SDM कैसे बने ? SDM Full Form (हिंदी में) की पूरी जानकारी

दोस्तों, SDM कैसे बने ? :- देश के सभी जिलों में एक उप प्रभागीय न्यायधीश की जरूर होती है,जिसके लिए हर जिले में एक SDM अधिकारी की नियुक्ति की जाती है क्युकी SDM अपने जिले के सभी प्रकार के जमीनी कार्यो और व्यापार की निगरानी करता है और अपने हिसाब से फैसले लेता है। ये बहुत सम्मान जनक वाला पद है जिसके लिए सैलरी भी अच्छी होती है। लेकिन क्या आप SDM के बारे में जानते है, क्युकी अगर आपका सपना एसडीएम बनने का है तो उसके लिए आपको SDM के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए।

मैं आपको इस पोस्ट के माध्यम से SDM Full Form,एसडीएम कौन होता है, SDM का कार्य क्या है, SDM Officer Kaise Bane, एसडीएम बनने के लिए क्या करना पड़ता है, एसडीएम बनने से बाद सरकार की तरफ से क्या सुविधाएं मिलती है, एसडीएम का वेतन कितना होता है और भी बहुत कुछ जानकारी दूंगा। इसलिए इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़े।

 

SDM कैसे बने ? SDM Full Form (हिंदी में) की पूरी जानकारी
TEJWIKI.IN

 

SDM Full Form (हिंदी में) (SDM Full Form (in Hindi)

 

SDM का Full Form “Sub Divisional Magistrate” होता है जिसे हिंदी में (Full Form Of SDM In Hindi) “उप प्रभागीय न्यायाधीश” के नाम से जाना जाता है। SDM का पद सबसे उच्च स्तर का होता है जिसके चलते एक SDM का काम काफी जिम्मेदारी भरा होता है।

उम्मीद है अब आप जान गए होंगे कि SDM Ka Full Form In Hindi क्या होता है। तो चलिए अब जानते है SDM क्या होता है।

 

SDM क्या होता है (what is sdm)

 

SDM (Sub Divisional Magistrate) यानी कि उप प्रभागीय न्यायाधीश एक सरकारी ऑफिसर होता है जिसे विभिन्न तरह की शक्तियां (Powers) प्रदान की गई है जिस कारण इसका पद काफी जिम्मेदारी वाला होता है। वर्तमान समय में प्रत्येक जिले में एक उप प्रभागीय न्यायाधीश को तैनात किया गया है।

लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दे कि Sub Divisional Magistrate से ऊँचा पद District Magistrate (DM) का होता है, क्योंकि उसके द्वारा पूरे जिले के काम को देखा जाता है। तो वहीं दूसरी तरफ Sub Divisional Magistrate दूसरे स्थान पर आता है, क्योंकि उसके द्वारा सिर्फ जिले के उपखंडो के काम की देखरेख की जाती है। जैसे कि राज्यों में लोक सभा और विधान सभा के सदस्यों का चुनाव करवाना और वाहनों का लाइसेंस जारी करना आदि।

तो यहाँ हमने जाना कि SDM कौन होता है और SDM Full Form क्या है चलिए अब आगे बढ़ते है और जानते है कि SDM द्वारा क्या-क्या कार्य किये जाते है।

 

SDM के कार्य क्या है? (What is the function of SDM)

 

SDM का पद एक ऐसा प्रमुख एवं जिम्मेदारी वाला पद होता है जहाँ अधिकारी को Duty के लिए हमेशा तैयार रहता पड़ता है क्यूंकि SDM द्वारा जिले के विभिन्न तरह के कामों की देखरेख की जाती है। नीचे हमने आपको SDM द्वारा क्या-क्या कार्य किए जाते है उसके बारे में जानकारी दी है-

  • SDM द्वारा लोक सभा और विधान सभा के सदस्यों का चुनाव करवाया जाता है।
  • SDM द्वारा अपने क्षेत्र में हो रहे कई तरह के मामलों को देखा जाता है जैसे कि आत्महत्या, बलात्कार, किसी भी तरह की दुर्घटना तथा दहेज़ प्रथा आदि।
  • जिले में जमीन के व्यापार की देखरेख SDM Officer द्वारा की जाती है।
  • SDM के कहने पर विभिन्न प्रकार के पंजीकरण किए जाते है जैसे कि विवाह पंजीकरण, OBC, SC / ST और जन्म प्रमाण पत्र एवं मूल निवास प्रमाण पत्र आदि।
  • मजिस्ट्रेट संबंधित सभी कार्य SDM द्वारा किए जाते है।

 

SDM बनने के लिए योग्यता (Eligibility to become SDM)

 

एसडीएम का पद भारत के अन्य लोकप्रिय एवं प्रमुख सरकारी पदों में से एक है। जिसके चलते बहुत से लोगों का सपना होता है कि वो भी SDM अधिकारी बने। क्या आपका सपना भी एसडीएम अधिकारी बनना है? यदि हाँ तो आपकी जानकारी के लिए बता दूँ कि, SDM बनना कोई आसान काम नहीं है। इसके लिए आपको कड़ी मेहनत करनी पड़ती है जिसके बाद ही आप एक SDM Officer कहलायेंगे।

SDM ऑफिसर बनने के लिए कुछ योग्यताएं होना जरूरी है नीचे हमने आपको उन योग्यताओं के बारे में विस्तार से बताया है। सबसे पहले आपको ये देखना होगा कि आपके पास ये सारी योग्यताएं है या नहीं।

  • SDM Officer बनने के लिए सबसे पहले आपको किसी भी स्ट्रीम (आर्ट्स, मैथ्स, साइंस या कॉमर्स) से 12वीं पास होना अनिवार्य है।
  • इसके बाद किसी भी कॉलेज या फिर यूनिवर्सिटी से की गई Graduation में आपके 50% से 60% अंक होना जरूरी है।
  • अगर आप SC/ST, OBC या फिर PWD Category से है तो आपको Graduation के अंको में 5% की छूट दी जाती है।

 

SDM बनने के लिए आयु (Age to become SDM)

 

एसडीएम ऑफिसर बनने के लिए न्यूनतम आयु सीमा 21 वर्ष और अधिकतम आयु सीमा 40 वर्ष है। यदि आपका सपना भी SDM Officer बनना है तो नीचे हमने आपको अलग-अलग वर्गों के हिसाब से एसडीएम ऑफिसर बनने की आयु सीमा बताई गयी है जो कि कुछ इस प्रकार है-

वर्ग आयु सीमा 
सामान्य वर्ग 21 वर्ष से 40 वर्ष
OBC वर्ग 21 वर्ष से 45 वर्ष
SC/ST वर्ग 21 वर्ष से 45 वर्ष
PWD वर्ग 21 वर्ष से 55 वर्ष

 

SDM कैसे बने (How to become an SDM)

 

1. 12वी पास करें

 

अगर आप एसडीएम ऑफिसर बनना चाहते है तो इसके लिए आपका 12वी पास होना जरूरी है। 12वी में आपके पास साइंस, कॉमर्स या आर्ट्स किसी भी Stream में 50% अंक होने चाहिए, जिसके बाद आप किसी अच्छे कॉलेज या यूनिवर्सिटी में Graduation के लिए अप्लाई कर सकते है।

 

2. Graduation पूरी करें

 

12वी के बाद आपको किसी भी मान्यता प्राप्त College या फिर University से Graduation पूरा करना होगा। ग्रेजुएशन में आपके 55% अंक होने चाहिए जिसके बाद आप UPSC जैसी प्रतियोगी परीक्षा के लिए अप्लाई कर सकते है। यदि आपने अभी तक ग्रेजुएशन पूरी नहीं की तो सबसे पहले ग्रेजुएशन पूरी करें, क्योंकि बिना ग्रेजुएशन के आप किसी भी Exam के लिए आवेदन नहीं कर सकते।

 

 

3. UPSC Exam के लिए आवेदन करे

 

SDM ऑफिसर बनने के लिए सबसे पहले आपको UPSC Exam के लिए आवेदन करना होगा और आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस परीक्षा को तीन चरणों में विभाजित किया गया है-

  • प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam)
  • मुख्य परीक्षा (Main Exam)
  • साक्षात्कार (Interview)

 

4. Preliminary Exam पास करे

 

SDM बनने के लिए प्रारंभिक परीक्षा देना पहला चरण होता है। इस परीक्षा में आपको 2 प्रश्न पत्र दिए गए होते है और प्रत्येक प्रश्न पत्र 200 अंक का होता है इसलिए कुल मिलाकर आपकी ये परीक्षा 400 अंक की होती है। प्रीलिमिनरी परीक्षा को पास करने के लिए 33% अंक हासिल करना अनिवार्य होता है।

नीचे दी गई तालिका के आधार पर आप समझ सकते है कि प्रारंभिक परीक्षा के अंको को किस तरह निर्धारित किया गया है।

प्रश्न पत्र अंक समय सीमा
सामान्य ज्ञान – 1 200 2 घंटे
सामान्य ज्ञान – 2 200 2 घंटे

 

5. अब Main Exam को क्लियर करें

 

प्रारंभिक परीक्षा में पास होने के बाद परीक्षार्थी को मेन एग्जाम के लिए बुलाया जाता है और इस परीक्षा में कुल 9 प्रश्न पत्र होते है। इस प्रश्न पत्र में करंट अफेयर्स (Current Affairs), इतिहास (History), साइंस (Science) और भूगोल (Geography) से जुड़े प्रश्न पूछे जाते है

नीचे आपको मुख्य परीक्षा के अंको को किस तरह निर्धारित किया गया है विस्तार से बताया गया है-

प्रश्न पत्र विषय अंक समय सीमा
पेपर A अनिवार्य भारतीय भाषा 300 अंक 3 घंटे
पेपर B इंग्लिश 300 अंक 3 घंटे
पेपर I निबंध 250 अंक 3 घंटे
पेपर II सामान्य अध्ययन – 1 250 अंक 3 घंटे
पेपर III सामान्य अध्ययन – 2 250 अंक 3 घंटे
पेपर IV सामान्य अध्ययन – 3 250 अंक 3 घंटे
पेपर V सामान्य अध्ययन – 4 250 अंक 3 घंटे
पेपर VI वैकल्पिक विषय पेपर 5 250 अंक 3 घंटे
पेपर VII वैकल्पिक विषय पेपर 6 250 अंक 3 घंटे

 

6. Interview क्लियर करें

 

इंटरव्यू राउंड SDM बनने का अंतिम चरण होता है। यदि आपके द्वारा प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा पास कर ली जाती है तो आपको इंटरव्यू राउंड के लिए बुलाया जाता है और इसी अंतिम राउंड के बाद निर्णय लिया जाता है की आप SDM Officer बनने के योग्य है या नहीं।

उम्मीद है अब आपको आपके सवालों का जवाब मिल गया होगा कि SDM कैसे बने? चलिए अब जानते है कि SDM ऑफिसर को कितना वेतन दिया जाता है।

 

SDM Salary

 

SDM को प्रतिमाह 56,100 रुपये का वेतन दिया जाता है और इसके अलावा कई भत्ते भी दिए जाते है जैसे कि रहने के लिए घर, पुलिस सिक्योरिटी (Police Security), फ्री इंटरनेट कनेक्शन (Free Internet Connection), चिकित्सा भत्ता (Medical Allowances) इसके साथ ही चलाने के लिए एक मुफ्त गाड़ी भी दी जाती है।

 

 

Conclusion

  

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख SDM कैसे बने ? SDM Full Form (हिंदी में) की पूरी जानकारी  जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे.

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए, तब इसके लिए आप नीचे comments लिख सकते हैं.यदि आपको यह लेख पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये.


hi.wikipedia.org/wiki

SDM कैसे बने ? SDM Full Form (हिंदी में) की पूरी जानकारी

 

Leave a Comment