैकर ने पैसा कमाने के लिए बनाया था कोई भी कंप्यूटर इस वायरस से Crupt हो जाता है तो हैकर उसे सही करने के लिये फिरौती मागता है और जब हम फिरौती की डिमांड को पूरा कर देगे तो हमारा कंप्यूटर ठीक कर देगा इस तरह पैसा कमाने के उद्देश्य से हैकर ने Ransomware Virus Software बनाया था

 

Types of Ransomware in Hindi

 

अभी के दोर में देखा जाये तो ये मुख्यतः दो प्रकार होते हैं. जिसे की ये Attackers इस्तमाल करते हैं अपना मकसद पूरा करने के लिए.

Encryptors

ये एक खास प्रकार की Ransomware हैं जिसे Advanced Encryption Algorithms का इस्तमाल करके बनाया गया है. इसे कुछ इस तरह से बनाया गया है की ये कुछ ही समय में आपके मशीन को पूरी तरह से Encrypt कर देगा. और बिना Encryption Key के इसे खोलना लगभग नामुमकिन है।

जिसे देने के लिए ये पैसे मांगती है नहीं तो हमेशा के लिए आपका सारा Documents बर्बाद हो जायेगा.

उदहारण के तोर पे CryptoLocker, Locky, CrytpoWall इनमें मुख्य हैं।

Lockers

इस प्रकार के Ransomware बहुत ही ज्यादा Dangerous हैं जो की किसी user को अपने ही system को चलने से Lock कर देते हैं. ये directly आपके Computer System के Operating System को ही लॉक कर देते हैं. RansomeWare क्या है जिससे की आप कोई भी Apps या अन्य Program को access नहीं कर सकते।

यहाँ Files Encrypt नहीं होती लेकिन Computer को खोलने के लिए Attackers पैसों की demand करते हैं.

उदहारण के तोर पे Police-themed Ransomware..

यहाँ तक की कुछ Lockers के नए version में system के MBR (Master Boot Record) को भी लॉक कर दिया जाता है. आप के जानकारी के लिए बता दूँ की MBR वो section होता है Hard Drive जो Operating System को start होने में मदद करता है।

और यदि booting ही न हो तब computer start ही नहीं हो सकता. और इसी दोरान कुछ Message screen में flash होते हैं जिसमे पैसे देने का जिक्र होता है  उदहारण के तोर पे Satana और Petya.

इन सभी में Crypto-Ransomware सब से ज्यादा प्रसिद्ध है. एक रिपोर्ट से पता चला है की दुनिया में सबसे ज्यादा लोग इसी Ransomware से सबसे जयादा प्रभावित हुए हैं.

 

Characteristics of Ransomware in Hindi

 

  • इसके Encryption को तोडना बहुत ही मुस्किल बात है, इसका मतलब ये बहुत की उन्नत किस्म के Encryption Algorithm इस्तमाल करते हैं जिससे इसको खोलना बहुत ही मुस्किल बात है ऐसा करने से हो सकता है की आपके सारे Data loss होने का भी खतरा है.
  • ये बहुत ही चालाकी से आपके आपके सारे files के नाम बदल सकता है जिससे आपको बिलकुल भी पता नहीं चलेगा की कोन सी data इससे प्रभावित हुई.
  • इसमें किसी भी प्रकार के files को Encrypt करने की क्षमता है जैसे की documents,video, audio और अन्य प्रकार के Files.
  • ये किसी भी files का extension बदल सकता है.
  • कई बार ये एक message या एक image दिखता है जिसमे लिखा होता है की आप पैसे देने के बाद ही अपना कंप्यूटर इस्तमाल कर सकते हैं.
  • ये payment Bitcoin के रूप में लेते हैं ताकि इन्हें कोई track न कर सके.
  • Ransom Payment देने का भी एक time limit होता है जिससे की बिच victim को पैसे देने होते हैं नहीं तो payment amount बढ़ा दिया जाता है.
  • ये बहुत ही advanced Algorithms का इस्तमाल करते हैं.
  • यदि दुसरे Computer System भी infected System से जुड़े हुए हो तब उनको भी infection होने के chances बढ़ जाता है.

इनकी विसेस्तायें इतने में खत्म नहीं हुई है इनकी लिस्ट दिन ब दिन बढती ही जा रही है

 

Ransomware कैसे काम करता है (How Ransomware Works)

 

यहाँ हम जानेंगे की आकिर ये Ransomware काम कैसे करता हैं.

सबसे पहले जिसे target किया गया होता है उसे एक email आता है जिसमे एक malicious लिंक छुपा होता है, और यदि वह user उस लिंक को खोल दे तब एक छोटा सा प्रोग्राम automatically download हो जाता है.
दूसरा तरीका है की यदि user कोई malicious website view कर रहा हो और कोई ऐसी चीज़ download करे जिसके बारे में उसे कोई जानकारी न हो तब भी वहां से Ransomware आपके system में प्रबेश कर सकता है.

जिस downloader से user उस program को download किया हुआ होता है वह program कुछ इस प्रकार से डिजाईन किया गया होता है की वह एक लिस्ट of Domains or C&C Servers को request भेजता है ताकि कोई advanced Ransomware program download कर सके.
इसके बाद contact किये गए C&C Servers respond करते हैं और मांगी गयी चीज़ें भेजते हैं.
इसके बाद वह malware अपना काम शुरू कर देता है और पुरे disk को encrypt कर देता है जैसे की personal files, आपके कुछ sensitive information और बहुत कुछ.
और screen में एक pop up show करवाते हैं की आपके data को लॉक कर दिया गया है और इसे खोलने के लिए एक Decryption Key की जरुरत है जिसे पैसे के बदले में पाया जा सकते है.
और इसी तरह से ये अपना control आपके system के ऊपर जाहिर करते हैं, और आप कुछ भी नहीं कर सकते.

 

Ransomware क्यूँ हमेशा से रहेगा ?

 

मेरा यह मानना की यह चीज़ Ransomware हमेशा से रहेगा ऐसा इसलिए क्योंकि यह दिन प्रतिदिन खुद को बदल रहा है और इसे ज्यादा ताकतवर बनाया जा रहा है. RansomeWare क्या है जो Cyber Criminal खुद को famous करना चाहते हैं अपने मेहनत से ये उनके लिए एक बहुत ही सुनहरा मौका है. और तो और ये एक Business Model बन गया है जिससे की बहुत सारे पैसे कमाया जा सकता है.

Ransomware एक service के तरह काम कर रहा है जहाँ इसके creators पैसे कमाते हैं ऐसी प्रोग्राम बनाने के बदले में.
जो पैसे के लेन देन हो रही है वो Crypto currency (Bitcoin) से हो रही है जिससे की उनको पकड़ पाना लगभग नामुमकिन ही है.
सभी Software Program में कुछ न कुछ कमियाँ तो होती ही है इसलिए ये attackers उन्ही कमियों का इस्तमाल करते हैं और ऐसे program बनाते हैं जिससे की ये अच्छी खासी पैसे कमा सकें.
इस प्रकार के attack को काफी हद तक रोका जा सकते है यदि हम थोडा सतर्क हो जाएँ तब लेकिन ज्यादातर लोग malicious website से download करना या कोई Spam email को खोलना नहीं बंद करते और इसलिए ये शायद मुमकिन नहीं है.

 

इन्हें भी पढ़ें:-

 

Ransomware वायरस से बचने के उपाय

 

हमें अपने कंप्यूटर में एंटीवायरस सॉफ्टवेयर को हमेशा इंस्टॉल करना चाहिए जो पेड़ बर्तन आते हैं जैसे कि क्योंकि एनपीएवी एंटीवायरस का स्पर्श का एंटीवायरस K7 एंटीवायरस एंटीवायरस समय हमारे कंप्यूटर में Ransomware अटैक होने से बहुत कम करते हैं जब भी हमारे कंप्यूटर में कोई भी वायरस आने की कोशिश करता है तो या एंटीवायरस हमें बार-बार इंडिकेट करते हैं

कि कोई वायरस मारे कंप्यूटर में आ गया है और और यह एंटीवायरस वायरस को कंप्यूटर में आने से रोकते हैं इससे हमारे कंप्यूटर में रनसमवेयर अटैक होने का खतरा कम हो जाता है और यह एंटीवायरस स्वयं का डाटा बैकअप लेते हैं

कहने का अर्थ यह है की यह एंटीवायरस हम कंप्यूटर में जो भी काम कर रहे होते हैं यह एंटीवायरस उन फाइल और फोल्डर का Daily बैकअप लेकर उसे कोड कर के रखते हैं जिससे जब हमारे कंप्यूटर में कोई वायरस या यूं कहें कि रन Ransomware अटैक होता है तब हम इस एंटीवायरस के बैकअप से अपने डेटा को रिकवर कर सकते हैं यह एंटीवायरस का सबसे अच्छा फायदा होता है

इस एंटीवायरस में हमें जिस जिस फाइल का डाटा का बैकअप यह करवाना होता है हम उसका एक्सटेंशन एंटीवायरस के अंदर जाकर ऐड कर देते हैं इसमें पहले से कुछ एक्सटेंशन ऐड होते हैं इन सब एक्सटेंशन की मदद से यह डाटा का बैकअप लेता रहता है एंटीवायरस वायरस के प्रभाव से बहुत अधिक बचाता है वायरस को रोकने में सबसे कारगर उपाय एंटीवायरस ही है इसीलिए हमें किसी भी अच्छी कंपनी का पैड वर्जन एंटीवायरस कि अपने कंप्यूटर में स्टॉल करना चाहिए

 

इनके मुख्य शिकार कौन है ?

 

इनके मुक्ये शिकार की बात की जाये तो ये आम तोर से बड़े बड़े institution को target करते हैं ताकि उनसे ज्यादा से ज्यादा पैसे लुट सकें. पहले तो ये आम लोगों को टारगेट किया करते थे लेकिन ज्यादातर लोगों से पैसे लेने में इनको दिक्कत हुई और ज्यादा समय भी व्यतीत हुआ. RansomeWare क्या है तभी इन लोगों ने सोचा की क्यूँ न कम समय में ज्यादा कमा लें. ऐसा करने से ये बहुत ही कम समय में बहुत सारा कमा सकते हैं.

बड़े बड़े Government Agency को टारगेट करने से इनको बहुत फ़ायदा है जैसे की इन्हें उन database से बहुत सारे लोगों की जानकारी हासिल हो जाएगी और तो और बहुत सी confidential Information भी मिल जाएगी.

और ये आसान क्यूँ है :

Government Agency बहुत ही पुराने और outdated software का इस्तमाल करते हैं.
ज्यादातर control किसी ऐसे के पास होता है जिसे Internet Security के बारे में कुछ भी पता नहीं होता.
यहाँ staffs भी ज्यादा Cyber Attacks के बारे में trained नहीं होती. और यहाँ इन्हें आसानी से loopholes मिल जाते हैं.
नोट: Ransomware Platform independent होते हैं जिसका मतलब है की ये किसी भी system को attack कर सकते हैं जैसे किसी Computer, Mobile, tablet या कोई Server.

 

Ransomware फैलने के तरीके

 

यहाँ हम जानेंगे की की कैसे बड़ी आसानी से ये attackers इन malwares को हमारे system में डाल देते हैं.

Spam Emails जिसमे की मुख्यतः कुछ Attachment होते हैं जिसे खोलने से ये program download हो जाते हैं.
Vulnerable Software को इस्तमाल करने से जिनका कोई Signature नहीं होता.
Internet में ऐसी Malicious Websites को visit करने से जो की पहले से ही infected हों.
Malvertising Campaigns
Unauthorized Apps download करने से mobile में ये प्रबेश कर लेते हैं.
Self Propagation इसका मतलब है की यदि कोई computer पहले से ही infected हो तब यदि कोई दूसरा system या कोई नेटवर्क भी इसके संपर्क में आएगा तो वो भी infect हो सकता है.

 

मशीन पर रैंसमवेयर वायरस का प्रभाव (Ransomware effects in machine)

 

रैंसमवेयर आपको अपने कंप्यूटर सिस्टम का उपयोग करने से रोकते हुए फिरौती की मांग करता है. अगर आपने फिरौती का भुगतान कर दिया तो ये जरुरी नहीं है कि वो आपके सिस्टम को फिर से उपयोग करने ही दे. रैनसमवारे पैसे को मांगने के लिए 20 भाषाओं का उपयोग करते है. वन्यक्राई नामक रैनसमवारे वायरस कंप्यूटर फाइलों को लॉक करके उन्हें एंक्रिप्ट करता है, RansomeWare क्या है जिससे उपयोगकर्ता अपने सिस्टम को खोल नहीं सकता यह एक पुराना वायरस है इसी तरह का एक और वायरस है जिसका नाम मैलवेयर है,

जोकि पीड़ितों को स्पैम में इमेल करता है जिसको खोलने पर आपके सामने बड़ी कंपनियों में नौकरी की पेशकश, सुरक्षा सम्बन्धी चेतावनी तथा और भी अनिवार्य फाईलों को प्रदर्शित करता है. जिस पर किल्क करते ही आपके सामने फिरौती की पेशकश होगी अन्यथा आपके सिस्टम को नुकसान पहुचाने की धमकी. इस तरह यह इस वायरस का प्रभाव आपके सिस्टम पर पड़ता है.

 

रैंसमवेयर वायरस से भारत में प्रभावित राज्य (Ransomware effect in India)

 

इस तरह के वायरस हमले से देश के कई राज्य प्रभावित हुए है,

आंध्रप्रदेश : आंध्रप्रदेश पुलिस के 102 कंप्यूटर सिस्टम रैंसमवेयर वायरस से संक्रमित हुए है, जिसकी पुष्टि सीईआरटी- इन अर्थात भारतीय कंप्यूटर इमरजेंसी एजेंसी रिस्पांस टीम ने इस हमले की खबर को सही बता कर की है.

गुजरात : गुजरात सरकार की सुचना प्रौधोगिकी (गुजरात स्टेट वाइड एरिया नेटवर्क) से जुड़े विभिन्न सरकारी विभागों के लगभग 120 कंप्यूटर रैंसमवेयर वायरस से प्रभावित हुए हैं. हालाँकि इस वजह से कोई महत्वपूर्ण डाटा का नुकसान नहीं हुआ है. इस तरह के हैकिंग हमलों को रोकने के लिए गुजरात स्टेट वाइड एरिया नेटवर्क से जुड़े कंप्यूटरों में एंटी वायरस सॉफ्टवेयर लोड करके और ऑपरेटिंग सिस्टम को अपग्रेड करके इससे बचने की कोशिश की जा रही है.

महाराष्ट्र : रैंसमवेयर के हमले से महाराष्ट्र पुलिस विभाग का कंप्यूटर आधारित डेटा सिस्टम का एक छोटा भाग प्रभावित हुआ है, RansomeWare क्या है जिसको एहतियात के तौर पर और सारे सिस्टम से अलग कर दिया गया है. साथ ही पुलिस विभाग ने मांगी गयी फिरौती का लोगों को पैसे का भुगतान ना करने का निर्देश दिया है.

बंगाल : इस वायरस से बंगाल के स्टेट इलेक्ट्रिसिटी के कुछ कंप्यूटर प्रभावित हुए है. बंगाल के बिजली अधिकारियों के अनुसार बंगाल के पश्चिम मिदनापुर के 4 ब्लॉक जिनमे शामिल बेल्दा, दतन, नरायणगृह और केसहियारी ब्लॉक आदि है जिनके बिजली विभाग के कंप्यूटर प्रभावित हुए है. साथ ही दक्षिण दिनाजपुर में बालूघाट के भी बिजली विभाग का कंप्यूटर प्रभावित हुआ है.

 

Ransomware क्यों फैल रहा है?

 

  • लोगों मे तकनीकी जानकारी का अभाव ।
  • Internet पे ransomware किट्स आसानी से उपलब्ध होना जो नए malware नमूने बनाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • नई techniques का उपयोग, जैसे कि selected files के बजाय complete disk को encrypt करना

 

आज के चोरों को तकनीकी जानकार होने की भी आवश्यकता नहीं है।Ransomware ऑनलाइन पाए जा रहें, जो किसी भी cyber बदमाश के लिए malware स्ट्रेन की पेशकश कर रहे हैं और malware लेखकों के लिए अतिरिक्त लाभ पैदा कर रहे हैं, जो अक्सर फिरौती की आय में अपने share की मांग करते हैं।

 

Ransomware attack से कैसे बचे

 

# जब भी आपको कोई ईमेल आये तो तुरंत उसमे दिए गए लिंक या अटैचमेंट को खोलने की कोशिश नहीं करनी चाहिए इससे पहले आपको यह जरुर देख लेना चाहिए क्या यह एक Trusted source से आया है

# यदि कोई आपसे सोशल मीडिया चैट्स पर पर्सनल इनफार्मेशन मांगता है तो कृपया उन्हें न दे या कोई इससे रिलेटेड फ़ोन कॉल आये तो डायरेक्ट कोई भी सेंसिटिव जानकारी उन्हें नहीं देनी चाहिए

# पब्लिक Wi-Fi के इस्तेमाल से जहाँ तक हो सके बचना चाहिए जब बहुत ही ज्यदा जरुरी हो तब ही एक्सेस करे

# अपने सिस्टम को समय समय पर अपडेट करते रहना चाहिए जिससे सिस्टम में लेटेस्ट सिक्यूरिटी अपडेट रहे और आप इन अटैक्स से बचे रहे

# सिस्टम में हमेशा एक अच्छा एंटी वायरस सॉफ्टवेर इनस्टॉल करके रखना चाहिए और फ़ायरवॉल को भी ओन रखना चाहिए

 

Ransomware अपराधियों को ढूंढना इतना कठिन क्यों है?

 

पैसे के लेन देन मे Crypto currency , जैसे कि Bitcoin, का use होने से अपराधियों को ट्रैक करना मुश्किल हो गया है। Ransomware विकसित करने के लिए open-source code और drag-and-drop प्लेटफॉर्म उपलब्ध होने के कारण नए ransomware वेरिएंट तयार करना आसन हो गया है RansomeWare क्या है नये hackers को अपना ransomware बनाने में मदद करता है। Ransomware, ransomware as a service (RaaS) के तहत काम करता है जिसमें मुनाफा उसके मालिकों और भागीदारों, या सहयोगी, जो संगठनों के लिए पहुँच प्रदान करता है और जो Ransomware लागू करने मे मदत करता हैं उन सबो मे बाटा जाता है cybercrime groups जादा लाभ कमाने के लिए ransomware योजनाएं तैयार कर रहे हैं।

Ransomware से बचने कुछ आसान तरीके (How to Prevent Ransomware Attacks)

 

चलिए अब उन तरीक़ों के बारे में जानते हैं, जिसका उपयोग कर आप Ransomware से बच सकते हैं :-

1. अपने Personal Computer पर नज़र रखें

अपने महत्वपूर्ण data को PC में न रखें
यथा संभव अपने data की backup रखें online और offline दोनों में
Online Backup को हमेशा turned on by default न करें, जब इस्तमाल करें तभी इसे on करें. दिन में एक बार अपने data को sync कर दें.
हमेशा अपने software को update रखें, यहाँ तक की latest Security Updates का इस्तमाल करें.
Outdated softwares और plugins का इस्तमाल न करें.
Ad-Blocker का इस्तमाल करें अनचाही Malicious Ads से बचने के लिए.

2. Online Behavior पर ध्यान दें

किसी भी अपरिचित sender से आया हुआ email open न करें.
Spam Emails के attachment download न करें.
Malicious Website के links को click न करें.
हमेशा अच्छे AntiVirus Program का इस्तमाल करें और उसे समय समय पे update करें.

 

इन्हें भी पढ़ें:-

 

Conclusion

 

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख RansomeWare क्या है (What is Ransomware) इससे कैसे बचे  जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

RansomeWare क्या है (What is Ransomware) इससे कैसे बचे

 

Join our Facebook Group

   Join Whatsapp Group

Leave a Comment